Home >> Crime >> Forgery
  • लॉन्‍ग-टर्म वीजा पर इंडिया आया था ये शख्‍स, फर्जी तरीके से बनवा ली ये चीजें
    गाजियाबाद. जिले के मसूरीथाना क्षेत्र में पिछले कई सालों से रह रहे पाकिस्तानी व्यक्ति को मंगलवार को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। सूचना के आधार पर पुलिस की टीम ने सुबह घर के अंदर ही उसे दबोच लिया। पूछताछ के बाद उसे गिरफ्तार कर थाने लाया गया। पुलिस के अनुसार, आरोपी का नाम मोहम्मद यूनुस (70) है। वह डासना के वार्ड-14 में परिवार समेत रहता था। फर्जी तरीके से बन गया राशन कार्ड और मतदाता पहचान पत्र पुलिस के अनुसार मोहम्मद यूनुस 1956 में डासना आया था। उस समय उसकी उम्र करीब 8 साल थी। वह अपने परिवार के साथ...
    Last Updated: January 10, 18:02 PM
  • इन वजहों से स्विस बैंक में खपती है भारतीयों की ब्‍लैकमनी, अब बदल रही तस्वीर
    नई दिल्ली। देश में जब भी कालेधन को लेकर बात होती है, तो सबसे पहले स्विस बैंक का नाम सामने आता है। रिपोर्ट्स के मुताबिक स्विस बैंकों के खातों में भारत के कई बिजनेसमैन समेत कई पॉलिटिशियंस का काला धन छुपा हुआ है। स्विस बैंक में खाता रखने वाले कुछ लोगों की जानकारी भी सरकार को हासिल हो गई है, लेकिन अभी भी काफी ज्‍यादा कालाधन इन बैंकों में पड़ा हुआ है।   लेकिन अब कोई भी भारतीय स्विस बैंकों में आसानी से अपना कालाधन नहीं खपा पाएगा। इसकी वजह है भारत और स्विट्जरलैंड के बीच इस संबंध में हुई ट्रीटी। इस...
    Last Updated: January 09, 20:31 PM
  • शिक्षामंत्री का PRO बन करता था ठगी, इसके कारनामे जान रह जाएंगे हैरान
    लखनऊ. शिक्षामंत्री का पीआरओ बनकर लोगों से करोड़ों की ठगी करने वाला शातिर ठग शनिवार को पुलिस और क्राइम बांच के हत्‍थे चढ़ गया। उसके पास से एक अवैध पिस्टल भी बरामद हुआ है। उसने मनोज कुमार नामक व्‍यक्‍ति से फिनायल और फ्लोर क्‍लीनर का 25 करोड़ रुपए का ऑर्डर दिया और 34 लाख रुपए ठग लिए। इसके बाद पीड़ित ने थाने में मामला दर्ज कराया। इसके बाद पुलिस ने शनिवार को उसे अरेस्‍ट कर लिया है। पूछताछ में उसने अपने कारनामे कबूल किए हैं।  आगे पढ़िए पूरा मामला...     -पुलिस के अनुसार, 28 दिसंबर 2016 को यूपी की...
    Last Updated: January 07, 22:04 PM
  • नोटबंदी पर राहुल के मोदी से 7 सवाल, कहा- इस यज्ञ में आपने गरीबों की बलि चढ़ाई
    नई दिल्ली. कांग्रेस ने बुधवार को 132वें फाउंडेशन डे मनाया। इस मौके पर राहुल गांधी ने वर्कर्स से कहा कि वे नोटबंदी के नुकसानों को जनता के बीच लेकर जाएं। उन्होंने कहा, ''पीएम कहते हैं कि 8 नवंबर को उन्होंने ब्लैकमनी और करप्शन के खिलाफ यज्ञ किया। नोटबंदी एक यज्ञ है, तो यह सिर्फ 50 परिवारों के लिए किया जा रहा है। हर यज्ञ में किसी न किसी की बलि चढ़ती है। इसमें मिडिल क्लास और गरीबों की बलि चढ़ रही है।'' बाद में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर राहुल ने मोदी से 7 सवाले पूछे और 7 मांगे रखींं। मोदी-आरएसएस की...
    Last Updated: December 28, 13:13 PM
  • कैप्टन की पत्नी-बेटे के स्विस बैंक में 450 करोड़ : बराड़
    अमृतसर। तृणमूल कांग्रेस के पंजाब प्रधान जगमीत सिंह बराड़ ने अमृतसर की धरती को महान कहा व ऐलान किया कि पंजाब विधानसभा में तृणमूल कांग्रेस और आम आदमी पार्टी की मजबूत सरकार बनेगी। बराड़ ने कहा कि कैप्टन ने पंजाब का लूटा हुआ 450 करोड़ रुपया स्विस बैंकों में जमा करवाया हुआ है। स्विस बैंक में उनकी पत्नी परनीत कौर और उनके बेटे रणइंदर सिंह का अकाउंट है।   इस मामले में इन्कम टैक्स डिपार्टमेंट ने उन्हें चार्जशीट भी किया है, वह इसलिए क्योंकि इन खातों के लाभार्थी कैप्टन अमरिंदर सिंह ही हैं। उन्होंने कहा...
    Last Updated: December 07, 04:18 AM
  • स्विस बैंकों में धन जमा कराने वाले कुछ और नाम लगे पता, 3 लिस्‍टेड कंपनी व एक भगोड़ा करोबारी शामिल
      नई दिल्‍ली। स्विट्जरलैंड में धन जमा कराने वाले कुछ और महत्‍वपूर्ण नामों की जानकारी सरकार को मिली है। बताया जा रहा है भारत सरकार ने इस संबंध में  स्विट्जरलैंड सरकार को 20 रिक्‍वेस्‍ट्स भेजी थी। इनके जवाब में स्विट्जरलैंड ने जिन नामों की जानकारी दी है, उनमें 3 लिस्‍टेड कंपनियां और भारत के एक भगोड़े कारोबारी का नाम शामिल है। सरकार ने कथित काला धन जमा कराने वालों का पता लगाने का काम तेज कर दिया है।   कुछ गुजराती कारोबारी भी शामिल   सरकार को मिली जानकारी के अनुसार सरकार को नवंबर माह...
    Last Updated: November 27, 19:57 PM
  • ऐसे खोल सकते हैं स्विस बैंक में अकाउंट-VIDEO
    यूरोप का एक छोटा सा देश 'स्विट्जरलैंड', अपनी खूबसूरती के साथ साथ ब्लैक मनी के स्वर्ग के तौर पर भी जाना जाता है, वजह है स्विस बैंक की लिबरल पॉलिसी। दरअसल united bank of Switzerland, गोपनीयता कानून का पालन करता है। 1934 से लागू बैंक गोपनीयता कानून हर देश में है लेकिन स्विट्जरलैंड की खासियत है कि जब तक किसी को ऐसे वित्तीय अपराध में लिप्त नहीं ठहराया जा सके, जो स्विट्जरलैंड में भी अपराध है, तब तक पुलिस से लेकर रेवेन्यू डिपार्टमेंट, बैंक या कोर्ट भी उससे किसी कस्टमर के एकाउंट से जुड़े डीटेल्स नहीं ले सकती। 
    Last Updated: November 24, 13:03 PM
विज्ञापन

RECOMMENDED