दिल्ली में भाजपा को बाहर से आए नेताओं से कितना होगा फायदा, जानिए
दिल्ली में भाजपा को बाहर से आए नेताओं से कितना होगा फायदा, जानिए

भाजपा मोदी लहर के भरोसे नहीं रहना चाहती। इसलिए केजरीवाल का मुकाबला करने के लिए किरण बेदी जैसे नेताओं को लाई है।

SURVEY: बेदी के बीजेपी में जाने को 44 % लोगों ने बताया गलत
SURVEY: बेदी के बीजेपी में जाने को 44 % लोगों ने बताया गलत

सर्वे का नतीजा-बेदी के बीजेपी में आने के बाद भी 'आप' आगे। बीजेपी को 45 फीसदी, आप को 46 फीसदी लोगों के वोट।

बीजेपी में आईं कांग्रेसी कृष्‍णा तीरथ, विश्‍वास को भी लाना चाहती थी पार्टी
बीजेपी में आईं कांग्रेसी कृष्‍णा तीरथ, विश्‍वास को भी लाना चाहती थी पार्टी

केजरीवाल का मुकाबला करने के लिए बीजेपी लंबे समय से दोनों नेताओं के संपर्क में थी। लेकिन आलाकमान का आकलन, विश्वास से ज्याद मजबूत नेता साबित होंगी बेदी।

इन रोचक कार्टून्स में नेताओं को कुछ यूं बनाया गया निशाना
इन रोचक कार्टून्स में नेताओं को कुछ यूं बनाया गया निशाना

सोशल मीडिया पर नेताओं को निशाने बनाते इलेक्टून तेजी से वायरल हो रहे हैं। इनके माध्यम से लोग चुनाव में अपनी भागीदारी और प्रतिक्रियाएं जाहिर कर रहे हैं।

नेशनल कॉन्फ्रेंस के साथ सरकार नहीं बनाएगी पीडीपी- नईम अख्तर

पीडीपी को बिना शर्त समर्थन के नेशनल कॉन्फ्रेंस के प्रस्ताव को पीडीपी ठुकरा सकती है।

पूर्व गृहमंत्री बूटा सिंह के बेटे और आप नेता बीजेपी में हुए शामिल

दक्षिणी दिल्ली की देवली विधानसभा सीट से कांग्रेस के विधायक रहे अरविंदर पिछला विधानसभा चुनाव हार गए थे।

AAP की महिला उम्मीदवार, किसी के बयान से, किसी के झगड़े से मचा बवाल

प्रत्याशी राखी बिड़लान और शालीमार बाग से प्रत्याशी वंदना कुमारी पार्टी की पूर्व विधायक रह चुकी हैं।

सीएम पद छोड़ने पर केजरीवाल ने फिर माफी मांगी, वादा किया- दोबारा ऐसा नहीं होगा

एक वेबसाइट पर लिखे लेख में पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, नरेंद्र मोदी के खिलाफ वाराणसी से लड़ने के लिए नहीं छोड़ा था पद। हम दिल्ली में दोबारा चुनाव चाहते थे,...

और खबरें

इलेक्शन प्लस