Home >> Events >> Monsoon
  • राजधानी में उत्तर-पूर्वी मानसून से बारिश, हवाओं में घुली ठंडक
    रायपुर। दक्षिण-पश्चिम मानसून के गुजरने के बाद अब उत्तर-पूर्वी मानसून से राजधानी में बारिश हो रही है। सोमवार को सुबह ग्यारह बजे इसी के असर से बारिश हुई। हालांकि बारिश बहुत तेज नहीं थी। दक्षिण-पश्चिम मानसून के गुजरने के बाद अब उत्तर-पूर्वी मानसून से राजधानी में बारिश हो रही है। दस मिनट की बूंदाबांदी में एक मिलीमीटर के आसपास ही बारिश हुई। इस मानसून के असर से दिसंबर-जनवरी तक कभी-कभार बारिश की संभावना बनी रहेगी। उत्तर-पूर्वी मानसून के कारण दक्षिण भारत खासकर तमिलनाडु और आसपास के क्षेत्रों में...
    October 20, 03:21
  • 15-20% बढ़ गए पटाखों के दाम, लेकिन प्राकृतिक आपदाओं से इंडस्ट्री को 200 करोड़ का झटका
    नई दिल्ली। इस साल देश में पटाखों के दाम 15 से 20 फीसदी बढ़े, लेकिन इसके बाबजूद देश की पटाखा इंडस्ट्री को खास राहत नहीं मिल सकी। इसका मुख्य कारण उड़ीसा, जम्मू कश्मीर और आंध्रप्रदेश में आए चक्रवाती तूफान हैं। साथ ही कमजोर मानसून के कारण कृषि आधारित राज्यों में ग्रामीण इलाकों से निकलने वाली मांग में कमी देखने को मिली है।   भारत में देसी पटाखों का कारोबार सालाना 3,000 करोड़ रुपए का है और इसमें भी अधिकतर देसी इकाइयां तमिलनाडु में हैं। देश में बनने वाले कुल पटाखों में से करीब 80 फीसदी तमिलनाडु के...
    October 19, 04:57
  • छत्तीसगढ़ में औसत बारिश के करीब पहुंचकर विदा हुआ मानसून
    रायपुर। छत्तीसगढ़ में औसत बारिश कराने के बाद दक्षिण-पश्चिम मानसून गुरुवार को लौट गया। विभाग ने मानसून समाप्ति की घोषणा कर दी। इस साल सीजन में 1100 मिलीमीटर बारिश हुई। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार लगभग 95 फीसदी से ज्यादा बारिश हो गई। मानसून के लौटने से पहले अक्टूबर में भी काफी ज्यादा बारिश हो गई। हालांकि यह खेती और अन्य लिहाज से थोड़ा घातक रहा। 19 जून को मानसून आने के बाद थोड़ा कमजोर रहा।   जून और जुलाई के पहले दो हफ्ते बारिश नहीं होने के कारण राज्य में खेती पिछड़ गई थी। जुलाई के दूसरे पखवाड़े से...
    October 18, 04:29
  • इंदौर में सोयाबीन की आवक 25 फीसदी घटी, कीमतों को सपोर्ट
    देश की सबसे बड़ी सोयाबीन की मंडी इंदौर में आवक पिछले साल के मुकाबले 25 फीसदी घट गया है। दरअसल कटाई की शुरुआत देरी से हुई है जिसके कारण मंडियों में आवक कमजोर है। आवक कम होने से कीमतों को सपोर्ट मिल रहा है। इंदौर अनाज तिलहन व्यापारी संघ के अध्यक्ष नंद किशोर अग्रावल के मुताबिक अब तक इंदौर में 150,000 बोरी(एक बोरी=100 किलो) की आवक हो चुकी है। पिछले साल समान अवधि में 200,000 बोरी की आवक हुई थी। अग्रवाल ने कहा इस खरीफ सीजन में मानसून देर आया जिसके कारण न सिर्फ बुआई पिछड़ी बल्कि कटाई भी देर से शुरु हुई है। सामान्य रूप...
    October 17, 04:52
  • कमजोर सप्लाई से 10 दिनों 10 फीसदी महंगा हुआ मूंग
    देश के बड़े दाल उत्पादक राजस्थान में मूंग दाल की कीमतों में पिछले 10 दिनों में 10 फीसदी की उछाल आ चुकी है। कीमतों में तेजी की मुख्य वजह कमजोर सप्लाई है। दरअसल इस सीजन मानसून में देरी से किसानों ने मूंग की जगह कपास और ग्वार की खेती की है। जिसके कारण बुआ का रकबा घटा है और उत्पादन कम रहने की संभावना है। वहीं बुआई में देरी से मंडियों में फसल की आवक एक महीने पिछड़ गई है। साथ ही अकोला और गुलबर्गा में उम्मीद से कम आवक के चलते कीमतों में जोरदार उछाल देखने को मिला है।   700-800 रुपए प्रति क्विंटल महंगा हुआ मूंग...
    October 15, 02:46
  • कमजोर मानसून से 6 फीसदी घट सकता है चावल उत्पादन
    कमजोर बारिश के चलते इस साल देश में चावल का उत्पादन 6.54 फीसदी घट सकता है। अमेरिकी एग्रीकल्चर डिपार्मेंट(USDA) के मुताबिक 2014-15 में 10 करोड़ टन चावल उत्पादन होने की संभावना है। पिछेल साल 10.654 करोड़ टन उत्पादन हुआ था। USDA का मानना है कि अक्टूबर-नवंबर में भी बारिश की कमी और 'सामान्य' चक्रवात जारी रहेगा जिसके कारण रबी सीजन में भी चवाल की फसल प्रभावित होगा।   2014-15 में खरीफ चावल का उत्पादन 8.7 करोड़ टन हो सकता है। पिछले साल 91.7 करोड़ टन हुआ था। वहीं रबी सीजन में 1.3 करोड़ टन उत्पादन होने का अनुमान है। सरकार के पहले...
    October 13, 05:40
  • 2014-15 में 4 करोड़ बेल हो सकता है कपास उत्पादन: बोर्ड
    साल 2014-15 में देश में कपास का उत्पादन लगातार दूसरे साल बढ़कर 400 लाख बेल होने का अनुमान है। कॉटन एडवाजरी बोर्ड के मुताबिक मानसून की बारिश देर हुई है जिसके कारण किसानों ने अपने परमपरागत फसल को छोड़कर कपास की बुआई की है जिसके कारण रकबा बढ़ गया है और उत्पादन भी बढ़ेगा। साथ ही बोर्ड ने पिछले साल के उत्पादन अनुमान को भी बढ़ा दिया है। 2013-14 कपास का उत्पादन 398 लाख बेल हो की संभावना है, जुलाई में यह अनुमान 390 लाख बेल थी।         इस साल जून और जुलाई में सूखे मौसम की वजह से  बड़े पैमाने पर किसानों ने मूंग,...
    October 13, 04:50
  • भोपाल में बारिश से गिरा तापमान
    भोपाल. राजधानी में मंगलवार को मौसम का मिजाज अचानक बदला। शाम चार बजे से कई इलाकों में करीब 20 मिनट तक जोरदार बारिश हुई। इसके असर से महज दो घंटे में ही तापमान पांच डिग्री सेल्सियस से ज्यादा गिर गया। राजधानी में दोपहर 3:30 बजे तापमान 32.8 डिग्री सेल्सियस था। शाम 5:30 बजे यह 27.6 डिग्री के स्तर पर आ गया। बारिश के बाद कहीं-कहीं कोहरा भी छा गया। शाम छह बजे तक स्थिति यह बनी कि वाहन चलाने वालों को हेडलाइट ऑन करनी पड़ गई।    मौसम वैज्ञानिकों ने बताया कि बंगाल की खाड़ी में बने सिस्टम की वजह से प्रदेश में नमी आ रही...
    October 8, 06:32
  • देश में चावल की सरकारी खरीददारी में 33 फीसदी की कमी
    1 अक्टूबर से शुरु हुए सरकारी खरीद सीजन में चावल की खरीददारी 33 फीसदी घट गई है। सरकार ने किसानों से अब तक 442,000 टन चावल की खरीद की है। पिछेल साल समान अवधि में सरकार ने 657,000 टन की खरीददारी की थी। सरकार ने अब तक पंजाब, हरियाणा और चंडीगढ़ में चावल खरीदा है। छत्तीसगढ़, आंध्र राज्यों प्रदेश, कर्नाटक में अगले कुछ दिनों में शुरू होने की संभावना है।   किस राज्य से कितनी खरीददारी   सरकार ने अब तक हरियाणा से 336,000 टन चावल खरीदा है। पिछेल साल 500,000 टन चावल की खरीददारी की थी। वहीं पंजाब से 155,000 टन के मुकाबले 104,000 टन चावल...
    October 7, 03:29
  • सामान्य से 12 फीसदी कमी के साथ खत्म हुआ मानसून
    मानसून सीज़न आधिकारिक तौर पर मंगलवार को खत्म हो गया दक्षिण पश्चिम मानसून इस साल 12% कम दर्ज की गई इस सीज़न में 29 सितंबर तक कुल 775.7 मिलीमीटर बरसात हुई है औसतन इस सीज़न में 883 मिलीमीटर बारिश होती है। मौसम विभाग के कुल 36 में से 12 सब डिविज़न में सामान्य से बहुत कम बरसात हुई 23 सब डिविज़न में सामान्य बरसात दर्ज की गई है कर्नाटक के 1 सब डिविज़न में सामान्य से ज़्यादा बरसात दर्ज की गई है
    October 1, 10:12
  • देश में घटेगा दालों का उत्पादन, 35 लाख टन होगा आयात
    भारतीय दाल और अनाज एसोसिएशन के सर्वे के मुताबिक इस साल खरीफ सीजन के दौरान दालों का उत्पादन 10-15% घट सकता है। जिसके कारण इस साल देश में 32-35 लाख टन दाल इंपोर्ट होने की संभावना है। 2014-15 में 210-220 लाख टन दाल की खपत हो सकती है। अर्थशास्त्र एवं सांख्यिकी निदेशालय के मुताबिक दालों का उत्पादन 183.33 लाख टन हो रह सकता है। 2013-14 में कुल दालों का उत्पादन 192.7 लाख होने की संभावना है।   कृषि मंत्रालय के पहले अग्रिम अनुमान के मुताबिक इस खरीफ सीजन में दालों का उत्पादन 52 लाख टन होने का अनुमान है, IPGA 50-55 लाख टन मान रहा है। पिछले...
    October 1, 05:49
  • देश में 21 फीसदी बढ़ सकता है बासमती चावल का उत्पादन
    इस खरीफ सीजन में बासमती चावल का उत्पादन 21 फीसदी बढ़ सकता है। अखिल भारतीय चावल निर्यातक संघ के मुताबिक चालू सीजन में बासमती चावल का उत्पादन बढ़कर 80 लाख टन पहुंच सकता है। पिछले खरीफ सीजन में 66 लाख टन उत्पादन हुआ था। संघ के अनुमान के अनुसार अनियमित बारिश की वजह से देश के किसानों ने गैर बासमती की जगह बासमती की बुआई की है। दरअसल बासमती की फसल त्यार हो जाता है। अब तक पूरे देश में सामान्य से 11 फीसदी कम बारिश हुई है।   इस साल किसानों ने पूसा 1121 की जगह ज्यादा उपज वाले पूसा 1509 बासमती की बुआई की है जिसके कारण...
    September 26, 05:42
Ad Link
 
विज्ञापन
 
 
 

बड़ी खबरें

 
 
 

रोचक खबरें

विज्ञापन
 

बॉलीवुड

 
 

जीवन मंत्र

 
 

स्पोर्ट्स

 

 

जोक्स

 

पसंदीदा खबरें