Home >> Events >> Pran Death
  • लालगली में फोटो स्टूडियो पर काम करते थे प्राण, परिवार को भेजा था INDORE
    इंदौर। इस इलाके में नए आए हो साहब! वरना शेर खां को कौन नहीं जानता।' बॉलीवुड के सीनियर मोस्ट एक्टर प्राण अपनी खनकदार आवाज़ और रौबीले अंदाज़ में यह संवाद कुछ इस तरह कह गए कि आज भी इसे सुनकर बदन में बिजली-सी दौड़ जाए। आंखें जैसे धमका रही हैं, भौंहें तनी हैं और होठों पर हल्की-सी मुस्कराहट है। जैसे दुश्मन पर तरस खा रहे हों। हिंदी सिनेमा की बेहतरीन 400 फिल्मों की रीलों में कैद है प्राण की ऐसी ही अदाकारी। ये प्राण की अदाकारी का जलवा ही था कि 70 और 80 के दशक में बतौर फीस उन्हें फिल्म के हीरो से ज्यादा पैसे...
    February 12, 04:42
  • Video: कभी अमिताभ और शत्रुघ्न सिन्हा से भी ज्यादा होती थी प्राण की फीस
    मुंबई। 'इस इलाके में नए आए हो साहब! वरना शेर खां को कौन नहीं जानता।' बॉलीवुड के सीनियर एक्टर प्राण अपनी खनकदार आवाज़ और रौबीले अंदाज़ में यह डायलॉग कुछ इस तरह कह गए कि आज भी इसे सुनकर बदन में बिजली-सी दौड़ जाती है। ये प्राण की अदाकारी का जलवा ही था कि 70 और 80 के दशक में बतौर फीस उन्हें फिल्म के हीरो से ज्यादा पैसे मिलते थे। प्राण का जन्म 12 फरवरी 1920 को दिल्ली में लाला केवलकृष्ण सिकंद के घर हुआ था। प्राण का मध्यप्रदेश व उत्तरप्रदेश से खासा लगाव था। उनकी शिक्षा-दीक्षा पंजाब के कपूरथला के अलावा उत्तर...
    February 12, 12:25
  • PHOTOS:खलनायकी में बसते थे इनके 'प्राण'
    [फाइल फोटो- प्राण, पत्नी शुक्ला, दिलीप कुमार, सायरा बानो]   मुंबई: "मैं भी पुराना चिड़ीमार हूं और पर कतरना अच्छी तरह से जानता हूं"। ऐसा कहना था उस महान शख्सियत का जिसका सिर्फ नाम ही लोगों को डरा जाता था। यहां बात हो रही है बॉलीवुड के सबसे बड़े विलेन कहे जाने वाले प्राण कृष्ण सिकंद की, जिनकी आज 95वीं बर्थ एनिवर्सरी है।   अभिनेता नहीं फोटोग्राफर बनने चाहते थे प्राण   'सदी के खलनायक' प्राण को एक ऐसे अभिनेता के रूप में याद किया जाता है जिसने पचास से सत्तर के दशक के बीच फिल्म इंडस्ट्री पर...
    February 12, 04:22
  • ‌Brainless :  बोल-बच्चन
    कुछ दिनों पहले एक दोस्त बोल रहा था, 'अमिताभ बच्चन बिना शराब पिए भी शराब पीने की कितनी अच्छी एक्टिंग करता है।’ अब उसे कौन समझाए, शराब पीकर, शराब पीने की एक्टिंग करने से ज्यादा मुश्किल शराब पीने के बाद घर जाकर शराब न पीने की एक्टिंग करना होता है!   ***   अमिताभ बच्चन और प्राण साहब बस स्टॉप पर खड़े थे। बस आई और प्राण साहब बस में चढ़ गए, लेकिन अमिताभ जी नहीं चढ़े। क्यों? क्योंकि बस पर लिखा था, ‘रघुकुल रीत सदा चली आई, ‘प्राण' जाए पर ‘बचन’ न जाई।’
    November 17, 10:54
Ad Link
 
विज्ञापन
 
 
 

बड़ी खबरें

 
 
 

रोचक खबरें

विज्ञापन
 

बॉलीवुड

 
 

जीवन मंत्र

 
 

स्पोर्ट्स

 

 

जोक्स

 

पसंदीदा खबरें