Home >> Events >> Syria Crisis
  • जेहाद के लिए सीरिया पहुंची दो ऑस्ट्रियाई लड़कियां, इंटरपोल को तलाश
    वियना। इंटरपोल इन दिनों दो ऑस्ट्रियाई लड़कियों की तलाश कर रहा है। उन पर सीरिया पहुंचकर इस्लामिक विद्रोहियों की मदद करने का आरोप है। इंटरपोल द्वारा तलाश की जा रही इन लड़कियों के नाम समरा केसिनोविक (16 वर्षीय) और सबीना सेलिमोविक (15 वर्षीय) हैं। दोनों 10 अप्रैल से वियना स्थित अपने घर से गायब हैं।    दोनों लड़कियों के सीरिया में होने की जानकारी उनके परिजन को सोशल मीडिया की तस्वीरों के जरिए मिली। इन तस्वीरों के जरिए बताया गया था कि वे 'पवित्र युद्ध' के लिए गई हैं। हालांकि, उनके परिजन को सोशल...
  • सीरिया पत्रकारों के लिए सबसे खतरनाक देश
    जानलेवा रिपोर्टिंग पत्रकारों के लिए विश्व का सबसे खतरनाक जगह बन गया है सीरिया वहां मारे जाने वाले करीब 96 फीसदी पत्रकार स्थानीय होते हैं अधिकांश पत्रकार राजनीति, भ्रष्टाचार एवं युद्ध की करते थे रिपोर्टिंग अमेरिका की एक निगरानी संस्था कमिटी टू प्रोटेक्ट जर्नलिस्ट (सीपीजे) ने सीरिया को पत्रकारों के लिए विश्व की सबसे खतरनाक जगह बताया है। संस्था ने वार्षिक इंप्यूनिटी इंडेक्स जारी की है जो रिपोर्टर्स के हत्या के अनसुलझे मसलों के आधार पर तैयार की जाती है। इंप्यूनिटी इंडेक्स की गणना देश की कुल...
    April 18, 01:17
  • सीरिया पत्रकारों के लिए दुनिया का सबसे खतरनाक देश, अमेरिकी संस्था का दावा
    न्यूयार्क। सीरिया पत्रकारों के लिए दुनिया का सबसे खतरनाक देश है। दुनिया भर में पत्रकारों की अनसुलझी हत्या के मामलों पर रिपोर्ट प्रकाशित करने वाली अमेरिकी संस्था ने इस बात का दावा किया है। पत्रकारों की सुरक्षा के लिए काम करने वाली न्यूयार्क की संस्था कमेटी टू प्रोटेक्ट जर्नलिस्ट्स (सीपीजे) ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि सीरिया में निशाना बनाकर पत्रकारों की हत्या करने के मामले बढ़े हैं।    संस्था सीपीजे ने कहा कि अपहरण और गोलीबारी में हुई पत्रकारों की मौत के मामलों में जबरदस्त इजाफा हुआ...
    April 17, 06:27
  • 3 साल के गृहयुद्ध में कैसे बदल गया सीरिया, देखें पहले और अब की तस्वीरें
    इंटरनेशनल डेस्क। एक वक्त में इस्लामिक प्रभुता का केंद्र रहे सीरिया ने लंबे वक्त तक आक्रमण और कब्जे का दौर देखा है। सीरिया ने रोमन और मंगोलों का दौर देखा, तो फ्रांस का भी 25 साल का लंबा शासन काल देखा। हालांकि, 15 अप्रैल, 1946 में सीरिया पूरी तरह से फ्रांस के प्रभाव से मुक्त हो गया, लेकिन देश संघर्ष के दौर से ज्यादा दिन मुक्त नहीं रह पाया। सीरिया 2011 से फिर विद्रोह और संघर्ष की आग में जल रहा है।   सीरिया में सरकार और विद्रोहियों के बीच संघर्ष जारी है। सत्ता और विद्रोहियों के बीच की इस लड़ाई में नुकसान आम...
    April 17, 01:55
  • पूर्वी सीरिया में आतंकवादी समूह ने 51 विद्रोही मार गिराए
    दमिश्क। पूर्वी सीरिया के तेल बहुल क्षेत्र बुकामल पर कब्जे की कोशिश कर रहे 51 विद्रोहियों को सशस्त्र आतंकवादी समूह ने मार गिराया।     विद्रोहियों का संगठन आइएसआईएल ईराकी सीमा से लगे दीर-अल-जौर क्षेत्र पर कब्जा जमाने के लिए प्रयासरत है। पूर्वी सीरिया का यह क्षेत्र सीरियाई सरकार के नियंत्रण से छुटा हुआ है।   देश में लंबे समय से चल रहे गृहयुद्ध में यह क्षेत्र विद्रोहियों के बीच लड़ाई का मुख्य स्थल बना हुआ है।
    April 11, 06:26
  • सदियों की गुलामी के बाद अब भी युद्ध की आग में जल रहा है सीरिया, देखें तस्वीरें
    इंटरनेशनल डेस्क। एक वक्त में इस्लामिक खिलाफत के केंद्र रहे सीरिया ने सदियों तक आक्रमण और कब्जे का दौर देखा। इस देश पर रोमन और मंगोल से लेकर तुर्क तक, सभी ने राज किया। 12 अप्रैल, 1946 को सीरिया को फ्रांस के करीब 25 साल लंबे शासन से आजादी मिली थी, लेकिन सीरिया में शांति ज्यादा दिन कायम नहीं रह सकी। फिलहाल, सीरिया गृहयुद्ध की आग में जल रहा है।    सीरिया में सरकार और विद्रोहियों के बीच संघर्ष जारी है। सत्ता और विद्रोहियों के बीच की इस लड़ाई में नुकसान आम सीरियाई नागरिकों का हो रहा है। युद्ध और संघर्ष में...
    April 12, 05:12
  • सीरिया में गृहयुद्ध नहीं रोक पाने पर ओबामा ने जताया खेद
    वाशिंगटन। अमेरिका ने सीरिया में सैन्य बल का उपयोग नहीं करने के लिए अपने प्रशासन के फैसले का बचाव किया है। राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा कि अमेरिका की अपनी सीमाएं हैं। एक टेलीविजन चैनल को दिए इंटरव्यू में ओबामा ने खेद जताते हुए कहा कि इराक और अफगानिस्तान में छिड़े युद्ध में बड़ी संख्या में अमेरिकी सैनिक शामिल रहे। इस वजह से अमेरिका सीरिया में तीन साल से जारी गृहयुद्ध में अपने सैनिकों का इस्तेमाल नहीं कर पाया।    इंटरव्यू के दौरान ओबामा ने कहा कि अगर ऐसा होता तो सीरिया में इस दौरान मारे गए एक...
    March 29, 01:34
  • वर्ष 2013 में सीरिया, रूस और अफ़ग़ानिस्तान उन देशों में शामिल रहे, जहां से सबसे ज़्यादा लोगों ने शरण लेने के लिए दूसरे देशों की ओर पलायन किया. संयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट के अनुसार, औद्योगिक देशों में शरण लेने वालों की संख्या बढ़कर 28 फ़ीसदी हो गई. समाचार एजेंसी एपी ने संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी एजेंसी के हवाले से कहा है कि ज़्यादातर शरणार्थी यूरोप में पनाह लेना चाहते हैं. क़रीब तीन सालों से गृह युद्ध की मार झेल रहे सीरियाई शरणार्थियों की संख्या वर्ष 2013 में 56,351 रही, जो एक साल पहले के 25,232 की तुलना में...
    March 22, 07:05
  • सीरिया के दूतावास बंद कराने पर हुई अमेरिका की आलोचना
    मास्को। सीरिया और रूस ने अमेरिका द्वारा वाशिंगटन में सीरियाई दूतावास और अन्य शहरों में सीरियाई वाणिज्य दूतावास बंद किये जाने की आलोचना की है। उन्होंने इसे अंतरराष्ट्रीय राजनयिक संधि का उल्लंघन बताया है।   रूसी विदेश मंत्रालय का आरोप है कि अमेरिका चार साल से गृह युद्ध की मार झेल रहे सीरिया में सत्ता परिवर्तन का प्रयास कर रहा है। रूस अब तक संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में सीरियाई राष्ट्रपति बशर अल असद का बचाव करता आया है। रूसी विदेश मंत्रालय ने अपनी वेबसाइट पर लिखा  है कि रासायनिक...
    March 20, 02:13
  • संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार जांचकर्ताओं ने जानकारी दी है कि सीरिया में विद्रोहियों ने बड़ी संख्या में बंदी बनाए गए लोगों की सामूहिक हत्या की है। जांच आयोग की ताज़ा रिपोर्ट में जनवरी में सीरिया के उत्तरी प्रांत एलेप्पो के बच्चों के अस्पताल पर किए गए रासायनिक हमले की घटना सहित और कई घटनाओं को दर्ज किया गया है। इस बीच सरकारी सैन्य बलों पर आरोप लग रहे हैं कि वे नागरिकों के ख़िलाफ़ बैरल बम सहित कई और हथियारों का अंधाधुंध इस्तेमाल कर रहे हैं। यह रिपोर्ट जिनेवा में मानवाधिकार परिषद् में हो रही एक...
    March 19, 04:11
  • मास्को। रूस के विदेश मंत्रालय ने कहा कि सीरिया के रासायनिक हथियारों को 13 अप्रैल तक हटा दिया जाना चाहिए और उसे देश के बाहर ले जाकर नष्ट किया जाना चाहिए। रूसी अधिकारी ने कहा कि इसे हटाने और नष्ट करने के निर्धारित कार्यक्रम में किसी प्रकार के बदलाव की जरूरत नहीं है।   रूसी अधिकारी मिखाइल डलियनोव ने कहा कि अगर कोई कठिनाई नहीं हो तो इस कार्यक्रम के एक महीने के अंदर 13 अप्रैल तक पूरा कर लिया जाना चाहिए।
    March 14, 05:31
  • अलकायदा समर्थित विद्रोहियों के कब्जे से मुक्त कराई गईं 13 नन
    दमिश्क। अलकायदा से जुड़े सीरियाई विद्रोहियों द्वारा बंधक बनाई गई यूनानी ननों को मुक्त कर दिया गया है। सीरिया की एक न्यूज एजेंसी ने उनके दमिश्क पहुंचने की जानकारी दी है।    एजेंसी के मुताबिक, विद्रोहियों के कब्जे से मुक्त हुई 13 ननों के दमिश्क पहुंचने पर स्थानीय निवासियों ने उनका स्वागत किया। ननों को सोमवार सुबह, सीरिया सरकार और विद्रोहियों के बीच नुसरा फ्रंट पर हुई डील के बाद मुक्त किया गया। इनके बदले में बशर सरकार 150 बंदी महिलाओं को मुक्त करेगी।      
    March 10, 07:50
Ad Link
 
विज्ञापन
 
 
 

बड़ी खबरें

 
 
 

रोचक खबरें

विज्ञापन
 

बॉलीवुड

 
 

जीवन मंत्र

 
 

स्पोर्ट्स

 

बिज़नेस

 

जोक्स

 

पसंदीदा खबरें