कैथल
Home >> Haryana >> Kaithal
  • पूंडरी सीट के मतगणना केंद्र पर राउंड का अपडेट जानते निर्दलीय नरेंद्र शर्मा सतबीर भाणा।
    पूंडरी सीट के मतगणना केंद्र पर राउंड का अपडेट जानते निर्दलीय नरेंद्र शर्मा सतबीर भाणा। कलायत सीट के मतगणना केंद्र पर चिंता की मुद्रा में बैठक कांग्रेस के रणबीर मान।
    02:40 AM
  • महाराजाअग्रसेनकॉलेज ऑफ एजुकेशन कॉलेज में दीपावली के अवसर पर बहुआयामी प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। मुख्यातिथि एवं निर्णायक मंडल के रूप में सविता बंसल ममता गर्ग ने भाग लिया अध्यक्षता प्राचार्य अनिल कुमार ने की। प्रतियोगिता में बीएड के विद्यार्थियों ने भाग लिया। दीप सजावट में निशा ने प्रथम, पूजा द्वितीय नीरज ने तीसरा स्थान प्राप्त किया। थाली सजावट में प्रियंका ने प्रथम, ज्योति ने द्वितीय रजनी ने तीसरा स्थान प्राप्त किया। रंगोली में मुकेश रानी ने प्रथम, पूजा ने द्वितीय सीमा ने तीसरा...
    02:40 AM
  • डेरासच्चासौदा सिरसा ने चुनाव से तीन दिन पहले प्रदेश में बीजेपी को समर्थन कर दिया था। लोगों में आम चर्चा थी कि बीजेपी को इसका फायदा मिलेगा, लेकिन जिला कैथल में इसका कोई फायदा नहीं हुआ। चार सीटों में से बीजेपी केवल गुहला सीट पर ही जीत दर्ज पाई। कैथल में 12 अक्टूबर को डेरा सच्चा सौदा की राजनीतिक विंग ने बैठक बुलाकर बीजेपी को समर्थन देने की घोषणा कर दी। बीजेपी के प्रत्याशी राव सुरेंद्र सिंह भी मौके पर ही उपस्थित रहे। इसी तरह कलायत की संगत ने कलायत बीजेपी के प्रत्याशी धर्मपाल शर्मा को समर्थन देने की...
    02:15 AM
  • पूंडरीसीटपर निर्दलीयों का रिकाॅर्ड कायम रहा है। निर्दलीय प्रत्याशी ने इस सीट पर लगातार पांचवीं जीत दर्ज की है। इस सीट पर कुल 12 विधानसभा चुनावों में से छह चुनाव निर्दलीयों ने जीते हैं। खास बात यह है कि पिछले पांच चुनाव से तो निर्दलीय है इस सीट पर काबिज होते आए हैं। इस बार दिनेश कौशिक इस सीट पर जीत कर निर्दलीयों के रिकार्ड को बरकरार रखने में कामयाब हुए हैं। दिनेश कौशिक ने सभी पार्टियों के साथ-साथ कुल 19 प्रत्याशियों को मात देकर सीट पर कब्जा किया है। उन्होंने कांग्रेस के रवि मैहला, भाजपा के रणधीर...
    02:15 AM
  • मतगणनाकेदौरान अंतिम राउंड आते-आते जैसे ही प्रत्याशियों की जीत निश्चित दिखाई देने लगी, वैसे ही उनके समर्थकों की भारी भीड़ केंद्र के बाहर एकत्रित हो गई। पिहोवा चौक के नजदीक पुलिस ने बैरिकेड्स पर ही भीड़ को रोके रखा। भीड़ में जयप्रकाश रणदीप के समर्थकों की संख्या ज्यादा थी। दोनों समर्थकों में तनाव की स्थिति भी पैदा हो गई। देखते ही देखते जेपी के समर्थकों ने पथराव शुरू कर दिया, जिससे रणदीप के समर्थक भी भड़क उठे और दोनों तरफ से पत्थरबाजी शुरू हो गई। इस घटना में आसपास खड़ी गाड़ियों और कई दुकानों के...
    02:15 AM
  • प्रदेश स्तरीय कबड्डी में कैथल की टीम ने पानीपत को हराया
    महाराजासूरजमलजाट खेल स्टेडियम में रविवार को प्रदेश स्तरीय कबड्डी प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। प्रतियोगिता में अंडर-14, अंडर-17 अंडर-19 लड़कों लड़कियों की टीमों ने हिस्सा लिया। प्रतियोगिता का शुभारंभ जिला उप शिक्षा अधिकारी शमशेर सिंह सिरोही ने किया। सिरोही ने कहा कि खेलों से बच्चों का सर्वांगिण विकास होता है। स्कूलों में अध्यापकों को बच्चों की पढ़ाई के साथ-साथ खेलों की तरफ भी ध्यान देना चाहिए। आज खेलों में भी रोजगार है। खेल में जीत-हार होती रहती है। खेल को द्वेष भावना से नहीं खेलना चाहिए।...
    02:15 AM
  • चुनाव के बाद बाजार में फिर लौटी रौनक
    त्योहारका सीजन और दुकानदार मायूस। कारण विधानसभा चुनाव। इस बार दिवाली और अन्य त्योहारों के बीच में ही विधानसभा चुनाव होने के कारण त्योहारी सीजन ढीला पड़ गया था। दुकानदार अच्छी-खासी बिक्री होने के कारण मायूस थे। 15 अक्टूबर को मतदान के बाद बाजारों में रौनक लौटने लगी और 16 अक्टूबर से बाजार एक बार फिर गुलजार हो उठे। दुकानदारों के लिए त्योहारी सीजन बहुत मायने रखता है। यही उनके लिए कमाई का सीजन भी होता है। विशेष तौर पर तैयारी कर सामान से दुकानें भरने वाले दुकानदार अब तक खाली बैठे थे। चुनाव की चिल-पौं...
    02:15 AM
  • कैथलशुरूसे ही इनेलो का गढ़ रहा है, लेकिन इस बार विधानसभा चुनाव में जिला कैथल की चारों सीट इनेलो हार गई। कलायत के रामपाल माजरा इनेलो के सबसे मजबूत दावेदार थे, लेकिन निर्दलीय जयप्रकाश ने उनके सारे समीकरण बिगाड़ दिए और चुनाव जीत गए। जब भी इनेलो की सरकार आई जिला कैथल की अहम भूमिका रही है। वर्ष 2009 में भी गुहला कलायत सीट इनेलो के खाते में गई थी। गुहला सीट पर 1982 में लोकदल से दिल्लूराम विधायक बने। इसके बाद वर्ष 1987 में लोकदल से बूटा सिंह विधायक बने। वर्ष 2000 में अमर सिंह ढांडे इनेलो से विधायक बने। वर्ष 2009 में...
    02:15 AM
  • कैथलमें इनेलो के कैलाश भगत के लिए तीन का अंक बेहद अनलक्की रहा। कैथल सीट से लगातार तीन बार हारने का रिकॉर्ड भगत के खाते में लिखा गया। इनेलो ने भी तीसरी बार सीट गंवाई और भगत दौड़ में भी तीसरे नंबर पर रहे। मतदान से ठीक तीन दिन पहले तक भगत दौड़ में पहले-दूसरे नंबर पर बने हुए थे, लेकिन तीन दिन पहले हवा बदली और वे तीसरे नंबर पर खिसकते नजर आए। इस तीन ने उनका अंत तक पीछा नहीं छोड़ा और से तीसरे नंबर पर ही रह गए।
    02:15 AM
  • ये है जीत का विजय चिन्ह...
    साइड दो भाई... फोन किया तो पड़ी झाड़... कैथल सीट के मतगणना केंद्र के बाहर तैनात एक पुरुष एक महिला पुलिसकर्मी फोन पर बात कर रहे थे। डीएसपी रविंद्र तोमर ने देखा तो उन्होंने दोनों कर्मियों को जमकर लताड़ लगाई। जीत के बाद अपने घर में परिवार के सदस्यों के साथ जश्न मनाते दिनेश कौशिक। स्ट्रॉन्ग रूम से मतगणना टेबल तक ईवीएम पहुंचाता चुनाव कर्मी।
    02:15 AM
  • कैथल |जिला की चारों विधान सभाओं काफी उलटफेर हुआ। जिन नेताओं की जीत पक्की लग रही थी। वे भी चुनाव हार गए। चुनाव की घोषणा होने से पहले कलायत से इनेलो के रामपाल माजरा सबसे मजबूत स्थिति में थे। कांग्रेस की टिकट कटने पर जयप्रकाश ने निर्दलीय पर्चा भरा। चुनाव से दस दिन पहले तक पूरा माहौल रामपाल माजरा के पक्ष दिखाई दे रहा था। लेकिन जयप्रकाश ने ऐसा माहौल तैयार किया कि माजरा लगातार पिछड़ते चले गए और चुनाव हार गए। जयप्रकाश को जाटों के अलावा हर बिरादरी का समर्थन मिला। गुहला विधान सभा में इनेलो के बूटा सिंह...
    02:15 AM
  • राव रहे गुमसुम, रणदीप कैलाश में गुफ्तगू
    लोगों की उत्सुकता का केंद्र बना आरकेएसडी कैथलसीट के मतगणना केंद्र पर प्रत्याशी भी अंतिम राउंड तक बैठे रहे। पिछले एक माह से जनता के बीच एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोपों की झड़ी लगाने वाले भाजपा, कांग्रेस इनेलो प्रत्याशी आज एक साथ बैठे थे। भाजपा के राव सुरेंद्र सिंह शुरू से ही गुमसुम नजर आए तो कांग्रेस के रणदीप सिंह सुरजेवाला इनेलो के कैलाश भगत गुफ्तगू करते रहे। अन्य प्रत्याशी भी यहां मौजूद थे, लेकिन उनके चेहरे पर मायूसी छाई हुई थी। गुहला के मतगणना केंद्र पर कांग्रेस के दिल्लूराम बाजीगर...
    02:15 AM
विज्ञापन
 
 

अपना शहर चुनें

बड़ी खबरें

 
 

रोचक खबरें

 

बॉलीवुड

 
 

जीवन मंत्र

 
 

स्पोर्ट्स

 

बिज़नेस

 

जोक्स

 

पसंदीदा खबरें