पावर गैलरी

Home >> National >> Power Gallery
  • राजनाथ के पाकिस्तान जाने पर फैसला मोदी लेंगे
    सार्क के गृहमंत्रियों का सम्मेलन 4 अगस्त को पाकिस्तान में होना है। सवाल है कि राजनाथ सिंह इस बैठक में जाएं या न जाएं? अगर गए, तो दो बातें हो सकती हैं- वह पाकिस्तानी गृहमंत्री निसार अली खान से मिलें, या न मिलें। अगर मिले, तो पठानकोट हमले और कश्मीर से लेकर कुलभूषण तक बहुत लंबी बात होगी, और अगर न मिले, तो बात बहुत गंभीर हो जाएगी। फिर नवम्बर में वहीं सार्क शिखर सम्मेलन होना है। एक पखवाड़े में दो आत्महत्याएं विदेश मंत्रालय में एक पखवाड़े में जूनियर वर्ग के अधेड़ आयु के दो अधिकारी आत्महत्या कर चुके...
    10:12 AM
  • भरोसा ईडी पर
    मनी लॉड्रिंग, फेमा, हवाला, काला पैसा- इन सबसे निपटना प्रवर्तन निदेशालय का काम है। प्रवर्तन निदेशालय में निदेशक करनैल सिंह पर मोदी सरकार को बहुत विश्वास है। विश्वास स्नेह में भी बदल रहा है। अगले महीने पेरिस में भ्रष्टाचार विरोधी वार्षिक कांफ्रेंस होनी है। आम तौर पर इस कांफ्रेंस में सीबीआई निदेशक या सीवीसी भारत का प्रतिनिधित्व करते आए हैं। लेकिन इस वर्ष पीएमओ ने करनैल सिंह का नाम भेजा है।टैम ब्रेम के निशाने पर... सुब्रह्मण्यम स्वामी आरबीआई गवर्नर रघुराम राजन को हटाने की मांग करते हुए अब तक...
    10:08 AM
  • 13 महीने बाकी, अब कौन बनेगा राष्ट्रपति?
    आज से पूरे 13 महीने बाकी हैं। यानी गठबंधन का जमाना होता, तो एक या दो सरकारों का भी गणित इतने टाइम में लगाया जा सकता था। खैर, अब वो जमाने लद गए और अब 13 महीने बाकी हैं राष्ट्रपति का चुनाव होने में। दो बातें साफ हैं। एक यह कि आज की स्थिति में बीजेपी का पलड़ा भारी रह सकता है, लेकिन अगर सारे गैर बीजेपी दल एक साथ हो गए, तो बीजेपी को परेशानी हो सकती है। फिर क्या होगा? क्या प्रणब दा फिर एक बार बनेंगे? बीजेपी उन्हें उम्मीदवार नहीं बनाएगी। और कांग्रेस? उसे प्रणब दा से ज्यादा भरोसा हामिद अंसारी पर है। उधर बीजेपी में...
    10:07 AM
  • विकास वही, जो गुजराती मॉडल पर हो
    केंद्र सरकार में एक मंत्री हैं। भारी भरकम कद, भारी भरकम मंत्रालय और सोच ऐसी कि विकास के कई अर्थशास्त्री भी पीएचडी कर डालें। लेकिन मंत्रिपरिषद में फेरबदल के साथ उनको नए ज्ञान की प्राप्ति हुई है। ज्ञान यह है कि विकास वगैरह तो अपनी जगह है, विकास उसी को माना जाएगा जो गुजरात मॉडल के अनुरूप हो। यह ज्ञान उन्हें हाल ही में मिले राज्यमंत्री के तौर-तरीकों से प्राप्त हुआ है। सेल्फ गोल दा जवाब नहीं! जब टीम इतनी बुरी तरह मात खा चुकी हो तब भी सेल्फ गोल कैसे किया जाए- यह कांग्रेस से सीखा जा सकता है। इस कला की...
    July 19, 06:58 PM
  • ये हैं पीएम मोदी की 'बारीक तैयारी' के पीछे ?
    प्रधानमंत्री की विदेश यात्राएं सभी के लिए कौतुक का विषय हैं। देस परदेस- सभी के मन में सवाल है- आखिर कोई ऐसा कर कैसे सकता है? हाल की विदेश यात्रा में प्रधानमंत्री ने कुल पांच भाषण दिए। पांचों अलग। पांचों की सामग्री अलग। और सबसे अहम बात- पांचों की स्टाइल अलग। जैसे स्विटजरलैंड में पीएम धीमे सुर में बोले, ज्यादा नहीं बोले, संस्कृति पर कोई आख्यान नहीं, और बात खत्म। क्यों? क्योंकि स्विस लोग जोर से बोलना और ज्यादा बोलना पसंद नहीं करते। और पीएम इतनी बारीकी से तैयारी करके घर से निकले थे। इसमें उनकी मदद...
    June 15, 07:20 PM
  • और ये अनंत फैन कथा
    शुरुआत एक फैन कथा से। दरअसल जया बच्चन के फैन पत्रकारों ने संचार मंत्री रविशंकर प्रसाद से मांग की थी कि जया बच्चन की पुरानी फिल्मों का एक मेला आयोजित किया जाए। रविशंकर प्रसाद खुद भी जया बच्चन के फैन हैं। जया बच्चन राज्यसभा सदस्य हैं, और सूचना प्रसारण मंत्री अरुण जेटली भी राज्यसभा सदस्य हैं। लिहाजा जया बच्चन की पुरानी फिल्में दिखाने की बात सिद्धांततः जम गई। लेकिन कौन सी फिल्में? चर्चा चली। अभिमान, गुड्डी, मिली, कोशिश, शोर, कुछ बांग्ला फिल्में, खासकर सत्यजित रॉय की महानगर। और किसी ने कह दिया...
    May 17, 12:56 PM
  • मॉय नेम इज़ स्वामी, सुब्रह्मण्यम स्वामी
    शुरुआत टैमब्रेम तमिल ब्राह्म्ण- सुब्रह्मण्यम स्वामी से। स्वामी कांग्रेस के लिए जितने भारी पड़ रहे हैं, उतने ही भारी बीजेपी के लिए भी पड़ रहे हैं। सदस्यता की शपथ के बाद इन सभी छह नए सांसदों को एक फॉर्म भरकर राज्यसभा महासचिव को सौंपना था। पांच ने सौंप दिया, बचे स्वामी, तो वो पहले ही फॉर्म जमा कर चुके थे। बीजेपी के एक पदाधिकारी ने जब उनसे ऐसा करने की वजह पूछी, तो स्वामी ने कह दिया कि उनसे ऐसा करने के लिए अमित शाह ने कहा था। अब आगे पूछने की किसकी मजाल? सदन में स्वामी ने अपनी सीट भी बीजेपी सदस्यों के बीच...
    May 3, 10:06 AM
  • राज़ ही रहने दो
    बाबा रामदेव के पतंजलि ने खासी सनसनी मचा रखी है। एफएमसीजी से लेकर आयुर्वेदिक दवाइयां बनाने वाली कई महारथी कंपनियां दबाव में हैं। पिछले दिनों तमाम आयुर्वेदिक कंपनियों के प्रतिनिधियों की एक मीटिंग हुई। तय हुआ कि सारे मिलकर पतंजलि उत्पादों की गुणवत्ता की शिकायत करें। लेकिन ऐन मौके पर एक कंपनी ने अपना हाथ पीछे खींच लिया। बाकी भी इससे खुश हैं। बात निकलती, तो न जाने कहां तक जाती। पीएम के साथ अनुपम खेर अनुपम खेर के जलवे हैं। उनके तर्कों-तेवरों ने देश भर को मथ डाला है। हालात यह हैं कि एक तरफ कुछ...
    April 19, 11:29 AM
  • वाशिंगटन में नमो-नमो
    वाशिंगटन में आयोजित परमाणु सुरक्षा सम्मेलन में चीनी राष्ट्रपति के साथ ओबामा की मुलाकात को भले ही महत्वपूर्ण माना गया हो, लेकिन वास्तव में इस घटना के हीरो प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ही रहे। सम्मेलन के कामकाजी डिनर के दौरान न केवल मोदी की कुर्सी ओबामा के साथ रखी गई थी, बल्कि डिनर में मोदी के भाषण की खुद ओबामा भी सराहना करते नजर आए थे। प्योर मौजां ही मौजां वाशिंगटन में मोदी-नवाज शरीफ मुलाकात की सम्भावना देखते हुए पाक से कई पत्रकार चले। उधर लैंड ऑफ प्योर को ये बात समझ में आ गई कि वाशिंगटन में...
    April 6, 10:18 AM