Home >> International News >> Bhaskar Gyan
  • अमेरिका का पहला नियमित अखबार था बोस्टन न्यूज-लेटर
    इंटरनेशनल डेस्क. अमेरिका में आज ही के दिन 1704 में पहले नियमित अखबार बोस्टन न्यूज-लेटर की शुरुआत हुई थी। एक छोटी सिंगल शीट के दोनों तरफ समाचार प्रकाशित किए जाते थे। बाद में उसे हाफ शीट कहा जाने लगा था। 1704 में अमेरिका में ब्रिटिश राज ही था। बोस्टन से अखबार के प्रकाशन की जिम्मेदारी एक पोस्टमास्टर और पुस्तक विक्रेता जॉन कैम्पबेल ने उठाई थी। उन्होंने उन लोगों के हित में काम किया जो बोस्टन की शुरुआती आबादी में गिने जाते थे। वे सभी लोग दिल से ब्रिटिश ही थे। उन्हें अपने देश की धरती से एक समुद्र ने दूर कर...
    April 24, 10:20 AM
  • ऑफिस से जुड़ी वह 4 बातें, जिन्हें जरूर जानना चाहिए
    हम ऑफिस लाइफ की बहुत-सी बातें नहीं जानते हैं। उन्हें सीखना हमारे लिए आश्चर्य से कम नहीं होगा। शोधकर्ता ऐसे कई सवालों के जवाब खोज रहे हैं, जो ऑफिस की दिनचर्या से जुड़े हैं। ऑफिस ऑवर के मनोविज्ञान को समझने से हमें वर्कप्लेस में अधिक प्रोडक्टिव बनने में मदद मिल सकती है। बिजी वर्क में सबसे ज्यादा खुशी यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया, इरविन के शोधकर्ताओं के मुताबिक कर्मचारी उस समय सबसे ज्यादा खुश रहते हैं, जब वे रूटीन काम या बिजी वर्क करते हैं। ऐसा इसलिए, क्योंकि इसमें कोई तनाव नहीं होता है, जबकि...
    April 23, 11:05 AM
  • WW2 का क्रूरतम दौर, 20 लाख जर्मन महिलाओं से रूसियों ने किया था रेप
    (GRAPHIC CONTENT) इंटरनेशनल डेस्क। जर्मनी के इतिहास में 21 अप्रैल का दिन खौफनाक पलों में गिना जाता है। 21 अप्रैल, 1945 में द्वितीय विश्वयुद्ध अपने अंतिम चरण पर था। पूर्ववर्ती सोवियत संघ की रेड आर्मी बर्लिन के बाहरी इलाके में प्रवेश करती है। मार्शल जॉर्जी जुखोव के नेतृत्व में रेड आर्मी ने बर्लिन को पूरी तरह से घेर लिया। फिर चौतरफा कब्जे की लड़ाई शुरू हुई। बर्लिन को चौतरफा घिरता देख नाजी मंत्री जोसेफ गोबेल्स ने कहा, हम मरते दम तक बर्लिन की रक्षा करते रहेंगे। सोवियत सैनिकों ने पूरी ताकत के साथ बर्लिन पर जमीन...
    April 22, 12:11 PM
  • यूएस: वैज्ञानिकों ने खोज निकाली लेजर किरणों से बारिश कराने की नई तकनीक
    वाशिंगटन। शोधकर्ताओं ने एक ऐसी तकनीक विकसित की है, जिससे बारिश कराने के लिए बादलों में उच्च ऊर्जा वाली लेजर किरणें छोड़ी जा सकेंगी। यूनिवर्सिटी ऑफ सेंट्रल फ्लोरिडा के कॉलेज ऑफ ऑप्टिक्स एंड फोटोनिक्स और यूनिवर्सिटी ऑफ एरिजोना के शोधकर्ताओं के मुताबिक बादलों में पानी की सघनता और बिजली चमकने की प्रक्रिया वायुमंडलीय विक्षोभ से चार्ज असंख्य कणों से जुड़ी हुई होती है। उपयुक्त लेजर किरणों की मदद से इन कणों को सक्रिय करके जब चाहें और जहां चाहें बारिश की जा सकती है। शोधकर्ताओं का दावा है कि...
    April 22, 11:05 AM
  • जानें, दुनिया के उन शहरों के बारे में, जहां साइकिल चलाने के भी हैं नियम
    इंटरनेशनल डेस्क. दुनिया में कई ऐसे देश हैं, जहां के चुनिंदा और व्यस्त रहने वाले शहरों में साइकिल चलाना यातायात के नियमों में शामिल है। लोग उनका पालन भी करते हैं। ज्यादातर जगहों पर साइकिल प्रशासन की तरफ से मुहैया कराई जाती हैं। साइकिल के स्टैंड होते हैं, जहां से लोग खुद लेते हैं और रखते हैं। साइकिल चलाने के कई लाभ हैं। इससे पर्यावरण को कोई नुकसान नहीं होता, ईंधन की बचत होती है और शरीर भी स्वस्थ रहता है। जानिए ऐसे ही शहरों के बारे में। न्यूयॉर्क, अमेरिका अमेरिका के सबसे व्यस्त इस शहर में 2011 में...
    April 21, 10:43 AM
  • FUTURE TECHNOLOGY: समुद्री चट्टानों से भी बनाए जा सकेंगे स्मार्टफोन
    बर्लिन।भविष्य में स्मार्टफोन, समुद्र की तलछट और गहराई पर पड़ी चट्टानों से बनाया जाएगा। वैज्ञानिकों के अनुसार स्मार्टफोन में इस्तेमाल होने वाले दुर्लभ तत्व समुद्र के तल में काफी मात्रा में उपलब्ध हैं। जर्मन वैज्ञानिकों ने रेयर अर्थ मेटल्स (दुर्लभ पृथ्वी तत्व) जैसे येट्रियम, प्रासोडिमियम और डायस्प्रोसियम को समुद्री चट्टानों से अलग करने का नया तरीका खोज लिया है। हर वर्ष बड़ी संख्या में स्मार्टफोन व अन्य उपकरण इन रेयर अर्थ मेटल्स से बनाए जा रहे हैं और पृथ्वी पर इनकी उपलब्धता कम होती जा रही...
    April 20, 05:02 PM
  • चार्ली की जिंदगी की खास बातें: कम उम्र की लड़कियों से शादी करने का था शौक
    इंटरनेशनल डेस्क।चार्ली चैप्लिन 20वीं सदी के शुरुआती दौर के जाने-माने अभिनेताओं में से एक थे। बैगी आकार की ऊंची पतलून, अजीबोगरीब टोपी और जरूरत से ज्यादा लंबे जूते पहनना अपना स्टाइल बना लेने वाले चैप्लिन कुछ ही समय में हॉलीवुड आइकॉन बन गए। साइलेंट फिल्मों के शुरुआती दिनों में वो सबसे लोकप्रिय अभिनेताओं में से एक थे। अगर ये कहा जाए तो गलत नहीं होगा कि सिनेमा में अगर हास्य कलाकारों की बात होगी तो सबसे पहले का चार्ली चैप्लिन का ही नाम आएगा। चार्ली चैप्लिन का जन्म आज ही के दिन 16 अप्रैल 1889 ब्रिटेन में...
    April 16, 05:46 PM
  • जानिए क्यों अभी भी स्नोडेन के कम्प्यूटर तक नहीं पहुंच सका अमेरिका
    वाशिंगटन . अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी (एनएसए) के बड़े खुलासे करने वाले एडवर्ड स्नोडेन साधारण व्यक्ति नहीं हैं। अमेरिका आज तक उनकी सही लोकेशन ढूंढ़ नहीं पाया। स्नोडेन ने दुनिया को बताया था कि अमेरिका मित्र देशों तक के खिलाफ जासूसी करता है। स्नोडेन ने पहली बार गार्डियन के पत्रकार ग्लेन ग्रीनवाल्ड को ई-मेल भेजा था। इस ई-मेल से ग्लेन समझ गए थे कि स्नोडेन के पास असाधारण कम्प्यूटर है। उनके ई-मेल को ग्लेन का पीजीपी सॉफ्टवेयर भी पकड़ नहीं पाया था। स्नोडेन ने एनएसए से बचने के लिए टैल्स...
    April 16, 11:28 AM
  • अब नोबेल चाहिए तो करना होगा 20 साल का इंतजार
    लंदन. प्रतिष्ठित नोबेल पुरस्कार के लिए इंतजार की अवधि अब और बढ़ गई है। एक अध्ययन के मुताबिक किसी बड़ी वैज्ञानिक खोज का पता चलने और नोबेल प्रदान किए जाने के बीच की अवधि को लगातार बढ़ाया जाता रहा है। अब इसे बढ़ाकर 20 वर्ष कर दिया गया है। यह अध्ययन करने वाले फिनलैंड के आल्टो विश्वविद्यालय के प्राध्यापक सैंटो फॉर्चूनाटो ने कहा कि चूंकि मरणोपरांत नोबेल प्रदान नहीं किया जाता, इसलिए इससे विज्ञान के सर्वोच्च सम्माननीय संस्थानों की अवहेलना होने का खतरा उत्पन्न हो गया है। अध्ययन के अनुसार, जब-तक नोबेल...
    April 14, 12:04 PM
  • फेसबुक पर ज्यादा समय बिताने से महिलाओं की सोच होती है निगेटिव: रिसर्च
    वॉशिंगटन। जो महिलाएं ज्यादा समय फेसबुक पर लगाती हैं, खुद को लेकर उनकी सोच नकारात्मक हो जाती है। अमेरिका में वैज्ञानिकों ने एक शोध के बाद यह जानकारी दी है। कॉलेजों की 881 युवतियों पर शोध में रिसर्चर्स ने पाया कि ऐसी युवतियां फेसबुक फ्रेंड्स के साथ अपनी आदतों, शरीर और रहन सहन को कम्पेयर करने लगती हैं। इसके बाद उनमें खुद को लेकर नकारात्मक भाव पैदा होने लगते हैं, जो उनके लिए घातक हो सकता है।
    April 13, 11:44 AM
  • मंगल ग्रह पर सफेद रोशनी से हैरान हैं नासा के वैज्ञानिक
    अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के क्यूरोसिटी यान ने मंगल ग्रह पर ऐसी सफेद रोशनी देखी है, जो आज तक पहले कभी नहीं देखी गई। नासा के वैज्ञानिक इससे और हैरानी में पड़ गए हैं। नासा का मिशन लाल ग्रह पर जीवन की खोज करना है, जबकि वहां अब सफेद रोशनी दिखाई दी है। नासा के वैज्ञानिक इस पहेली को सुलझाने में जुटे हैं कि आखिर वह है क्या। कुछ वैज्ञानिक इसे वहां जीवन होने का संकेत भी मान रहे हैं। नासा की थ्योरी के अनुसार इस तरह की रोशनी को वहां एलियन्स के जीवन का सबूत बिल्कुल नहीं माना जा सकता। हालांकि ऐसा पहली बार...
    April 11, 06:26 PM
  • ढलती उम्र में भी कम नहीं होगी बीमारियों से लडऩे की क्षमता
    लंदन. उम्र ढलने के बाद भी अब बीमारियों से लडऩे की क्षमता नहीं घटेगी। क्योंकि वैज्ञानिकों ने शरीर में मौजूद थाइमस ग्रंथि को दोबारा तैयार करने में सफलता पा ली है। यह ग्रंथि सफेद रक्त कोशिकाएं (व्हाइट ब्लड सेल-डब्ल्यूबीसी) बनाती है। डब्ल्यूबीसी कई तरह के संक्रमण व बीमारियों से लडऩे में शरीर को सक्षम बनाती हैं। वैज्ञानिकों के मुताबिक, उम्र बढऩे के साथ डब्ल्यूबीसी की संख्या घटने लगती है। क्योंकि थाइमस ग्रंथि की क्षमता भी घट जाती है। इससे जाहिर तौर पर बीमारियों से लडऩे की क्षमता भी घट जाती है।...
    April 10, 10:18 AM
Ad Link
 
विज्ञापन
 
 
 
 

बड़ी खबरें

 
 
 
 

रोचक खबरें

विज्ञापन
 

बॉलीवुड

 
 

जीवन मंत्र

 
 

स्पोर्ट्स

 

बिज़नेस

 

जोक्स

 

पसंदीदा खबरें