भास्कर ज्ञान
Home >> International News >> Bhaskar Gyan
  • अमेरिकी वैज्ञानिकों का कमाल, पहली बार लैब में बनाया 'छोटा मानव पेट'
    वॉशिंगटन। पहली बार लैब में छोटा सा पेट (मिनी स्टमक ) बनाया गया है। इसे बनाने के लिए प्लुरीपोटेंट स्टेम सेल (वे कोशिकाएं जो दूसरी कोशिकाओं काे जन्म देती हैं) का उपयोग किया गया है। यह कामयाबी अमेरिका के ओहियो स्थित सिनसिनाटी चिल्ड्रन हॉस्पिटल मेडिकल सेंटर के वैज्ञानिकों ने हासिल की है। इस छोटे-से पेट को मेडिकल की भाषा में गेस्ट्रिक ऑर्गेनॉयड्स कहते हैं। सेंटर के वैज्ञानिक जिम वेल्स के अनुसार, हम इनके जरिए एच. पाइलरी बैक्टीरिया का अध्ययन करेंगे। इस बैक्टीरिया की वजह से पेट में अल्सर और अमाशय...
    02:09 PM
  • कैंसर फैलने से पहले ही अलर्ट कर देंगे गूगल के नैनो पार्टिकल्स
    फोटो: गूगल की एक्स लैब में प्रोजेक्ट पर काम कर रहे एंड्र्यू कोनार्ड। लंदन। गूगल खास तरह के कैप्सूल बना रहा है। इनके अंदर अति सूक्ष्म कण (नैनो पार्टिकल) मौजूद होंगे। जो कैंसर को पनपने से पहले ही भांप लेंगे और अलर्ट कर देंगे। सिर्फ कैंसर ही नहीं दिल और किडनी संबंधी बीमारियों पर भी नजर रखेंगे। इस प्रोजेक्ट में दो भारतीय भी शामिल हैं। इन कैप्सूलों को आम दवा की तरह खाना होगा। इनमें मौजूद नैनो पार्टिकल खून में मिल जाएंगे। खून के जरिए ये पूरे शरीर पर नजर रखेंगे। अगर खून में किसी तरह का छोटा से छोटा...
    October 30, 01:49 PM
  • File Deleted
    October 28, 04:23 PM
  • कनाडा के वैज्ञानिकों का दावा: आपकी चाल में छिपा है आपके मूड का रहस्य
    प्रतीकात्मक तस्वीर लंदन। आप खुश हैं, मायूस हैं या फिर गुस्से में है, इसका पता आपके चेहरे के हावभाव से कहीं ज्यादा आपके चलने के तरीके में छिपा होता है। ये खुलासा कनाडा के ओंटेरियो स्थित क्वींस यूनिवर्सिटी में मानव मनोविज्ञान और व्यवहार पर शोध करने वाले वैज्ञानिकों की ताजा रिपोर्ट में हुआ है। रिपोर्ट के मुताबिक, अगर कोई कंधा झुकाकर और हाथों को ढीला छोड़कर व झुककर चलता है, तो ऐसे इंसान मायूस और निराश होते हैं। उनके जीवन में कोई उत्साह नहीं होता। वहीं, दूसरी ओर सिर उठाकर और सीधे कदमों से चलने...
    October 26, 01:15 PM
  • कोमा में पड़े हुए भी चलता रहता है दिमाग: स्टडी
    लंदन। कैंब्रिज यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने ये पता लगाया है कि कोमा में पड़े लोगों में भी दिमागी चेतना हो सकती है। घातक दिमागी चोट वाले मरीजों के बारे में अमूमन डॉक्टरों की यह धारणा होती है कि भले ही वे जगे हुए नजर आते हैं लेकिन वे आसपास की दुनिया से अनजान होते हैं। शोधकर्ताओं को उम्मीद है कि उनके काम से ऐसे मरीजों की पहचान करने में मदद मिलेगी जिनमें वास्तव में चेतना है लेकिन वे संवाद करने में असमर्थ हैं। कार दुर्घटना में सिर में चोट लगने या घातक दिल का दौरा पड़ने पर कुछ लोग जगे हुए नजर आते...
    October 22, 09:58 AM
  • आपदा में फंसे लोगों को ढूंढने में मदद करेगा फेसबुक का 'सेफ्टी चेक'
    टोक्यो। आपदा में फंसे लोगों की मदद के लिए फेसबुक ने सेफ्टी चेक नाम का एक टूल बनाया है। इसका इस्तेमाल मुश्किल हालात में फंसे लोगों से संपर्क के लिए हो सकता है। इस टूल को फेसबुक के जापानी इंजीनियरों ने तैयार किया है। इसके जरिए फेसबुक पहले आपकी प्रोफाइल से लोकेशन का पता लगाएगा। अगर आपकी लोकेशन आपदा से प्रभावित है तो तुरंत आपके प्रोफाइल पर नोटिफिकेशन आएगा। इसमें पूछा जाएगा- आर यू सेफ? अगर जवाब में लिखा- आय एम नॉट सेफ तो आपकी फ्रेंड लिस्ट से जुड़े सारे लोगों तक इसकी सूचना दी जाएगी। अगर लिखा- आय...
    October 20, 11:08 AM
  • 90 लाख रुपए में बिक रहा है इबोला डॉट कॉम डोमेन
    वेबसाइट डोमेन का व्यापार करने वाला व्यक्ति इस बार इबोला डॉट कॉम डोमेन बेच रहा है। उसके पास फुकुशिमा डॉट कॉम, एच1एन1 डॉट कॉम और बर्डफ्लु डॉट कॉम जैसे डोमेन भी हैं। वाशिंगटन पोस्ट ने उन्हें मर्चेंट ऑफ डिसीज डोमेन का खिताब दिया है। लास वेगास में रहने वाले जॉन शुल्ट्स नाम के इस व्यक्ति ने दावा किया कि उनकी साइट के मीटर के अनुसार इबोला डॉट कॉम को पांच हजार व्यू हर दिन मिल रहे हैं। लोग इस पेज पर जानकारियां खंगालते हैं। वे कहते हैं, जरूर, मैं इसे बेचना चाहूंगा। इसके लिए किसी भी व्यक्ति को कम से कम 90 लाख...
    October 17, 10:52 AM
  • श्रीलंकाई सेना जो सालों में न कर पाई INDIAN आर्मी ने 3 हफ्तों में कर दिखाया
    (Mi-8 हेलिकॉप्टर में सवार होते भारतीय शांति सेना के जवान।) इंटरनेशनल डेस्क. 1980 के दशक में श्रीलंका गृहयुद्ध की आग में जल रहा था। तमिल राष्ट्रवादी समूह LTTE (Liberation Tigers of Tamil Eelam) ने जाफना द्वीप पर कब्जा कर रखा था। श्रीलंका की सेना LTTE का मुकाबला नहीं कर पा रही थी। ऐसे में श्रीलंका की सरकार ने भारत से मदद की गुहार लगाई थी। भारत ने ऑपरेशन पवन के तहत श्रीलंका में गृहयुद्ध खत्म करने के लिए शांति सेना भेजी थी। भारतीय सैनिकों और LTTE के बीच 11-25 अक्टूबर 1987 तकभीषण लड़ाई हुई थी। ऑपरेशन पवन में करीब 1200 भारतीय सैनिक शहीद...
    October 16, 01:09 PM
  • अब धरती पर होगी 'मंगल' जैसे जीवन की तलाश: नासा
    न्यूयॉर्क। मंगल ग्रह पर जीवन की तलाश कर रहे शोधकर्ता अब धरती पर मंगल का अध्ययन करने पर विचार कर रहे हैं। शोधकर्ताओं का मानना है कि धरती पर कुछ हिस्सों का वातावरण मंगल ग्रह जैसा है। इनके अध्ययन से मंगल पर जीवन की संभावनाएं तलाशने की दिशा में सहायता मिलने की उम्मीद है। शोधकर्ताओं को विश्वास है कि धरती पर उपस्थित मंगल जैसे वातावरण के अध्ययन से मंगल को समझने में ज्यादा आसानी होगी। इस अध्ययन का वित्तीय जिम्मा नासा ने लिया है। लाइव साइंस की रिपोर्ट के अनुसार, शोधकर्ता धरती पर मंगल की तीन दशाओं...
    October 13, 10:16 AM
  • मौत के बाद भी हम जानते हैं कि आसपास क्या हो रहा है: वैज्ञानिक
    लंदन। क्या मौत के बाद भी जीवन होता है? जवाब है हां। वह भी चेतना यानी (कॉन्शसनेस ) के साथ। यानी हमें तब भी पता होता है कि आसपास क्या हो रहा है? वैज्ञानिक इस गुत्थी को करीब-करीब सुलझा चुके हैं। ब्रिटेन की साउथ एम्पटन यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने दिलचस्प शोध किया है। इसमें ब्रिटेन, अमेरिका और ऑस्ट्रिया के 15 अस्पतालों में भर्ती 330 लोगों को चुना गया। इन्हें हार्ट अटैक आया था। इनकी कुछ मिनटों के लिए मृत्यु हो चुकी थी। यानी जान बचने से पहले वे क्लीनिकली डेड थे। दिल की धड़कनें थम चुकी थीं। लेकिन इन लोगों...
    October 9, 11:18 AM
  • जानिए किस देश में पैदा हुआ था एड्स, कहां से आया था वायरस
    फोटो:किन्शासा की यह तस्वीर 1955 में खींची गई थी. वैज्ञानिकों ने एड्स महामारी की उत्पत्ति का पता लगा लिया गया है और कहा जा रहा है कि इसकी उत्पत्ति किन्शासा शहर में हुई, जो कि अब कॉन्गो गणराज्य के रूप में जाना जाता है. इस बीमारी के सामने आने के 30 साल बाद इसकी उत्पत्ति का पता चल पाया है. साइंस जर्नल में प्रकाशित रिपोर्ट में कहा गया है वैज्ञानिकों ने वायरस के जैनेटिक कोड के नमूनों का विश्लेषण किया. प्रमाणों में इसकी उत्पत्ति किन्शासा में होने का पता चला. पढ़ें पूरी रिपोर्ट रिपोर्ट के मुताबिक तेज़ी...
    October 4, 04:50 PM
  • भारतीय मूल के रिसर्चर ने तैयार किया फुटबॉल के आकार का रोबोट
    वाॅशिंगटन। एमआईटी में भारतीय मूल के शोधकर्ताओं ने फुटबॉल के आकार का अंडरवॉटर रोबोट तैयार किया है। यह जल्द ही अमेरिकी बंदरगाहों की सुरक्षा का काम करेगा। फुटबॉल के आकार के ये रोबोट्स पानी के अंदर ऐसा ही करने की क्षमता रखते हैं। आकाश से नजर रखने और कानून प्रवर्तन कराने में ड्रोन विमान जल्द ही दुनियाभर में लोकप्रिय हो गए। एमआईटी के शोधकर्ताओं ने यह डिजाइन मूल रूप से न्यूक्लियर रिएक्टर के वाटर टैंक्स में अल्ट्रासाउंड की किरणों के जरिए दरारों को ढूंढ़ने के लिए तैयार किया था। इस रोबोट को...
    October 3, 10:29 AM
विज्ञापन
 
 

बड़ी खबरें

 
 

रोचक खबरें

 

बॉलीवुड

 
 

जीवन मंत्र

 
 

स्पोर्ट्स

 

बिज़नेस

 

जोक्स

 

पसंदीदा खबरें