Home >> International News >> Photo Feature
  • देखिए उस दौर की ऐतिहासिक तस्वीरें, जब नहीं था इजरायल का नामोनिशान
    (FILE PHOTO- इजरायल की करीब 100 साल पुरानी तस्वीर) येरुशलम। इजरायल और गाजा के बीच संघर्ष कम होने के बजाय बढ़ता ही जा रहा है। हवाई हमले तेज करते हुए इजरायल गाजा में हमास के ठिकानों को निशाना बना रहा है। 15 दिन से चल रहे इस संघर्ष में 600 से ज्यादा फलस्तीनी मारे जा चुके हैं। इनमें 100 बच्चे भी शामिल हैं। इजरायल और गाजा के बीच ताजा तनाव तीन इजरायली बच्चों के अपहरण से शुरू हुआ। इजरायल ने इसके लिए गाजा पट्टी में शासन करने वाले हमास को जिम्मेदार ठहराया। हमास ने आरोपों से इनकार किया, लेकिन इजरायल ने हमले शुरू कर...
    11:35 AM
  • इस महिला ने 'मिरर सेल्फी' को दी नई पहचान, देखिए सबसे क्रिएटिव सेल्फी
    इंटरनेशनल डेस्क। सेल्फी को लेकर दीवानगी कहें या पागलपन, लेकिन मिरर सेल्फी की ये अब तक की सबसे बेहतरीन बानगी मानी जा रही है। डक फेस, बाथरूम सेल्फी, फेयरी टेल्स यहां तक की वह हर कल्पना, जो आप अपनी सेल्फी में डालना चाहेंगे, वह सबकुछ इस महिला ने अपनी मिरर सेल्फी में डाल रखी है। ये हैं हेलेन मेलडाल्ह, जिन्होंने मिरर सेल्फी को नेक्स्ट लेवल तक ले जाने के लिए इन दिनों खासी चर्चा में हैं। नार्वे आर्टिस्ट हेलेन अपनी सेल्फी में रंग-बिरंगे आकार देकर उन्हें मास्टरपीस में कनवर्ट कर रही हैं। हेलेन यंग...
    July 21, 04:08 PM
  • मिलिए इस अनोखे शख्स से, 25 सालों से सिर्फ 'पिज्जा' खाकर है जिंदा
    (अमेरिका के मैरीलैंड निवासी डैन जेनसेन, 25 सालों से पिज्जा खाकर जिंदा हैं।) इंटरनेशनल डेस्क। कहते हैं वेरायटी जिंदगी में स्पाइस की तरह होती है। विविधता न हो, तो फिर जिंदगी नीरस लगती है। लेकिन अमेरिका (मैरीलैंड) के 38 वर्षीय डैन जेनसेन के लिए ये बातें मायने नहीं रखती। डैन खुद को पिज्जा किंग मानते हैं। माने भी क्यों नहीं। पिछले 25 सालों से पिज्जा खाकर ही जिंदगी जो जिया है। डैन के मुताबिक, अगर इस दुनिया में कोई पिज्जा लवर है, तो वह खुद हैं। इंटरनेट वर्ल्ड में इन्हें पिज्जा ईटर के नाम से भी जाना जाता...
    July 21, 02:27 PM
  • ये पनडुब्बी कभी रूसी सैन्य बेड़े का थी हिस्सा, अब है नेवल म्यूजियम
    इंटरनेशनल डेस्क। बीते गुरुवार मलेशिया एयरलाइंस की फ्लाइट एमएच17 को कथित मिसाइल हमले में मार गिराए जाने के बाद से रूस और यूक्रेन के बीच चल रहा संघर्ष एक बार फिर सुर्खियों में है। इसी कड़ी में हम आपको रूस के ऐसे सबमरीन की जानकारी दे रहे हैं, जो अब नेवल म्यूजियम बन चुकी है और बेहद चर्चित है।   सबमरीन बी-396, मॉस्को के सबसे चर्चित म्यूजियम्स में से एक है। डीजल-इलेक्ट्रिक ऑपरेटेड यह पनडुब्बी 1980 में अस्तित्व में आई थी। रूसी भाषा में इसे 'नेवोसिबिर्सक कोमसोमोलेट्स' novosibirsk komsomolets कहते हैं। तब इसका इस्तेमाल...
    July 21, 10:20 AM
  • कोरिया मड फेस्टिवल: कीचड़ में उछल-कूद मचाने पहुंचे दुनियाभर से टूरिस्ट
    (दक्षिण कोरिया का बोरियांग मड फेस्टिवल) बोरियांग।दक्षिण कोरिया में बोरियांग मड फेस्टिवल की शुरुआत हो गई है। एक-दूसरे को कीचड़ में डुबोकर लोग इस उत्सव का मजा लेते हैं। दो हफ्तों तक चलने वाला ये फेस्टिवल राजधानी सियोल के दक्षिण में मौजूद बोरियांग में चल रहा है, जिसमें शामिल होने के लिए हर साल दुनियाभर से 20 से 30 लाख टूरिस्ट पहुंचते हैं। फेस्टिवल के दौरान कीचड़ का पूल बनाया जाता है, जिसमें लोग एक दूसरे को कीचड़ में डुबोते हैं और तरह-तरह के खेल खेलते हैं। इसके साथ ही रंगों वाले कीचड़ से भी लोगों...
    July 20, 10:03 AM
  • दुनिया के सबसे भयावह विमान हादसे, जो कई सालों से बने हुए हैं रहस्य
    इंटरनेशनल डेस्क। तीन जून 1962 को एयर फ्रांस का एक विमान, बोइंग 707, पेरिस के ओर्ली हवाई अड्डे पर उड़ान भरने के समय दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। इस हादसे में विमान में सवार सभी 130 लोगों की मौत हो गई। हालांकि, विमान में सबसे पीछे सवार चालक दल की दो महिलाएं बच गईं और उन्हें छोटी-मोटी चोटें ही आईं थीं। बताया जाता है कि हादसे से तीन घंटे बाद मलबे में एक और शख्स को जिंदा निकाला गया था, लेकिन अस्पताल में इलाज के दौरान उसने दम तोड़ दिया। हादसे में मारे गए 122 यात्रियों में से ज्यादातर अमेरिकी थे, जो अटलांटा आर्ट...
    July 17, 09:28 PM
  • तस्वीरों में देखिए एक ऐसा गांव, जो रेत में है दफन, फिर भी वहां रहते हैं लोग
    इंटरनेशनल डेस्क। सफेद सागर के तट पर एक ऐसा रूसी गांव बसा है, जो रेत में लगभग दफन हो चुका है। हालांकि, यहां के बाशिंदे अब भी यहीं रहते हैं। शोइना नाम का यह गांव 1930 में अस्तित्व में आया था। तस्वीरों में आप देख सकते हैं कि गांव के मकान कैसे सफेद रेत की चादर ओढ़े हुए हैं। बाशिंदों की मानें, तो सफेद रेत की ये चादर, समुद्री तट से उड़कर गांव की ओर आई है। ये जान कर आपको हैरत होगी कि किसी समय गांव की जमीन पेड़ों से लहलहाती थी। यहां जंगल हुआ करता था। ऐसे दफन हुआ गांव बाशिंदों के मुताबिक, 1950 के दशक के शुरुआत...
    July 15, 12:05 AM
  • PICS: मंकी-डॉगी के इस अनोखे प्यार को देख वाइल्डलाइफ एक्सपर्ट भी हैरान
    इंटरनेशनल डेस्क। कहते हैं कुत्तों व बंदरों के बीच छत्तीस का आंकड़ा होता है, लेकिन ब्रिटेन के केन्ट स्थित पोर्ट लिम्ने रिजर्व में इन दिनों नजारा कुछ और ही है। यहां दो जानवरों के बीच का अनोखा प्यार वाइल्डलाइफ एक्सपर्ट को भी हैरान कर रहा है। रिजर्व में बेबी मंकी (मूबी) और डॉगी (डेजी) को देख ऐसा लगता है मानो ये यहां के सबसे खुशहाल दोस्तों में से हैं। पोर्ट लिम्ने में ही योला नाम की एक मादा बंदर ने मूबी का त्याग कर दिया। मूबी की देखरेख कर रहे साइमन जेफरे बताते हैं कि मां का प्यार नहीं मिलने से मूबी...
    July 14, 06:30 PM
  • इन तस्वीरों के लिए फोटोग्राफर ने माइनस डिग्री तापमान में खुले में गुजारी रात
    (नार्वे मेंनॉर्दन लाइट में कैद की गईतस्वीर) इंटरनेशनल डेस्क। ये तस्वीरें स्विस फोटोग्राफर स्टीफन फोर्सटर ने खींची हैं और इन्हें कैमरे में कैद करने के लिए स्टीफन ने रात के वक्त माइनस डिग्री की सर्दी से लेकर बर्फीली हवाओं तक तमाम मुश्किलों का भी सामना किया है। स्टीफन ने ये तस्वीरें आइसलैंड, ग्रीनलैंड और नार्वे के दौरे के दौरान कैमरे में कैद कीं। स्टीफन हरे और लाल रंग की नेचुरल लाइट (नॉर्दन लाइट) को कैमरे में कैद करने के लिए अब तक छह बार आइसलैंड का दौरा कर चुके हैं। इसके साथ ही परफेक्ट शॉट...
    July 14, 09:28 AM
  • समुद्र में 63 फीट नीचे रिसर्च अभियान, जानें किन मुश्किलों से होता है सामाना
    जब मैं पहली बार फेबियन कोस्टीयू से मिला तो वे मुझे एक अंतरिक्ष यात्री के समान लगे थे। दरअसल, वे प्रशांत महासागर की सतह से 63 फीट नीचे साइंस लैब एक्वेरियस में वैज्ञानिकों की टीम के साथ थे। यह पानी के अंदर विश्व की एकमात्र लैब है जिसमें लोग रहते हैं। कोस्टीयू ने वहां 31 दिन रहने का रिकॉर्ड बनाया है। मिशन के 15 वें दिन मुझे वहां जाने का मौका मिला था। 1 जून से 2 जुलाई तक कोस्टीयू और 30 ओशनोग्राफरों, फिल्मकारों, एक्टिविस्टों और वैज्ञानिकों की टीम एक्वेरियस पर अलग-अलग दिनों में रही। मिशन 31 का उद्देश्य...
    July 13, 01:13 PM
  • ड्रोन की नजरों से देखिए, आसमान से कैसी दिखती है धरती
    (इंडोनेशिया नेशनल पार्क में चील की तस्वीर) पेरिस। खूबसूरत नजारों को तस्वीरों में कैद करना अपने आप में एक कला है। फिर अगर कैमरा ड्रोन (मानवरहित विमान) पर लगा हो और इसकी कंट्रोलिंग रिमोट के जरिए की जा रही हो, तो ये और भी चुनौतीपूर्ण हो जाता है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए फोटो-शेयरिंग साइट ड्रोनेस्टाग्राम ने फर्स्ट एरियल फोटो कॉन्टेस्ट के जरिए ऐसी फोटोग्राफी को सम्मानित करने की शुरुआत की है। इस कॉन्टेस्ट के जजों और स्पॉन्सर्स जैसे नेशनल जियोग्राफिक और गोप्रो ने मिलकर विजेताओं का चुनाव...
    July 12, 05:08 PM
  • कभी ये शहर इंसानों से रहता था गुलजार, अब है वीरान, जानें क्यों
    इंटरनेशनल डेस्क। सोवियत संघ के पतन के बाद कई देश परित्यक्त मिलिट्री बेस से भरे पड़े हैं। तस्वीर में दिख रही ये जगह, कभी रूस की सबसे गोपनीय शहर हुआ करती थी। इसे गुडिम Gudym या सीक्रेट बेस Anadyr-1 के नाम से जाना जाता था। जहां तक भौगोलिक स्थिति का सवाल है, तो शहर अमेरिका से बेहद नजदीक था और परमाणु मिसाइलों से लैस था। तब इतनी मिसाइलें थीं, जिससे झटके में अलास्का, वाशिंगटन, कैलिफोर्निया और दक्षिणी दकोटा का कुछ हिस्सा तबाह किया जा सकता था। दुर्भाग्यवश, शहर का भविष्य अच्छा नहीं रहा। कभी परमाणु मिसाइलों...
    July 12, 12:00 AM
विज्ञापन
 
 

बड़ी खबरें

 
 

रोचक खबरें

 

बॉलीवुड

 
 

जीवन मंत्र

 
 

स्पोर्ट्स

 

बिज़नेस

 

जोक्स

 

पसंदीदा खबरें