• It's Silly: संता ने जब कॉल सेंटर के ऑफिसर के दिमाग का दही कर दिया

    It's Silly: संता ने जब कॉल सेंटर के ऑफिसर के दिमाग का दही कर दिया
    Santa Banta
    संता ने एक कॉल सेंटर पर रिंग किया : मेरा इंटरनेट ठीक से काम नहीं कर रहा है.. ऑफिसर: ओके.... डबल क्लिक करें "माय कम्प्यूटर" पर  संता: क्या मैं आपका... Expand
    संता ने एक कॉल सेंटर पर रिंग किया : मेरा इंटरनेट ठीक से काम नहीं कर रहा है.. ऑफिसर: ओके.... डबल क्लिक करें "माय कम्प्यूटर" पर  संता: क्या मैं आपका कम्प्यूटर देख सकता हूं... ऑफिसर: नो..नो क्लिक करो "माय कम्प्यूटर" अपने कम्प्यूटर पर संता: अरे भाई मैं अपने कम्प्यूटर से आपके कम्प्यूटर पर कैसे क्लिक कर सकता हूं? ऑफिसर: सुनो, वहां तुम्हे एक आइकॉन दिखाई देगा "My Computer" तुम्हारे कम्प्यूटर पर ओके अब उसपर डबल क्लिक करो.... संता: क्या बकवास है, तुम्हारा कम्प्यूटर मेरे कम्प्यूटर पर क्या कर रहा है..? ऑफिसर: डबल क्लिक करो अपने कम्प्यूटर पर.... संता: किस आइकॉन पर क्लिक करूं ऑफिसर: "My Computer" संता: ओ तेरी की......पागल इंसान बता तेरा ऑफिस कहां है. मैं वहां आऊंगा और क्लिक करूंगा तेरे कम्प्यूटर पर....!! Collapse
    Share on facebook
  • चांद पर से मिली वार्निंग, जब 3 गप्पियों ने सुनाया फुटबॉल का किस्सा

    चांद पर से मिली वार्निंग, जब 3 गप्पियों ने सुनाया फुटबॉल का किस्सा
    Office
    तीन गप्पी दोस्त आपस में बातचीत कर रहे थे ! . . पहला बोला :-- ' मैंने एक बार किक मारी तो फुटबॉल 100 मीटर ऊपर तक चली गई थी !" . . दूसरा बोला :-- " और मैंने एक बार... Expand
    तीन गप्पी दोस्त आपस में बातचीत कर रहे थे ! . . पहला बोला :-- ' मैंने एक बार किक मारी तो फुटबॉल 100 मीटर ऊपर तक चली गई थी !" . . दूसरा बोला :-- " और मैंने एक बार किक मारी थी, तो फुटबॉल दसवीं मंजिल की छत पर जा गिरी थी !" . . तीसरा बोला :-- " यह तो कुछ भी नहीं है, . एक बार मैंने फुटबॉल को किक मारी, तो वह गायब हो गई ! कुछ दिन बाद ऊपर से जमीन पर आ गिरी, उसके साथ एक चिट लगी थी और लिखा था कि.. . . अगर यह फुटबॉल दोबारा चांद पर आई तो हम वापस नहीं करेंगे !" Collapse
    Share on facebook
  • Don't Copy If You Can't Paste: हंसना तो पड़ेगा ही इसे पढ़कर

    Don't Copy If You Can't Paste: हंसना तो पड़ेगा ही इसे पढ़कर
    Office
    एक मशहूर प्रेरक वक्ता ने समारोह में कहा - . . "मैंने अपनी जिंदगी के सबसे अच्छे साल उस औरत की बाहों मे गुजारे, जो मेरी पत्नी नहीं थी...।" . . . . . . सब एक दम से... Expand
    एक मशहूर प्रेरक वक्ता ने समारोह में कहा - . . "मैंने अपनी जिंदगी के सबसे अच्छे साल उस औरत की बाहों मे गुजारे, जो मेरी पत्नी नहीं थी...।" . . . . . . सब एक दम से चुप हो गए। तब बात आगे बढ़ाते हुए कहा -"वह औरत मेरी मां थी" सब ने ख़ूब तालियां बजाईं....... वहां मौजूद एक नौजवान ने यही कथन अपने घर में दारू पीने के बाद आजमाना चाहा....। . . . किचन में काम कर रही पत्नी के पास जाकर बोला-" मैंने अपनी जिंदगी के सबसे अच्छे बरस उस औरत की बाहों में गुजारे जो मेरी पत्नी नहीं थी....।" . . . . पर इसके बाद वह भूल गया और बुदबुदाया............  बाद मे उसे जब होश आया, तो वो अस्पताल में था। उबलते हुए पानी के फेंके जाने से बुरी तरह झुलस गया था बेचारा! . MORAL- don't copy if u can't paste....... Collapse
    Share on facebook
  • BIG HIT: कलयुग की औलादों को WhatsApp में busy रहने दें

    BIG HIT:  कलयुग की औलादों को WhatsApp में busy रहने दें
    Office
    पिता : ओ बेवकूफ़। मैंने तुमको धार्मिक पुस्तक दी थी पढ़ने के लिए क्या तुमने पढ़ी? कुछ, दिमाग में घुसा? पुत्र : हां पिताजी पढ़ ली।  और अब आप....मरने के लिए... Expand
    पिता : ओ बेवकूफ़। मैंने तुमको धार्मिक पुस्तक दी थी पढ़ने के लिए क्या तुमने पढ़ी? कुछ, दिमाग में घुसा? पुत्र : हां पिताजी पढ़ ली।  और अब आप....मरने के लिए तैयार हो जाओ (कनपटी पर तमंचा रख देता है)। पिता : बेटा ये क्या कर रहे हो? मैं तुम्हारा बाप हूं। पुत्र : पिताजी, ना कोई किसी का बाप है और ना कोई किसी का बेटा। ऐसा किताब में लिखा है। पिता : बेटा मैं मर जाऊंगा पुत्र : पिताजी शरीर मरता है। आत्मा कभी नहीं मरती! आत्मा अजर है, अमर है। पिता : बेटा मजाक मत करो गोली चल जाएगी और मुझको दर्द से तड़पाकर मार देगी। पुत्र : क्यों व्यर्थ चिंता करते हो? किससे तुम डरते हो। गीता में लिखा है- नैनं छिन्दन्ति शस्त्राणि, नैनं दहति पावकः आत्मा को ना पानी भिगो सकता है और ना ही तलवार काट सकती, ना ही आग जला सकती । किसलिए डरते हो तुम। पिता: बेटा! अपने भाई बहनों के बारे में तो सोच, अपनी माता के बारे में भी सोच। पुत्र : इस दुनिया में कोई किसी का नही होता। संसार के सारे रिश्ते स्वार्थों पर टिके है। ये भी किताब में ही लिखा है। पिता : बेटा मुझको मारने से तुझे क्या मिलेगा? बेटा : अगर इस धर्मयुद्ध में आप मारे गए तो आपको स्वर्ग प्राप्ति होगी । मुझको आपकी संपत्ति प्राप्त होगी। पिता : बेटा ऐसा जुर्म मत कर। पुत्र : पिताजी आप चिंता ना करें। जिस प्रकार आत्मा पुराने जर्जर शरीर को त्यागकर नया शरीर धारण करती है, उसी प्रकार आप भी पुराने जर्जर शरीर को त्यागकर नया शरीर धारण करने की तयारी करें। अलविदा। Moral-कलयुग की औलादों को सतयुग, त्रेतायुग या द्वापर युग की शिक्षा नहीं दे.उन्हें whatsapp में busy रहने दें वरना अर्थ का अनर्थ कर देंगें। Collapse
    Share on facebook
  • Short Satire: सेल्फी सूत्र ज्यादाती

    Short Satire: सेल्फी सूत्र ज्यादाती
    Other Jokes
    स्थानीय प्रापर्टी डीलर कम किसी चिरकुट पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष कम किसी बड़ी पार्टी के सह-सचिव टाइप बंदे के साथ भी आपको सेल्फी लेने का और उसे अपनी... Expand
    स्थानीय प्रापर्टी डीलर कम किसी चिरकुट पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष कम किसी बड़ी पार्टी के सह-सचिव टाइप बंदे के साथ भी आपको सेल्फी लेने का और उसे अपनी फेसबुक वॉल पर चेंपने का हक है, पर यह उम्मीद कि आपके सारे एफबी फ्रेंड उसे देखेंगे, ज्यादती है। यह उम्मीद कि आपके फ्रेंड्स ये फोटू देखकर लाइक भी करेंगे, तो यह तो सरासर शोषण है। और एफबी फ्रेंड्स लाइक करके कुछ पॉजिटिव कमेंट लिखेंगे, ऐसी उम्मीद तो कतई अत्याचार है मित्रों पर।  ***  बिना पढ़े लाइक  फेसबुक पर या तो अपनी पोस्ट पढ़वा लो या उन्हें लाइक करवा लो, बिना पढ़े लाइक करने का जवाब दूसरों को मैं यह दे दूंगा कि मैं जल्दी में था। पर अगर तमाम पोस्टों को पढ़कर लाइक किया, तो मुझे खुद को ही बेवकूफ घोषित करना पड़ेगा। सेल्फ-इस्टीम, आत्म-सम्मान बचाने के लिए जरूरी है कि एफबी पोस्टों को बिना पढ़े ही लाइक किया जाए।  - एक एफबी फ्रेंड को दूसरे एफबी फ्रेंड का संदेश  ***  सबसे ज्यादा सेलिब्रेशन कहां  महाराष्ट्र में गणपति-उत्सव का बड़ा सेलिब्रेशन होता है, चलता है करीब सात दिन।  पश्चिम बंगाल में दुर्गा-पूजा का सेलिब्रेशन होता है, उससे बड़ा, चलता है करीब नौ दिन।  पर उत्तर भारत के उत्सव-मनाऊ मूड का कोई मुकाबला नहीं है। उत्तर भारत के कई इलाकों में मई से अगस्त यानी चार महीने हर घंटे सेलिब्रेशन चलता है।  नागरिक हर घंटे समवेत स्वर में खुश होकर चिल्लाते हैं, 'आ गई, बिजली आ गई।'  ***  प्राइवेट इंजीनियरिंग कॉलेजों का स्किल इंडिया  पहले इंजीनियर पुल बनाते थे, फिर प्राइवेट कॉलेजों से थोक के भाव निकले इंजीनियर बेरोजगारी के मारे कॉल सेंटर में कॉल-एक्जीक्यूटिव बन गए। अब प्राइवेट कॉलेजों से पास-आऊट कुछ इंजीनियर बेरोजगारी की मार से और ज्यादा त्रस्त होकर अपने ही इंजीनियरिंग कॉलेजों के सामने ही चाय-समोसे की दुकान खोलकर बैठ गए हैं और खुद को समोसा-इंजीनियर कहने लगे हैं। स्किल इंडिया का यह प्राइवेट इंजीनियरिंग टाइप है।  आलोक पुराणिक  (लेखक जाने-माने व्यंग्यकार हैं)  Collapse
    Share on facebook

FUNNY PICTURES

  • ये दिवस भी...
  • World Cup का बुखार
  • काम वाली बाई के नखरे
  • बचाओ
  • चीन का सीन
  • राजेश
  • घनघोर ठंडी बियर
  • क्या बात है...
  • क्या बात है...
  • खाएंगे क्या...
  • बच्चों के काम
  • ये क्या हुआ....
  • होली है....
  • क्लास रूम
  • मेरी-तुम्हारी...
  • कल हो न हो...
  • सुपरमैन
  • पीके नहीं अब देखिए VK
  • क्या बात है
  • गजब की ठंड

ONE LINER

हंसगुल्ले

विज्ञापन

BEST OF JOKES

Funny Videos

घनचक्कर

LO KAR LO BAAT