Home >> Jokes >> Daily Jokes
  

Daily JOKES

Previous
  • Recent
  • Office
  • Couple
  • Santa Banta
  • Husband Wife
  • Other Jokes
Next
  • Poetic Fun हुल्लड़ के दोहे : गुरु पुलिस दोऊ खड़े, काके लागूं पाय

    Poetic Fun हुल्लड़ के दोहे : गुरु पुलिस दोऊ खड़े, काके लागूं पाय
    र्ज़ा देता मित्र को, वह मूर्ख कहलाए,  महामूर्ख वह यार है, जो पैसे लौटाए।  गुरु पुलिस दोऊ खड़े, काके लागूं पाय,  तभी पुलिस ने गुरु के, पांव दिए... Expand
    र्ज़ा देता मित्र को, वह मूर्ख कहलाए,  महामूर्ख वह यार है, जो पैसे लौटाए।  गुरु पुलिस दोऊ खड़े, काके लागूं पाय,  तभी पुलिस ने गुरु के, पांव दिए तुड़वाय।  पूर्ण सफलता के लिए, दो चीज़ें रखो याद,  मंत्री की चमचागिरी, पुलिस का आशीर्वाद।  नेता को कहता गधा, शरम तुझको आए,  कहीं गधा इस बात का, बुरा मान जाए।  बूढ़ा बोला, वीर रस, मुझसे पढ़ा जाए,  कहीं दांत का सैट ही, नीचे गिर जाए।  हुल्लड़ काले रंग पर, रंग चढ़े कोय,  लक्स लगाकर कांबली, तेंदुलकर होय।  बुरे समय को देखकर, गंजे तू क्यों रोय,  किसी भी हालत में तेरा, बाल बांका होय।    हुल्लड़मुरादाबादी,कवि  Collapse
    Share on facebook
  • Yes It's Silly: हीरोइन को बचाओ!

    Yes It's Silly: हीरोइन को बचाओ!
    एक हीरोइन 15वीं मंजिल पर स्थित अपने फ्लैट की बालकनी से रेलिंग पर खड़ी होकर अपने प्रशंसकों का अभिवादन कर रही थी कि अचानक संतुलन खो बैठी और नीचे गिरने लगी।... Expand
    एक हीरोइन 15वीं मंजिल पर स्थित अपने फ्लैट की बालकनी से रेलिंग पर खड़ी होकर अपने प्रशंसकों का अभिवादन कर रही थी कि अचानक संतुलन खो बैठी और नीचे गिरने लगी। 12वीं मंजिल की रेलिंग पर खड़े एक नौजवान ने उसे रास्ते में ही पकड़ लिया और पूछा, 'मुझसे शादी करोगी?' 'कभी नहीं', हीरोइन ने नफरत से जवाब दिया। 'तो जाओ मरो!' कहकर नौजवान ने उसे छोड़ दिया और वह फिर नीचे गिरने लगी। 10वीं मंजिल पर खड़े एक अधेड़ ने हाथ बढ़ाकर उसे फिर पकड़ लिया और पूछा, 'मेरी गर्लफ्रेंड बनोगी?' 'बिल्कुल नहीं!' हीरोइन का इतना कहना था कि इस आदमी ने भी उसे छोड़ दिया। बेचारी हीरोइन को अब मौत साक्षात नजर आने लगी। वह ईश्वर से एक और मौका देने की प्रार्थना करने लगी कि तभी आठवीं मंजिल पर खड़े एक आदमी ने उसका हाथ पकड़ लिया। 'मैं तुमसे शादी कर लूंगी! मैं तुम्हारी गर्लफ्रेंड बनूंगी! जो तुम कहोगे वह करूंगी।' हीरोइन आदमी के कुछ बोलने के पहले ही घबराकर कहने लगी। 'नहीं-नहीं, बचाओ!' कहकर आदमी ने उसका हाथ छोड़ दिया। Collapse
    Share on facebook
  • नेता जी की कविता: हर कोई सपने दिखाकर आम आदमी को ठग रहा है...

    नेता जी की कविता: हर कोई सपने दिखाकर आम आदमी को ठग रहा है...
    AAM AADMI पार्टी के सांसद भगवंत मान ने संसद में बजट पर बहस के दौरान एक कविता पढ़ी, जो सोशल मीडिया पर खूब शेयर की जा रही है।   संगरूर से आम आदमी पार्टी के... Expand
    AAM AADMI पार्टी के सांसद भगवंत मान ने संसद में बजट पर बहस के दौरान एक कविता पढ़ी, जो सोशल मीडिया पर खूब शेयर की जा रही है।   संगरूर से आम आदमी पार्टी के सांसद की कविता,   ‘अच्छे दिन कब आने वाले हैं’....... पहले किराया बढ़ाया रेल का फिर नंबर आया तेल का ख़ुद ही दस साल करते रहे नुक्ताचीनी आते ही दो रुपए किलो महंगी कर दी चीनी हर कोई सपने दिखाकर आम आदमी को ठग रहा है आम आदमी को अब डर चीन से नहीं, चीनी से लग रहा है दुनिया मून पर, सरकार हनीमून पर पूछ रहे सारे देश के चायवाले हैं महँगाई की वजह से खाली चाय के प्याले हैं लोगों को दो वक़्त की रोटी के लाले हैं सरकार जी बता दीजिए, अच्छे दिन कब आने वाले हैं शायद पता नहीं कि इराक है किस इलाके में भारतीय इराक में फंसे हैं, सुषमा जी गई थीं ढाके में हमारे देश के लोग बहुत हिम्मतवाले हैं जिन्होंने महंगाई के दौर में बच्चे पाले हैं लूटने वाले ज़्यादा, बस गिनती के रखवाले हैं सरकार जी प्लीज़, बता दीजिए अच्छे दिन कब आने वाले हैं मेरे सपने में कल रात बुलेट ट्रेन आई मैंने कहा, बधाई हो जी बधाई सुना है तुम मेरे देश आ रही हो, तरक्की की स्पीड बढ़ा रही हो बुलेट ट्रेन बोली, मेरा शिकवा किसी गाय या भैंस से नहीं अरे, मैं बिजली से चलती हूं, गोबर गैस से नहीं प्रधानमंत्री मोदी जी के भाषण लोगों को खूब जंचे हैं विदेश से काला धन आने में पचास दिन बचे हैं हम तो आम आदमी पार्टी वाले हैं हमने तो हर सरकार से डंडे खा ले हैं हमने तो सड़कों पर और पार्लियामेंट में ये पूछने के लिए मोर्चे संभाले हैं अच्छे दिन कब आने वाले हैं? Collapse
    Share on facebook
  • POETIC FUN: करना मुझको माफ, तुम्हें मैं प्यार नहीं दे पाऊंगा !

    POETIC FUN:  करना मुझको माफ, तुम्हें मैं प्यार नहीं दे पाऊंगा !
    तुम कंप्यूटर युग की छोरी, मन की काली तन की गोरी, किंचित अपनी बाहों का गल हार नहीं दे पाऊंगा।। तुम करना मुझको माफ़, तुम्हें मैं प्यार नहीं दे पाऊंगा।... Expand
    तुम कंप्यूटर युग की छोरी, मन की काली तन की गोरी, किंचित अपनी बाहों का गल हार नहीं दे पाऊंगा।। तुम करना मुझको माफ़, तुम्हें मैं प्यार नहीं दे पाऊंगा। तुम फैशन टी.वी.सी लगती हो, मैं संस्कार का चैनल हूं, तुम बंद बिसलेरी की बोतल, मैं गंगा का पावन जल हूं, तुम करो मारुती की मांगे, मैं पांव-पांव चलने वाला, तुम हैलोजन सी जलती हो, मैं दीपक सा जलने वाला, तो तुमको ये चमक धमक वाला, संसार नहीं दे पाऊंगा।। तुम करना मुझको माफ़ तुम्हें,  मैं प्यार नहीं दे पाऊंगा।। तुम पॉप म्यूजिक सी बजती, मैं बंसी की धुन का धुनिया, मुझ पर डॉट कॉम भी न, तुम पर इंटरनेटी दुनिया, तुम मोबाइल के मेसेज सी, मैं पोस्टकार्ड लिखने वाला, तुम टेडी बेयर सी लगती, मैं गुब्बारा उड़ने वाला, तो तुमको भौतिक सुख साधन संचार नहीं दे पाऊंगा।। तुम करना मुझको माफ़ तुम्हें मैं प्यार नहीं दे पाऊंगा।। तुम क्लॉक अलारम से न जगो, मैं गौ गायन से जगता हूं, तुम डिस्को की धुन पर नाचो, मैं राम नाम ही जपता हूं,  तुम डैडी को अब डैड कहो, मम्मी को ममी बताती हो, तुम करवा चौथ भूल बैठी, अब वैलेंटाइन मानती हो, तो तुम्हे तुम्हारे स्वप्नों का त्यौहार नहीं दे पाऊंगा, तुम करना मुझको माफ़ तुम्हें, मैं प्यार नहीं दे पाऊंगा।। तुम रैम्प पे देह दिखाती हो, मैं संस्कार में जीता हूं, जब तुम्हे देख बजती सीटी, मैं घूंट लहू का पीता हूं, तुम सदा स्वप्न में जीती हो, मैं हूं यथार्थ जीने वाला, तुम सूप सुंदरी पीती हो, मैं हूं मट्ठा पीने वाला, तो तुम्हे और तुम्हारे सौंदर्य को श्रृंगार नहीं दे पाऊंगा।। तुम करना मुझको माफ तुम्हें मै प्यार नहीं दे पाऊंगा..।।   मोनिका शर्मा के फेसबुक वॉल से साभार Collapse
    Share on facebook
  • Yes, It\'s Silly : कंजूस पति का रिप्लाय और टीचर का पकाऊ सवाल...

    Yes, It\'s Silly : कंजूस पति का रिप्लाय और टीचर का पकाऊ सवाल...
    पकाऊ तिकड़ी  पत्नीने पति को एसएमएस किया, 'कितनी देर में रहे हो?' कंजूस पति ने रिप्लाय किया, 'वैसे तो 20-25 मिनट में रहा हूं, लेकिन फिर भी देर हो जाए तो यही... Expand
    पकाऊ तिकड़ी  पत्नीने पति को एसएमएस किया, 'कितनी देर में रहे हो?' कंजूस पति ने रिप्लाय किया, 'वैसे तो 20-25 मिनट में रहा हूं, लेकिन फिर भी देर हो जाए तो यही मैसेज फिर से पढ़ लेना।'  ***  टीचर-मान लो तुम्हारा दोस्त और तुम्हारी गर्लफ्रेंड एक कश्ती में सवार हैं और डूबने लगते हैं तो बताओ तुम किसे बचाओगे?  छात्र-किसीको नहीं। मरने दो दोनों को।  टीचर-क्यों?  छात्र-स्साले दोनों एक साथ एक कश्ती में घूमने गए कैसे?  ***  दो बदमाश बैंक लूटने की योजना बना रहे थे।  पहला बदमाश - देखोतुम बैंक में घुसना, जो कोई भी तुम्हारे रास्ते में आए, उसे गोली मार देना। फिर कैशिअर को बंदूक दिखाकर सारा माल झपटना और उसे गोली मार देना। मैं बैंक के बाहर कार में तुम्हारा इंतजार करूंगा। असली जोखिम का काम तो मेरा है।  दूसरा बदमाश - वाह!बैंक में घुसूंगा मैं, गोली मारूंगा मैं, माल लूटूंगा मैं और तुम कहते हो कि जोखिम का काम तो तुम्हारा है?  पहला बदमाश - यार,मुझे कार चलानी नहीं आती न!  Collapse
    Share on facebook
  • 2 JOKES: बॉस के सामने मंगलू ने बनाए छुट्टी के लिए ऐसे बहाने

    2 JOKES: बॉस के सामने मंगलू ने बनाए छुट्टी के लिए ऐसे बहाने
    छुट्‌टी का कारण  मंगलू छुट्‌टी मांगने अपने बॉस के पास गया और बोला, ‘साहब छुट्टी चाहिए, पिताजी गुजर गए हैं।’ बॉस ने कहा, ‘ओह, ठीक है जाओ।’ कुछ... Expand
    छुट्‌टी का कारण  मंगलू छुट्‌टी मांगने अपने बॉस के पास गया और बोला, ‘साहब छुट्टी चाहिए, पिताजी गुजर गए हैं।’ बॉस ने कहा, ‘ओह, ठीक है जाओ।’ कुछ महीनों बाद मंगलू फिर से बॉस के पास आया और बोला, ‘साहब छुट्टी चाहिए, माताजी गुजर गई हैं।’ बॉस ने छुट्टी मंजूर करते हुए कहा, ‘ओह, बुरा हुआ! ठीक है जाओ।’ इसी तरह मंगलू ने कभी मां मर गई, तो कभी पिताजी गुजर गए कहते हुए कई बार छुट्टी ले ली। अगली बार जब वह छुट्टी लेने गया तो बॉस ने गुस्से में पूछा, ‘आखिर कितने मां-बाप हैं तुम्हारे?’ मंगलू ने बड़ी मासूमियत से जवाब दिया, ‘क्या करूं साहब, जब पिताजी मरते हैं, तो मां दूसरी शादी कर लेती है और जब मां मरती है तो पिताजी दूसरी शादी कर लेते हैं!’    दोसे तीन!  शादीके कुछ महीनों बाद एक दिन पति ऑफिस से लौटा तो पत्नी ने कहा, ‘मुझे तुम्हें कुछ बताना है। अब हम इस घर में दो से तीन होने वाले हैं।’ इतना सुनते ही पति खुशी से झूम उठा और उसने पत्नी को गले लगा लिया। यह देखकर पत्नी बोली, ‘यह बात सुनकर तुम इतना खुश हुए यह देखकर मुझे बड़ा सुकून मिला। अब यह बताओ कि मम्मी को स्टेशन लेने तुम जाओगे या मैं?’  Collapse
    Share on facebook
  • BIG HIT: शादी से पहले खुराफाती मां ने दी अपनी बेटी को ये सीख...

    BIG HIT: शादी से पहले खुराफाती मां ने दी अपनी बेटी को ये सीख...
    मां ने बेटी को दी कुछ ऐसी सीख....   बेटी ध्यान रखना कि यदि पति  पहली बार रूठे रब रूठे दूसरी बार रूठे तो जग छूटे तीसरी बार रूठे तो दिल टूटे और बार बार ही... Expand
    मां ने बेटी को दी कुछ ऐसी सीख....   बेटी ध्यान रखना कि यदि पति  पहली बार रूठे रब रूठे दूसरी बार रूठे तो जग छूटे तीसरी बार रूठे तो दिल टूटे और बार बार ही रूठे तो निकाल डंडा मार साले को.... जब तक डंडा न टूटे!! .................................................... बीवी के मरने के 6 माह बाद भी उसकी कब्र पर रोते हुए और पंखा झलते हुए मौलवी को देख एक शख्स कह उठा... "या अल्लाह... इतनी मोहोब्बत!!!" . . मौलवी और जोर से गिड़गिड़ाते और पंखा झलते हुए बोला... . . . " दरअसल मरने वाली कह गई थी, मेरी कब्र की मिट्टी सूखने के बाद ही दूसरा निकाह करना... * * * पता नहीं कौन कमबख्त रोज़ दो बाल्टी पानी डाल जाता है..!!   अनिल कुमार वर्मा की फेसबुक वॉल से साभार Collapse
    Share on facebook
  • Extra Shot : कुछ यूं होता है राष्ट्रीय समस्या पर पुलिया चिंतन...

    Extra Shot : कुछ यूं होता है राष्ट्रीय समस्या पर पुलिया चिंतन...
    'वे धर लिए गए..!' चेलेटाइप आवाज। 'अबे, कौन धर लिए गए?' अबकी बार वरिष्ठ आवाज। 'वे ही तुम्हारे रामदुलारे... रिश्वत ले रहे थे, पुते हाथों धर लिए गए।' 'हे... Expand
    'वे धर लिए गए..!' चेलेटाइप आवाज। 'अबे, कौन धर लिए गए?' अबकी बार वरिष्ठ आवाज। 'वे ही तुम्हारे रामदुलारे... रिश्वत ले रहे थे, पुते हाथों धर लिए गए।' 'हे भगवान! देश का क्या होगा..!' कोई दो पुलिया पर बैठे हैं। चिल्लर तौर पर चिंतित हैं।  'गुरु, हमारे देश में 'स्किल' का इतना घोर पतन। जिस महान देश में सदियों से लेन-देन की कला निरंतर प्रतिष्ठा को प्राप्त होती रही हो। वहां, ऐसे नासमझ..! इतने भोले भंडारी, पचा नहीं पाते तो लेते क्यों हैं रिश्वत।'  'अबे, 'शिक्षा' की कमी के कारण से छोटी-छोटी नासमझियां कर जाते हैं। पहले लेने वाले चार आंख रखते थे। लालच की चोटी पर चढ़कर भी नीचे नजरें गढ़ाए रहते थे। लेने-देने वालों के बीच इतनी सौहार्द्रता होती थी कि कई बार देनेवाला लेनेवाले की इसी सादगी पर निसार हो जाता था। अब तो देनेवाले 'सयाणे' हो रहे हैं, लेनेवाले तो अभी तक अपनी पारंपरिक 'सिधाई' से बाहर ही नहीं पा रहे हैं।'  'सई कही..!' 'अबे, सई क्या, चंट तो एक हमारे वर्माजी थे। रिश्वत तो वे लेते थे। एक से एक 'ट्रिक्स' थीं उनके पास। एक बार तो उन्होंने रिश्वत में बीज के पांच बोरे मंगवाकर सीधे खेतों में उतरवाए और वहीं बो दिए थे।' 'यानी...!' 'अबे, रिश्वत जमींदोज और क्या...!' 'गजब गुरु गजब....'  'अबे, क्या गजब, गजब तो अब सुनो - एक बार तो उन्होंने रिश्वत लेने वाले पैसे अनाथालय में दान करवाकर उसकी रसीद मंगवा ली थी।' 'हैं...! रसीद क्यों...?' 'इनकम टैक्स में रसीद लगाकर पैसे बचा लिए और क्या।' 'तो हुई ना नए तरह की समझदारी।'  'गुरु..! वर्माजी तो वक्त से आगे की चीज दिखते हैं।' 'बिल्कुल हैं ही, वे तो इसी विषय पर कोचिंग खोलने की योजना बना रहे थे, इसके अलावा वे कर्मचारियों के सेवा पूर्व प्रशिक्षण में ही इस विषय को रखवाने के हिमायती थे। अबे, एक बार तो उन्होंने एक से रिश्वत में छह लोगों का रेलवे रिजर्वेशन करवा लिया था। 'एसी' में। रंगे हाथों पकड़े जाना तो उन्हें बिल्कुल भी गंवारा था। इसलिए तो लोगों की नादानियां देखकर उनका दिल जार-जार रोता है।'  'सो तो रोएगा ही गुरु..!' 'अबे, सो तो क्या, तू एक और सुन- एक बार तो उन्होंने रिश्वत ली और नोट लेकर तालाब में छलांग लगा ली। तैर कर दूसरे किनारे निकल गए। बेचारे इस किनारे पर एंटी करप्शन वाले टापते रह गए। ऐसे हैं अपने वर्माजी।' 'धन्य है गुरु, धन्य है। फिर तो वर्माजी के बड़े मजे रहे होंगे पूरी जिंदगी। आजकल क्या कर रहे हैं?' 'आजकल ऐश चल रही है उनकी, अभी तो लौटे हैं...' 'कहां से गुरु विदेश से?' 'अरे नहीं, जेल से एक बार पकड़े गए तो लंबे नपे थे।' 'हांय गुरु इतनी धांसू कहानी का इतना घटिया 'द एंड' सभी को सद् बुद्धि दे भगवान..!'    अनुज खरे (लेखकयुवा व्यंग्यकार हैं)  Collapse
    Share on facebook
  • Poetic Fun हुल्लड़ के दोहे : गुरु पुलिस दोऊ खड़े, काके लागूं पाय

    Poetic Fun हुल्लड़ के दोहे : गुरु पुलिस दोऊ खड़े, काके लागूं पाय
    र्ज़ा देता मित्र को, वह मूर्ख कहलाए,  महामूर्ख वह यार है, जो पैसे लौटाए।  गुरु पुलिस दोऊ खड़े, काके लागूं पाय,  तभी पुलिस ने गुरु के, पांव दिए... Expand
    र्ज़ा देता मित्र को, वह मूर्ख कहलाए,  महामूर्ख वह यार है, जो पैसे लौटाए।  गुरु पुलिस दोऊ खड़े, काके लागूं पाय,  तभी पुलिस ने गुरु के, पांव दिए तुड़वाय।  पूर्ण सफलता के लिए, दो चीज़ें रखो याद,  मंत्री की चमचागिरी, पुलिस का आशीर्वाद।  नेता को कहता गधा, शरम तुझको आए,  कहीं गधा इस बात का, बुरा मान जाए।  बूढ़ा बोला, वीर रस, मुझसे पढ़ा जाए,  कहीं दांत का सैट ही, नीचे गिर जाए।  हुल्लड़ काले रंग पर, रंग चढ़े कोय,  लक्स लगाकर कांबली, तेंदुलकर होय।  बुरे समय को देखकर, गंजे तू क्यों रोय,  किसी भी हालत में तेरा, बाल बांका होय।    हुल्लड़मुरादाबादी,कवि  Collapse
    Share on facebook
  • BIG HIT: शादी से पहले खुराफाती मां ने दी अपनी बेटी को ये सीख...

    BIG HIT: शादी से पहले खुराफाती मां ने दी अपनी बेटी को ये सीख...
    मां ने बेटी को दी कुछ ऐसी सीख....   बेटी ध्यान रखना कि यदि पति  पहली बार रूठे रब रूठे दूसरी बार रूठे तो जग छूटे तीसरी बार रूठे तो दिल टूटे और बार बार ही... Expand
    मां ने बेटी को दी कुछ ऐसी सीख....   बेटी ध्यान रखना कि यदि पति  पहली बार रूठे रब रूठे दूसरी बार रूठे तो जग छूटे तीसरी बार रूठे तो दिल टूटे और बार बार ही रूठे तो निकाल डंडा मार साले को.... जब तक डंडा न टूटे!! .................................................... बीवी के मरने के 6 माह बाद भी उसकी कब्र पर रोते हुए और पंखा झलते हुए मौलवी को देख एक शख्स कह उठा... "या अल्लाह... इतनी मोहोब्बत!!!" . . मौलवी और जोर से गिड़गिड़ाते और पंखा झलते हुए बोला... . . . " दरअसल मरने वाली कह गई थी, मेरी कब्र की मिट्टी सूखने के बाद ही दूसरा निकाह करना... * * * पता नहीं कौन कमबख्त रोज़ दो बाल्टी पानी डाल जाता है..!!   अनिल कुमार वर्मा की फेसबुक वॉल से साभार Collapse
    Share on facebook
  • Saturday Classic : प्रेम वाला भोजन

    Saturday Classic : प्रेम वाला भोजन
    दिनभर मैं बिस्तर पर इस करवट से उस करवट होता रहा। रात होती तो इस बेचैनी का एक मीठा-सा कारण मान लिया जाता। मगर मेरा दर्द वह नहीं था, जो रात को उभरता है और... Expand
    दिनभर मैं बिस्तर पर इस करवट से उस करवट होता रहा। रात होती तो इस बेचैनी का एक मीठा-सा कारण मान लिया जाता। मगर मेरा दर्द वह नहीं था, जो रात को उभरता है और तारों की गिनती करवाता है। यह वह दर्द था, जो दिन में भी तारे दिखा दे। दोनों का कारण प्रेम ही है। एक प्रेम में दिल दुखता है, दूसरे से पेट। मेरा पेट दुख रहा था।  एक भले आदमी का मेरे प्रति बड़ा प्रेम है। कल जब उनका प्रेम बीच बरसात में बांध तोड़ने लगा, तो उन्होंने मुझे खाने पर बुलाया। वे सामने बैठकर बच्चों को परोसने की हिदायत देते रहे। पहली बार जितना सामने रखा गया, उससे आधे में ही हमारा पेट भर गया और हम धीरे-धीरे पापड़ चुगने लगे। पापड़ का जिसने भी अाविष्कार किया है, कमाल किया है। यह भोजन में शामिल भी है और नहीं भी। इसे चुगते हुए बड़े-से-बड़े पेटू का साथ दिया जा सकता है।  हमारा पापड़ चुगना उन्होंने देख लिया। उन्होंने आवाज लगाई तो लड़का-लड़की थोड़ी गर्म खीर और हलवा डाल गए। सामने वे बैठे खाने पर जोर दे ही रहे थे। थोड़ा खाना ही पड़ा। फिर उनकी पत्नी आईं और यह कहते हुए कि हमने तो अभी खिलाया ही नहीं, और डाल गईं। सामने वे बैठे थे और हमें फिर दो-चार कौर खाना पड़ा।फिर उनकी बहू आई और बिना कुछ कहे, दही-बड़े डालकर झम्म से लौट गई। वे बोले, 'प्रेम से भोजन करो!' वे हमारे हाथ और मुंह को देखते हुए धमकी देने लगे। फिर उन्होंने आवाज लगाई, 'अरे गर्म पूड़ी ले आओ।' अब हमने थाली को हाथों से ढांक लिया। लड़का झिझका। तब वे बोले, 'अरे ये तेरे से नहीं मानेंगे!' और उन्होंने लड़के से पूड़ियां लेकर हाथ और थाली की सेंध में से डाल दीं।  वे समझे कि हम मिथ्या संकोच के कारण थाली को हाथ से ढंक रहे हैं। मिथ्या संकोच वाले भी हमने देखे हैं। वे भी थाली पर दोनों हाथ फैला देते हैं, गर्दन हिलाते हैं, 'नहीं-नहीं' चिल्लाते हैं, पर दोनों हाथों के बीच इतनी जगह खाली छोड़ रखते हैं कि समझदार परोसने वाला उनमें से दो लड्‌डू डाल दे। इस जगह में से रोटी, सब्जी या भात नहीं छोड़ा जा सकता। यह लड्‌डू या बर्फी की नाप से छोड़ी जाती है।  हमारे हाथों के बीच बिल्कुल जगह नहीं थी। हमारी 'नहीं' बिल्कुल सच्ची थी। पर उन्हें विश्वास नहीं था। फिर तो हमने थाली उठाकर सिर के ऊपर ओढ़ ली और पीछे रख ली, पर उनके सामने एक चली। गले तक भोजन ठस गया। डकार आई तो वह गले तक आकर रुक गई। आगे उसका रास्ता बंद था। मैंने दाएं-बाएं झुककर श्वास नलिका में जगह बनाकर डकार निकालने की कोशिश की। बड़ी मुिश्कल से वह िनकली और मुझे कुछ राहत मिली।  मुश्किल से घर गया और बिस्तर पर गिर गया। अंग-अंग में बेचैनी थी। पेट तो खिंचाव के मारे फटा पड़ रहा था। मुंह खोले मैं करवटें बदलता रहा। लगता था कि खीर और हलुवा पावों में भी घुस गया है। वे भी दुखते थे।  पड़े-पड़े मैं सोचने लगा - उन्होंने हमें भोजन क्यों कराया? प्रेम के कारण। प्रेम में भोजन क्यों कराते हैं? क्योंकि भोजन से सुख मिलता है।  क्या मुझे सुख मिल रहा है? नहीं।  तो क्या उनका मुझसे प्रेम नहीं है? फिर क्या बैर है?    (हरिशंकरपरसाई के व्यंग्य 'पेट का दर्द और देश का' का अंश)    Collapse
    Share on facebook
  • WhatsApp Hit: पागलखाने के डॉक्टर से किया पत्रकार ने जब ये सवाल...

    WhatsApp Hit: पागलखाने के डॉक्टर से किया पत्रकार ने जब ये सवाल...
    पत्रकार, पागलखाने के डॉक्टर से- सर आप ये कैसे डिसाइड करते हैं कि फलां व्यक्ति मेंटल पेशेंट है या नहीं और उसे एडमिट करना चाहिए या नहीं? डॉक्टर-देखिए मैं... Expand
    पत्रकार, पागलखाने के डॉक्टर से- सर आप ये कैसे डिसाइड करते हैं कि फलां व्यक्ति मेंटल पेशेंट है या नहीं और उसे एडमिट करना चाहिए या नहीं? डॉक्टर-देखिए मैं बताता हूं....इसके लिए हम एक एक्जाम लेते हैं... सबसे पहले हम एक बाथ टब को पानी से भरते हैं और फिर उम्मीदवार को एक चम्मच, गिलास और एक बाल्टी देते हैं और उससे बाथ टब को खाली करने के लिए कहते हैं। डॉक्टर- फिर हम उम्मीदवार से पूछते हैं कि वो इसे खाली करने के लिए क्या करेगा? पत्रकार-वाह, सिंपल सी बात है एक नॉर्मल व्यक्ति तो बाल्टी का इस्तेमाल करेगा क्योंकि वो बड़ी होती है। डॉक्टर- अरे नहीं भाई साहब  कर गए ना आप भी गलती, एक नॉर्मल व्यक्ति इसके लिए टब का ड्रेन प्लग खोलेगा! . . प्लीज आप बेड नं.39 पर जाएं आपका आगे का परीक्षण किया जाएगा...!! . . क्यों आपने भी बाल्टी के बारे में ही सोचा था ना!!! आप बेड नं-40 पर पहुंचें..... . . और लोगों से ये सवाल करें....अस्पताल में और भी कई सारे बेड उपलब्ध हैं। Collapse
    Share on facebook
  • From The Web: ट्रीटमेंट के लिए डॉक्टर का अजूबा ऑफर

    From The Web: ट्रीटमेंट के लिए डॉक्टर का अजूबा ऑफर
    डॉक्टर से वसूली  एक डॉक्टर ने नया क्लिनिक खोला और बाहर लिखवा दिया, "हमारी फीस 500 रुपए है और अगर हम इलाज ना कर पाएं तो 2,000 रुपए देंगे।' मंगलू ने सोचा... Expand
    डॉक्टर से वसूली  एक डॉक्टर ने नया क्लिनिक खोला और बाहर लिखवा दिया, "हमारी फीस 500 रुपए है और अगर हम इलाज ना कर पाएं तो 2,000 रुपए देंगे।' मंगलू ने सोचा अच्छा मौका है 2000 रुपए कमाने का। वह क्लिनिक गया और डॉक्टर से बोला, "डॉक्टर मेरी जीभ को कोई स्वाद महसूस नहीं हो रहा।' डॉक्टर ने नर्स को आवाज दी, '22 नंबर बॉक्स में से एक चम्मच भर के देना।' डॉक्टर ने मंगलू को दवा पिला दी। मंगलू चिल्लाया, 'यह तो बहुत कड़वी है।' डॉक्टर बोला, 'बधाई हो, आपकी जीभ का स्वाद वापस गया।' और मंगलू 500 रुपए देने पड़े। पैसे वसूलने के लिए वह फिर डॉक्टर के पास पहुंचकर बोला, "डॉक्टर, मेरी याददाश्त चली गई है।' डॉक्टर ने नर्स को आवाज दी, '22 नंबर बॉक्स में से एक चम्मच देना।' कड़वी दवाई के डर से मंगलू बोला, 'पर वह तो जीभ की बीमारी के लिए थी न?' डॉक्टर बोला, 'बधाई हो आपकी याददाश्त वापस गई है।'  दुआएं या बद्दुआएं?    छगन की दुआओं का असर-  राजू को दुआ दी "सदा मुस्कुराते रहो'- आज वह पागलखाने में है।  मोनू कोे दुआ दी "सब तेरे इशारे पर चलें'- आज वह ट्रैफिक हवलदार है।  रामू को दुआ दी "तुम्हारी जिंदगी में फूल खिलते रहें'- आज वह स्कूल में माली है।  बबलू को दुआ दी "सदा चमकते रहो'- आज उसके सिर पर एक भी बाल नहीं हैं।  पिंकी को दुआ दी "दूसरों के दुःख-दर्द दूर करो'- आज वह हॉस्पिटल में नर्स है  उसका इरादा अब आप सबके लिए दुआ करने का है, अगर कुछ खास दुआ करनी हो तो बता दीजिए!    अभिषेकसिंह,ग्वालियर    Collapse
    Share on facebook
  • Extra Shot: मरघट का सोशल होना...!!

    Extra Shot: मरघट का सोशल होना...!!
    ‘अरे यार, तू उस दिन फलाने के चाचाजी की अंत्येष्टि में दिखा नहीं?’  ‘क्या बात करता है! फेसबुक पर नहीं देखा क्या? अंकल की डेड बॉडी के साथ सेल्फी पोस्ट... Expand
    ‘अरे यार, तू उस दिन फलाने के चाचाजी की अंत्येष्टि में दिखा नहीं?’  ‘क्या बात करता है! फेसबुक पर नहीं देखा क्या? अंकल की डेड बॉडी के साथ सेल्फी पोस्ट की तो थी। कसम से, अंकल के चेहरे पर क्या तेज था। नए फोन में सात मेगापिक्सल का कैमरा है। देख तेरा भी फोटो लेता हूं। तेरा गिरगिटिया चेहरा भी चमक जाएगा।’  तो लीजिए, हमारे भाई लोगों ने अंतिम संस्कार को ‘सोशल एक्ट’ बना दिया। पहले यह ‘सामाजिक कर्मकांड’ था। किसी की अंत्येष्टि में जाने से पहले देखा जाता था कि कहीं कपड़े ज्यादा तड़क-भड़क वाले नहीं हो जाएं। चप्पल स्लीपर हो तो और भी अच्छा। अंत्येष्टि के बाद पैर धोते समय गलती से लेदर की चप्पलाें पर पानी पड़ने की आशंका रहती ही है। कुछ लोग मरघटिया तौलिया भी साथ में रखते थे। इम्प्रेशन अच्छा पड़ता था। शोक का माहौल बनता था। लेकिन सोशल हाेते ही हमारी ये परंपराएं हवा होती जा रही हैं। हमारे परम मित्र चौबेजी इसी बात को लेकर परेशान रहते हैं। पारंपरिक जो हैं। 22 हजार का स्मार्टफोन लिया भी तो केवल भजन सुनने के लिए। क्या मतलब! वह तो दो हजार रुपट्‌टी के मोबाइल से भी सुन लेते। सुन ही रहे थे। अभी कुछ दिन पहले श्मशान घाट से अंत्येष्टि का लाइव टेलीकास्ट की सुविधा मुहैया करवाने संबंधी खबर पढ़कर विचलित हुए थे। अब नए छोकरों की सेल्फी जैसी हरकतों से तो और भी व्यथित नजर आते हैं। “छी छी, क्या जमाना गया है! अब मरघट से ही सेल्फी खींचकर डाल रहे हैं, मानो किसी की मौत-मिट्टी नहीं, हल्दी की रसम हो।”  “तो क्या दिक्कत है। पता तो चल जाता है कि अमुक आदमी, अमुक आदमी के अंतिम संस्कार में गया था।” हमने तर्क दिया।  “लो सुन लो…!” विस्मयादिबोधक चिह्न के साथ वे बोले, “तो क्या किसी की अंत्येष्टि में इसलिए जाना चाहिए कि हमारी उपस्थिति दर्ज हो जाए!!”  ये वही चौबेजी हैं, जो किसी की अंत्येष्टि में जाते हैं तो श्मशान घाट पर मौजूद कम से कम 50 लोगों से जरूर मिलते हैं। उचक-उचककर हाथ भी हिलाते जाते हैं। पता तो चले- हां भई, चौबेजी भी आए थे। बड़े सामाजिक आदमी हैं। दिवंगत आत्मा का कोई करीबी या परिजन मिल जाता तो इतने खुश हो जाते मानो शादी के रिसेप्शन में आए हों। उन्हें यह सोचकर आित्मक शांति मिलती है कि चलो उपस्थिति दर्ज हो गई।  नई पीढ़ी भी यही कर रही है। इसमें हर्ज क्या है? अभी-अभी मेरे फेसबुक की वॉल पर एक मित्र के ताऊजी के निधन की दुखद खबर मिली। ‘शोक की इस घड़ी में परमात्मा आपको दुख सहन करने की शक्ति दें’ जैसी पोस्ट भी नजर आई। थोड़े ज्यादा करीबी, जिन्हें कुछ ज्यादा ही दुख होता है, ऐसी पोस्ट डालते हैं। मैंने लाइक से ही काम चला लिया। अब अंत्येष्टि में जाना तो होगा नहीं। इसलिए घर बैठे ही उपस्थिति दर्ज करवा दी है। अब तक 112 लोग मेरी ही सोच के पाए गए हैं। शाम तक संख्या बढ़ जाएगी। मेरा यह मित्र सालों से सोशल जो है।    . ए. जयजीत   Collapse
    Share on facebook
  • Facebook फिल्म प्रोडक्शन की फिल्में बनेंगी तो ऐसे होंगे नाम...

    Facebook फिल्म प्रोडक्शन की फिल्में बनेंगी तो ऐसे होंगे नाम...
    फेसबुक का क्रेज आजकल यूथ के दिलो-दिमाग पर छाया हुआ है और दिन में 10 बार उनके मुंह से आप फेसबुक का उच्चारण कम से कम सुन सकते हैं, ऐसा कहा जाए तो गलत नहीं होगा।... Expand
    फेसबुक का क्रेज आजकल यूथ के दिलो-दिमाग पर छाया हुआ है और दिन में 10 बार उनके मुंह से आप फेसबुक का उच्चारण कम से कम सुन सकते हैं, ऐसा कहा जाए तो गलत नहीं होगा। इसी क्रेज को देखते हुए इसी दुनिया के लोगों ने इमेजिन किया कि यदि फेसबुक वाले फिल्म बनाएं तो फिर फिल्मों के नाम क्या होंगे।    तो डालिए नजर इन नामों पर... जब वी CHAT नमस्ते फेसबुक मैंने POKE क्यों किया मेरे ब्रदर की प्रोफाइल हम LIKE कर चुके सनम हम आपके हैं म्युचल फ्रेंड्स कभी रिलेशनशिप कभी सिंगल तूने UNLIKE क्यों किया फेसबुक के सनम फेसबुक का दीवाना फेसबुक मेरी जान Collapse
    Share on facebook
  • Extra Shot : किस्सा एक मामूली आदमी की मामूली ख्वाहिश का...!

    Extra Shot : किस्सा एक मामूली आदमी की मामूली ख्वाहिश का...!
    सॉरी कहने की बड़ी इच्छा हो रही है आज। किसे कह दूं? अब इच्छा है तो इच्छा है। सॉरी कहना है सो कहना है। डर भी लगता है साब लोग किसी मामूली आदमी की सॉरी को... Expand
    सॉरी कहने की बड़ी इच्छा हो रही है आज। किसे कह दूं? अब इच्छा है तो इच्छा है। सॉरी कहना है सो कहना है। डर भी लगता है साब लोग किसी मामूली आदमी की सॉरी को हिकारत की निगाहों से देखें। मन में सोच बैठें कि बेटा, पहले हमसे सॉरी कहने की औकात तो पैदा कर ले। और मान लो किसी से जबर्दस्ती सॉरी कह ही दूं तो कहीं वो बंदा डांटने पे ही उतर आए। बेबसी देखिए साब, सॉरी कहने की भी जुगाड़ नहीं बन पा रही है। नकली तो छोड़िए सॉरी कहने के लिए एक असली कारण तक नहीं मिल पा रहा है।  याद ही नहीं रहा है कभी किसी का दिल दुखाया हो। किसी से बदसलूकी की हो। किसी को हड़काने की जुर्रत की हो। कैसी कमतरी है ये? स्साला! हम इतने गए गुजरे हैं क्या? जरा-सी ख्वाहिश भी पूरी नहीं कर पा रहे हैं अपनी। माफी मांगना तक डिजर्व नहीं कर पा रहे? हाय! हाय! घोर निराशा का क्षण, आदमी के पास अपनी उल्लेखनीय बद्तमीजी का भी कोई किस्सा नहीं है?  निजी आघात के इन विकट क्षणों में मैं अपनी जिंदगी के फ्लैशबैक को भी टटोलने की कोशिश करता हूं। लेकिन टूटने-फूटने, व्यथित होने, हारने, हड़कने, अपमानित होने के सारे किस्से खुद के साथ ही पाता हूं। अपमान के इतने आंसू निकले हैं कि स्टॉक करें तो ठीक-ठाक सी टंकी में दो दिन के पानी का स्टॉक हो जाए। हाय! कैसा टुच्चा-सा जीवन जीया है हमने! किसी से सॉरी कहने की कोई सटीक वजह ही नहीं जुटा पाया हूं।  'लगता है बेकार गए हम' किस्म के शीर्षक मेरे दिमाग में चमकने लगे हैं। मेरा अदनापन अब बौनेपन की ओर बढ़ रहा है। इतनी घोर बेइज्जती। प्रभु! अदने आदमी के जीवन में कमीनेपने की कोई गतिविधि नहीं लिखी तूने?  लोगों से मिलो तो सबके पास दूसरों का दिल दुखाने के पर्याप्त किस्से हैं। मौके निकाले हैं लोगों ने इस क्षेत्र में। अपनी कमजोरी के चलते हमई चूक गए स्साला! क्या पशुवत जीवन जीया है हमने!  दूसरों को ठेस पहुंचाने के हर मौके पर सहमति बनाते रहे। कहीं राय नहीं रख पाए। कहीं विरोध का झंडा तक नहीं उठा पाए। कहीं गलत होता रहा तो टोक नहीं पाए। सौहार्द्रता बनाए रखी। नपुंसक सहमति किसी को आईना दिखा सकती है भला? बिना आईना दिखाए तो क्या ठेस पहुंचेगी। माफी मांगने के क्या कारण पैदा होंगे। अदने आदमी तेरी तो... सिगरेट के टोटे टाइप मसल देना चाहिए तेरी भलमनसाहत।  सो, एक मामूली आदमी की मामूली-सी ख्वाहिश भी इन दिनों पूरी नहीं हो पा रही है। वैसे आपको क्या लगता है, पहले कभी होती थी क्या, तो ऐसे सभी लोगों को आपकी तरफ से बोल दूं ना, सॉरी बिडू..!    अनुज खरे (लेखकयुवा व्यंग्यकार हैं)    Collapse
    Share on facebook
  • 3 Silly Jokes: प्रेमिका और फिर पत्नी की तारीफ का फर्क देखिए...

    3 Silly Jokes: प्रेमिका और फिर पत्नी की तारीफ का फर्क देखिए...
    शादी से पहले और शादी के बाद प्रेमिका: चांद कितने होते हैं? प्रेमी: एक तुम और एक ऊपर! शादी के बाद ड्राइंग रूम में पत्नी: चांद कितने होते हैं? पति: अंधी हो... Expand
    शादी से पहले और शादी के बाद प्रेमिका: चांद कितने होते हैं? प्रेमी: एक तुम और एक ऊपर! शादी के बाद ड्राइंग रूम में पत्नी: चांद कितने होते हैं? पति: अंधी हो क्या, ऊपर क्या वह तुम्हें खरबूजा नज़र आ रहा है? .............. एक शराबी सड़क के किनारे बहुत ज्यादा पीने के कारण लगभग बेसुध सा पड़ा हुआ था.  एक भले आदमी ने उसके पास आकर पूछा-“आखिर इतनी ज्यादा पीनेकी क्या जरूरत थी ? शराबी-“मजबूरी थी … पीने के अलावा और कोई चारा ही नहीं था..  भला आदमी-“आखिर ऐसी क्या मजबूरी हो गई थी ?”. शराबी-“बोतल का ढक्कन गुम हो गया था … !”.. .................... पप्पू - आज संडे है और मैंने इंजॉय के लिए 3 मूवी टीकिट खरीदे हैं। बीवी - 3 क्यों ? पप्पू - तुम्हारे लिए और तुम्हारे मम्मी पापा के लिए...!!! Collapse
    Share on facebook
  • लड़की जब ब्वॉयफ्रेंड को घर लेकर आई तो पिताजी ने की खिंचाई...

    लड़की जब ब्वॉयफ्रेंड को घर लेकर आई तो पिताजी ने की खिंचाई...
    भगवान भरोसे  एक लड़की अपने ब्वॉयफ्रेंड को अपने घर लेकर आई। लड़की के पिता ने लड़के को अकेले में बुलाया और पूछा, 'तो तुम्हारा प्लान क्या है?' ... . . लड़के... Expand
    भगवान भरोसे  एक लड़की अपने ब्वॉयफ्रेंड को अपने घर लेकर आई। लड़की के पिता ने लड़के को अकेले में बुलाया और पूछा, 'तो तुम्हारा प्लान क्या है?' ... . . लड़के ने जवाब दिया, 'अभी तो मैं रिसर्च स्कॉलर हूं।' लड़की के पिता ने पूछा, 'तो तुम मेरी बेटी को एक बड़ा घर कैसे दे पाओगे?' लड़का बोला, 'मैं तो पढ़ाई करूंगा, आगे भगवान हमारी मदद करेंगे।' लड़की के पिता ने फिर पूछा, 'और तुम किस तरह उसके लिए सगाई की महंगी अंगूठी खरीदोगे?' 'मैं और ज्यादा ध्यान से पढ़ाई करूंगा, आगे भगवान हमारी मदद करेंगे', लड़के ने कहा। 'और बच्चे, उन्हें कैसे पालोगे?', लड़की के पिता ने पूछा। लड़के ने जवाब दिया, 'चिंता मत कीजिए सर, भगवान कोई कोई रास्ता निकाल ही लेगा।' . . . जितनी बार लड़की के पिता ने कुछ भी पूछा, तो लड़के ने कहा कि कोई कोई रास्ता भगवान निकाल ही लेगा। . . बाद में लड़की की मां ने लड़की के पिता से कहा, 'यह सब कैसे होगा जी?' लड़की के पिता ने कहा, 'पता नहीं, उसके पास ना कोई नौकरी है ना कोई प्लान पर अच्छी खबर यह है कि वह मुझे भगवान समझ रहा है।'  Collapse
    Share on facebook
  • Yes, It's Silly : पकाऊ पांच जोक्स के साथ करें एन्जॉय

    Yes, It's Silly : पकाऊ पांच जोक्स के साथ करें एन्जॉय
    सॉलिड बेइज्जती। लड़की का पिता (लड़के से) - मैं नहीं चाहता  कि मेरी बेटी अपनी पूरी जिंदगी किसी मूर्ख आदमी  के साथ गुजारे। ब्वॉयफ्रेंड - बस अंकल इसीलिए... Expand
    सॉलिड बेइज्जती। लड़की का पिता (लड़के से) - मैं नहीं चाहता  कि मेरी बेटी अपनी पूरी जिंदगी किसी मूर्ख आदमी  के साथ गुजारे। ब्वॉयफ्रेंड - बस अंकल इसीलिए तो मैं उसे यहां से ले जाने आया हूं। ***  डॉक्टर मरीज के पीछे भाग रहा था... लोगों ने पूछा, ‘क्या हुआ?’ डॉक्टर बोला, ‘चार बार ऐसा हो  चुका है। यह दिमाग का ऑपरेशन करवाने आता है और हर बार बाल कटवा के भाग जाता है।’ *** दो दोस्त रेस्त्रां में बैठे थे। एक ने कहा, ‘यार वह जो सामने लड़का बैठा है, उसकी शक्ल हूबहू मेरी पत्नी से मिलती है, बस मूंछों का फर्क है।’ दूसरा दोस्त बोला, ‘लेकिन उस लड़के की मूंछ कहां है?’  पहले दोस्त ने जवाब दिया, ‘मेरी पत्नी की तो हैं!’  ***  दो बेवकूफ चिड़ियाघर में शेर के पिंजरे के सामने बहस कर रहे थे।  पहला- शेर अंडे देता है।  दूसरा- नहीं, शेर बच्चे देता है। तभी वहां तीसरा वेबकूफ आया और बोला, ‘अरे शेर जंगल का राजा है, उसकी जो मर्जी वह देगा।’ *** एक महिला अपनी सहेली के सामने दुखड़ा रो रही थी, ‘बहन मेरी तो तकदीर ही खराब है। जब मैं बहू थी तो अच्छी सास नहीं मिली और जब सास बनी तो बहू अच्छी नहीं मिली!’   अबरार सैयद, भोपाल Collapse
    Share on facebook
  • BIG SHOCK: बीएमडब्ल्यू सुनते ही लड़की ने बता दी पूरी कुंडली...

    BIG SHOCK: बीएमडब्ल्यू सुनते ही लड़की ने बता दी पूरी कुंडली...
    लड़का : तुम्हारा नाम क्या है? . . लड़की: क्यों बताऊं? मैं तुम्हें जानती तक नहीं! लड़का : मत बताओ, मैं कौन-सा तुम्हें अपनी बीएमडब्ल्यू में बिठा रहा हूं! . .... Expand
    लड़का : तुम्हारा नाम क्या है? . . लड़की: क्यों बताऊं? मैं तुम्हें जानती तक नहीं! लड़का : मत बताओ, मैं कौन-सा तुम्हें अपनी बीएमडब्ल्यू में बिठा रहा हूं! . . लड़की: पिंकी, बी.कॉम सेकंड इयर। सामने वाली गली में सीधे हाथ की तरफ चौथे नंबर पर घर है मेरा- 32/बी। घर में एक छोटा भाई और मम्मी-पापा हैं। ट्यूशन का टाइम शाम 6 से 8। . . . . लड़का : ओके, जिस दिन बीएमडब्ल्यू खरीद लूंगा, उस दिन जरूर बिठाऊंगा!! .................................................. एक आदमी मरने के बाद स्वर्ग पंहुचा . . तो वहां की अप्सराओं को देख कर खुश हो गया. . . . थोड़ी देर तक उन्हें निहारने के बाद गुस्से से बोला . .  अगर बाबा रामदेव के चक्कर में ना पड़ा होता, तो कब का यहां आ गया होता! ........................ एक अजीब सी हालत है तेरे जाने के बाद, भूख ही नहीं लगती खाना खाने के बाद... मेरे पास 8 समोसे थे जो मैंने खा लिए, 1 तेरे आने से पहले 7 तेरे जाने के बाद... नींद ही नहीं आती मुझे सोने के बाद, नज़र कुछ नहीं आता आंखे बंद होने के बाद... डॉक्टर से जो पुछा इसका इलाज ,  देकर 4 गोलियां बोला खा लेने को 2 जागने से पहले 2 सोने के बाद... Collapse
    Share on facebook
  • कुंवारा लड़का जब पहुंचा बाबा के पास और दिखाई अपनी होशियारी...

    कुंवारा लड़का जब पहुंचा बाबा के पास और दिखाई अपनी होशियारी...
    बाबा :- तुझे क्या चाहिए ?? लड़का :- खूबसूरत लड़की !!!! बाबा :- अगर तू हिन्दू है तो तुझे करीना दूंगा !! मुस्लिम है तो कटरीना दूंगा!! सिख है तो अनुष्का दूंगा ! और... Expand
    बाबा :- तुझे क्या चाहिए ?? लड़का :- खूबसूरत लड़की !!!! बाबा :- अगर तू हिन्दू है तो तुझे करीना दूंगा !! मुस्लिम है तो कटरीना दूंगा!! सिख है तो अनुष्का दूंगा ! और ईसाई है तो जेनेलिया ! बाबा : - तेरा नाम क्या है??? लड़का :- "विजय अब्दुल सिंह फर्नान्डिस" बाबा अपने चेले से :- "मायावती" दे साले को ज्यादा होशियारी दिखा रहा है...! Collapse
    Share on facebook
  • Sunday Hit: लड़की को प्रपोज करने का मिला ये नतीजा...

    Sunday Hit: लड़की को प्रपोज करने का मिला ये नतीजा...
    मजदूर  लड़के ने कैंडल लाइट डिनर की तैयारी की और सोचा कि अगर सब कुछ ठीक रहा तो उसे प्रपोज कर देगा। डेट पर मिलने के थोड़ी देर बाद लड़की ने शर्माते हुए... Expand
    मजदूर  लड़के ने कैंडल लाइट डिनर की तैयारी की और सोचा कि अगर सब कुछ ठीक रहा तो उसे प्रपोज कर देगा। डेट पर मिलने के थोड़ी देर बाद लड़की ने शर्माते हुए पूछा, 'ये प्यार क्या होता है?' लड़के ने सोचा इंप्रेशन जमाने का यही मौका है। उसने जवाब दिया, 'प्यार का रिश्ता दो इंसानों में वही होता है, जो सीमेंट और रेत के बीच पानी का होता है, फर्ज करो,   लड़का=सीमेंट, लड़की=रेत, प्यार=पानी अब अगर सीमेंट और रेत को आपस में मिला दिया जाए तो वो मजबूत नहीं होंगे, लेकिन अगर इसमें पानी मिक्स कर दें तो कोई इनको जुदा नहीं कर सकता।' लड़के का यह जवाब सुन लड़की हंसते हुए बोली, 'बेवकूफ तू शक्ल से ही मजदूर लगता है।'  कोमा  एक महिला कोमा में चली गई। लोग उसे मरा हुआ समझ कर श्मशान घाट की ओर ले चले। रास्ते में अर्थी एक खंभे से टकरा गई और महिला को होश आ गया। करीब एक साल बाद महिला सचमुच मर गई। शवयात्रा के दौरान जब सभी लोग 'राम नाम सत्य है' बोल रहे थे, तब पति की जुबान पर सिर्फ एक ही बात थी, 'भाई, जरा खंभा बचा के!'  ञ्चमनीष मालवीय  Collapse
    Share on facebook
  • POETIC FUN : कंजूस प्रेमी के लिए बनाई प्रेमिका ने कुछ ऐसी शायरी...

    POETIC FUN : कंजूस प्रेमी के लिए बनाई प्रेमिका ने कुछ ऐसी शायरी...
    अर्ज किया है..... तुम्हारी कंजूसियों को देखकर मुंह से यही निकलता है,                                               तुम वो खरीदा समोसा भी खा... Expand
    अर्ज किया है..... तुम्हारी कंजूसियों को देखकर मुंह से यही निकलता है,                                               तुम वो खरीदा समोसा भी खा लेते हो, जिस पर कॉकरोच चलता है। अपनी कंजूसियों पर करके घमंड तुम मुस्कुराते हो, बचाने पेन की स्याही तुम आंसर शीट खाली छोड़ आते हो। प्रेमिका की कमाई पर हर जगह ऐश करते हो, अपने दोस्तों को होटलों में कैश करते हो। कहते हो  खुद को शायर और शायरी जब सुनाते हो, दूसरों की चुराई शायरी, तुम पेश करते हो। ......................................................................   खुद को कर कंजूस इतना     की हर एसएमएस भेजने से पहले,                                                             सर्विस सेंटर वाले कॉल करके खुद पूछें                                                         सर जी आर यू श्योर? भेजना है कि सेंडिंग फेल कर दूं!!   Collapse
    Share on facebook
  • लड़कियों और लड़कों के मोबाइल की FUNNY CONTACT लिस्ट...

    लड़कियों और लड़कों के मोबाइल की FUNNY CONTACT लिस्ट...
    लड़कियां अक्सर अपने ब्वॉयफ्रेंड का नाम फोन में इस तरह सेव करती है। 1 माइ लव 2. स्वीटू 3. डार्लिंग 4. स्वीटहार्ट 5. हनी बेबी 6. जानू और लड़के अपनी गर्लफ्रेंड... Expand
    लड़कियां अक्सर अपने ब्वॉयफ्रेंड का नाम फोन में इस तरह सेव करती है। 1 माइ लव 2. स्वीटू 3. डार्लिंग 4. स्वीटहार्ट 5. हनी बेबी 6. जानू और लड़के अपनी गर्लफ्रेंड का नाम ऐसे सेव करते हैं... 1. सोनू हलवाई 2. राशिद प्लंबर 3. भोला फौजी 4. पप्पू पेंटर 5. हवलदार 6. बिट्टू लंगड़ा 7. पप्पू मिस्त्री 8. कस्टमर केयर 9. बैटरी लो 10. 1 मिस्ड कॉल 11.जान खाऊ 12. जेब पर बोझ Collapse
    Share on facebook
  • BIG HIT: रिजल्ट से पहले ही बंता ने कर दी बच्चे की जमकर पिटाई....

    BIG HIT: रिजल्ट से पहले ही बंता ने कर दी बच्चे की जमकर पिटाई....
    संता-ओए बंते कल तूने अपने बच्चे को बहुत पीटा...!! . . आखिर ऐसा क्या हो गया भाई जो कर दी उसकी कुटाई... . . बंता-दरअल दो दिन बाद उस बदमाश का रिजल्ट निकलने वाला... Expand
    संता-ओए बंते कल तूने अपने बच्चे को बहुत पीटा...!! . . आखिर ऐसा क्या हो गया भाई जो कर दी उसकी कुटाई... . . बंता-दरअल दो दिन बाद उस बदमाश का रिजल्ट निकलने वाला है और आज ही मैं एक महीने के टूर पर जा रहा हूं, तो सोचा कोटा पूरा करता चलूं... ................. संता-मेरी पत्नी मेरा इतना ख्याल रखती है कि कल मेहमानों के विदा होने के बाद जब मैंने उससे कहा कि गर्म पानी का जल्दी प्रबंध करो तो उसने उसी वक्त पानी गर्म कर दिया... . . बंता-वाह! लेकिन उस समय बेचारी को पानी गर्म करने का कष्ट क्यों दिया? . . संता-क्योंकि मैं ठंडे पानी से बर्तन नहीं धो सकता था। Collapse
    Share on facebook
  • ऑफिस जाते संता को बस में आया जब महिला पर गुस्सा...

    ऑफिस जाते संता को बस में आया जब महिला पर गुस्सा...
    संता सुबह-सुबह डीटीसी की बस से ऑफिस जा रहा था। उसके बगल वाली सीट पर एक महिला अपने बच्चे के साथ बैठी हुई थी। महिला के पास हलवा रखा हुआ था। वह बच्चे को... Expand
    संता सुबह-सुबह डीटीसी की बस से ऑफिस जा रहा था। उसके बगल वाली सीट पर एक महिला अपने बच्चे के साथ बैठी हुई थी। महिला के पास हलवा रखा हुआ था। वह बच्चे को हलवा खिलाने की कोशिश कर रही थी पर बच्चा खाना नहीं चाहता था, नखरे कर रहा था। महिला बार-बार बच्चे से कह रही थी : बेटा, जल्दी से हलवा खा लो नहीं तो मैं इसे बगल में बैठे अंकल को दे दूंगी। बच्चे को शायद भूख नहीं थी इसलिए वह हलवे की तरफ देख भी नहीं रहा था। महिला बार-बार वही बात दोहरा रही थी : जल्दी से खा लो वरना हलवा अंकल को दे दूंगी.. जब काफी देर हो गई तो संता बोला- बहनजी, आपको जो फैसला करना है, जल्दीकीजिए .. . . .. . . . आपके हलवे के चक्कर में मैं 4 स्टॉप आगे आ गया!!! Collapse
    Share on facebook
  • संता ने की कश्मीर की तारीफ और बंता गए पत्नी संग सब्जी लेने...

    संता ने की कश्मीर की तारीफ और बंता गए पत्नी संग सब्जी लेने...
    संता-यार, कश्मीर वाकई स्वर्ग जैसा है।  इस जगह ने मुझे जैसी खुशियां दी हैं, उसे मैं कभी नहीं भूल सकता। . . बंता ने हैरानी से पूछा-लेकिन तुम तो कभी... Expand
    संता-यार, कश्मीर वाकई स्वर्ग जैसा है।  इस जगह ने मुझे जैसी खुशियां दी हैं, उसे मैं कभी नहीं भूल सकता। . . बंता ने हैरानी से पूछा-लेकिन तुम तो कभी कश्मीर गए ही नहीं? . संता ने खुशी से झूमते हुए जवाब दिया- तो क्या हुआ,  मेरी बीवी तो पिछले एक माह से वहीं है  और फिलहाल वापस भी नहीं आ रही है। .................... बंता अपनी पत्नी  के साथ सब्जी लेने गया। . . सब्जीवाला: बाबूजी, बहूजी तो जुरूर MBA पास होंगी। . . बंता:अरे आपने कैसे जान लिया? . . सब्जीवाला: "थैले में नीचे टमाटर और ऊपर कददू रख रही हैं न। Collapse
    Share on facebook
  • बारिश में मोबाइल भीग जाए तो क्या करें, EXPERT संता से जानें...

    बारिश में मोबाइल भीग जाए तो क्या करें, EXPERT संता से जानें...
    संता- बारिश में अक्सर मोबाइल भीगने की समस्या से सभी का सामना होता है और फिर इस समस्या के साथ ही आती हैं कई सारी परेशानियां......   कैसी परेशानियां- भीगने... Expand
    संता- बारिश में अक्सर मोबाइल भीगने की समस्या से सभी का सामना होता है और फिर इस समस्या के साथ ही आती हैं कई सारी परेशानियां......   कैसी परेशानियां- भीगने के कारण मोबाइल बंद पड़ सकता है या पूरी तरह से खराब भी हो जाता है, ऐसे में जब दोस्तों से बात ना हो पाए कहीं आना-जाना है यह तय ना हो पाए, तो आपको डिप्रेशन की समस्या सता सकती है और कहीं मन ना लगना और उदासी छा जाने के साथ-साथ बेचैनी होना भी आम परेशानियां हैं...   ऐसे में क्या करें- भीग चुके मोबाइल को एक साफ तौलिये से पोंछ लें और उसकी बैटरी निकाल लें, इसके बाद गैस जलाएं अब आप सोच रहे होंगे कि गैस जालाने की क्या जरूरत है, तो गैस जलाने का कारण है आप उसपर अपने लिए एक कप गरमा-गरम चाय बनाएं और चाय की चुस्कियां लेकर कुछ देर के लिए भूल जाएं कि आपका मोबाइल बंद हो गया है। मोबाइल की बैटरी को यू हीं बाहर पड़ा रहने दीजिए और कम से कम 4 घंटे तक उसे मोबाइल में फिट ना करें। छत पर अब थोड़ी धूप निकल आई हो तो वहां बैटरी को सूखने रख दें। अब इतनी देर तक आप मोबाइल के बिना टाइम पास कैसे करेंगी या करेंगे तो इसके लिए आप चादर तानकर सो जाएं और 4 घंटे बाद उठें।   एक बात पर गौर करना की आपको इस बीच बेहतरीन नींद आएगी......   अब आप छत पर जाएं और बैटरी को देखें, आप पाएंगे कि आपके सोने के दरमियान फिर बारिश हुई थी और आपकी बैटरी इस बार फिर भीग गई है, तो उसको सुखाने के लिए फिर से आप पहले वाला प्रयोग दोहराएं। यकीन मानिए इस तरह के प्रयोग करते-करते आप मोबाइल की लत से आजाद हो जाएंगे और जब फोन ही नहीं आएंगे तो आप चैन से जी पाएंगे। ना होगी किसी से चिक-चिक ना होगी लड़ाई, रीचार्ज कराने में बरबाद ना होगी कमाई, आंखों को मिलेगा मोबाइल पर एसएमएस पढ़ने की झंझट से आराम, फेसबुक और व्हाट्सएप पर स्टेटस चैक करने की जगह कर सकेंगे आप दूसरे काम। ब्वॉयफ्रेंड को गर्लफ्रेंड नहीं करेगी परेशान और पत्नी भी पति को अब नहीं बता सकेगी कोई काम। मोबाइल पर बॉस की डांट से मिलेगी मुक्ती और बताइये   कैसी लगी आपको ये युक्ती...!! तो कुल मिलाकर जब मोबाइल के भीगने के इतने फायदे हैं, तो सूखे मोबाइल को रखने से बेहतर है कि मोबाइल को जानबूझकर पानी में डुबो दिया जाए....   उम्मीद है आपको एक्सपर्ट संता का ये तरीका पसंद आया होगा। फिर मिलेंगे नई समस्या के समाधान के साथ, तब तक के लिए नमस्कार...!! Collapse
    Share on facebook
  • बंता गया जब BAR में तो देखा एक आदमी का गुणा-भाग...

    बंता गया जब BAR में तो देखा एक आदमी का गुणा-भाग...
    बंता एक BAR में गया, वहां वो खुद को एक आदमी को नोटिस करने से रोक नहीं पाया।   बंता की आंखों देखी---- वो पट्ठा, BAR  में बैठकर कागज पर कुछ गुणा-भाग कर रहा... Expand
    बंता एक BAR में गया, वहां वो खुद को एक आदमी को नोटिस करने से रोक नहीं पाया।   बंता की आंखों देखी---- वो पट्ठा, BAR  में बैठकर कागज पर कुछ गुणा-भाग कर रहा था और पागलों की तरह हंस रहा था। . . मैंने पूछा: "भाई, तुम इतने खुश क्यों हो ?" . . उस आदमी ने कहा: " आजकल मेरी पत्नी डाइटिंग पर है और पिछले 4 दिनों में उसने 5 किलो वजन घटा लिया है।" . . मैंने पूछा: "तो इसमें हंसने वाली क्या बात है ?" . . उसने कहा: "भाई साहब, अभी-अभी मैंने कैलकुलेट किया है कि अगले 4 महीनों में, वह पूरी तरह से गायब हो जाएगी।"  . . बंता Shocked और आदमी Rocked.... Collapse
    Share on facebook
  • Yes It's Silly: Suicide के लिए बंता की कुछ फनी तरकीबें

    Yes It's Silly: Suicide के लिए बंता की कुछ फनी तरकीबें
    बंता सिंह- अगर आप मरना चाहते हैं, तो कुछ नए कारण व तरीके अपनाएं   1. अपने लैपटॉप में Win-XP ऑपरेटिंग सिस्टम डालें, BSNL का ब्रॉडबैंड लगाएं और इन्टरनेट... Expand
    बंता सिंह- अगर आप मरना चाहते हैं, तो कुछ नए कारण व तरीके अपनाएं   1. अपने लैपटॉप में Win-XP ऑपरेटिंग सिस्टम डालें, BSNL का ब्रॉडबैंड लगाएं और इन्टरनेट एक्सप्लोरर ब्राउजर पर IRCTC की वेबसाइट पर तत्काल टिकट बुक करने का प्रयास करें, यकीन मानिए आप आत्महत्या कर लेंगे। 2. किसी म्यूजिक स्टोर से अनु मालिक व अल्ताफ राजा के गानों की CD ले आइये और उन्हें रातभर एक बंद कमरे में बैठकर लगातार सुनें, 100% गारंटी है सुबह आप इस दुनिया से उठ चुके होंगे। 3. रविवार के दिन आराम से घर में बैठकर सुबह 9 बजे से शाम के 5 बजे तक टीवी पर नॉनस्टॉप दिखाया जाने वाला शो "CID" देखें, सोमवार को आपके जनाजे में हम भी शिरकत करेंगे। 4. अगर आप तड़प-तड़प कर मरना चाहते हैं, तो इन्टरनेट से दिग्विजय सिंह के सभी भाषणों को डाउनलोड कीजिये और रोज, रात को कोई एक भाषण सुनिए, कसम दिग्गी राजा की आप तड़प-तड़प के मरेंगे। 5. अगर आप हंस-हंस के मरना चाहते हैं, तो आप दो दिन लगातार बैठ कर राहुल गांधी जी का भाषण या इंटरव्यू नॉनस्टॉप सुनते जाएं आप बस हंसते-हंसते इस दुनिया को अलविदा कहेंगे। 6. अगर आप झल्लाहट से मरना चाहते हैं, तो बाज़ार जाकर दीपक तिजोरी, आदित्य पंचोली, राहुल रॉय व उदय चोपड़ा अभिनीत फिल्मों की DVD ले आइए और खुद को एक कुर्सी पर रस्सी से बांधकर फिल्में देखें। आपकी जान निकल जाएगी। Collapse
    Share on facebook
  • BIG HIT: संता की बीवी को घूरा जब एक शख्स ने बाजार में...

    BIG HIT: संता की बीवी को घूरा जब एक शख्स ने बाजार में...
    बाजार में संता, बीवी के साथ   एक बार संता के साथ उसकी बीवी बाजार घूमने गई, रास्ते में उसकी बीवी बोली: देखो ना, उस आदमी को. कैसे मुझे लगातार घूरे जा रहा... Expand
    बाजार में संता, बीवी के साथ   एक बार संता के साथ उसकी बीवी बाजार घूमने गई, रास्ते में उसकी बीवी बोली: देखो ना, उस आदमी को. कैसे मुझे लगातार घूरे जा रहा है! . . संता बोला: डार्लिंग! वह तो कबाड़ी वाला है, बेकार माल पर नजर रखना उसकी आदत है! ........................................   जुरासिक पार्क और संता एक बार संता सिनेमा हॉल में बंता के साथ जुरासिक पार्क फिल्म देखने गया, जब डायनासोर दौड़कर आने लगा तो वह सीट के नीचे छुपने लगा। . . बंता: क्या हुआ यार, डर क्यों रहा है ? सिनेमा ही तो है ! . . संता: आदमी हूं, मेरे अंदर अक्ल भी है ! पता है कि सिनेमा है लेकिन वह तो जानवर है, उसको क्या पता! Collapse
    Share on facebook
  • बंता डॉक्टर का किस्सा और संता आशिक का प्रपोजल.......

    बंता डॉक्टर का किस्सा और संता आशिक का प्रपोजल.......
    बंता डॉक्टर के पास एक मरीज आया और बोला- डॉक्टर साहब, मुझे हर चीज दो-दो दिखाई देती हैं.... . . . कुछ इलाज बताइये। . . .  बंता डॉक्टर- अरे अरे, तुम चारों एक साथ... Expand
    बंता डॉक्टर के पास एक मरीज आया और बोला- डॉक्टर साहब, मुझे हर चीज दो-दो दिखाई देती हैं.... . . . कुछ इलाज बताइये। . . .  बंता डॉक्टर- अरे अरे, तुम चारों एक साथ कैसे आ गए..? एक-एक करके आओ....!! .................................................. संता ने एक लड़की को प्रपोज करते हुए कहा- आई लव यू....   .   .   . लड़की ने थप्पड़ मारते हुए कहा- 'क्या कहा तेरी तो- क्या बोला...क्या बोला...?' .   .   . संता- अरे....अरे.... जब सुना नहीं तो मारा क्यों....?? Collapse
    Share on facebook
  • BIG HIT: पप्पू ने बताई जब पत्नी को सरकारी योजना वाली बात...

    BIG HIT: पप्पू ने बताई जब पत्नी को सरकारी योजना वाली बात...
    पप्पू के 4 बच्चे थे, एक दिन उसने अखबार में पढ़ा कि ऐसे व्यक्ति जिनके 5 या अधिक बच्चे हैं, सरकार उन्हें 20000 रुपया महीना देगी। यह खबर पप्पू ने अपनी... Expand
    पप्पू के 4 बच्चे थे, एक दिन उसने अखबार में पढ़ा कि ऐसे व्यक्ति जिनके 5 या अधिक बच्चे हैं, सरकार उन्हें 20000 रुपया महीना देगी। यह खबर पप्पू ने अपनी पत्नी को दिखाई और बोला-“अगर तुम नाराज़ न हो तो  तुमसे एक बात कहूं … ?” पत्नी – “नहीं होऊंगी …कहो !” पप्पू - “मुझे मेरी गर्ल-फ्रेंड से भी एक बच्चा है …तुम कहो तो उसे भी अपने घर ले आऊं …  हमें ये 20000 रुपए हर महीने मिलने लगेंगे !” पत्नी-“ठीक है …ले आओ !” पप्पू खुशी-खुशी बच्चे को लेने चला गया, जब वह बच्चे को लेकर वापस लौटा तो देखा कि  उसके 2 बच्चे गायब हैं। उसने पत्नी से पूछा-“मुन्नू और चुन्नू कहां गए ?” पत्नी-“जिसके थे वो ले गया …  अब अखबार कोई ऐसी चीज़ तो है नहीं कि अकेले तुम्हारे ही घर में आती हो ?” Collapse
    Share on facebook
  • From The Web: पर आपके घर में तो स्विमिंग पूल नहीं है, नौकरानी ने कहा...!!

    From The Web: पर आपके घर में तो स्विमिंग पूल नहीं है, नौकरानी ने कहा...!!
    एक आदमी ने अपने घर पर फोन किया तो फोन पर एक अनजान महिला की आवाज आई। वह घर की नई नौकरानी थी।  आदमी- आप कौन?  नौकरानी- मैं घर की नौकरानी बोल रही हूं। ... Expand
    एक आदमी ने अपने घर पर फोन किया तो फोन पर एक अनजान महिला की आवाज आई। वह घर की नई नौकरानी थी।  आदमी- आप कौन?  नौकरानी- मैं घर की नौकरानी बोल रही हूं।  आदमी- लेकिन हमारे घर में तो कोई नौकरानी नहीं है।  नौकरानी- मुझे घर की मालकिन ने आज सुबह ही नौकरी पर रखा है।  आदमी- अच्छा ठीक है। इस वक्त तुम्हारी मालकिन कहां हैं? मुझे उनसे बात करनी है।  नौकरानी- वह तो बेडरूम में हैं, अपने पति के साथ।  आदमी(गुस्से में)- क्या? पति के साथ? पर उसका पति तो मैं हूं...! अच्छा तो सुनो क्या तुम पचास हजार रुपए कमाना चाहोगी?  नौकरानी- हां,पर मुझे करना क्या होगा?  आदमी- तुम मेरी अलमारी से बंदूक निकालो और उस औरत उसके साथ जो आदमी है, उसे गोली से उड़ा दो।  (नौकरानी ने फोन नीचे रख दिया। आदमी ने पहले कदमों की और फिर दो गोलियां चलने की आवाज फोन पर सुनी। फिर नौकरानी ने वापस फोन उठाया।)  नौकरानी- इन लाशों का क्या करूं?  आदमी-उन्हें स्वीमिंगपूल में डाल दो।  नौकरानी- पर आपके घर में तो स्विमिंग पूल नहीं है।  आदमी- क्या यह 2451452 है?  नौकरानी- नहीं यह तो 2451451 है।  आदमी- ओह सॉरी, रॉन्ग नंबर..!  Collapse
    Share on facebook
  • Yes, It\'s Silly: रोज-रोज की किट-किट से परेशान हो पति ने खाया जहर...

    Yes, It\'s Silly: रोज-रोज की किट-किट से परेशान हो पति ने खाया जहर...
    एक बार पति और पत्नी में लड़ाई हो जाती है, तो पति परेशान होकर आत्महत्या करने के इरादे से एक बोतल जहर ले आता है।  . . पति- मैं तुम्हारी रोज की किटकिट से... Expand
    एक बार पति और पत्नी में लड़ाई हो जाती है, तो पति परेशान होकर आत्महत्या करने के इरादे से एक बोतल जहर ले आता है।  . . पति- मैं तुम्हारी रोज की किटकिट से परेशान होकर जान दे रहा हूं। . .  लेकिन जहर खाने के बाद भी पति की मौत होने के बजाय उसकी तबीयत खराब हो जाती है। . .  पत्नी (गुस्से में)-तुम कोई काम ढंग से नहीं कर सकते, सौ बार तुमसे कहा है कि चीजें देखकर खरीदा करो। पैसे भी गए और जिस काम के लिए ज़हर लाए थे, वह भी नहीं हुआ।  Collapse
    Share on facebook
  • Poetic Fun: पति-पत्नी की खटपट,पत्नी का चेहरा देख पति सो गया...

    Poetic Fun: पति-पत्नी की खटपट,पत्नी का चेहरा देख पति सो गया...
    रात को करवटें बदलते  पति को देखकर,  पत्नी ने पति को हिलाया  और फरमाया।  क्योंजी किसके ख्यालों में डूबे हो  कि सो भी नहीं पा रहे हो?  पत्नी का... Expand
    रात को करवटें बदलते  पति को देखकर,  पत्नी ने पति को हिलाया  और फरमाया।  क्योंजी किसके ख्यालों में डूबे हो  कि सो भी नहीं पा रहे हो?  पत्नी का शिकायती चेहरा देख  पति कुछ अनमना हो गया,  बेचारा कुछ देर बाद  झूठ-मूठ ही सो गया।  दूसरे दिन पति रात को  खर्राटे भर सो रहा था,  पत्नी को उसकी नींद में  डिस्टर्ब हो रहा था।  पत्नी ने पति को हिलाया,  और जगाकर फरमाया।  क्योंजी, बड़ी गहरी नींद में हो,  किस चुड़ैल के सपने देख रहे हो?  कल करवटें बदल रहे थे,  आज खर्राटें लेकर सो रहे हो!  इस बार पति ने मुंह खोला,  'अरी भाग्यवान तेरी सूरत  देख ही मेरी नींद उड़ जाती है,  और नींद में होता हूं तो तू  सपनों में भी हुक्म चलाती है,  मजाल है कि तेरे सिवा,  कोई दूसरी सपनों में आती है,  यानी तू खुद को ही चुड़ैल बताती है?  Collapse
    Share on facebook
  • 3 JOKES: 20 साल बाद की जब पति ने पत्नी के खाने की तारीफ

    3 JOKES: 20 साल बाद की जब पति ने पत्नी के खाने की तारीफ
    एक आदमी की शादी को बीस साल हो गए उसने कभी अपनी पत्नी के हाथ से बने खाने की तारीफ नहीं की। उसको एक बाबा जी ने सलाह दी कि पत्नी के खाने की तारीफ करो कृपा... Expand
    एक आदमी की शादी को बीस साल हो गए उसने कभी अपनी पत्नी के हाथ से बने खाने की तारीफ नहीं की। उसको एक बाबा जी ने सलाह दी कि पत्नी के खाने की तारीफ करो कृपा होगी  बाबा की बात उस पर असर कर गई और घर आकर पराठे खाकर उसने तारीफ की बरसात कर दी  पत्नी बेलन उठाकर बोली- बीस साल से मेरे खाने की तारीफ नहीं की और आज पड़ोसन ने पराठे भेज दिए तो तुम्हे ज़िन्दगी का मज़ा आ गया पति मन में ही बोला बाबा कृपा हो गई.... --------- दो महिलाएं कुछ समय बाद मिलीं तो एक ने पूछा - बहन आपने राजू बेटे का उंगली चूसना कैसे छुड़ाया ? दूसरी महिला- कुछ खास नहीं उसकी नेकर ढीली सिल दी हैं , वह उसे ही पकड़े रहता है। ................. अध्यापक ने छात्र से कहा- आज रात में मेरे घर में शेर घुस आया था। मैंने उसके ऊपर ठंडा पानी डाल दिया,तब वह डर की वजह से भाग खडा हुआ। छात्र-आप बिलकुल ठीक कह रहे हैं, वह खांसता हुआ मेरे पिताजी से खांसी की दवा मांग रहा था Collapse
    Share on facebook
  • Emotional Card: पति की आपबीती जब उसने अदालत में जज को सुनाई

    Emotional Card: पति की आपबीती जब उसने अदालत में जज को सुनाई
    एक आदमी को पत्नी के साथ मारपीट करने के जुर्म में अदालत में पेश किया गया। . . जज ने पति की जुबानी पूरी घटना ध्यान से सुनी और भविष्य में अच्छा व्यवहार करने... Expand
    एक आदमी को पत्नी के साथ मारपीट करने के जुर्म में अदालत में पेश किया गया। . . जज ने पति की जुबानी पूरी घटना ध्यान से सुनी और भविष्य में अच्छा व्यवहार करने की चेतावनी देकर छोड़ दिया। . . अगले ही दिन आदमी ने पत्नी को फिर मारा और फिर अदालत में पेश किया गया। . . जज ने कड़क होकर पूछा-“तुम्हारी दुबारा ऐसा करने की हिम्मत कैसे हुई ? अदालत को मजाक समझते हो ?” . . आदमी ने अपनी सफाई में जज को बताया-नहीं हुजूर, आप मेरी पूरी बात सुन लीजिए। . . कल जब आपने मुझे छोड़ दिया तो अपने- आपको रिफ्रेश करने के लिए मैंने थोड़ी सी शराब पी ली। जब उससे कोई फर्क नहीं पड़ा तो थोड़ी-थोड़ी करके मैं पूरी बोतल पी गया। पीने के बाद जब मैं घर पहुंचा तो पत्नी चिल्ला कर बोली-“कालिया, आ गया नाली का पानी पीकर !” . . हुजूर, मैंने चुपचाप सुन लिया और कुछ नहीं कहा...... फिर वह बोली- “निकम्मे, कुछ काम धंधा भी किया कर या केवल पैसे बर्बाद करने का ही ठेका ले रखा है … !” . . हुजूर, मैंने फिर भी कुछ नहीं कहा और सोने के लिए अपने कमरे में जाने लगा। वह पीछे से फिर चिल्लाई-“अगर उस जज में थोड़ी सी भी अक्ल होती तो तू आज जेल में होता … !!!” बस हुजूर, अदालत की तौहीन मुझसे बर्दाश्त नहीं हुई ….और...... मैंने इसे...जमकर...!! . . फिर क्या था केस ख़ारिज.. पति बाइज्ज़त बरी.. Collapse
    Share on facebook
  • From The Web: पत्नी को बताया डॉक्टर ने पति के इलाज का नुस्खा...

    From The Web: पत्नी को बताया डॉक्टर ने पति के इलाज का नुस्खा...
    इलाज का नुस्खा   गंभीर रूप से बीमार पति को लेकर पत्नी डॉक्टर के पास गई। . . अच्छे से देखने के बाद डॉक्टर ने पति को बाहर जाने को कहा.... . . पति के बाहर... Expand
    इलाज का नुस्खा   गंभीर रूप से बीमार पति को लेकर पत्नी डॉक्टर के पास गई। . . अच्छे से देखने के बाद डॉक्टर ने पति को बाहर जाने को कहा.... . . पति के बाहर जाने के बाद वह पत्नी से बोला, 'आपके पति की बीमारी शारीिरक होकर मानसिक है। इसलिए उन्हें रोज अच्छा खाना दीिजए, हंस-हंस कर बातें कीजिए, उनके सामने घर की समस्याओं की चर्चा जरा भी मत कीजिए, टीवी सीरियल देखना बंद कर दीजिए, उनके सामने शॉपिंग की बात भी मत कीिजए। ये सब करने पर आपके पति तीन महीनों में ठीक हो जाएंगे।' . . . घर लौटते समय पति ने पत्नी से पूछा, 'क्या कहा डॉक्टर ने?' पत्नी ने जवाब दिया, 'उसने कहा कि आपका बचना मुश्किल है।'  Collapse
    Share on facebook
  • शादी के बाद पत्नी और पति किस तरह बदलते हैं......

    शादी के बाद पत्नी और पति किस तरह बदलते हैं......
    शादी के बाद पत्नी कैसे बदलती है,जरा गौर कीजिए: पहले साल: मैंने कहा जी खाना खा लीजिए, आपने काफी देर से कुछ खाया नहीं। दूसरे साल: जी खाना तैयार है, लगा दूं?..... Expand
    शादी के बाद पत्नी कैसे बदलती है,जरा गौर कीजिए: पहले साल: मैंने कहा जी खाना खा लीजिए, आपने काफी देर से कुछ खाया नहीं। दूसरे साल: जी खाना तैयार है, लगा दूं?.. तीसरे साल: खाना बन चुका है, जब खाना हो तब बता देना।.. चौथे साल: खाना बनाकर रख दिया है, मैं बाजार जा रही हूं, खुद ही निकालकर खा लेना। पांचवे साल: मैं कहती हूं आज मुझसे खाना नहीं बनेगा, होटल से ले आओ। .. छठे साल: जब देखो खाना, खाना और खाना,अभी सुबह ही तो खाया था।:. शादी के बाद पति कैसे बदलते है,जरा गौर कीजिए: पहले साल: jaanu संभलकर उधर गड्ढा हैं ... दूसरे साल : अरे यार देख के उधर गड्ढा हैं .. तीसरे साल : दिखता नहीं उधर गड्ढा हैं .. चौथे साल : अंधी हैं क्या गड्ढा नहीं दिखता पांचवे साल : अरे उधर -किधर मरने जा रही हैं गड्ढा तो इधर हैं .. Collapse
    Share on facebook
  • Yes It's Silly: हीरोइन को बचाओ!

    Yes It's Silly: हीरोइन को बचाओ!
    एक हीरोइन 15वीं मंजिल पर स्थित अपने फ्लैट की बालकनी से रेलिंग पर खड़ी होकर अपने प्रशंसकों का अभिवादन कर रही थी कि अचानक संतुलन खो बैठी और नीचे गिरने लगी।... Expand
    एक हीरोइन 15वीं मंजिल पर स्थित अपने फ्लैट की बालकनी से रेलिंग पर खड़ी होकर अपने प्रशंसकों का अभिवादन कर रही थी कि अचानक संतुलन खो बैठी और नीचे गिरने लगी। 12वीं मंजिल की रेलिंग पर खड़े एक नौजवान ने उसे रास्ते में ही पकड़ लिया और पूछा, 'मुझसे शादी करोगी?' 'कभी नहीं', हीरोइन ने नफरत से जवाब दिया। 'तो जाओ मरो!' कहकर नौजवान ने उसे छोड़ दिया और वह फिर नीचे गिरने लगी। 10वीं मंजिल पर खड़े एक अधेड़ ने हाथ बढ़ाकर उसे फिर पकड़ लिया और पूछा, 'मेरी गर्लफ्रेंड बनोगी?' 'बिल्कुल नहीं!' हीरोइन का इतना कहना था कि इस आदमी ने भी उसे छोड़ दिया। बेचारी हीरोइन को अब मौत साक्षात नजर आने लगी। वह ईश्वर से एक और मौका देने की प्रार्थना करने लगी कि तभी आठवीं मंजिल पर खड़े एक आदमी ने उसका हाथ पकड़ लिया। 'मैं तुमसे शादी कर लूंगी! मैं तुम्हारी गर्लफ्रेंड बनूंगी! जो तुम कहोगे वह करूंगी।' हीरोइन आदमी के कुछ बोलने के पहले ही घबराकर कहने लगी। 'नहीं-नहीं, बचाओ!' कहकर आदमी ने उसका हाथ छोड़ दिया। Collapse
    Share on facebook
  • नेता जी की कविता: हर कोई सपने दिखाकर आम आदमी को ठग रहा है...

    नेता जी की कविता: हर कोई सपने दिखाकर आम आदमी को ठग रहा है...
    AAM AADMI पार्टी के सांसद भगवंत मान ने संसद में बजट पर बहस के दौरान एक कविता पढ़ी, जो सोशल मीडिया पर खूब शेयर की जा रही है।   संगरूर से आम आदमी पार्टी के... Expand
    AAM AADMI पार्टी के सांसद भगवंत मान ने संसद में बजट पर बहस के दौरान एक कविता पढ़ी, जो सोशल मीडिया पर खूब शेयर की जा रही है।   संगरूर से आम आदमी पार्टी के सांसद की कविता,   ‘अच्छे दिन कब आने वाले हैं’....... पहले किराया बढ़ाया रेल का फिर नंबर आया तेल का ख़ुद ही दस साल करते रहे नुक्ताचीनी आते ही दो रुपए किलो महंगी कर दी चीनी हर कोई सपने दिखाकर आम आदमी को ठग रहा है आम आदमी को अब डर चीन से नहीं, चीनी से लग रहा है दुनिया मून पर, सरकार हनीमून पर पूछ रहे सारे देश के चायवाले हैं महँगाई की वजह से खाली चाय के प्याले हैं लोगों को दो वक़्त की रोटी के लाले हैं सरकार जी बता दीजिए, अच्छे दिन कब आने वाले हैं शायद पता नहीं कि इराक है किस इलाके में भारतीय इराक में फंसे हैं, सुषमा जी गई थीं ढाके में हमारे देश के लोग बहुत हिम्मतवाले हैं जिन्होंने महंगाई के दौर में बच्चे पाले हैं लूटने वाले ज़्यादा, बस गिनती के रखवाले हैं सरकार जी प्लीज़, बता दीजिए अच्छे दिन कब आने वाले हैं मेरे सपने में कल रात बुलेट ट्रेन आई मैंने कहा, बधाई हो जी बधाई सुना है तुम मेरे देश आ रही हो, तरक्की की स्पीड बढ़ा रही हो बुलेट ट्रेन बोली, मेरा शिकवा किसी गाय या भैंस से नहीं अरे, मैं बिजली से चलती हूं, गोबर गैस से नहीं प्रधानमंत्री मोदी जी के भाषण लोगों को खूब जंचे हैं विदेश से काला धन आने में पचास दिन बचे हैं हम तो आम आदमी पार्टी वाले हैं हमने तो हर सरकार से डंडे खा ले हैं हमने तो सड़कों पर और पार्लियामेंट में ये पूछने के लिए मोर्चे संभाले हैं अच्छे दिन कब आने वाले हैं? Collapse
    Share on facebook
  • POETIC FUN: करना मुझको माफ, तुम्हें मैं प्यार नहीं दे पाऊंगा !

    POETIC FUN:  करना मुझको माफ, तुम्हें मैं प्यार नहीं दे पाऊंगा !
    तुम कंप्यूटर युग की छोरी, मन की काली तन की गोरी, किंचित अपनी बाहों का गल हार नहीं दे पाऊंगा।। तुम करना मुझको माफ़, तुम्हें मैं प्यार नहीं दे पाऊंगा।... Expand
    तुम कंप्यूटर युग की छोरी, मन की काली तन की गोरी, किंचित अपनी बाहों का गल हार नहीं दे पाऊंगा।। तुम करना मुझको माफ़, तुम्हें मैं प्यार नहीं दे पाऊंगा। तुम फैशन टी.वी.सी लगती हो, मैं संस्कार का चैनल हूं, तुम बंद बिसलेरी की बोतल, मैं गंगा का पावन जल हूं, तुम करो मारुती की मांगे, मैं पांव-पांव चलने वाला, तुम हैलोजन सी जलती हो, मैं दीपक सा जलने वाला, तो तुमको ये चमक धमक वाला, संसार नहीं दे पाऊंगा।। तुम करना मुझको माफ़ तुम्हें,  मैं प्यार नहीं दे पाऊंगा।। तुम पॉप म्यूजिक सी बजती, मैं बंसी की धुन का धुनिया, मुझ पर डॉट कॉम भी न, तुम पर इंटरनेटी दुनिया, तुम मोबाइल के मेसेज सी, मैं पोस्टकार्ड लिखने वाला, तुम टेडी बेयर सी लगती, मैं गुब्बारा उड़ने वाला, तो तुमको भौतिक सुख साधन संचार नहीं दे पाऊंगा।। तुम करना मुझको माफ़ तुम्हें मैं प्यार नहीं दे पाऊंगा।। तुम क्लॉक अलारम से न जगो, मैं गौ गायन से जगता हूं, तुम डिस्को की धुन पर नाचो, मैं राम नाम ही जपता हूं,  तुम डैडी को अब डैड कहो, मम्मी को ममी बताती हो, तुम करवा चौथ भूल बैठी, अब वैलेंटाइन मानती हो, तो तुम्हे तुम्हारे स्वप्नों का त्यौहार नहीं दे पाऊंगा, तुम करना मुझको माफ़ तुम्हें, मैं प्यार नहीं दे पाऊंगा।। तुम रैम्प पे देह दिखाती हो, मैं संस्कार में जीता हूं, जब तुम्हे देख बजती सीटी, मैं घूंट लहू का पीता हूं, तुम सदा स्वप्न में जीती हो, मैं हूं यथार्थ जीने वाला, तुम सूप सुंदरी पीती हो, मैं हूं मट्ठा पीने वाला, तो तुम्हे और तुम्हारे सौंदर्य को श्रृंगार नहीं दे पाऊंगा।। तुम करना मुझको माफ तुम्हें मै प्यार नहीं दे पाऊंगा..।।   मोनिका शर्मा के फेसबुक वॉल से साभार Collapse
    Share on facebook
  • Yes, It\'s Silly : कंजूस पति का रिप्लाय और टीचर का पकाऊ सवाल...

    Yes, It\'s Silly : कंजूस पति का रिप्लाय और टीचर का पकाऊ सवाल...
    पकाऊ तिकड़ी  पत्नीने पति को एसएमएस किया, 'कितनी देर में रहे हो?' कंजूस पति ने रिप्लाय किया, 'वैसे तो 20-25 मिनट में रहा हूं, लेकिन फिर भी देर हो जाए तो यही... Expand
    पकाऊ तिकड़ी  पत्नीने पति को एसएमएस किया, 'कितनी देर में रहे हो?' कंजूस पति ने रिप्लाय किया, 'वैसे तो 20-25 मिनट में रहा हूं, लेकिन फिर भी देर हो जाए तो यही मैसेज फिर से पढ़ लेना।'  ***  टीचर-मान लो तुम्हारा दोस्त और तुम्हारी गर्लफ्रेंड एक कश्ती में सवार हैं और डूबने लगते हैं तो बताओ तुम किसे बचाओगे?  छात्र-किसीको नहीं। मरने दो दोनों को।  टीचर-क्यों?  छात्र-स्साले दोनों एक साथ एक कश्ती में घूमने गए कैसे?  ***  दो बदमाश बैंक लूटने की योजना बना रहे थे।  पहला बदमाश - देखोतुम बैंक में घुसना, जो कोई भी तुम्हारे रास्ते में आए, उसे गोली मार देना। फिर कैशिअर को बंदूक दिखाकर सारा माल झपटना और उसे गोली मार देना। मैं बैंक के बाहर कार में तुम्हारा इंतजार करूंगा। असली जोखिम का काम तो मेरा है।  दूसरा बदमाश - वाह!बैंक में घुसूंगा मैं, गोली मारूंगा मैं, माल लूटूंगा मैं और तुम कहते हो कि जोखिम का काम तो तुम्हारा है?  पहला बदमाश - यार,मुझे कार चलानी नहीं आती न!  Collapse
    Share on facebook
  • 2 JOKES: बॉस के सामने मंगलू ने बनाए छुट्टी के लिए ऐसे बहाने

    2 JOKES: बॉस के सामने मंगलू ने बनाए छुट्टी के लिए ऐसे बहाने
    छुट्‌टी का कारण  मंगलू छुट्‌टी मांगने अपने बॉस के पास गया और बोला, ‘साहब छुट्टी चाहिए, पिताजी गुजर गए हैं।’ बॉस ने कहा, ‘ओह, ठीक है जाओ।’ कुछ... Expand
    छुट्‌टी का कारण  मंगलू छुट्‌टी मांगने अपने बॉस के पास गया और बोला, ‘साहब छुट्टी चाहिए, पिताजी गुजर गए हैं।’ बॉस ने कहा, ‘ओह, ठीक है जाओ।’ कुछ महीनों बाद मंगलू फिर से बॉस के पास आया और बोला, ‘साहब छुट्टी चाहिए, माताजी गुजर गई हैं।’ बॉस ने छुट्टी मंजूर करते हुए कहा, ‘ओह, बुरा हुआ! ठीक है जाओ।’ इसी तरह मंगलू ने कभी मां मर गई, तो कभी पिताजी गुजर गए कहते हुए कई बार छुट्टी ले ली। अगली बार जब वह छुट्टी लेने गया तो बॉस ने गुस्से में पूछा, ‘आखिर कितने मां-बाप हैं तुम्हारे?’ मंगलू ने बड़ी मासूमियत से जवाब दिया, ‘क्या करूं साहब, जब पिताजी मरते हैं, तो मां दूसरी शादी कर लेती है और जब मां मरती है तो पिताजी दूसरी शादी कर लेते हैं!’    दोसे तीन!  शादीके कुछ महीनों बाद एक दिन पति ऑफिस से लौटा तो पत्नी ने कहा, ‘मुझे तुम्हें कुछ बताना है। अब हम इस घर में दो से तीन होने वाले हैं।’ इतना सुनते ही पति खुशी से झूम उठा और उसने पत्नी को गले लगा लिया। यह देखकर पत्नी बोली, ‘यह बात सुनकर तुम इतना खुश हुए यह देखकर मुझे बड़ा सुकून मिला। अब यह बताओ कि मम्मी को स्टेशन लेने तुम जाओगे या मैं?’  Collapse
    Share on facebook
  • POETIC FUN: बचपन वाला वो \'रविवार\' अब नहीं आता

    POETIC FUN: बचपन वाला वो \'रविवार\' अब नहीं आता
    90 का दूरदर्शन और हम - 1.संडे को सुबह-सुबह नहा-धोकर टीवी के सामने बैठ जाना.. 2."रंगोली"में शुरू में पुराने फिर नए गानों का इंतज़ार करना..... Expand
    90 का दूरदर्शन और हम - 1.संडे को सुबह-सुबह नहा-धोकर टीवी के सामने बैठ जाना.. 2."रंगोली"में शुरू में पुराने फिर नए गानों का इंतज़ार करना.. 3."जंगल-बुक"देखने के लिए जिन दोस्तों के पास टीवी नहीं था उनका घर पर आना.. 4."चंद्रकांता"की कास्टिंग से ले कर अंत तक देखना.. 5.हर बार सस्पेंस बना कर छोड़ना चंद्रकांता में और हमारा अगले हफ्ते तक सोचना.. 6.शनिवार और रविवार की शाम को फिल्मों का इंतजार करना.. 7.किसी नेता के मरने पर कोई सीरियल ना आए तो उस नेता को और कोसना... 8.सचिन के आउट होते ही टीवी बंद करके खुद बैट-बॉल ले कर खेलने निकल जाना.. 9."मूक-बधिर"समाचार में टीवी एंकर के इशारों की नक़ल करना... 10.कभी हवा से ऐन्टेना घूम जाये तो छत पर जा कर ठीक करना... बचपन वाला वो 'रविवार' अब नहीं आता, दोस्त पर अब वो प्यार नहीं आता। जब वो कहता था तो निकल पड़ते थे बिना घड़ी देखे, अब घडी में वो समय वो वार नहीं आता। बचपन वाला वो 'रविवार' अब नहीं आता...।।। वो साइकिल अब भी मुझे बहुत याद आती है, जिसपे मैं उसके पीछे बैठ कर खुश हो जाया करता था। अब कार में भी वो आराम नहीं आता...।।। जीवन की राहों में कुछ ऐसी उलझी है गुत्थियां, उसके घर के सामने से गुजर कर भी मिलना नहीं हो पाता...।।। वो 'मोगली' वो 'अंकल Scrooz', 'ये जो है जिंदगी' 'सुरभि' 'रंगोली' और 'चित्रहार' अब नहीं आता...।।। रामायण, महाभारत, चाणक्य का वो चाव अब नहीं आता, बचपन वाला वो 'रविवार' अब नहीं आता...।।। अब हर वार 'सोमवार' है काम, ऑफिस, बॉस, बीवी, बच्चे; बस ये जिंदगी है। दोस्त से दिल की बात का इज़हार नहीं हो पाता। बचपन वाला वो 'रविवार' अब नहीं आता...।।। बचपन वाला वो 'रविवार' अब नहीं आता...।।।   हेमंत माहोर की फेसबुक वॉल से साभार Collapse
    Share on facebook
  • फेसबुक REALITY FUN : बस की छत पर चट कर गए मिठाइयां...

    फेसबुक REALITY FUN : बस की छत पर चट कर गए मिठाइयां...
    भीलवाड़ा-गंगापुर की निजी बस में एक बहुत मजेदार घटना हुई। बस में काफी भीड़ थी तो कंडक्टर ने कुछ यात्रियों के पीपे और डिब्बे बस की छत पर रख दिए..  . थोड़ी... Expand
    भीलवाड़ा-गंगापुर की निजी बस में एक बहुत मजेदार घटना हुई। बस में काफी भीड़ थी तो कंडक्टर ने कुछ यात्रियों के पीपे और डिब्बे बस की छत पर रख दिए..  . थोड़ी देर में भीड़ बढ़ी तो बस की छत भी भर गई। . किसी शरारती युवक ने नीचे बैठे यात्रियों के पीपे और डिब्बे खोल दिए, जिनमें मिठाइयां और दूसरा खाने का सामान था और ऊपर बैठे यात्रियों ने जमकर मिठाइयो का मजा लिया.. . जब गंगापुर में बस रुकी और जिनके पीपे और डिब्बे थे उन्होंने उपर से उतारे तो हंगामा खड़ा हो गया। . . . वो चिल्लाने लगे "सालों कमीनों हम भिखमंगो का भी नहीं छोड़ा, बड़ी मुश्किल से 3 घंटे मेहनत करके शादी की जूठी प्लेटो से बीन बीन कर खाना लाये थे और साले ऊपर बैठ कर सब चट कर गए" !! .................. एक और हिट... यदि पुरुष शादी के बाद भी वैसा ही व्यवहार किया करें जैसा वे शादी के पहले किया करते हैं, तो दुनिया में होने वाले तलाकों की संख्या आधी रह जाए…. दूसरी तरफ...... . . . यदि महिलाएं शादी के पहले से ही वैसे ही व्यवहार किया करें जैसा वे शादी के बाद किया करतीं हैं, तो दुनिया में होने वाली शादियों की संख्या भी आधी रह जाए...!!   . रमाकांत शर्मा की फेसबुक वॉल से साभार... Collapse
    Share on facebook
  • From The Web -फिल्मों से सीख लो, पांच चीजें दुनिया की Films में...

    From The Web -फिल्मों से सीख लो, पांच चीजें दुनिया की Films में...
    फिल्में हमारी जिंदगी का अहम हिस्सा हैं और इनसे जहां हमें एंटरटेनमेंट मिलता है, वहीं बहुत कुछ सीखने को मिलता है। अरे भाई यहां हम कोई पढ़ने-लिखने की बात... Expand
    फिल्में हमारी जिंदगी का अहम हिस्सा हैं और इनसे जहां हमें एंटरटेनमेंट मिलता है, वहीं बहुत कुछ सीखने को मिलता है। अरे भाई यहां हम कोई पढ़ने-लिखने की बात नहीं कर रह, बल्कि कुछ मजेदार चीजों पर नजर डालने की बात कर रहे हैं, जो हमें सिर्फ इंडियन सिनेमा से ही नहीं बल्कि दुनियाभर की फिल्मों से सीखने को मिलता है।   ....तो आइये देखें कि ऐसा क्या सीखने को मिलता है हमें दुनियाभर की फिल्मों से... 1. चाइनीज लोगों के पास कुंग-फू-कराटे करने और सिखाने के अलावा और कोई काम नहीं है।  2. अमेरिका की आधी से ज्यादा आबादी या तो एफबीआई/सीआईए एजेंट है या गुुप्त अभियान पर काम कर रही है।  3.अमेरिका के स्कूल सिस्टम का उद्देश्य बास्केट बॉल या बेसबॉल का प्रमोशन करना है।  4. एलियन्स को अमेरिका पर हमला करने में कुछ खास रुचि है।  5.अमेरिका ही एकमात्र जगह है, जहां आपको रूप बदलने वाले भेड़िए और वैम्पायर जैसे अजीबोगरीब जीव मिल सकते हैं।    पांच चीजें जो भारतीय फिल्में हमें सिखाती हैं -    1.जुड़वां बच्चों में से कम से कम एक बच्चा बुरा आदमी निकलता है।  2. बम निष्क्रिय करते समय आप कोई भी तार काटें, आपका चुनाव हमेशा सही निकलता है।  3. हीरो को गुंडों से पिटने पर कोई दर्द नहीं होता, लेकिन जब हीरोइन उसके घाव साफ करती है, तब जरूर उसे दर्द होगा।  4. कोई भी डिटेक्टिव तभी केस सॉल्व कर पाएगा, जब वह सस्पेंड हो जाएगा।  5. अगर आप बीच चौराहे पर डांस करने लगें तो जो भी आपको मिलेगा, उसे आपके डांस के स्टेप जरूर पता होंगे।  Collapse
    Share on facebook

हंसगुल्ले

विज्ञापन

BEST OF JOKES

Funny Videos

  • Funny MBA Dance :)
    Play Video
  • नींद एक्सप्रेस
    Play Video
  • Vikas and Akash
    Play Video
  • Indian Village Funny Dance In DJ Shaadi Hip Hop
    Play Video
  • Funny Fails
    Play Video
  • Indian Mario
    Play Video
  • ELECTIONS 2014 - Tayari Jeet Ki
    Play Video
  • चुनावी चकल्लस
    Play Video
  • best robot dancing ever unbelievable
    Play Video
  • अरविंद केजरीवाल पर चुटकी...
    Play Video
  • ठंडे-ठंडे पानी से नहाना चाहिए
    Play Video

घनचक्कर

FUNNY PICTURES

  • दया के घर आया बजट...
  • रेल बजट
  • मारिया और पोहा
  • महंगाई
  • ये दोस्ती
  • महंगाई गीत
  • सुपर आइडिया
  • झूला,झुलाने का बेहतरीन आइडिया...
  • आम आदमी का फोन..
  • रजनी स्टाइल

ONE LINER

LO KAR LO BAAT