आवरण कथा
Home >> Madhurima >> Cover Story
  • तीन पर टिकी है सेहत
    जब दिनचर्या में तीन चीज़ें हैं। इन तीन पर ही सबकुछ टिका है, इसलिए बाक़ी सब छोड़कर इनका ध्यान रखिए... छोटी-छोटी कोशिकाएं, उनसे मिलकर बने ऊतक, न सिर्फ़ हमारे शरीर को आकार देते हैं, बल्कि चौबीसों घंटे-सातों दिन विभिन्न शारीरिक व मानसिक प्रक्रियाओं को चलाए भी रखते हैं। इसके बदले में शरीर सिर्फ़ यही मांगता है कि हम एक नियमित और संतुलित दिनचर्या का पालन करें। अच्छे स्वास्थ्य के तीन ही तो मूल नियम हैं- संतुलित भोजन, नियमित नींद और शारीरिक सक्रियता। इनमें से एक को लेकर भी लापरवाही बरती, तो शारीरिक और...
    September 2, 02:51 PM
  • ख़ूबसूरत झूठ
    वह एक मां, एक बीवी, एक सास की ज़िम्मेदारी निभाते हुए परिवार की गाड़ी को कई ख़ूबसूरत झूठों की मदद से बीच में पड़ने वाले गड्ढों से बचाते हुए चलाती जाती है... छह बजने वाले थे। श्रीमान जी अलसाए-से, आराम से कुर्सी पर लेटे हुए थे। आज घूमने नहीं जाना है क्या? मैंने पूछा। वे सुस्त आवाज़ में बोले, आज मन नहीं है। क्यों? वो छोटे सरकार तो कब से जूते-मोज़े पहनकर तैयार खड़े हैं, दादा जी की राह देख रहे हैं। मैंने उन्हें सूचित किया। वे चिढ़कर बोले, उसी वजह से आज घूमना कैंसल कर दिया है। मैंने चौंककर पूछा, मतलब? मतलब तुम लोगों...
    September 2, 02:47 PM
  • बड़े काम की रूई
    छोटे-सा रूई का गोला बड़े-बड़े काम कर सकता है, जैसे... लम्बे समय तक इस्तेमाल न होने की वजह से रबर के दस्तानों की उंगलियां एक-दूसरे से चिपक जाती हैं। ऐसे में उंगलियों के भीतर रूई भर दें, ये नहीं चिपकेंगी। नल की टोंटी (ख़ासतौर पर पीली वाली) पर जब दाग़ जमने लगें, तो रूई के फाहे को सिरके व पानी के मिश्रण में डुबोएं और इसे दाग़ पर रख दें। बाद में सादे पानी से धो लें। ख़ुशबूदार तेल में रूई के फाहे डुबोएं और बाथरूम रैक के कोनों पर रख दें। सीलन व पुराने कपड़ों की बदबू से छुटकारा मिलेगा। रिमोट, इलेक्ट्रिक स्विच,...
    September 2, 02:43 PM
  • छोड़ें न ऐसी आदतें!
    सेहत को लेकर सिर्फ़ तरह-तरह के संकल्प ले लेने से कुछ नहीं होता। इस मामले में केवल एक ही बात मायने रखती है- आप अच्छे बदलावों के लिए ख़ुद को कितनी जल्दी व अच्छी तरह से तैयार कर पाते हैं। यह कर लिया, तो सेहतमंद विकल्पों को चुनकर एक स्वस्थ जीवनशैली का अनुसरण करना बहुत आसान है। इसके लिए अपनी बुरी आदतों का पता लगाकर, उन्हें अच्छी आदतों में तब्दील करना बहुत ज़रूरी है। थकान है, इसलिए एक चाय हो जाए कहते हैं, चाय पीने की आदत दफ़्तर में काम करने वालों को अधिक होती है। लेकिन घर पर रहने वाली महिलाएं व बुज़ुर्ग भी...
    September 2, 02:35 PM
  • कितने जुड़े कितने बिखरे
    मोबाइल पर झूठ बोलते लोगों को आपने देखा ही होगा। खड़े सड़क पर होंगे और कहेंगे घर पर हूं। इसी तरह मोबाइल की संदेश सेवाओं ने लोगों को बेअदब बना दिया है। संवाद के समूह बनाए जाते हैं। इसमें कौन बड़ा है, कितना अनुभवी है यह जाने बग़ैर, हर तरह के संदेश महज़ राय का नाम लेकर डाल दिए जाते हैं। बड़ों की सोहबत में जैसी बातें करना या हास-परिहास के क़िस्से सुनाना वर्जित था, वो अब बड़े मज़े से समूह में डाल दिए जाते हैं। आपत्ति करने वाला कौन है? कुतर्क और तर्क के बीच अब कोई फ़र्क़ नहीं। जिसे भला न लगे, वो समूह छोड़ने को...
    September 2, 02:26 PM
  • पीछा छोड़ेंगे मुंहासे...
    एक छोटा-सा भी मुंहासा उभर आए, तो उसे छुपाने की हम हर कोशिश करते हैं, लेकिन सब प्रयास बेकार ही जाते हैं। जानिए, इनसे बचने के लिए क्या कर सकते हैं... पहले ढूंढें असल वजह... वंशानुगत समस्या- मम्मी-पापा में से किसी एक या दोनों की त्वचा तैलीय है, तो बच्चों की त्वचा तैलीय होने की सम्भावना बढ़ जाती है। दरअसल, तैलीय त्वचा वाले लोगों की तेल ग्रंथियां अधिक मात्रा में तेल छोड़ती हैं और धूल, प्रदूषण के सम्पर्क में आने पर रोमछिद्रों मंे गंदगी आसानी से जमा होने लगती है। नतीजतन, कील-मंुहासे उभरते हैं। यदि आपकी त्वचा...
    September 2, 02:18 PM
  • कुछ कॉलेज विद्यार्थी, शिकोहाबाद टूण्डला से आगरा तक पढ़ने के लिए रोज़ लोकल ट्रेन से सफ़र करते हैं। अपनी उम्र के अनुसार ये काफ़ी शरारतें करते रहते हैं। कुछ समय पूर्व मैं आगरा से टूण्डला जा रही थी। हमारे डिब्बे में भी काफ़ी छात्र चढ़ गए थे। किसी स्टेशन पर एक वृद्ध महिला बड़ी-सी डलिया सिर पर रखकर हमारे डिब्बे में चढ़ीं। उनके डिब्बे में चढ़ते ही कुछ छात्र बोले, माई, जा डलिया कौं इते-उते काय रख रईं, जाकौ तो आराम से ऊपर बर्थ पर रख दियो, हम सब डलिया कौं देखत रैहें। वे कुछ नहीं बोलीं। उन छात्रों ने डलिया को ऊपर बर्थ...
    September 2, 12:00 AM
  • ज़ाएके संग बदलते गुण
    आपको तुरंत चुस्ती चाहिए, तोउलॉन्ग या ब्लैक टी पिएं, वज़न घटाने की कोशिश कर रहे हैं, तो वाइट और ग्रीन टी आपको सफलता दिलाने में मदद करेंगी...। आइए, चाय की लोकप्रिय क़िस्मों के फ़ायदों के बारे में विस्तार से जानें... दुनियाभर में चाय के मुरीद मौजूद हैं। कितनों की सुबह तो चाय के गर्मागर्म प्याले के बग़ैर शुरू ही नहीं होती। शायद इसीलिए इस पेय की तरह-तरह की क़िस्में आसानी से उपलब्ध हैं। इनमें से अपने लिए बेहतर विकल्प चुनने के लिए ज़ायके के साथ-साथ फ़ायदों पर भी ग़ौर करेंं... ब्लैक टी घर-घर में नज़र आने वाली यह...
    September 2, 12:00 AM
  • तरक़ीब से तराश लो
    महिलाएं अपने शरीर को अच्छी तरह से समझती हैं। उन पर क्या जंचता है, क्या नहीं, वे जानती हैं। यदि उन्हें पता होगा कि ढीले कपड़ों में वे अधिक मोटी लगेंगी, तो वे इनसे बचना भी जानती हैं। यदि उन्हें पता होगा कि बड़े प्रिंट्स उन पर नहीं जंचते, तो वे इन्हें नहीं चुनेंगी। लेकिन ऐसी समस्याओं का क्या, जो केवल शरीर के एक-दो हिस्सों पर मंडराती हों? उदाहरण के तौर पर मोटी बांह? इस समस्या का समाधान है व्यायाम। लेकिन इसके अलावा आप कपड़ों व चंद अन्य उपायों के ज़रिए भी समाधान ढूंढ सकती हैं। स्लीव्स में हेर-फेर कुर्ती...
    September 2, 12:00 AM
  • दिन बन जाए!
    पहले सुबह-सुबह घर का दृश्य अखाड़े की तरह हाेता था। आंख खुलते ही घड़ी की सुइयां मुझे घूरती रहती थीं। कभी किसी को जल्दी चाय चाहिए, तो कभी किसी को जल्दी टिफ़िन पैक करके देना होता। उधर बच्ची की चोटी बना रही होती, तो इधर नल के आने का समय हो जाता। और इतने में काम के बीच अगर किसी के फोन की घंटी बज जाती, तो तुरंत मन में आता कि काश! यह फोन मेरे लिए तो बिल्कुल न हो। दिन के 12 घंटे में सबसे क़ीमती व व्यस्त समय यही लगता है। सुबह जितनी बार मैं पति व बच्चों की तरफ़ नहीं देखती, उससे कहीं ज़्यादा काम करते वक़्त, मैं घड़ी को...
    September 2, 12:00 AM
  • पढ़ाई भी कमाई भी...
    आज पापा का जन्मदिन है और मैंने उन्हें ख़ुद के कमाए रुपयों से ख़रीदी घड़ी गिफ़्ट की... यह सरप्राइज़ पाकर उनका चेहरा झट से चमक उठा था। लेकिन सच कहूं, तो उनसे ज़्यादा मैं ख़ुश थी, क्योंकि मैंने वही घड़ी लाई थी, जो कुछ वक़्त पहले बहुत पसंद आने के बावजूद पापा ने नहीं ख़रीदी थी, क्योंकि वह थोड़ी महंगी थी। इसलिए तो कहती हूं कि अपने पैसे कमाने के बड़े फ़ायदे हैं। अब बात कमाई की निकली ही है, तो आपको बताऊं, सबकी तरह मैं भी कॉलेज के बाद ही अपना कॅरिअर शुरू करने का सोचती थी... लेकिन जब स्कूल ख़त्म हुए, तो कुछ अंकों से चूक जाने के...
    September 1, 02:46 PM
  • तिज़ोरी में छुपे राज़
    अर्थ मामलों के लेखक पॉल सुलिवियन अपनी एक किताब के लिए शोध कर रहे थे, तब उन्होंने शीर्ष 10 प्रतिशत अमीरों के अमीर होने के राज़ समझने की कोशिश की। रईसी के शिखर पर बैठे एक प्रतिशत लोगों और बाद के क्रम के 9 प्रतिशत के बीच तुलना कर उन्होंने जाना कि शिखर के रईस क्यों उस जगह पर हैं। आपके पास क्षमता है, केवल इसलिए नहीं ख़रीदो। पॉल ने जाना कि शिखर के लोग उनसे नीचे के 9 प्रतिशत की तुलना में महंगे सामानों के प्रति कम आकर्षित होते हैं। वे रेस्तरां आदि में खाना खाने जाने में भी 30 फ़ीसदी पीछे हैं। और वे महंगी ज़मीनें...
    September 1, 02:42 PM
  • नौतपा में मेहंदी ज़रूर लगाना चाहिए, पूरा शरीर शीतल हो जाता है। दादी का यह नुस्ख़ा वे अब भी मानती हैं। आज भी कांसे के कटाेरे में मेहंदी घोलते ही आंखों के आगे पूरा बचपन घूम गया। दादी हर त्योहार, हर परम्परा कितने चाव से निभाती थीं। हर प्रथा के साथ रिश्तों में ताज़गी भर देती थीं। मेहंदी मांडने की रीत भी इससे अछूती नहीं थी। हर एक तीज-त्योहार पर ख़ासकर राखी पर तो मेहंदी मांडना-रचाना नितांत ज़रूरी था। दादी का आदेश रहता था, सब भाइयों की छिंगली में मेहंदी रचेगी, क्योंकि यह निशानी है बहनों वाले भाई की... और सब...
    August 28, 09:47 AM
  • जले पर झट से घी लगा दो, ताकि ठंडक मिले। हम ऐसे ही कई नुस्ख़ों पर पर विश्वास करते हैं, लेकिन इस और ऐसी ही अन्य ग़लतियाें के कारण मरीज़ की मुसीबत बढ़ जाती है। जलने पर सिर्फ़ पानी की ठंडक रसोई में काम करते वक़्त हाथ जलने पर कई लोग ठंडक पाने के लिए जले पर मक्खन, घी या तेल लगा लेते हैं। इससे संक्रमण फैल सकता है और टूथपेस्ट के रसायन घाव बढ़ा भी सकते हैं। सही तरीक़ा- जलन शांत करने के लिए ठंडे पानी में कुछ देर हाथ डालकर रखें। जलन शांत होते ही घाव पर मलहम लगाएं, पर पट्टी क़तई न बांधें। घाव गम्भीर हो, तो तुरंत डाॅक्टर...
    August 28, 09:41 AM
  • पोषण का बेहतर अवशोषण
    पोषक तत्व अकेले कुछ ख़ास कमाल नहीं दिखा पाते। इनके बेहतर अवशोषण के लिए दूसरे पोषक तत्वों का साथ ज़रूरी है... जिस प्रकार किसी परिवार को चलाने के लिए सभी सदस्यों का एक-दूसरे के साथ तालमेल बहुत आवश्यक है, ठीक उसी प्रकार भोजन में पाए जाने वाले पोषक तत्व भी एक-दूसरे पर निर्भर रहते हैं और अकेले सही ढंग से कार्य नहीं कर पाते। यही नहीं, किन पोषक तत्वों का मेल किनके साथ बेहतर होगा, यह जानना भी आपके लिए बहुत ज़रूरी है। यहां ऐसी ही कुछ जोड़ियों के उदाहरण दिए जा रहे हैं, जिनसे आप अधिक से अधिक पोषण प्राप्त कर सकते...
    August 28, 09:30 AM
  • अच्छे रिटर्न देते फंडस...
    लाभ कमाने के लिए आप बाज़ार में निवेश करना चाहते हैं, लेकिन उसके उतार-चढ़ाव से डरते हैं, तो म्यूचुअल फंड फ़ायदेमंद सौदा हो सकता है। शेयर बाज़ार के ज़रिए मोटी कमाई ज़रूर की जा सकती है, लेकिन वहां जोखिम भी बहुत ज़्यादा है। दूसरी ओर, निवेश के पारम्परिक विकल्प (एफडी, पीपीएफ आिद) में पैसा सुरक्षित रहता है, पर बढ़त कम मिलती है। इसलिए वित्त विशेषज्ञ बचत का कुछ हिस्सा म्यूचुअल फंड में लगाने की सलाह देते हैं। विभिन्न कम्पनियां अपने म्यूचुअल फंड के ज़रिए निवेशकों से जुटाई गई राशि शेयर और अन्य वित्तीय साधनों में...
    August 28, 09:25 AM
  • वयं रक्षाम:
    राखी कहती है कि बहन, भाई का ख़्याल रखे और भाई बहन की संकट से रक्षा करे।इसके और मायने भी हैं, जिसमें सबसे महत्वपूर्ण है- भाई, बहन को संकटों से निबटने के लिए हर तरह से सशक्त बनाए... हमारे देश में राखी से जुड़ी एक रस्म लोकप्रिय है। इस दिन भाइयों वाली बहनें अपनी हथेलियों के पिछले हिस्से में मेहंदी लगवाती हैं, वहीं बहनों वाले भाई अपनी कनिष्ठिका को मेहंदी से रचाते हैं। यह निशानी होती है, बहनों वाले भाइयों और भाइयों वाली बहनों की। गौरव महसूस करते हैं वे जिनकी उंगली पर मेहंदी रची होती है। गर्व से सारे...
    August 27, 11:20 AM
  • सैलाब
    कश्मीर की वादियां फिर से सांस लेने लगी थीं। फ़िज़ा भी गुनगुनाने लगी थी, कि नौकरी लगते ही मेरी पहली पोस्टिंग श्रीनगर हो गई। दिल ख़ुश हो उठा। ज़िंदगी की शुरुआत इतनी ख़ूबसूरत होगी, सोचा न था। श्रीनगर में बाढ़ के बाद जनजीवन काफ़ी सामान्य दिखाई दे रहा था। शाम को डल झील के किनारे टहलना, झील में तैरते हाउसबोट, फूलों से लदे शिकारा को निहारना किसी सपने से कम न था। उसी दौरान कुछ दिनों के लिए पहलगाम जाकर वहां काम सम्भालने का आदेश मिला। मैं अगली सुबह ही निकल पड़ा। तीन घंटे का सफ़र वादियों की ख़ूबसूरती के बीच कब...
    August 26, 12:00 AM
  • रेशम की डोर...
    मम्मी-मम्मी, कल स्कूल में रेशम की राखी बनाना सिखाएंगे। मुझे रेशम का धागा दिलवा दो ना। बिटिया की बात सुनकर सीमा अपने बचपन के ख़्यालों में खो गई। दादी ने उसे रेशम के धागे से राखी बनाना सिखाया था। चमकीले रेशम की सुंदर राखी जब उसने सितारों से सजाकर अपने भाई की कलाई पर बांधी थी, तो उसके भाई ने भावावेश में उसे गले लगा लिया था। लेकिन रेशम की डोर में गांठ टिकती ही नहीं थी। राखी बार-बार खुल जाती और भाई बार-बार उसके पास आकर राखी बंधवाता रहा। तब एक बार झुंझलाकर उसने दादी से कहा था, दादी, इसकी डोरी बदल दो न।...
    August 26, 12:00 AM
  • हर रूप में जंचती है साड़ी...
    ऑफ़ वाइट साड़ी का चौड़ा बॉर्डर, तिस पर गुलाबी और नारंगी रंग का टच कितना ख़ूबसूरत लग रहा है न! एक बार फिर फैशन परेड में चौड़े बॉर्डर वाली साड़ियां अव्वल हैं। तरह-तरह के मटेरियल के साथ ज़री, ज़रदोज़ी, बनारसी या पैच वर्क के बाॅर्डर वाली साड़ी चुन सकती हैं। इसके अलावा कंट्रास वैलवेट की पतली किनारी भी काफ़ी पसंद की जा रही है। जॉर्जेट, क्रेप, शिफॉन जैसे मटेरियल में प्रिंटेड साड़ियाें का बोलबाला है। ये साड़ियां ज़रा भी नहीं फूलतीं, तो इन्हें पहनना और दिनभर सम्भालना बहुत सहूलियतभरा होता है। टाई एंड डाई प्रिंट्स भी...
    August 26, 12:00 AM