बाल भास्कर
Home >> Magazine >> Bal Bhaskar
  • खूब लड़ी मर्दानी
    खूब लड़ी मर्दानी, वह तो झांसी वाली रानी थी। कवयित्री सुभद्रा कुमारी चौहान की ये ऐतिहासिक पंक्तियां आज भी भारतवासियों को जोश से भर देती हैं। 19 नवंबर को झांसी की रानी लक्ष्मीबाई की जयंती थी, आइए जानते हैं उनके बारे में कुछ खास बातें... झांसी राज्य की रानी लक्ष्मीबाई 1857 के प्रथम भारतीय स्वतन्त्रता संग्राम की वीरांगना थीं। उन्होंने महज 23 साल की उम्र में ब्रिटिश सेना से युद्ध किया और झांसी पर अंग्रेजों को कब्जा नहीं करने दिया। जन्म लक्ष्मीबाई का जन्म 19 नवम्बर 18२८ में वाराणसी जिले के भदैनी...
    November 21, 12:04 AM
  • अनूठा हॉर्नबिल
    (फोटोहॉर्नबिल) दोस्तों, अपने आसपास दिखाई देने वाले पशु-पक्षियों के बारे में तो आप हमेशा पढ़ते रहते हैं। लेकिन ऐसे पशु-पक्षियों के बारे में भी जानें, जो आपने न देखे हों और जिनका नाम भी नहीं सुना हो.. चलिए जानते हैं ऐसे ही एक पक्षी हॉर्नबिल के बारे में.. कौन है हॉर्नबिल यह बुसेरोटिडी परिवार का पक्षी है, जो मुख्य रूप से एशिया, अफ्रीका और मेलानेशिया के द्वीपों, जिनमें न्यू गिनी और फिजी आदि शामिल हैं, में पाया जाता है। ग्रेट हॉर्नबिल भारत के अरुणाचल प्रदेश व केरल का राजकीय पक्षी है । हॉर्नबिल...
    November 7, 11:26 AM
  • अमेरिका में नमो नमो
    भारत-अमेरिका संबंधों में मजबूती लाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 25 सितंबर से 30 सितंबर तक अमेरिका की यात्रा की। उन्होंने शक्तिशाली ढंग से भारत का प्रतिनिधित्व किया। कैसा रहा उनका यह सफर, डालते हैं इस पर एक नजर। मेक इन इंडिया प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 25 सितंबर को अमेरिका की यात्रा पर रवाना होने से कुछ घंटे पहले दिल्ली में मेक इन इंडिया कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इस कार्यक्रम का उद्देश्य विदेशी निवेशको बढ़ावा देना, भारतीय उद्योगों को पटरी पर लाना तथा रोजगार के अवसर पैदा करना...
    October 25, 01:08 PM
  • थिंक डिफरेंट
    आपने एप्पल के हर प्रोडक्ट में लेटर द्ब जुड़ा देखा होगा। यहां द्ब का मतलब है। 2012 में एप्पल ने हर दिन लगभग साढ़े तीन लाख आईफोन बेचे। आईपॉड के डिजाइनर ने पहले अपना आइडिया फिलिप्स और रियलनेटवर्क को दिया था, लेकिन उन्होंने इसके लिए मना कर दिया। एप्पल के कम्प्यूटर के पास स्मोकिंग करने से इसकी बैटरी खराब हो जाती है। 1980 तक जापान में एप्पल का नाम ज्यादा प्रचलित न होने की वजह से वहां के कर्मचारी शिपमेंट के लिए रेफ्रिजरेटर ट्रक का इस्तेमाल कर लेते थे, क्योंकि उन्हें लगता था कि यह एप्पल फ्रूट के...
    October 10, 03:30 PM
  • ‘द व्हाइट टाइगर’
    दोस्तो, 4 अक्टूबर को है वर्ल्ड एनिमल डे। आज कई ऐसी प्रजातियां हैं, जो या तो पूरी तरह से खत्म हो चुकी हैं या खत्म होने की कगार पर हैं। उन्हीं के बचाव और संरक्षण के लिए यह दिन मनाया जाता है। व्हाइट टाइगर या सफेद बाघ भी इन्हीं जानवरों में से एक है। सफेद बाघ बाघों की ही एक प्रजाति है। यह सफेद रंग उन्हें उनकी पीढ़ी से ही मिला है। वर्तमान में सफेद बाघों की संख्या काफी कम है। यह सुन्दर और आकर्षक जानवर आज के समय में चिड़ियाघर और अभयारण्य में ही देखा जा सकता है। क्यों होता है सफेद रंग सफेद बाघ के...
    September 27, 03:45 PM
  • हाथों का कमाल बेमिसाल
    दोस्तो, भारत त्योहारों का देश है। यहां बहुत-से अवसरों पर देवी-देवताओं की मिट्टी से बनी मूर्ति की पूजा की जाती है, फिर चाहे वह गणोश स्थापना का अवसर हो, नवरात्रि हो या फिर दीपावली, हर मौके पर मिट्टी की मूर्ति की पूजा की जाती है। कैसे बनाई जाती हैं ये मूर्तियां, चलिए जानते हैं.. मूर्तियां बनाने के लिए खास किस्म की मिट्टी, प्लास्टर ऑफ पेरिस, कागज की लुगदी आदि चीजों का इस्तेमाल किया जाता है। प्लास्टर ऑफ पेरिस से बनी मूर्तियां वजन में हल्की और सस्ती होती हैं, लेकिन बिगड़ते पर्यावरण को देखते हुए कई...
    September 12, 03:56 PM
  • सच्चे गुरु को नमन
    दोस्तो 5 सितंबर को टीचर्स डे है और हम सब उस दिन अपने गुरुओं को याद करते हैं। हमारे जीवन को सही दिशा देने में गुरु की अहम भूमिका होती है। ऐसे ही कुछ महान लोग हैं, जो न केवल लीडर,साइंटिस्ट, इंजीनियर रहे, बल्कि एक अच्छे शिक्षक भी रहे हैं। चलिए जानते हैं ऐसे ही कुछ महान लोगों के बारे में। डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन स्वतन्त्र भारत के दूसरे राष्ट्रपति थे। इससे पूर्व वे उपराष्ट्रपति भी रहे। राजनीति में आने से पहले उन्होंने अपने जीवन के 40 वर्ष शिक्षक के रूप में बिताए। उनमें एक...
    August 29, 01:53 PM
  • आजादी के दीवाने
    दोस्तो, आजादी दिलाने के लिए हमारे क्रांतिकारियों ने कभी अपनी जान की परवाह नहीं की। उनका ये जुनून उनके बचपन में भी उतना ही था। चलिए पढ़ते हैं, ऐसे ही कुछ आजादी के दीवानों के बचपन की गाथा.. चंद्रशेखर आजाद सन् 1921 में चंद्रशेखर आजाद को मात्र १३ साल की उम्र में धरना देते हुए पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने उन्हें ज्वाइंट मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया। जब मजिस्ट्रेट ने उनका नाम पूछा, उन्होंने जवाब दिया- आजाद। पिता का नाम उन्होंने बताया- स्वाधीनता। मजिस्ट्रेट ने तीसरी बार घर का पता पूछा, तब...
    August 22, 03:43 PM
  • अनमोल बंधन
    रक्षाबंधन का दिन था। पलक किचन में पकवान बनाने में मम्मी की मदद कर रही थी। छोटी बहन महक कमरे की साफ-सफाई में लगी थी। तभी पापा ने आकर महक से कहा- सुबह के नौ बजने को हैं, शुभम अभी तक सो रहा है.. जाओ उसे जगाओ। महक भागकर जाती है और शुभम भैया को आवाज लगाती है। दो बहनों में सबसे छोटा दस साल का शुभम आंख मलते पापा के पास आता है। पापा उसे डांटते हैं कि आज राखी का इतना बड़ा त्योहार है और तुम अभी तक सो रहे हो, जाओ जल्दी से नहाकर तैयार हो जाओ। शुभम मुंह बनाकर वहां से चला जाता है। तभी दूसरे कमरे से मम्मी की आवाज आयी...
    August 1, 05:23 PM
  • चलें चांद की सैर पर
    दोस्तो, 20 जुलाई को है मून डे। चांद पर सबसे पहले जाने वाले व्यक्ति नील आर्मस्ट्रॉन्ग ने इसी दिन २क् जुलाई १९६९ को चांद पर कदम रखा था। इसीलिए इस दिन को मून डे कहा जाता है। चांद हमारी धरती का इकलौता कुदरती उपग्रह है। चांद पर सबसे पहले कदम रखने वाले व्यक्तिथे नील आर्मस्ट्रांग। उन्होंने २क् जुलाई १९६९ को चांद पर कदम रखा था। आइए जानें चांद के बारे में कुछ और रोचक जानकारियां- -वैज्ञानिकों का मानना है कि आज से 450 करोड़ साल पहले थैया नामक उल्का धरती से टकराया और धरती का कुछ हिस्सा टूटकर अलग हो गया, जो कि...
    July 18, 02:39 PM
  • ये गोलमटोल आंखों वाला
    दोस्तो, हमारी पृथ्वी अनोखे जीव-जंतुओं से भरी हुई है। मन में सवाल उठता है कि आखिर इन प्राणियों को इतने करीने से और सुंदर-सुंदर रंगों से सजाया किसने, ऐसे ही एक प्राणी से हम मिलेंगे, जिसका नाम है लेमूर .. मेडागास्कर मेडागास्कर हिंद महासागर में अफ्रीका के पूर्वी तट पर बसा एक द्वीपीय देश है। मेडागास्कर विश्व का चौथा सबसे बड़ा द्वीप है। यहां विश्व की पांच प्रतिशत पेड़-पौधों और जीवों की प्रजातियां मौजूद हैं। क्या खाते हैं लेमूर मुख्य रूप से फल और पेड़-पौधे खाते हैं। कभी-कभी कीड़े-मकोड़े भी...
    July 4, 12:12 AM
  • आम नहीं ये है ख़ास
    दोस्तो, आम का मौसम है। अभी तक हमने आम खा भी खूब लिए हैं। क्या आप जानते हैं कि दिल्ली में हर साल मैंगो फेस्टिवल का आयोजन किया जाता है। चलिए इस बहाने जानते हैं, फलों के राजा के बारे में कुछ खास बातें... दिल्ली में हर साल 2 जुलाई को इंटरनेशनल मैंगो फेस्टिवल का आयोजन किया जाता है। इसमें पूरे देश से आम पैदा करने वाले किसान यहां नई-नई किस्मों का प्रदर्शन करते हैं। 2 दिन चलने वाले इस आयोजन में आमों की लगभग 550 वैरायटीज रखी जाती हैं। पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए दिल्ली टूरिज्म एंड ट्रांसपोर्टेशन डेवलपमेंट...
    June 20, 12:14 AM
विज्ञापन
 
 

बड़ी खबरें

 
 

रोचक खबरें

 

बॉलीवुड

 
 

जीवन मंत्र

 
 

स्पोर्ट्स

 

बिज़नेस

 

जोक्स

 

पसंदीदा खबरें