Home >> Magazine >> Career Mantra
  • लर्निंग टेक्निक: याद रखना है तो रटिए मत, दिमाग में दोहराइए
    यदि आपकी असफलता भी कमजोर याददाश्त से जुड़ी है, तो पढ़ने के तरीके या रोजमर्रा के काम में थोड़ा-थोड़ा सुधार कर आप इसे सफलता में तब्दील कर सकते हैं। क्योंकि याददाश्त एक दिमागी प्रक्रिया है, जिसे खान-पान और आदतों में सुधार कर प्रभावी बनाया जा सकता है। दिमागी कसरतें याददाश्त भी हमारे शरीर की ताकत की तरह काम में लो या खो दो के सिद्धांत पर काम करती है। हम जितना दिमाग को काम में लेते हैं, हमारी याद करने की क्षमताएं उतनी ही बढ़ती हैं। हमेशा नया-नया जानना और संवेदनाओं को प्रेरित करना दिमागी कसरत का...
    April 18, 03:32 PM
  • ARCHITECTURE : देश में केवल एक लाख प्रोफेशनल्स, जरूरत पांच लाख से ज्यादा की
    आर्किटेक्चर यानी साइंस ऑफ बिल्डिंग जिसमें आर्ट और टेक्नोलॉजी का एक साथ इस्तेमाल होता है। इसका संबंध कंस्ट्रक्शन और रियल इस्टेट इंडस्ट्री से है। एग्रीकल्चर के बाद दूसरी सबसे ज्यादा रोजगार (तीन करोड़ से ज्यादा) उपलब्ध कराने वाली इस इंडस्ट्री की कुल मार्केट वैल्यू करीब 50 हजार करोड़ है। हालांकि, 2008 के बाद से कंस्ट्रक्शन इंडस्ट्री के विकास की रफ्तार धीमी है, लेकिन आर्किटेक्चर अभी भी युवाओं के लिए कॅरिअर का एक बेहतर विकल्प है। कारण यह कि देश में रजिस्टर्ड आर्किटेक्चर प्रोफेशनल्स की संख्या...
    April 18, 03:21 PM
  • लीडरशिप सीरीज: कभी जिम्मेदारी से भागे नहीं स्टीव जॉब्स
    एप्पल कंपनी के स्टीव जॉब्स ने समय-समय पर लीडरशिप के सबक दिए हैं जो जीवन में काम आ सकते हैं। उन्होंने एप्पल को ऐसा आयाम दिया है कि मैनेजमेंट और टेक्नोलॉजी के स्टूडेंट्स के साथ कंपनियों के सीईओ भी इससे सबक लेते रहेंगे। जॉब्स के जीवन से लिए गए लीडरशिप के ये सबक सीरीज में प्रकाशित किए जा रहे हैं। सिंपलिसिटी हासिल करना स्टीव जॉब्स जानते थे कि सिंपलिसिटी हासिल करने के लिए यह सुनिश्चित करना होगा कि हार्डवेयर, सॉफ्टवेयर और पेरिफेरल डिवाइसेस इस तरह से जोड़े जाएं कि वे एक ही डिवाइस जैसे बन जाएं। इसे...
    April 18, 03:21 PM
  • ARCHITECTURE : देश में केवल एक लाख प्रोफेशनल्स, जरूरत पांच लाख से ज्यादा की
    आर्किटेक्चर यानी साइंस ऑफ बिल्डिंग जिसमें आर्ट और टेक्नोलॉजी का एक साथ इस्तेमाल होता है। इसका संबंध कंस्ट्रक्शन और रियल इस्टेट इंडस्ट्री से है। एग्रीकल्चर के बाद दूसरी सबसे ज्यादा रोजगार (तीन करोड़ से ज्यादा) उपलब्ध कराने वाली इस इंडस्ट्री की कुल मार्केट वैल्यू करीब 50 हजार करोड़ है। हालांकि, 2008 के बाद से कंस्ट्रक्शन इंडस्ट्री के विकास की रफ्तार धीमी है, लेकिन आर्किटेक्चर अभी भी युवाओं के लिए कॅरिअर का एक बेहतर विकल्प है। कारण यह कि देश में रजिस्टर्ड आर्किटेक्चर प्रोफेशनल्स की संख्या...
    April 18, 03:09 PM
  • ADMISSION ALERT : जामिया हमदर्द यूनिवर्सिटी के एमबीबीएस कोर्स में प्रवेश
    नई दिल्ली के जामिया हमदर्द यूनिवर्सिटी के एमबीबीएस कोर्स में प्रवेश के लिए छात्र 30 मई तक आवेदन कर सकते हैं। एडमिशन 4 मई को होने वाली ऑल इंडिया प्री-मेडिकल टेस्ट के आधार पर होगा। कम्पीटिशन कुल सीटें - 100 आवेदक - 20 हजार (करीब) कोर्स ड्यूरेशन - 5.5 साल एलिजिबिलिटी: फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी और इंग्लिश में अलग-अलग तथा मिलाकर 50 फीसदी अंकों के साथ 10+2 की परीक्षा पास की हो। एज लिमिट: 31 दिसंबर, 2014 को 17 साल से ज्यादा हो। फीस : जामिया हमदर्द में एमबीबीएस कोर्स की सालाना फीस 6 लाख रुपए है। एमजीएम यूनिवर्सिटी,...
    April 18, 11:36 AM
  • मोबाइल फोन एक ख्वाब था कभी, आज खुद डिजाइन करते हैं नए मोबाइल
    बचपन में बुनियादी जरूरतें पूरी होनी भी मुश्किल थी तो सपनों को हकीकत में बदलने की सहूलियतों के बारे में वह कैसे सोच सकता था। हालांकि जबर्दस्त इच्छाशक्ति और अटूट लगन से वह वक्त भी आया जब उसे कामयाबी मिली और आज चिरंजीव कुमार अच्छे मुकाम पर पहुंच चुका है। आनंद कुमार,संस्थापक सुपर 30 पटना बिहार के समस्तीपुर जिले का रहने वाला है चिरंजीव। बहुत साल पहले की बात नहीं है मगर एक वक्त था जब जरूरत की हर चीज से वह महरूम था। आसपास के युवाओं के हाथ में मोबाइल देखकर उसका जी ललचाता था। घर की हैसियत जैसी थी, उसमें एक...
    April 16, 05:02 PM
  • 12th या ग्रेजुएशन के बाद साइंस में डिप्लोमा कोर्स
    अगर साइंस लेकर डॉक्टर नहीं बनना चाहते या प्री मेडिकल टेस्ट में आपको सफलता नहीं मिल पाई है तो निराश न हों क्योंकि साइंस (बायोलॉजी) अब एमबीबीएस तक सीमित नहीं रह गई है। एमबीबीएस और एमएससी के अलावा इस क्षेत्र के मौके अब सिर्फ टीचिंग तक नहीं सिमटे हैं। थ्योरिटकल व प्रैक्टिकल एक्सपोजर के साथ इस फील्ड में कॅरिअर बनाना चाहते हैं तो डिप्लोमा कोर्स आपकी मदद करेंगे। 12वीं या ग्रेजुएशन के बाद अब ऐसे डिप्लोमा कोर्स उपलब्ध हैं, जो जॉब फ्रेंडली होने के साथ-साथ कॅरिअर में आगे बढ़ने का अवसर भी प्रदान करेंगे।...
    April 15, 07:18 PM
  • हर साल तैयार होते हैं 20 लाख प्रोफेशनल्स, लेकिन चुनौतियां बाकी
    भारत में हर साल करीब 15 लाख इंजीनियर, 50 हजार डॉक्टर और 4 लाख मैनेजमेंट ग्रेजुएट तैयार होते हैं। लेकिन देश के शीर्ष संस्थानों में अब भी लड़कियों की संख्या कम है। एग्जामिनेशन सिस्टम भी लगातार बदल रहा है। आज इन्हीं चुनौतियों और बड़ी परीक्षाओं के टॉपर्स से जुड़ी कहानियां आपके साथ साझा कर रहे हैं। शीर्ष परीक्षाओं में टॉपर रहे छात्रों की कहानियां शिव सूर्य तेजा, कैट-2013 में नंबर वन पिता: स्कूल के हेडमास्टर मां: गृहिणी आंध्र प्रदेश में समलकोट के रहने वाले शिव कैट 2013 के आठ टॉपर्स में से एक हैं। ताज्जुब...
    April 15, 06:20 PM
  • आईआईटी, रूड़की के मास्टर कोर्सेस में प्रवेश इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, रूड़की में मास्टर ऑफ टेक्नोलॉजी, मास्टर ऑफ आर्किटेक्चर और मास्टर ऑफ अर्बन प्लानिंग (एमयूआरपी) कोर्स में प्रवेश की प्रक्रिया 31 मार्च से शुरू हो चुकी है। छात्र इसके लिए २१ अप्रैल तक ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। एडमिशन गेट के वैलिड स्कोर के आधार पर होगा। इसके अलावा कुछ कोर्सेस में प्रवेश के लिए रिटन टेस्ट या इंटरव्यू या दोनों आयोजित किए जाएंगे। कम्पीटिशन कुल सीटें 700 (करीब) आवेदक 25 हजार (करीब) कोर्स ड्यूरेशन 02 साल...
    April 11, 04:43 PM
  • कॅरिअर इन इंटीरियर डिजाइन: अलग-अलग क्षेत्रों में हैं नौकरी के मौके
    इंटीरियर डिजाइनिंग का संबंध लिविंग स्पेस को व्यवस्थित करने से है। इसका मतलब घर, ऑफिस,शॉपिंग स्टोर, एयरपोर्ट, होटल आदि की आंतरिक साज-सज्जा से है। यह डिजाइनिंग के एक बड़े फील्ड का हिस्सा है। 2015 तक दुनियाभर में इंटीरियर डिजाइनिंग इंडस्ट्री की कुल मार्केट वैल्यू 2500 अरब रुपए हो जाने का अनुमान है। यह रियल इस्टेट सेक्टर से संबंधित है, इसलिए पिछले कुछ वर्षों में भारत में इंटीरियर डिजाइनिंग इंडस्ट्री के विस्तार की दर धीमी थी। लेकिन 2-13 से इसकी हालत में सुधार हुआ है और 2020 तक इस क्षेत्र में करीब 12 लाख नई...
    April 10, 12:56 PM
  • दुनिया भर में है रोबोट विशेषज्ञों की मांग
    अगले कुछ सालों में रोबोटिक असिस्टेंस या रोबोट की मदद इंसानी जीवन की हकीकत बनने वाली है। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस विशेषज्ञों की यह भविष्यवाणी कतई गलत नहीं है। अमेरिका, जापान और ऑस्ट्रेलिया रोबोटिक रिसर्च और डेवलपमेंट पर काम कर रहे हैं। विशेषज्ञों का अनुमान है कि उपयुक्त श्रमशक्ति ने ऐसे रोबोट की जबर्दस्त मांग उत्पन्न की है, जो घरेलू गतिविधियों या मानवीय मदद के रूप में इंसान की तरह काम कर सके, इसलिए इस दिशा में रिसर्च का काम जोरों पर है। भारत भी इस लिहाज से पीछे नहीं है। देश में डिपार्टमेंट ऑफ...
    April 8, 06:16 PM
  • किसी भी उम्र में ले सकते हैं एजुकेशन लोन
    एजुकेशन लोन की खास बात यह है कि स्टूडेंट एक अच्छा रोजगार पाने के बाद इसकी अदायगी करता है। पढ़ाई की ऊंची कीमत चुकाने के लिए एजुकेशन लोन कारगर तरीका है। वैसे भी लोन लेने का फैसला बिल्कुल सही है, क्योंकि इसे वापस करने की नीतियां काफी उदार हैं। सरकार भी चाहती है कि बैंक अपने नियमों को ढीला करें। भारत में पढ़ाई के लिए चार लाख तक का लोन बिना किसी कोलेटरल (प्रमाणित करने वाला) के लिया जा सकता है, वहीं इससे ज्यादा के लिए अभिभावक के हस्ताक्षर जरूरी हैं। कौन से कोर्स एजुकेशन लोन के लिए आवेदन के लिए यह...
    April 8, 05:46 PM
Ad Link
 
विज्ञापन
 
 
 
 

बड़ी खबरें

 
 
 
 

रोचक खबरें

विज्ञापन
 

बॉलीवुड

 
 

जीवन मंत्र

 
 

स्पोर्ट्स

 

बिज़नेस

 

जोक्स

 

पसंदीदा खबरें