नवरंग
Home >> Magazine >> Navrang
  • पछतावे में नहीं जीता
    विद्युत जामवाल को एक्शन दृश्यों में अलग तरह की एनर्जी फूंकने के लिए जाना जाता है। विपुल शाह की फिल्मों के अलावा, तिग्मांशु धूलिया निर्देशित व सैफ अली खान स्टारर एक एक्शन मूवी में भी उनके दांव-पेच को लोगों ने खूब सराहा। हालिया मुलाकात में हमने पूछा : इन दिनों फिल्मी परदे पर कम ही नज़र आ रहे हैं! 2011 में शुरुआत की है। हिंदी सिनेमा में बहुत वक्त नहीं बीता है। फिर भी, अच्छा काम किया है। तकरीबन हर फिल्म में दर्शकों से प्यार मिला है। मैं सिल्वर स्क्रीन पर अपनी मौजूदगी से संतुष्ट हूं। जब भी अच्छा काम...
    April 30, 12:41 PM
  • खुद को अंदर से फिट पाती हूं...
    एक फिल्म में सलमान खान के अपोजिट ब्रेक पाने वाली ज़रीन खान भले ही इन दिनों चर्चा से बाहर हैं, लेकिन करियर के रास्ते पर धीरे-धीरे निरंतर आगे बढ़ रही हैं। इधर वजन घटाकर वे अपनी खूबसूरती के लिए चारों ओर से प्रशंसा पा रही हैं। बातचीत : क्या आपने किसी फिल्म के लिए अपना वजन घटाया है? जी नहीं, ऐसा मैंने अपनी खुशी से फिटनेस के लिए किया है। मैं कॉलेज के दिनों में बहुत मोटी थी। सौ किली वजन था मेरा। फिल्मों में आने के लिए मैंने अपना वजन आधा कर लिया था। लेकिन डायरेक्टर अनिल शर्मा के कहने पर मुझे 8-10 किलो वजन बढ़ाना...
    April 30, 12:40 PM
  • हुनर से बड़ा हैं जुनून
    कालजयी कलाकार पुरुषोत्तम दास जलोटा के पुत्र, भजन सम्राट अनूप जलोटा हिंदी समाज की सांस्कृतिक पहचान हैं। आधुनिक समय में भजन गायकी को उन्होंने जिस कदर लोकप्रिय बनाया है, शायद ही किसी और गायक ने ऐसी उपलब्धि हासिल की हो। नई प्रतिभाओं को मौका देने के लिए मशहूर भजन व ग़ज़ल गायक, संगीतकार और फिल्म निर्माता अनूप जलोटा से बातचीत : एक तरफ कहा जाता है - संगीत का कुछ खास बाज़ार नहीं बचा है और दूसरी ओर हर दिन नए-नए गायक फिल्म इंडस्ट्री में आ रहे हैं! ये कोई विरोधाभास वाली स्थिति नहीं है। इसे पॉज़िटिव नज़रिए...
    April 30, 12:38 PM
  • मैं सलवार-कुर्ता, साड़ी में भी अच्छी लगती हूं...
    दो सेक्स-कॉमेडी फिल्में करके जिज़ल ठकराल अपना बड़ासा प्रशंसक वर्ग जुटाने में सफल रही हैं। जिज़ल ने हाल ही में एक शॉर्ट फिल्म की शूटिंग पूरी की है। बातचीत : दो फीचर फिल्में करने के बाद शॉर्ट फिल्म करने के पीछे क्या उद्देश्य है? एक तो अच्छी कहानी वाली फिल्म से जुड़ने का मौका मिला है। दूसरे, पिछली फिल्मों से हॉट-सेक्सी हीरोइन की इमेज बन गई थी। मैं दिखाना चाहती हूं कि सलवार-कुर्ता, साड़ी वाले इंडियन लुक में भी अच्छी लगती हूं। फीचर फिल्म और शॉर्ट फिल्म की शूटिंग में आपने क्या अंतर महसूस किया?...
    April 30, 12:36 PM
  • पहलवान से पूछा, एक्टिंग करोगे?
    दानिश अख्तर सैफ़ी द ग्रेट खली इंस्टीट्यूट से जुड़े पहलवान और टेलीविजन के नए हनुमान हैं। एक टीवी चैनल पर प्रसारित हो रहे धार्मिक धारावाहिक में मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम के प्रिय सहयोगी का किरदार निभा रहे दानिश खुद भी रामभक्त हैं। दिल्ली में हुई एक मुलाकात में उन्होंने अपने बारे में बताया : दानिश अख्तर सैफ़ी जेब में हनुमान चालीसा रखते हैं और मिलने पर नमस्कार की जगह `जय श्रीराम कहते हैं। दानिश बताते हैं, `कोई मज़हब नफरत करना नहीं सिखाता। मुझे किसी अन्य धर्म से जुड़ा किरदार निभाने में किसी...
    April 30, 12:35 PM
  • सुनहरा होगा कल !
    अनुष्का शर्मा के सारे फैसले सही साबित हुए हों, एेसा नहीं है, लेकिन वे अपने निर्णयों पर पछताती नहीं हैं। हार से सबक लेकर अनुष्का जीत की राह पर आगे ही आगे बढ़ती रही हैं। एक विश्लेषण... साल 2008। यशराज के युवराज (अब सर्वेसर्वा) आदित्य चोपड़ा की फिल्म में शाहरुख खान ने दोहरी रंगत वाला दिलचस्प किरदार निभाया। उनके अपोजिट एक सकुचाई-सी नई लड़की थी। एकबारगी लगा कि इतने बड़े प्रोडक्शन हाउस की फिल्म में एसआरके जैसे दिग्गज कलाकार के सामने किसी न्यूकमर का रोशनी बिखेरना मुश्किल होगा, लेकिन हुआ एकदम उलटा!...
    April 24, 06:30 PM
  • बीट और मेलोडी, दोनों में हिट
    पंजाबी पॉप सिंगर मीका सिंह अब हिंदी फिल्मों में बतौर प्ले बैक सिंगर भी सफल हैं। वे अपनी गायकी की तरह शख्सियत में भी दिलचस्प आक्रामकता रखते हैं। इन दिनों एक रिअलिटी शो के जज बने मीका एक समय में इस तरह के शोज की आलोचना किया करते थे। आइए जानते हैं, क्यों? अब रियलिटी शो की जजिंग करने के पीछे सोच क्या है? एक समय इन रिअलिटी शोज को लेकर मेरी सोच यह हो गई थी कि इनमें हिस्सा लेने वाले बच्चे तो बाद में गायब ही हो जाते हैं। उनका कोई भविष्य नहीं दिखता था, लेकिन धीरे-धीरे मैंने इंक्वायरी की तो पाया कि अभिजीत...
    April 24, 06:28 PM
  • डिप्रेशन को अपने ऊपर हावी नहीं होने देती
    हुमा कुरेशी सुंदरता और अभिनय-प्रतिभा का ऐसा मिश्रण हैं, जिन्होंने अनुराग कश्यप निर्देशित पहली ही फिल्म से बड़ा-सा फैन बेस तैयार कर लिया था। इन दिनों हिंदी से ज्यादा रीजनल फिल्में कर रहीं हुमा से बातचीत : विभिन्न भाषाओं की फिल्में करने की वजह क्या है? इसकी खास वजह अच्छे किरदारों का लालच है। मैं रंगमंच से आई हूं, जहां परफॉर्मेंस को सबसे ज्यादा अहमियत दी जाती है। मैं बिग बजट कमर्शियल हिंदी फिल्म में सिर्फ शो-पीस बनने के बजाय रीजनल लैंग्वेज फिल्म में अभिनय प्रधान किरदार निभाने को प्राथमिकता...
    April 24, 06:26 PM
  • अपनी रुचि का सिनेमा देखते हैं गुजराती...
    पिछले साल कृष्णदेव याग्निक निर्देशित गुजराती फिल्म, गुजराती सिनेमा की सबसे बड़ी ब्लॉकबस्टर मूवी बनकर सामने आई है। कृष्णदेव याग्निक से हमने की यह विशेष बातचीत : अंदाजन साल में कितनी गुजराती फिल्में बन जाती हैं और उनकी सफलता का औसत क्या होता है? साल में चालीस से पचास गुजराती फिल्में बन रही हैं। पहले यह तादाद कम होती थी, लेकिन इस साल काफी गुजराती फिल्में बन रही हैं। इन गुजराती फिल्मों के निर्माण का मुख्य केन्द्र किस शहर में है? किसी एक शहर में नहीं है। गुजरात के अहमदाबाद, बड़ौदा और सूरत में इन...
    April 16, 12:00 AM
  • कैमरा बड़ा अजूबा जानवर है...
    बॉलीवुड इंडस्ट्री में करीब चार दशक से सक्रिय अनिल कपूर जितने हिट हैं,59 की उम्र में उतने फिट भी हैं। अनुभवी अनिल तोल-मोल कर बोलते हैं। शायद यही वजह है कि वे कभी विवादों में घसीटे नहीं जाते। वे कुछ बातों पर इस तरह विचार रखते हैं : करता हूं सिर्फ किरदार पर फोकस मैंने कभी महसूस ही नहीं किया कि मैं टीवी में काम कर रहा हूं। मैं जब कोई भी कहानी या कोई किरदार करता हूूं, तब यह नहीं सोचता कि इसे टीवी के लिए कर रहा हूं या फिल्म के लिए कर रहा हूं। मैं टीवी शो पर भी फिल्म की तरह काम करता हूं। देखा जाए तो फिल्म की...
    April 16, 12:00 AM
  • कॉमेडियन कभी फेल नहीं होते
    स्टैंडअप कॉमेडियन भारती सिंह को अपना भी मजाक उड़ाने में कोई गुरेज नहीं है। उन्होंने मोटापे की सबसे बड़ी खामी को अपनी खूबी बना लिया है। वे शरीर से जितनी भारी हैं, दिमाग से उतनी ही तेज भी हैं। खैर, अपनी व्यस्तता से समय निकालकर उन्होंने की यह बातचीत : स्टैंडअप कॉमेडियन का काम चुनने पर घरवालों ने आपत्ति नहीं की? की तो थी, क्योंकि तकरीबन ये चीजें लड़के ही करते हैं। 8 साल पहले ऐसा जमाना भी नहीं था। जब शुरुआत की तो घरवाले बिल्कुल खुश नहीं थे। वे कहते कि पता नहीं ये लड़की कौन-सा काम कर रही है! उनकी नजर में यह...
    April 16, 12:00 AM
  • साधारण बंदा हूं!
    कपिल शर्मा का संघर्ष लंबा रहा, लेकिन जब सफलता मिली तो वे कामयाबी की अनगिनत सीढ़ियां झटपट चढ़ते चले गए। एक टीवी चैनल पर उनके कॉमेडी शो को दर्शकों ने खूब सराहा। कपिल ने अब्बास-मस्तान निर्देशित फिल्म में रूमानियत और हास्य के रंग बिखेरे। कपिल कहते हैं : किसी का दिल न दुखे कॉमेडी में बिलो द बेल्ट उतरना आसान होता है। अश्लील बातें करके कई कलाकार दर्शकों को हंसाने की कोशिश करते हैं। मैं उनके बारे में कुछ नहीं कहूंगा, क्योंकि इतना बड़ा नहीं हूं कि किसी को मैसेज दूं। इसके बावजूद कॉमेडी शोज में ये...
    April 16, 12:00 AM
  • पर्सनल स्टाइल लाइफ एटिट्यूड पर निर्भर है...
    एक बार फिर मिले राष्ट्रीय पुरस्कार और रितिक रोशन के साथ हुई ताजा कंट्रोवर्सी के बीच कंगना रनोट बिंदास अंदाज में कपड़ों के ब्रांड इंडोर्समेंट्स कर रही हैं। चुनी हुई फिल्मों के संग वे साल की सबसे चर्चित अभिनेत्री बनी हुई हैं। कंगना के करियर और ज़िंदगी के तमाम पहलुओं पर बातचीत : क्या निर्माणाधीन फिल्मों से भी एक और नेशनल अवार्ड की उम्मीद है? इस साल मिला अवार्ड मेरे जन्मदिन पर एक सबसे अच्छा तोहफा है। इसके लिए मैं रोमांचित और खुश हूं। अपने आप को सौभाग्यशाली महसूस कर रही हूं। अन्य पुरस्कार...
    April 16, 12:00 AM
  • टीवी में होती है झटपट वाली शूटिंग!
    शमीन मन्नान टेलीविजन का जाना-पहचाना चेहरा हैं। हाल ही में वे एक हिंदी फिल्म में भी नज़र आ चुकी हैं। खास बात ये कि मूलतः असम निवासी शमीन ने फिल्म में मराठी मुलगी का किरदार निभाया। मुलाकात : कहां की रहने वाली हैं? घर में कौन-कौन है? मैं डिब्रूगढ़ (असम) की हूं। घर में मेरे अलावा, मां-पिता और बहन हैं। पिता बिज़नेसमैन हैं, मां हाउसवाइफ हैं, जबकि बहन मुंबई में ही पढ़ाई कर रही है। पढ़ाई-लिखाई कहां हुई? मैंने लिटिल फ्लॉवर स्कूल और साल्ट ब्रुक एकेडमी, डिब्रूगढ़ से शुरुआती पढ़ाई की और फिर इंजीनियरिंग...
    April 9, 12:00 AM
  • दर्शक मेरा एक्सपोजर पसंद नहीं करते
    भोजपुरी हीरोइनों में सर्वाधिक मेहनताना लेने वाली रानी चटर्जी अपने करियर से किन बातों पर खुश और किन पर असंतुष्ट हैं, आइए जानते हैं इस बातचीत में : अब तक आप कितनी फिल्में कर चुकी हैं? मैंने अब तक गिनी नहीं हैं, लेकिन अंदाजा कर कह सकती हूं कि सौ से ज्यादा फिल्में कर चुकी हूं और लगातार काम कर रही हूं। क्या आपको अपनी पहली फिल्म याद है? ऑफकोर्स, मेरी पहली फिल्म मनोज तिवारी जी के साथ थी, जिसका निर्देशन अजय सिन्हा ने किया था। वह भोजपुरी सिनेमा की अब तक की सबसे बड़ी हिट फिल्म है। मुझे संदेह है कि उसका...
    April 9, 12:00 AM
  • जानी, हमें जुकाम नहीं हुआ!
    बाबा जी का ठुल्लू कैचलाइन से कॉमेडियन कपिल शर्मा शोहरत बटोर चुके हैं। अभिनेता राजकुमार ने 1957 में इसी शीर्षक की फिल्म में अभिनय किया था। कुछ कलाकार अदाकारी से ज्यादा, अपनी स्टाइल के चलते मशहूर हुए हैं। कुलभूषण पंडित, यानी राजकुमार की फिल्में देखने के लिए सिनेमाघर पहुंचे दर्शक हर वक्त खास अंदाज़ में कहे जाने वाले डायलॉग्स का इंतज़ार करते थे। 08 अक्टूबर, 1926 को बलूचिस्तान में जन्मे राजकुमार रोजगार ढूंढते हुए मुंबई आ गए थे। यहां पुलिस में बतौर सबइंस्पेक्टर नौकरी लगी। लंबा कद, गठीला बदन और...
    April 9, 12:00 AM
  • मैं सिलेक्टेड फिल्में ही करती हूं
    मैं समझती हूं कि टेलीविजन की जो रीच और पॉपुलैरिटी है, वह फिल्म से बहुत ज्यादा है। आजकल फिल्में कब आती हैं और कब जाती हैं, लोगों को पता भी नहीं चलता। सिनेमा की जो एक दीर्घजीविता होती है, टीवी की वह दीर्घजीविता काफी सीमित होती हैै- यह कहना है अमृता राव का। आगे पढ़िए उनसे बातचीत : आप इन दिनों फिल्मी पर्दे पर कम दिखती हैं। आखिर वजह क्या है? मैंने बहुत पहले से एक डिसीजन लिया था कि सिनेमा में ऐसा काम करूंगी, जिसे परिवार के साथ देखते हुए कंफर्टेबल महसूस करूं। लेकिन ऐसी फिल्में कम बनती हैं। इन फैक्ट, सुभाष...
    April 9, 12:00 AM
  • जीवन को कहीं ठहरना नहीं चाहिए
    लिसा रे दीपा मेहता सहित अन्य कई फिल्ममेकर्स के साथ इंटरनेशनल प्रोजेक्ट्स करते हुए विदेश में ही बस गईं थीं। अब वे वापस भारत आकर अभिनय जगत में सक्रिय हुईं हैं। उनकी योजनाओं के बारे में उनसे यह विशेष बातचीत हुई : किसी प्रोजेक्ट को किस आधार पर स्वीकार करती हैं? हम एक रोल को अलग-अलग कारणों से स्वीकार करते हैं। परफॉर्म करने के अच्छे अवसर के साथ मेरे लिए एक अच्छी स्क्रिप्ट का होना जरूरी होता है। इसलिए कभी अच्छा रोल और कभी अच्छी स्क्रिप्ट को ध्यान में रखते हुए मैं फिल्में साइन करती हूं। यह अनुभव के...
    April 9, 12:00 AM
  • ईश्वर ने मुझे तो एक्टिंग और सिंगिंग के दो टैलेंट दिए हैं
    आयुष्मान खुराना इश्यू बेस्ड फिल्में करके फिल्म इंडस्ट्री में अपनी अलग पहचान बनाने में सफल हैं। उनकी अिभनीत पिछले साल प्रदर्शित यशराज बैनर की फिल्म को हाल ही में बेस्ट हिंदी फिल्म श्रेणी का राष्ट्रीय पुरस्कार मिला है। इस उपलक्ष्य में उन्हें बधाई देने के बाद हमने पूछा: क्या आपको फिल्म की स्क्रिप्ट सुनते या शूटिंग करते समय पूर्वाभास था कि यह सफल होगी और इसको राष्ट्रीय पुरस्कार जैसा बड़ा अवॉर्ड भी मिलेगा? स्क्रिप्ट सुनते या शूटिंग करते वक्त मेरा पूरा ध्यान अपने किरदार पर होता है। कुछ नहीं...
    April 9, 12:00 AM
  • ... तब नज्म जैसा होगा किरदार
    हौले-हौले उभरती मुस्कान और खुलकर बरसती हंसी... कृति सैनन आत्मीय व्यवहार से प्रशंसकों का मन जीत लेती हैं। मासूमियत के साथ-साथ वे बिंदास शख्सियत का अनूठा पैकेज भी हैं। कृति सैनन से चण्डीदत्त शुक्ल ने की बातचीत : युवा प्रेम की कहानी कहते हैं-पहली फिल्म हिट हो जाए तो दूसरीपिक्चर सोच-समझकर चुननी चाहिए। मैंने तो तीसरी और बाकी सभी फिल्मों का सेलेक्शन करते हुए भी इस बात का पूरा ध्यान रखा कि वो दर्शकों की पसंद पर पूरी तरह खरी उतरें। आने वाली फिल्मों में सुशांत सिंह राजपूत के साथ एक प्रेम कहानी शामिल...
    April 9, 12:00 AM