नवरंग
Home >> Magazine >> Navrang
  • गलत होने पर जरूर फाइट करती हूं
    मुंबई में जन्मी, पली-बढ़ी सिमरन परींजा बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट लगभग डेढ़ दर्जन एड फिल्में कर चुकी हैं। इसके बाद पढ़ाई और उसमें मन न लगने पर पूरी तरह अभिनय की तरफ रुख कर लिया। अब तक वे 3-4 सारियल कर चुकी हैं। उनसे बातचीत: लीड रोल तक पहुंचना आपके लिए कितना आसान/मुश्किल रहा? मुश्किल तो था, पर असंभव नहीं। मैंने बचपन में एक्ट्रेस बनने के लिए खूब कोशिश की, लेकिन 2-3 साल तक कई एड् फिल्में करने के बावजूद खास जगह नहीं बना सकी तो एक्टिंग छोड़ दोबारा पढ़ाई करने लग गई। मैं सीए बनना चाहती थी, लेकिन जब 11वीं में पहुंची, तब...
    12:00 AM
  • मेरी मां ही मेरी गॉडफादर है
    उपासना सिंह के पास इन दिनों बताने के लिए तो बहुत कुछ है, पर वे अपने बचपन और मां के साथ बिताए लम्हों की यादें ताजा करना चाहती हैं। उपासना की यादों में कुछ दर्द तो कुछ खुशियाें के पल हैं, जिसे बताते हुए उनके खुद के रोंगटे खड़े हो जाते हैं। पढ़िए उनकी जुबानी : मेरी मां ही मेरी गॉडमदर हैं। उनकी वजह से ही अिभनय क्षेत्र में आई। दरअसल, जब मैंने मां के सामने हीरोइन बनने की इच्छा व्यक्त की, तब घर-पड़ोस के लोग नाराज हो गए। हम रूढ़िवादी सरदार फैमिली से हैं, इसलिए मेरा फैसला लोगों को नागवार गुजरा। लोगों ने मेरी...
    12:00 AM
  • अपनी काबिलयत से यहां तक पहुंची हूं
    ऋचा चड्ढा की आंखों में अभिनय की गहरी भूख दिखती है। वे किसी समकक्ष हीरोइन से नहीं, बल्कि खुद से कंपटीशन बताती हैं। वे स्टारडम के घमंड और दिखावे से दूर, सच्चाई में विश्वास रखती हैं। ऋचा चड्ढा से अंतरंग बातचीत : आप डांस पर आधारित एक फिल्म कर रही हैं। आप अपने आपको डांस में कितना माहिर मानती हैं? मैंने बचपन में 10 साल तक कथक सीखा था। इसके बाद वेस्टर्न डांस की भी ट्रेनिंग ली थी। जब मुंबई आई थी और यहां मेरे पास काम नहीं होता था, तब डांस क्लास और थिएटर क्लास ही करती थी। फिल्मों में बिजी होने के बाद डांस से...
    12:00 AM
  • सबके विश्वास का मेरा सिनेमा
    अमिताभ बच्चन फिल्म दर फिल्म अपनी क्षमताओं और विविधताओं का नजारा पेश करते जाते हैं। दर्शक मंत्रमुग्ध हो उन्हें देखते हैं और फिर से कुछ और नए की अपेक्षा करने लगते हैं। लेकिन शायद यह बायोपिक का जोनर है, जिसमें अमिताभ को देखना दर्शकों को कभी मयस्सर न हो। आइए जानते हैं, इस बातचीत में कि आखिर क्यों? क्या बदलती तकनीकी के इस माहौल में चरित्र के लिए की गई तैयारियों में कुछ बदलाव पाते हैं? मैंने हाल में एक फिल्म पिंक कंपलीट की है। जो सबसे बड़ा अंतर आया है, वह यह है कि अब सेल्युलॉयड तो रहा ही नहीं। हमारे...
    12:00 AM
  • फिल्मों का भविष्य कोई भी नहीं बता सकता
    अक्षय कुमार अपनी स्टारडम पर कभी इतराते नहीं हैं। वे विवादों के बजाय फिल्मों की सफलता को लेकर चर्चा में रहते हैं। समाज के प्रति भी अपनी जिम्मेदारी समझते हैं वे... मुझे सीरियस, रोमांस, एक्शन या अन्य जोनर की अपेक्षा कॉमेडी करना बहुत मुश्किल लगता है। लेकिन दुर्भाग्य से कॉमेडी करने वाले एक्टर्स को गंभीरता से नहीं लिया जाता। इन्हें न तो कोई अवॉर्ड मिलता है और न ही तवज्जो। इनकी कोई अलग से पहचान भी नहीं बनी। मैं इतने वर्षों के अनुभव के बाद अभी भी कॉमेडी सीख रहा हूं कि कैसे ऑडियंस को हंसाया जाए। हां,...
    12:00 AM
  • मैं एक्ट्रेस हूं ही नहीं!
    हिट मराठी फिल्म नटसम्राट में नाना पाटेकर के अपोजिट कावेरी की मुख्य भूमिका निभाकर चर्चा में आई मेधा मांजरेकर स्पा और स्किन कंसल्टेंट भी हैं। निर्देशक महेश मांजरेकर की पत्नी मेधा अपने करियर, आध्यात्मिकता और भविष्य की योजनाओं के तईं यूं बताती हैं : म राठी सिनेमा के बढ़ते प्रभाव और लोकप्रियता को किस तरह देख रही हैं? यह बहुत ही पॉजिटिव साइन है। हाल में हमने सैराट देखी। बहुत ही ब्यूटीफुल फिल्म है। दोनों नए कलाकार हैं। एकदम स्पष्ट है कि दर्शक कंटेंट को महत्व दे रहे हैं। मार्केट की पूर्व चिंता से...
    June 18, 12:00 AM
  • टेलीविजन नहीं छोड़ना चाहती
    टेलीविजन जगत में रतन राजपूत जाना-पहचाना नाम है। वे स्क्रीन पर रहें या नहीं, लोग उनके बारे में जानने को उत्सुक रहते हैं। खैर, इन दिनों वे एक धार्मिक टीवी शो में संतोषी का रोल निभा रही हैं। को-स्टार्स, टीवीजगत की चुनौतियों आदि पर वे बताती हैं: आप निजी जीवन में कितनी धार्मिक हैं? आपके इष्टदेव कौन हैं? मैं अाध्यात्मिक बहुत हूं। मेरा ईश्वर पर अटूट विश्वास है। मैंने यहां तक जो जीवन जिया, वह ईश्वर का दिया हुआ है। गांव की कुलदेवी जगदंबा माता हैं। मैं लक्ष्मीनारायण, कृष्णजी को बहुत मानती हूं। मैं बचपन...
    June 18, 12:00 AM
  • बनावटी सिनेमा और बातों पर विश्वास नहीं
    छोटे पर्दे से बड़े पर्दे पर आए कलाकारों में अब गौतम गुलाटी का नाम भी शुमार होने जा रहा है। बिग बॉस-8 के विजेता गौतम को इस शो से काफी लोकप्रियता मिली थी। अब वे अपने करियर के बारे में क्या सोचते हैं, आइए जानते हैं इस बातचीत में : बिग बॉस-8 के बाद आपके करियर में किस तरह का बदलाव आया? बेशक, बडा बदलाव आया है। इंशा अल्लाह, मैं इसी तरह आगे बढ़ता रहूंगा। टच वुड, दर्शक आज भी मुझे बहुत प्यार करते हैं। लेकिन यह मेरी च्वाइस है कि मुझे क्या करना है? दरअसल, दर्शकों को यह पता नहीं है कि मेरे लिए हर फिल्म साइन कर लेना...
    June 18, 12:00 AM
  • ज्यादा प्लानिंग में विश्वास नहीं करती...
    ब्यूटी विद ब्रेन ऐश्वर्या रॉय बच्चन सामाजिक-राष्ट्रीय मुद्दों पर अपनी स्पष्ट सोच रखती हैं। पहली इंटरनेशनल स्टार ऐश्वर्या कान फिल्म फेस्टिवल कभी मिस नहीं करतीं। उनकी वापसी, फिल्मोत्सव, वर्तमान में नारी की सामाजिक स्थिति सहित कई मुद्दों पर बातचीत... आप पिछले कई सालों से कान फिल्म फेस्टिवल में शिरकत कर रही हैं। वहां जाने के पीछे आपका उद्देश्य क्या होता है? हर बार एक नया उद्देश्य और नया अनुभव होता है। हालांकि वहां हर साल सिनेमा की एक ही विश्व-बिरादरी होती है, लेकिन पिछले 15 वर्षों से मुझे हर...
    June 18, 12:00 AM
  • मेरा प्राइवेट लाइफ अब प्राइवेट नहीं रही
    लगभग 25 वर्षों से सिने-जगत में अपनी अलग स्टारडम और कार्यशैली के साथ सक्रिय शाहरुख खान अपने व्यवसाय में संतुष्ट दिखते हैं। इससे इतर जब वे अपने व्यक्तिगत जीवन में झांकते हैं तो कुछ मिस करने की पीड़ा उनकी बातों में झलकती है। परिवारिक और व्यावसायिक जीवन की चुनौतियों पर शाहरुख से बातचीत : यह जिंदगी मेरी नहीं! एक स्टार को यह स्वीकार कर लेना चाहिए कि मेरी प्राइवेट लाइफ अब प्राइवेट नहीं रही। इंडस्ट्री में 6-7 साल बिताने के बाद मेरी फैमिली ने भी मान लिया था कि अब मैं सिर्फ उनका नहीं हूं। पिछले दिनों मेरे...
    June 12, 12:23 PM
  • इमेज को लेकर काफी सर्तक हूं
    आज की स्मिता पाटिल कही जाने वाली हुमा कुरेशी का मानना है कि वह किसी भी भूमिका को निभाने के लिए फिट हैं। वह बताती हैं कि वह बहुत ही इमोशनल लड़की हैं, लेकिन इमोशन को वश में करना जानती हैं। और क्या कहा उन्होंने जानते हैं : रंगमंच और इमेज सिस्टम रंगमंच का अनुभव साथ होना अच्छा भी होता है और बुरा भी। अगर आप रंगमंच के एक्टर रह चुके हैं तो लोग सहज ही आपको अच्छा एक्टर मान लेते हैं। आपको अच्छी, चुनौतीपूर्ण भूिमकाएं ऑफर होती हैं। लेकिन इसका नुकसान यह भी है कि आप पर्सनैलिटी से कितने भी हैंडसम हों, कितनी भी...
    June 12, 12:22 PM
  • सपनों का राजकुमार एज्युकेटेड होना चाहिए
    नेहा मेहता अपने आपको पॉजिटिव सोच की बताती हैं। वे मीडिया के साथ थोड़ा रिजर्व रहती हैं, लेकिन मीडिया की रिस्पेक्ट भरपूर करती हैं। उनका मानना है कि अगर कुछ बताने लायक चीज हो, तब मीडिया के सामने आऊं तो अच्छा लगता है। एक धारावाहिक में 8 वर्षों से एक ही किरदार निभाती आ रहीं नेहा से कई मुद्दों पर बातचीत : कई वर्षों से एक ही किरदार में बंधे रहने से क्या ऊब महसूस नहीं होती? नहीं, बिल्कुल नहीं, बल्कि एज एन एक्टर और ज्यादा बेहतर करने की इच्छा होती है। मैं वर्कहॉलिक पर्सन हूं, इसलिए कोई कमी या ऊब या थकावट...
    June 12, 12:19 PM
  • कहानी ज्यादा महत्वपूर्ण
    शाहरुख की पिछली रिलीज फिल्म में श्रिया ने अपने चरित्र और अभिनय से दर्शकों का ध्यान आकर्षित किया है। प्रस्तुत है श्रिया से हाल में हुई बातचीत : शा हरुख के अपोजिट अपनी पिछली रिलीज फिल्म के प्रदर्शन से कितनी खुश हैं? मैं फिल्म के प्रदर्शन और मिले रिस्पांस से बेहद खुश और संतुष्ट हूं। रोल छोटा था, इसका कतई दुख नहीं हैं। यह रोल आपको किस तरह मिला था? मैंने यशराज स्टूडियो में एक ऑडिशन दिया हुआ था। वह ऑडिशन शाहरुख सर के साथ वाली फिल्म के लिए नहीं था, यह तो मुझे पहले ही मालूम था। शायद उन्होंने मेरा वह...
    May 28, 12:00 AM
  • मैं तो डॉक्टर बनना चाहती थी...
    ग्रेसी पढ़ाई-लिखाई में काफी तेज थीं। बचपन में मां की तरह टीचर या डॉक्टर बनना चाहती थीं। लेकिन किस्मत ऐसी पलटी कि वे मनोरंजन जगत में आ गईं। सीरियल के बाद आमिर खान स्टारर फिल्म में पहला ब्रेक पाने के बारे में वे बताती हैं: मैंने कभी सोचा भी नहीं था कि बड़ी होकर अिभनय करूंगी। मेरी फैमिली का बहुत एज्युकेशनल बैकग्राउंड रहा है, इसलिए हमेशा पढ़ाई-लिखाई पर ही ध्यान होता था। मैं पढ़-लिखकर डॉक्टर या मम्मी की तरह टीचर बनना चाहती थी। लेकिन कला से भी लगाव था, इसलिए स्कूल में पेंटिंग, म्यूजिक, डांस वगैरह में भी...
    May 28, 12:00 AM
  • वे बड़े कंजूस हैं...
    ज़हीन लोगों को पसंद करने वाली शाबाना आजमी खुद बड़ी इंटेलीजेंट महिला हैं। शबाना इंडस्ट्री में कदम रखने से लेकर अपने दोस्तों, पति जावेद अख्तर एवं सोनम कपूर के साथ काम करने का अनुभव कुछ इस प्रकार शेयर करती हैं: मशहूर शायर-गीतकार कैफी आजमी की बेटी हैं। अिभनय की तरफ रुचि-रुझान कब हुआ और पहला ब्रेक कैसे मिला? मैं सिर्फ 4 महीने की थी, तब मम्मी मुझे अपनी पीठ पर लादकर पृथ्वी थिएटर ले जाया करती थीं, जहां वे एक्ट्रेस थीं। पृथ्वी राज कपूर के साथ वे काम करती थीं। काफी समय तक यह सिलसिला चलता रहा। इसके बाद जब...
    May 28, 12:00 AM
  • नबंर 1 बनी रहने का रास्ता साफ
    दीपिका पादुकोण की पिछली सुपरहिट एेतिहासिक प्रेम कहानी से पहले बहुत से लोग कंफ्यूज थे कि प्रियंका चोपड़ा, कैटरीना कैफ और दीपिका पादुकोण में से नंबर-1 की पोजीशन पर किसे मानें। लेकिन अब यह कंफ्यूजन दूर हो गया है... अधिकतर पत्र-पत्रिकाएं न सिर्फ अनुमान के आधार उन्हें नंबर-1 मानने लगी हैं, बल्कि हाल ही में 29 शहरों में किए गए एक सर्वेक्षण में दीपिका ने इतने बड़े बहुमत से नंबर-1 की पोजीशन प्राप्त की, जिसमें कैटरीना और प्रियंका काफी पीछे रहीं। इस सर्वेक्षण में दीपिका लगातार दूसरी बार नं.-1 पर रहीं, जबकि 2...
    May 28, 12:00 AM
  • अम्मा ने सिखाया दूसरों का ख्याल रखना
    आमिर खान अभिनेता होने से इतर सामाजिक सरोकार के मुद्दों पर अपनी बेबाक राय रखते हैं। गंभीर छवि के कारण उन्हें विश्वसनीयता के साथ देखा-सुना जाता है। वे उन अभिनेताओं से भी अलग हैं, जो केवल अपनी फिल्म के प्रोमोशन के समय मीडिया से मिलते हैं और उस फिल्म के प्रचार से संबंधित बातें ही करते हैं। आमिर से यह बेलाग बातचीत : आपने अपनी पिछली रिलीज के दौरान चीन की यात्रा के तहत वहां के प्रसिद्ध शहर शंघाई का भ्रमण किया था। हमारे नेता मुंबई को शंघाई बनाने की बात कहते हैं। दोनों शहरों को तुलनात्मक ढंग से देखते...
    May 21, 01:37 PM
  • सोनम बुलंदी की हकदार हैं
    सोनम स्वास्थ्य को लेकर काफी अलर्ट हैं। वे एक्सरसाइज के सामान और ट्रेनर साथ लेकर चलती हैं। सभी जानते हैं कि सोनम फैशन को लेकर बहुत एडवांस हैं। उनके बारे में बता रहे हैं दीपक डोबरियाल : सोनम कपूर के साथ पहली फिल्म करने के दौरान 2008 में मिला था, तब से वे अच्छी दोस्त बन गईं। सोनम के साथ अब तक दो फिल्में कर चुका हूं। चूंकि सोनम से पहले इंडस्ट्री में आया था, इसलिए सोनम मुझे सीनियर का रिस्पेक्ट देती हैं। लेकिन उनके साथ दो फिल्मों में अिभनय करने के बाद अब जाकर वे फुल दोस्ती वाला रिस्पेक्ट रखती हैं। पहले...
    May 21, 01:36 PM
  • कुशल विद्यार्थी विद्या
    फिल्मी इतिहास गवाह है कि शुरू में कई एक्टर्स ने असफलता और अवहेलना का जितना सामना किया, प्राय: उन्हें उतनी बड़ी सफलता भी मिली। विद्या बालन भी ऐसे एक्टर्स में से एक हैं। विद्या बालन की सफलताओं और असफलताओं के बारे में अनिल राही की रिपोर्ट : सीरियल हम पांच के बाद विद्या ने जब फिल्मी करियर शुरू करना चाहा तो हिंदी सिनेमा में उन्हें कोई ब्रेक देने वाला ही नहीं मिला। किसी चमत्कार की तरह उन्हें साउथ में सुपर स्टार मोहनलाल के अपोजिट मलयालम फिल्म मिली तो दर्जन भर मलयालम फिल्में उनकी झोली में आ गिरीं।...
    May 21, 01:34 PM
  • मंटो की मेच्योरिटी में सब सहज लगा
    जॉन अब्राहम के अपोजिट पहली फिल्म करने वाली साेनल इन दिनों मंटो की कहानियों पर आधारित फिल्म में मुख्य चरित्र निभा रही हैं। सोनल से यह विशेष बातचीत : पहली फिल्म नागेश कुकनूर के साथ करने का कैसा अनुभव रहा? समझिए कि बेस्ट लोगों का साथ मिला। नागेश जी से सीखा कि किस तरह कहानी और निर्देशन को ध्यानपूर्वक किया जाना चाहिए। चूंकि सिनेमा, टीवी या एड-फिल्म नहीं है, सो 2 घंटे में कहानी कहने का अनुभव कमाल ही लगा। मंटो की कहानियों पर आधारित यह फिल्म आपको किस तरह मिली? मैंने साल 2012 में एक फिल्म की थी, जिसमें...
    May 21, 01:31 PM