रसरंग

  • देखिये ट्रेनडिंग न्यूज़ अलर्टस
Home >> Magazine >> Rasrang

Rasrang

  • हाल ही में कई खिलाड़ियों ने खेल मंत्रालय को चिट्ठी लिखकर शिकायत की है कि उनके हिस्से की आधी डाइट अधिकारी व कोच उन तक अाने ही नहीं देते। भास्कर ने देश भर के 8 साई सेंटर्स पहुंच कर वहां की सच्चाई जानी... विभिन्न खेलों में देश के लिए पदक लाने की तैयारी करने वाले खिलाड़ियों को बेहतर डाइट तक नहीं मिल पा रही है। हालही में खिलाड़ियों द्वारा स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया(साई) को लिखित रूप से शिकायतें दी गईं, जिसमें बताया गया कि उनके कोच और अधिकारी सरकार की तरफ से मिलने वाले ड्रायफ्रूट्स और फल उन तक पहुंचने ही...
    February 26, 12:00 AM
  • कहानी: पिता
    जिस व्यक्ति की यहां कहानी कही जा रही है वह अपने इलाके का सर्वाधिक प्रभावशाली एवं धनवान किसान था। उसका नाम था थोर्ड ओवरास... एक दिन वह गर्व से भरा हुआ पादरी के अध्ययनकक्ष में पहुंचा। मेरा लड़का हुआ है, उसने कहाऔर बपतिस्मा के लिए मैं उसे लाना चाहता हूं। उसका नाम क्या रखोगे? अपने पिता के नाम पर उसका नाम फिन रखना चाहता हूं। और धर्मपिता? उसने जो नाम लिया वे प्रत्यक्ष इलाके के सर्वश्रेष्ठ स्त्री-पुरुष थे। और कुछ? पादरी ने उसकी ओर देखते हुए पूछा। किसान थोड़ा हिचकिचाया। मेरी बहुत इच्छा है कि बपतिस्मा...
    February 26, 12:00 AM
  • कहानी: झींफरा
    कोई किसी का दिया हुआ नहीं खाता। पशु तो अपनी मेहनत की कमाई ही खाता है! ईश्वर ने जिसे चोंच दी है चुग्गा भी देता है... उसने अपनी जेब से चश्मा निकालकर धोती के पल्ले से अच्छी तरह पोंछा। चश्मे की कमानियों पर पक्का धागा बंधा हुआ था जो कि पसीने और मैल से काला पड़ गया था। चश्मे को पोंछा और आंखों पर चढ़ाकर उसका धागा कानों में लपेट लिया। अब उसकी आंखें मोटी-मोटी दिखने लगीं, अपनी जवानी के दिनों में तो इन आंखों की त्यौरियां और सुंदरता देखने लायक थीं। अचानक सिर में चीसें चलने लगीं। डॉक्टर के पास पहुंचा तो पता चला कि...
    February 20, 05:43 PM
  • CRIME: हमदर्दी के लिए खतरनाक अपराधी लेते हैं मानसिक बीमारी का सहारा
    देश में साइको किलिंग के मामले सामने आ रहे हैं। हाल ही में एक और वीभत्स चेहरा सामने आया। खुद को आईआईटियन बताने वाले उदयन ने भोपाल में अपनी गर्लफ्रेन्ड की हत्या कर उसे संदूक में सीमेंट के घोल में दफना दिया । बाद में एक और खुलासा हुआ- उदयन अपने माता-पिता की हत्या कर पहले ही उन्हें घर के बगीचे में गाड़ चुका था। ऐसे अधिकतर मामलों में सजा में नरमी के लिए आरोपी खुद को मानसिक बीमार बताते हैं। भास्कर ने ऐसे ही तीन चर्चित मामलों की पड़ताल की। खुद वकीलों, विशेषज्ञों ने कहा- साइको क्रिमिनल्स अपराध करने से पहले...
    February 20, 11:32 AM
  • लखनऊ से ग्राउंड रिपोर्ट UP चुनाव: सैलरी 2 लाख , टारगेट 50% वोट बढ़ाने का
    उत्तरप्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए पॉलिटिकल पार्टियों की हाईटेक तैयारियां कैसी है? वहां क्या चल रहा है? यह जानने के लिए दैनिक भास्कर डॉट कॉम के रोहिताश्व मिश्रा और दिनेश मिश्रा प्रमुख पार्टियों के वॉर रूम पहुंचे और जाना वहां का पूरा माहौल... एक लाख से ज्यादा लोग... हॉकी की पिच से बड़ा हाईटेक ऑफिस... दीवार पर लगी 52 इंच से बड़ी और छोटी एलईडी टीवी... IIT-IIM पासआउट वेल ड्रेस्ड केबिन में बैठे इम्प्लॉई... और सबके पास लेटेस्ट लैपटॉप..। यकीनन ये नजारा किसी बड़ी कंपनी के ऑफिस का लग रहा होगा, लेकिन ऐसा नहीं है। ये...
    February 15, 08:51 PM
  • कहानी: देवी सिंह
    फैंसी बाज़ार के लम्बे बरामदे में से होता हुआ मैं चला जा रहा था। जहां-तहां कंघी-शीशे, चादर-तौलिए और फीते-तस्मे बेचनेवाले बरामदे के खम्भों से लगे बैठे थे। उनके बीच में से गुज़रना वैसा ही था... बा बूजी, कुछ मैगज़ीन ख़रीदेंगे? मिस्टर अस्थाना ने उसका सवाल नहीं सुना। सवाल तो दूर, किसी का जवाब सुनना भी उन्हें गवारा नहीं होता। अपनी ही बात उन्हें कितनी प्रिय है, यह मैं अक्सर सोचा करता हूं। मुझसे बोले, तुम्हारी दलीलें सब वैसी होती हैं। तुम, एक आदमी के प्रयास को देखकर ही मुग्ध हो जाते हो; तुम्हें यह दिखता ही...
    February 12, 12:00 AM
  • इनसाइड स्टोरी: 399 की घड़ी छूट के बाद 479 में बेचने का झूठा विज्ञापन
    हर महीने एएससीआई एडवर्टिजमेंट स्टैंडर्ड काउंसिल आॅफ इंडिया के पास विज्ञापन मानकों का उल्लंघन करने वालों की लंबी सूची उपभोक्ताओं और विज्ञापनदाताओं की ओर से पहुंच रही है। शिकायत करने वालों में उपभोक्ता संगठन और सिविल सोसाइटी समूह भी शामिल हैं। उदाहरण के तौर पर कंज्यूमर कंप्लेंट्स काउंसिल सीसीसी के पास 2015-16 में 2020 शिकायतें आईं, जिनमें से 1271 को सही पाया गया। रिपोर्टों पर नजर डालें तो पता चलता है कि झूठे, भ्रामक और निराधार दावों वाले विज्ञापन सिर्फ एक या दो क्षेत्रों में तक सीमित नहीं हैं।...
    February 5, 12:00 AM
  • अजबगजब:यहां पुलिस मंदिर में निपटाती है विवाद
    गुढ़ागौड़जी पुलिस थाने में एक विचित्र परंपरा पिछले 40 सालों से चली आ रही है। 2016 में इस थाने में 1348 परिवाद आए, जिनमें से 800 परिवाद बालाजी मंदिर में ही निपटा दिए गए... पुलिस थाने में बने मंदिर में बैठे पुलिसकर्मी व अन्य। मंदिर में हर मंगलवार व शनिवार को सामूहिक सुंदरकांड का पाठ एवं हनुमान चालीसा पाठ किया जाता है... 40 साल पहले कांस्टेबल ने बनवाया था मंदिर गुढ़ा थाने में करीब 40 साल पहले कुएं का निर्माण कराया गया। उसके साथ ही मंदिर का भी निर्माण हुआ था। यह मंदिर कांस्टेबल गोकुलचंद अहीर ने बनाया था। इस...
    February 5, 12:00 AM
  • COVER STORY: अनजान चेहरे जिन्हें पद्मश्री अवार्ड के लिए चुना गया
    करीमुल हक-पैसे नहीं थे तो बाइक को 24x7 एम्बुलेंस बनाया... 10 साल में 3000 लोगों की बचाई जान 52 साल के करीमुल हक जलपाईगुड़ी में चाय के बागान में काम करते हैं। पास ही धालाबाड़ी गांव में रहते हैं। दूर-दराज के इलाकों में एम्बुलेंस पहुंचाकर ये मरीजों को जिले के अस्पताल तक पहुंचाते हैं। कई बार वह बीमार लोगों को फर्स्ट एड भी देते हैं। पिछले 10 वर्षों से वे यह काम कर रहे हैं। एक दिन साथी वर्कर बागान में बेहोश होकर गिर पड़ा। करीम ने अपने मित्र को पीठ से बांधकर उसे अपनी बाइक पर बैठा स्वास्थ केंद्र पहंुचाया। यह गांव से 6...
    January 29, 12:00 AM
  • कहानी: हीरे का हीरा
    हीरे का हीरा तीन वर्ष के पतिवियोग और दारिद्रय की प्रबल छाया से रात-दिन के रोने से पथराई और सफेद हुई गुलाबदेई की आंखों पर आज फिर कुछ यौवन की ज्योति और वर्ष के लाल जोरे आ गए हैं... लकड़ी की टांग की प्रत्येक खट-खट मानो उनकी छाती पर हो रही थी और ज्यों-ज्यों वह आहट पास आती जा रही थी, त्यों-त्यों उसी प्रेमपात्र से मिलने के लिए उन्हें अनिच्छा और डर मालूम होते जाते थे कि जिसकी प्रतीक्षा में उसने तीन वर्ष कौए उड़ाते और पल-पल गिनते काटे थे... आ ज सवेरे से ही गुलाबदेई काम में लगी हुई है। उसने अपने मिट्टी के घर के...
    January 29, 12:00 AM
  • Cover Story:इन महिला अफसरों ने नक्सल इलाकों में बदलाव अभियान छेड़ा
    बस्तर के नक्सल प्रभावित क्षेत्र में हाल ही में सीआरपीएफ की डिप्टी कमांडेंट बनकर आई उषा किरन इस समय सुर्खियों में हैं। नक्सल समस्या से जूझ रहे बस्तर संभाग में विषम परिस्थितियों और चुनौतियों से लड़ने वाली और कई उषा भी हैं, जो लंबे समय से वहां डटी हुई हैं। ये उच्चशिक्षित महिलाएं जान जोखिम में डालकर उन इलाकों में ड्यूटी कर रही हैं जिनमें पहले केवल पुरुष ही काम करते थे। ये दुर्गम इलाकों में पैदल और बाइक से पहुंचती हैं। लोगों की समस्याओं के हल खोजती हैं। उनके अच्छे व्यवहार से पुलिस की छवि बदली है।...
    January 22, 12:00 AM
  • कहानी: स्वार्थी राक्षस
    प्रत्येक दिन दोपहर को जब लड़के स्कूल से पढ़कर लौटते थे तो वे राक्षस के बगीचे में खेलने के लिए जाते थे। यह बगीचा बड़ा और सुन्दर था जिसमें मुलायम हरे घास की मखमल बिछी हुई थी। घास पर सुन्दर पुष्प आसपास के सितारों की तरह जड़े हुए थे। बगीचे से बाहर मौलश्री के वृक्ष थे जिसमें बसन्त ऋतु में गुलाबी और मोती के समान श्वेत मृदुल कलिकायें प्रस्फुटित होती थीं। शरद ऋतु में जिन वृक्षों में बढ़िया फल लगते थे, चिड़ियां इन वृक्षों पर बैठती थीं और मधुर राग में गाया करती थीं। बच्चे उन्हें सुनने के लिए अपना खेल...
    January 22, 12:00 AM
  • पाकिस्तान डायरी: पटियाला घराने का अनमोल रत्न
    हमारे यहां क्लासिकी मौसीक़ी को पसंद करने वाले अब बहुत कम लोग हैं। उनके लिए उस्ताद फतेह अली ख़ान की रुख़्सती एक बहुत बड़ा सदमा है। वो पटियाला घराने से ताल्लुक़ रखते थे आैर इस घराने के मौसीक़ारों में उनका अपना एक मुक़ाम था। हिंदो पाक में क्लासिकल मौसीक़ी में पटियाला घराना किसी परिचय का मोहताज नहीं है। इस घराने से ताल्लुक़ रखने वाले सभी गुणी लोगों ने अपनी गायकी की बदौलत हमेशा ही लोगों के दिलों पर राज किया है। इस घराने में वैसे तो बड़े-बड़े नाम शामिल हेैं लेकिन इन्ही नामवर गायकों में एक नाम उस्ताद फतेह अली...
    January 16, 04:15 PM
  • कहानी: तारा और किरण
    वह विस्मित होकर रुक गया। नील जलपटल की दीवारों से निर्मित शयन-कक्ष-द्वार पर झूलती फुहारों की झालरें और उन पर इंद्रधनुष की धारियां। रंग-बिरंगी आभा वाली कोमल शय्या और उस पर आसीन स्वच्छ और प्रकाशमयी वरुणबालिका। उसका गीत रुक गया और वह देखने लगा, सौंदर्य की वह नवनीत ज्योति... वरुणा आगंतुक की ओर एक कुतूहल की दृष्टि डालकर सजग हो गई। सुरमई बादल के आंचल को उसने कंधों पर डाल लिया और बैठ गई। उर्मि, क्या यही तुम्हारी नवीन खोज है? आगंतुक की ओर इंगित करते वरुणा बोली। हां रानी साथ की मत्स्यबाला बोली। कल संध्या...
    January 16, 04:12 PM
  • सेल्फी : चेहरे की सर्जरी का चस्का
    सेल्फी की लत लोगों को ऐसी लग रही है कि वो बीमार बनते जा रहे हैं। सेल्फी एडिक्टेड लोगा दिनभर स्मार्टफोन पर खुद की तस्वीर उतारते रहते हैं। और उन तस्वीरों को सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर अपलोड करते हैं। सेल्फी दिखने में आकर्षक हो इसके लिए लोग तरह-तरह के स्टंट और मेकअप भी करते हैं। हालात तो बन गए हैं कि कई टीनएजर्स सेल्फी में सुंदर दिखने के लिए चेहरे की प्लाटिक सर्जरी तक करा रहे हैं। कोलाकाता एक हास्पिटल में प्लास्टिक सर्जरी के ओपीडी विभाग में 150-200 फीसदी नए मरीजों की वृद्धि देखी गई हैं। हाल ही में देश...
    January 16, 04:02 PM
  • ग्राउंड रिपोर्ट: जिसे अंधविश्वास ने बनाया था  ‘भुतहा गांव’वह फिर होगा आबाद
    अंधविश्वास के चलते राजस्थान का कुलधरा गांव सोशल साइट्स और अन्य सभी जगह भुतहा गांव के नाम से बदनाम है। भास्कर के दो रिपोर्टर व एक फोटो जर्नलिस्ट ने पूरी रात गांव में बिताई। वहां अंधविश्वास के गढ़े भूत तो दिखे नहीं, लेकिन गांव का सुनहरा भविष्य जरूर दिखा... 191 साल पहले दीवान के डर से कुलधरा गांव खाली हो गया था। बाद में लोगों ने इसे भुतहा गांव कहकर बदनाम कर दिया... 1825 में रातों-रात खाली हुए 2000 घरों वाले गांव को पर्यटन के लिए ~20 करोड़ की लागत से विकसित किया जा रहा है... वॉक-वे, म्यूजियम, कैफेटेरिया, शानदार...
    January 8, 12:00 AM
  • पाकिस्तान डायरी: जब एक अबार ने नहीं मानी थी सरकार की बात
    ये पाकिस्तान में मोहम्मद अली जिन्नाह की याद मनाने के दिन हैं। कराची की क़ायदे-ए-आज़म एकेडमी में उनके बारे में बात करते हुए मैंने उनकी जि़दगी के कुछ आख़िरी महीनों के बारे में बात की जो कि उन्होंने कराची में गुज़ारे थे। मैंने पाकिस्तान की पहली लेजिस्लेटिव असेंबली में उनकी तक़रीर का ज़िक्र किया जो उन्होंने 11 अगस्त 1947 को दी थी। ये उनकी वही तारीख़ी तक़रीर है जिसमें उन्होंने कहा था कि आप आज़ाद हैं आप पाकिस्तान की रियासत में अपने मंदिरों में जाने के लिए अपनी मस्जिदों में या अपनी किसी भी इबादतगाहों में जाने के...
    January 8, 12:00 AM
  • जानलेवा हवा:  जहरीली हवा से दिल्ली के 860 बच्चों को हुआ कैंसर..
    दिल्ली की हवा में घुल रही जहरीली हवा की सबसे बड़ी मार बच्चों को बुरी तरह से प्रभावित करने लगी है। पिछले साल भर में राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर हुए विभिन्न शोध अब साफ-साफ बताने लगे हैं कि दिल्ली के 14 साल से कम उम्र के बच्चों में अस्थमा से लेकर कैंसर जैसी घातक बीमारियां सबसे ज्यादा होने लगी हैं। हाल ही में इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) की ओर से जारी कैंसर रजिस्ट्री के अनुसार 14 साल से कम उम्र के बच्चों में कैंसर के नए मामलों की दर दिल्ली में सबसे ज्यादा है। दिल्ली में पिछले साल...
    December 25, 12:00 AM
  • बेफिक्र एयरलाइंस: हवाई सफर में दाेगुनी हुई बुुरे बर्ताव की शिकायतें...
    मुंबई से बैंकाक जाने वाली जेट एयरवेज की फ्लाइट 9डब्ल्यू-070। अचानक उड़ान के दौरान 3डी सीट पर बैठे कौशल सी. भामुवनी के पास ही बैठे एक दूसरे मुसाफिर की तबीयत बिगड़ गई। हृदय की बीमारी के चलते उल्टियां शुरू हो गईं। संयोग से इसी फ्लाइट में हृदयरोग विशेषज्ञ डॉ. आलोक मोदी भी थे। आलोक मदद के लिए आगे आए, उन्होंने फ्लाइट क्रू से मेडिकल बॉक्स मांगा। क्रू ने मेडिकल बॉक्स तो नहीं दिया, उल्टे उन्हीं से उनकी योग्यता का प्रमाण लेना शुरू कर दिया। बहस के बीच ही पता चला कि फ्लाइट में जरूरी उपकरण ही नहीं थे। बदइंतजामी का...
    December 18, 12:00 AM
  • कहानी: मोटर के छींटे
    रात खूब वर्षा हुई थी, सड़क पर जगह-जगह पानी जमा था। मैं अपने विचारों में मगन चलता चला जाता था कि एक मोटर छप-छप करती हुई निकल गई... क्या नाम कि प्रातःकाल स्नान-पूजा से निपट, तिलक लगा, पीतांबर पहन, खड़ाऊं पांव में डाल, बगल में पत्रा दबा, हाथ में मोटा सा शत्रु-मस्तक-भंजन ले एक जजमान के घर चला। विवाह की साइत विचारनी थी। कम से कम एक कलदार का डौल था। जलपान ऊपर से। और मेरा जलपान मामूली जलपान नहीं है। बाबुओं की तो मुझे निमंत्रित करने की हिम्मत ही नहीं पड़ती। उनका महीने भर का नाश्ता मेरा एक दिन का जलपान है। इस विषय...
    December 18, 12:00 AM

पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

* किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.