रसरंग
Home >> Magazine >> Rasrang
  • Pakistan Diary: जिक्र एक अनोखे जश्न का
    कुछ सालों पहले हमारे रिश्तेदार और दोस्त कराची का रुख तक नहीं करते थे, कुछ तो पाकिस्तान में कदम तक नहीं रखते थे। अमेरिका और यूरोप से एडवाइज़ जारी होती थी कि शहरी पाकिस्तान का सफर न करें, आतंकवादी कभी भी हमला कर सकते हैं। इन खतरों के बावजूद कुछ लोग कराची और पाकिस्तान के बाकी शहरों में आते रहे और हम भी कभी-कभी किताबों, मौसीकी का जश्न मनाते रहे। कुछ दिनों पहले कराची में खुसरो यानी की किन्नरों ने अपना 4 दिनों का जश्न मनाया, जिसमें उनकी मुश्किलों, तौर तरीकों और संस्कृति के विभिन्न पहलुओं पर रोशनी डाली...
    May 1, 02:26 PM
  • 150 करोड़ कमा गई ‘द जंगल बुक’, हॉलीवुड ने दी बॉलीवुड फिल्मों को चुनौती...
    हाल ही में आई हॉलीवुड फिल्म द जंगल बुक इस साल भारत में अब तक सबसे अधिक कमाई करने वाली फिल्म बन गई है। इसने 150 करोड़ रुपए से अधिक की कमाई की है। इसके पहले भी हॉलीवुड ने बॉलीवुड फिल्मों को चुनौती दी है। ऐसे में ये सवाल जायज है कि क्या हॉलीवुड की फंतासी फिल्में हमारी हिंदी फिल्मों के दर्शकों को अपनी ओर खींच रही हैं। भास्कर के सुनील कुकरेती, अजय कुमार दुबे और महेंद्र गुप्ता की रिपोर्ट... जंगल बुक ने बॉक्स ऑफिस के इस साल के सभी रिकॉर्ड तोड़ दिए। उसके सामने शाहरुख खान की फैन भी पिट गई है। गौरतलब है कि कुछ...
    May 1, 12:00 AM
  • कहानी: मोटेराम जी शास्त्री
    मोटेराम-तुम्हें जब देखो, पेट ही की फ्रिक पड़ी रहती है। कोई ऐसा विरला ही दिन जाता होगा कि निमंत्रण न मिलते हो, और चाहे कोई निंदा करे, पर मैं परोसा लिए बिना नहीं आता हूं। आज ही सब यजमान मरे जाते हैं?... रानी ने भागकर दूसरे कमरे की शरण ली और किवाड़ बंद कर लिए। पंडितजी पर बेभाव पड़ने लगे। यों तो पंडितजी भी दमखम के आदमी थे, एक गुप्ती सदैव साथ रखते थे। पर जब धोखे में कई आदमियों ने धर दबाया तो क्या करते? पंडित मोटेराम जी शास्त्री को कौन नहीं जानता! अधिकारियों का रुख देखकर काम करते हैं। स्वदेशी आंदोलन के दिनों...
    May 1, 12:00 AM
  • COVER STORY: जल संकट से हाहाकार! हालात क्यों हुए बेकाबू?
    इस साल सामान्य से कम बारिश होने के कारण देश के 614 में से 302 जिले सूखे का संकट झेल रहे हैं। संकट झेल रहे राज्योें में महाराष्ट्र, ओडिशा, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश, आन्ध्र प्रदेश, तेलंगाना, कर्नाटक, झारखंड, हरियाणा और गुजरात सरकार को नोटिस जारी कर पूछा गया है कि सूखाग्रस्त क्षेत्रों के किसानों को राहत देने के लिए उनके पास क्या योजना है। अपनी ही जनता को मरते देख इन सरकारों के एक एक्शन को समझने के लिए सिर्फ एक राज्य का मजमून काफी है। अगर सरकार की परिभाषा को मानें तो देश के 18 राज्यों के 66 करोड़ लोगों के सिर...
    April 17, 12:00 AM
  • कहानी: सुनहार अखरोट
    लोहार को इस बात का विश्वास तो नहीं आया, पर वह चल पड़ा। चलते-चलते आखिर वह एक घने जंगल के बीच में पहुंच गया। वहां उसे वही पेड़ नजर आया, जिसकी टहनी झुकी हुई थी... बहुत दिनों की बात है। किसी गांव में एक लोहार और उसकी पत्नी रहते थे। उन्हें धन-दौलत किसी चीज की कमी नहीं थी। दुख सिर्फ यह था कि इनके कोई संतान नहीं थी। एक रात लोहार की पत्नी ने सपना देखा। उसे एक घने जंगल में एक पेड़ दिखाई दिया। जिसकी टहनी फल के बोझ से झुकी हुई थी। इस टहनी पर एक बड़ा-सा सुनहरा अखरोट लटक रहा था। भूरी आंखोंवाला एक दिन जंगल में और दो दिन...
    April 17, 12:00 AM
  • Alert: अस्थमा से जुड़ीं जरूरी बातें, रखें ध्यान और यूं लड़ें परेशानी से
    अस्थमा फेंफड़ों की ऐसी बीमारी है जो मुख्यरूप से श्वसन मार्ग (श्वसन नलिकाओं के टिश्यू जो ऑक्सीजन ग्रहण करते हैं तथा कार्बन-डाइ-ऑक्साइड छोड़ते हैं) को प्रभावित करती है। अस्थमा के कारण ही श्वास नलिकाओं में सूजन आना, सिकुड़ना, छाती में सीटी बजना, सांस लेने में तकलीफ, तेज सांस चलना आदि तकलीफें होती हैं। एलर्जी की समस्या वंशानुगत भी हो सकती है। यदि किसी व्यक्ति के माता-पिता,भाई-बहन(फर्स्ट डिग्री रिलेटिव) को अस्थमा है तो इसके होने की आशंका बढ़ जाती है। लेकिन ऐसा भी नहीं है कि घर के किसी सदस्य को अस्थमा नहीं...
    April 10, 01:12 PM
  • PAKISTAN DIARY: हिंदुस्तान-पाकिस्तान के बीच एक हसीन याद....
    अब से 8 साल पहले हिंदुस्तान के मशहूर इंकलाबी शायर मखदूम मुहियुद्दीन की 100वीं सालगिरह मनाई गई। इसके बाद हिंदुस्तान-पाकिस्तान दोनों मुल्कों में उनका जन्मदिन मनाया जाता है। इस बार भी एक अदबी अंजुमन ने उनकी याद में सभा रखी जिसमें अपना वतन छोड़कर कराची आने वाले हैदराबादियों ने खास तौर से शिरकत की। आंध्र प्रदेश और खास तौर से हैदराबाद के लोग हर साल टांकबंद जाते हैं जहां उनकी मूर्ति के सामने भाषण होते हैं, उन्हंे फूल चढ़ाए जाते हैं और नौजवान गायक मखदूम की नज़्में गाते हैं। हमारे यहां मखदूम का कोई...
    April 10, 12:00 AM
  • ठाठ-बाठ वाले शाही सफर के लिए, 20 सवारी भी क्यों नहीं मिल पा रहे हैं?
    पिछले दिनों खबर आई कि पैलेस ऑन व्हील्स में सवारी न होने कि वजह से ट्रेन को कैंसल करना पड़ा। ऐसे में सवाल यह उठता है कि राजसी ठाठ-बाठ वाले शाही सफर के लिए मशहूर और भारत की पहचान मानी जाने वाली इस सुपर लग्ज़री ट्रेन को चलाने के लिए महज 20 सवारी भी क्यों नहीं मिल पा रहे हैं? जानने के लिए पढ़िए... ऐसी ट्रेन जिसका संचालन वर्ष 1982 में प्रारंभ हुआ था। पैलेस ऑन व्हील्स को राजस्थान पर्यटन मंत्रालय और रेलवे के सहयोग से सितंबर से अप्रैल के बीच चलाया जाता है। सात सितारा होटल जैसी सुविधाओं वाली इस ट्रेन का संचालन 2007-09...
    April 10, 12:00 AM
  • Pakistan Diary: एक खातून सियासतदान की आपबीती
    पाकिस्तान की मशहूर सियासतदान सैयदा आबिदा हुसैन मुंह में चांदी का चम्मच लेकर पंजाब के एक जागीरदार घराने में पैदा हुई थीं। उन्होंने ब्रिटिश इंडिया में आंखें खोली थीं और पाकिस्तान में होश संभाला।उन्होंने लाहौर से ओ लेवेल किया और जब उन्हें यह मालूम हुआ कि ए लेवल करने के लिए उन्हें स्विट्ज़रलैण्ड भेजा जा रहा है तो उनकी ख़ुशी की इंतेहा नहीं थी। वो अपने माता-पिता की बेहद शुक़्रगुज़ार थीं। उन्हें यह नहीं मालूम था कि उनको इसलिए मुल्क से बाहर भेजा जा रहा है कि उस वक़्त के पाकिस्तानी राष्ट्रपति जनरल...
    April 3, 05:05 PM
  • कहानी: रहमान का बेटा
    रहमान कुछ भी हो, इतना मूर्ख नहीं था। उसने समझ लिया, उसने बीवी के दिल को दुखाया है, पर वह क्या करे। सलीम से उसे क्या कम मुहब्बत है! पेट काटकर उसे रहमान ने ही तो स्कूल भेजा है। उसके लिए अब भी कभी बड़े बाबू, कभी डिप्टी, कभी बड़े साहब के आगे गिड़गिड़ाता रहता है... क्रोध और वेदना के कारण उसकी वाणी में गहरी तलखी आ गई थी। यदि उस समय गोपी न आता, तो संभव था कि वह किसी बच्चे को पीटकर अपने दिल का गुबार निकालता। गोपी ने आकर दूर से ही पुकारा-साहब सलाम भाई रहमान। कहो क्या बना रहे हो? और फिर गोपी डंडा उठा, घास की गठरी...
    April 3, 10:50 AM
  • बाल अपराध का बढ़ता खौफ: क्या होगा डॉक्टर की हत्या के आरोपी 4 बच्चों का...
    बाल अपराधियों के बढ़ने की मुख्य वजहों पर डॉक्टर ने बताए यह 8 कारण... (1)मां-बाप का बच्चों के साथ लगाव कम हुआ है। बच्चों को पालना वह मेड की जिम्मेदारी समझने लगे हैं। (2)फिल्मों और कार्टून में दिखाई जाने वाली हिंसा बच्चों के मन और उनकी कल्पनाओं में सबसे ज्यादा स्पेस ले रही हैं। (3)तनावों में रहने वाले कई बच्चे अपना दिमाग नहीं लगाते और हूबहू नकल करते हैं। डॉक्टर नारंग को जान से मार ​देना भीइसी अतिवाद का परिणाम है। (4)छोटी उम्र में बच्चे बेसिक इंस्टिंक्ट से सबकुछ सीखते हैं पर उनके मनोरंजन और ज्ञानवर्धन के...
    April 3, 10:18 AM
  • पाकिस्तानी लड़की से प्यार का अंजाम : सजा 11 साल 6 महीना
    यह दो मुल्कों के बीच जवान हुई एक प्रेम कहानी की ऐसी त्रासद गाथा है जिसे सुनकर नफरत की सरहदें भी सिसकियां लेने लगें। पर हमारी सरकारों और एजेंसियों पर अफसोस कि एक शिकन तक नहीं है, कोई माफीनामा नहीं, कोई हर्जाना नहीं है... उत्तर प्रदेश के रामपुर जिले के जावेद को उनके दोस्त मजाक में जावेद आशिक कहते हैं। लखनऊ के रिहाई मंच के कार्यक्रम में हमारी उनसे मुलाकात हुई। वहां भी उन्हें दोस्तों ने जावेद आशिक कहकर ही संबोधित किया। उत्तर प्रदेश में सक्रिय रिहाई मंच आतंकवाद के मामलों में फर्जी तरीके से...
    March 27, 03:51 PM
  • Pakistan Diary: 24 मार्च सिंध में होली की छुट्टियां
    किसी जमाने में नजीर की नज्में, कबीर के दोहे, तिलोक चंद महरुम, जगन्नाथ आजाद, इकबाल की नज्में, नानक और राम पाकिस्तान के पाठ्यक्रम में शामिल थे। प्रेमचंद की हज अकबर, रवीन्द्रनाथ टैगोर की कहानी काबुलीवाला और कृष्णचंद्र की मोहनजोदड़ो का खज़ाना इनको पढ़कर जाना इंसानियत से बढ़कर कोई मजहब नहीं होता। ऐसी ही तहरीरें एक ऐसा समाज बनाती थीं जिसमें हर मज़हब हर पंथ के लोग शामिल थे। फिर आहिस्ता-आहिस्ता हमारा पाठ्यक्रम एक रंग का होता चला गया, इसी का नतीजा है कि हम पहले मजहब के नाम पर बांटे गए फिर फिरके और पंथों...
    March 27, 10:47 AM
  • कहानी: अपराधी
    युवती बहुत दूर न गई होगी कि राजकुमार लौटकर दूसरे मार्ग से उसी स्थान पर आए। मालिन को न देखकर पुकारने लगे-मालिन! ओ मालिन! दूरागत कोकिल की पुकार-सा वह स्वर उसके कान में पड़ा था। वह लौट आई। हाथों में कामिनी की माला लिए वह वन-लक्ष्मी के समान लौटी... अहेरियों के वेश में राजपुत्र और उसके समवयस्क जंगल में आए। किशोर भी अपना धनुष लिए एक ओर खड़ा था। कुरंग पर तीर छूटे। किशोर का तीर कुरंग के कण्ठ को भेदकर राजपुत्र की छाती में घुस गया। राजपुत्र अचेत होकर गिर पड़ा... वनस्थली के रंगीन संसार में अरुण किरणों ने...
    March 27, 10:08 AM
  • पाकिस्तान डायरी: पाकिस्तान टेलीविजन के दो नाकाबिले फरामोश किरदार
    हिंदुस्तान में थियेटर के बड़े बड़े नामी अदाकार गुज़रे हैं, इसी तरह टेलीविज़न पर काम करने वाले कलाकार हैं लेकिन हमारे यहां ऐसे लोग कम ही हैं, इन्ही में से एक कमाल अहमद रिज़वी थे जो पिछले साल गुज़र गए। उन्होंने टेलीविज़न और स्टेज पर अपने झंडे गाड़े। 60 के दशक से 1982 तक कुछ कुछ अंतराल से चलने वाली उनकी अलन और नन्हा की सीरीज़ लोगों के ज़हन पर नक़्श हो गई। उन दिनों हमारे यहां रिश्वत की रक़म से कोठी बनवाने वाले लोगों के आंखों के पानी ने ढुल कर अभी सैलाबी रेले की शक्ल नहीं ली थी। कमाल अहमद रिज़वी ने कितने ही...
    March 20, 12:12 PM
  • COVER STORY: क्या हम बाबाओं की सेवा के लिए फौज में आए हैं?
    हाल ही में देश की सेवा करने वाले जवानों को श्री श्री की सेवा में लगाने पर देशभर में इसका विरोध हुआ। आर्ट ऑफ लिविंग के कार्यक्रम में सैकड़ों जवान बाबा की सेवा में लगाए गए थे, वहीं हरिद्वार में भी बाबा रामदेव के फूड पार्क में सेना के 35 जवान सुरक्षा दे रहे हैं। ये जवान देश के लिए कुछ कर गुजरने के सपने लिए हुए सेना में भर्ती हुए थे। लेकिन इस तरह के काम करके उनके अंदर दर्द है, एक व्यथा है। भास्कर के रिपोर्टर्स ने उनके ड्यूटी स्थल पहुंचकर उनसे बात की और जाना उनका दर्द... यमुना किनारे आर्ट ऑफ लिविंग के 7 एकड़...
    March 20, 11:25 AM
  • कहानी: होली
    करुणा जुए में जीते हुए रुपयों को मिट्टी समझती थी। गरीबी से दिन काटना उसे स्वीकार था। परन्तु चरित्र को भ्रष्ट करके धनवान बनना उसे प्रिय न था। वह जगत प्रसाद से बहुत डरती थी इसलिए अपने स्वतंत्र विचार वह कभी भी प्रकट न कर सकती थी। होली के दीवाने भंग के नशे में चूर थे। गाने वाली नर्तकी पर रुपयों की बौछार हो रही थी। जगत प्रसाद को अपनी दुखिया पत्नी का खयाल भी न था। रुपया बरसाने वालों में उन्हीं का सब से पहिला नम्बर था। इधर करुणा भूखी-प्यासी छटपटाती हुई चारपाई पर करवटें बदल रही थी... भाभी, दरवाजा खोलो...
    March 20, 12:00 AM
  • कहानी: मीनू
    अंग्रेजी स्कूल में केजी सबसे छोटी कक्षा होती है। केजी के भी तीन दर्जे होते हैं और मीनू सबसे निचले दर्जे में था। सुबह वह किसी पड़ोसी बच्चे के साथ उसके पापा की कार में आता था, क्योंकि दोपहर में उस बच्चे की छुट्टी देर से होती थी, मीनू के पापा का चपरासी उसको साइकिल पर लेने आ जाता... बात यह हुई कि जो चपरासी मीनू को रोजाना लाता था, वह आज अचानक छुट्टी पर था और उसका पिता बच्चे को मंगवाना भूल गया। मां कहीं बाहर गई हुई थी। वह पति के बाद घर आई। दोपहर को खाना खाकर दोनों सो गए। ट्टी की घंटी बजी और बच्चे इस तरह भागते...
    March 13, 12:00 AM
  • COVER STORY: चारों ओर फैलती कार्ती की
    इन दिनों कार्ती की कीर्ति चारों ओर फैल गई है, हर तरफ उनके व उनके पिता पूर्व वित्तमंत्री चिदंबरम के ही चर्चे हैं। तरह-तरह के आरोप लग रहे हैं उन पर। विदेशों में जमीन-जायदाद से लेकर फर्जी व असंवैधानिक तरीके से लेन-देन के मामले सामने आ रहे हैं। ऐसे में पूरे घटनाक्रम को जानिए इस कहानी के जरिए... सवाल : क्या वासन आई केयर ने 100 रुपए प्रति शेयर के हिसाब से 1.5 लाख शेयर एडवांटेज स्ट्रेटिजिक कंसल्टेंसी को बेचे थे? सवाल : लंदन, दुबई, दक्षिण अफ्रीका, फिलिपींस, थाइलैंड, सिंगापुर, मलेशिया, श्रीलंका और स्पेन जैसे देशों...
    March 13, 12:00 AM
  • पाकिस्तान डायरी: औरतों का आलमी दिन
    दुनिया के दूसरे मुल्कों की तरह 8 मार्च पाकिस्तान में भी औरतों के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस बार पंजाब की लोकल सूबाइ असेंबली में पास होने वाला वुमन प्रोटेक्शन बिल ख़ास तौर पर चर्चा में रहा। इस पर मज़हबी और सियासी दोनों जमातों की तरफ से बहुत हंगामा रहा। उनका कहना है कि इस बिल के ज़रिये मज़हब पर हमला किया गया है और वो इस के खिलाफ एक बड़़ी मुहिम चला रहे हैं। पाकिस्तान की औरतों का उन हज़रात से सिर्फ एक सवाल है कि वो औरत जिस के कदमों के नीचे जन्नत आबाद होने की बात की जाती है जब तेज़ाब, घरेलू हिंसा और...
    March 13, 12:00 AM