• देखिये ट्रेनडिंग न्यूज़ अलर्टस

Best of City

शनिवार वाड़ा

पुणे शहर में बाजीराव रोड़ पर अभिनव कला मंदिर के पास शनिवार वाड़ा महल स्थित है। शनिवार वाड़ा महल पुणे शहर की शान माना जाता है।शनिवार वाड़ा महल पेशवा का निवास स्थान था। शनिवार वाड़ा की नींव बाजीराव प्रथम ने शनिवार के दिन 10 जनवरी,1730 में रखी थी।उस समय इस किला रूपी महल के निर्माण में 16,110 रुपए का ख़र्च आया था।इस महल में एक साथ 1000 से ज़्यादा लोग रह सकते थे। क़रीब दो साल बाद 22 जनवरी 1732 ई. में इस महल में हिन्दू रीति रिवाज़ के मुताबिक गृह प्रवेश किया गया। महल की दीवारों पर महाभारत और रामायण काल के दृश्य बने हुए है।जो इस महल को सब से ख़ास बनाते है।हर दिन शाम को 7.15 से 8.10 तक एक विशेष लाइट एंड साउन्‍ड शो का आयोजन किया जाता है।जिसे देखने के लिए पुणे और आसपास के लोग यहां आते है।इस महल की पहली मंजिल पर 18 वीं सदी के समय के सामान और मूर्तिया रखी हुई है। वर्तमान समय में यह महल पुणे नगरपालिका की देख रेख में चल रहा है।दक्कन से इस महल की दूरी महज दो किलोमीटर है।यह महल सन 1818 तक पेशवा शासकों की सीट रहा है।इस महल रूपी किले का एक हिस्सा 1824 में लगी एक भीषण आग की भेट चड़ चुका है।शनिवार वाड़ा में कुल पाँच दरवाज़े है,दिल्ली दरवाज़ा ,मस्तानी दरवाज़ा,खिड़की दरवाज़ा,नारायण दरवाज़ा और गणेश दरवाज़ा। इस महल का सब से महत्वपूर्ण हिस्सा थरोलिया दीवानखाना ,डांसिंग हाल और जूना अरसा महल है। आम दिनों में शनिवार और रविवार को यहां सब से ज़्यादा भीड़ रहती है।

Address: स्थान :शनिवारवाड़ा,बाजीराव रोड,क़स्बा पेठ ,पुणे ,महाराष्ट्र ।

दोस्तों से शेयर करें

Email 
 
  
आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
2 + 9

 
विज्ञापन

RECOMMENDED

      पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

      दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

      * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.