इन डेप्थ
Home >> National >> In Depth
  • इंडियन नेवी ने फ्लीट रिव्यू में दिखाई ताकत, 54 देश हुए शामिल
    विशाखापट्टनम.भारतीयसमंदर में 5 दिन चलने वाले नेवी के इंटरनेशनल फ्लीट रिव्यू 2016 का शुक्रवार को दूसरा दिन है। पाकिस्तान को छोड़कर 54 देशों की नेवी इसमें अपनी ताकत दिखाने आई है। इंडियन नेवी के भी 100 से ज्यादा शिप और 60 फाइटर प्लेन इसमें शामिल हैं। पिछली बार 2001 में भारत ने मुंबई में इंटरनेशनल फ्लीट रिव्यू किया था। उस दौरान 29 देशों ने इसमें हिस्सा लिया था।फ्लीट रिव्यू में अब आगे क्या... - 6 फरवरी को प्रेसिडेंट प्रणब मुखर्जी, पीएम मोदी, डिफेंस मिनिस्टर मनोहर पर्रिकर और होम मिनिस्टर राजनाथ सिंह मेहमान...
    February 8, 10:28 AM
  • GOOGLE सर्च इंजन को ऊंचाई पर ले जाने वाले अमित सिंघल छोड़ रहे कंपनी, करेंगे चैरिटी
    न्यूयॉर्क.गूगल सर्च इंजन के पायोनियर माने जाने वाले अमित सिंघल 26 फरवरी को कंपनी छोड़ने जा रहे हैं। उनका इरादा परिवार को ज्यादा वक्त देने और चैरिटी करने का है। वे 2000 में गूगल से जुड़े थे। लंबे समय तक इंटरनेट सर्च बिजनेस के हेड रहे।गूगल की पेरेंट कंपनी अल्फाबेट ने सीनियर वाइस प्रेसिडेंट (सर्च)सिंघल की जगह जॉन गियनॉड्रिया को अप्वाॅइंट किया है। यूपी के रहने वाले हैं आईआईटी पासआउट सिंघल... - उत्तर प्रदेश के झांसी में जन्मे 47 साल केअमित सिंघलने 1989 में आईआईटी रुड़की से कम्प्यूटर साइंस में डिग्री...
    February 5, 07:00 PM
  • विवेकानंदजी ने अपने गुरु से किए थे 9 सवाल, छिपा है जिंदगी का रहस्य
    नई दिल्ली। आम आदमी की तरह स्वामी विवेकानंद के मन में भी कई प्रश्न उठते थे। इसके बाद वह काफी परेशान हो जाते थे। उनकी परेशानी देख उनके गुरु स्वामी रामकृष्ण परमहंस ने उन्हें अपने पास बुलाया और उनके मन में क्या चल रहा है कुछ प्रश्न पूछने को कहा। बदल गई विवेकानंदजी की जीवन की दिशा... विवेकानंदजी ने उनसे आठ ऐसे प्रश्न पूछे जो दुनियाभर के हर व्यक्ति से जुड़े हुए थे। उनके गुरुजी ने हर प्रश्न का बड़े ही शांत मन से उत्तर दिया। प्रश्नों का उत्तर सुनने के बाद विवेकानंदजी के जीवन की दिशा ही बदल गई।...
    February 5, 12:42 PM
  • ये थे MP के राज्यपाल, लंबे कद के कारण सरकार को खरीदनी पड़ी थी नई कार
    भोपाल। मप्र के पूर्व राज्यपाल बलराम जाखड़ का 3 फरवरी को दिल्ली में 92 साल की उम्र में निधन हो गया है। जाखड़ 2004 से 2009 तक मप्र के राज्यपाल रह चुके हैं। वे अपने सख्त रवैये के साथ ही साथ हाइटके कारण भी काफी चर्चा में रहे हैं। मर्सिडीज को बदलकर खरीदनी पड़ी थी इनोवा जाखड़ के कुर्सी संभालने तक मप्र के राज्यपाल को सरकार की तरफ सेमर्सिडीजकार दी जाती थी। लेकिन, जब जाखड़ पद संभालने के बाद इसमें सवार हुए तो उन्हें बैठने के बाद घुटने मोड़ने में काफी तकलीफ हुई। इसके बाद आनन-फानन में उनके लिए इनोवा कार खरीदी...
    February 5, 09:57 AM
  • मोदी के पास 4700 रुपए कैश, जानिए कितने अमीर हैं पीएम
    नई दिल्ली.नरेंद्र मोदी के पास भले ही महज 4700 रुपए कैशहैं, लेकिन उनकी कुल प्रॉपर्टी (मूवेबल-इमूवेबल) अब बढ़कर 1.41 करोड़ रुपए हो चुकी है। पीएमओ के ताजा आंकड़ों की मानें तो प्रधानमंत्री बनने के बाद 7 महीने (अगस्त, 2014 से मार्च 2015 के बीच) में मोदी की प्रॉपर्टी में 15 लाख से ज्यादा का इजाफा हुआ है। क्यों बढ़ रही है मोदी की प्रॉपर्टी की वैल्यू... - पीएमओ ने 30 जनवरी, 2016 को मोदी की प्रॉपर्टी उजागर की है। जिसके मुताबिक, फाइनेंशियल ईयर 2014-15 में पीएम के पास 4700 रुपए कैश था। - 28 अगस्त, 2014 को जारी आंकड़ों के मुताबिक, मोदी के...
    February 4, 04:07 PM
  • 75% वुमन लेती हैं घरों में फैसले, 10 साल में 16% घटी महिलाओं पर होने वाली हिंसा
    नई दिल्ली. घर से जुड़े फैसले लेने में देश की महिलाओं की हिस्सेदारी 10 साल में दोगुना से भी ज्यादा बढ़ गई है। अब 75% महिलाएं घर से जुड़े फैसले लेने लगी हैं। 2005-06 में सिर्फ 36.7% महिलाएं बड़े फैसले ले पाती थीं। यह खुलासा इस हफ्ते हेल्थ मिनिस्ट्री के नेशनल फैमिली एंड हेल्थ डिपार्टमेंट की रिपोर्ट में हुआ है। इसका कैसे पता लगाया गया , जानिए... - मिनिस्ट्री ने 15 स्टेट्स और यूनियन टेरेटरीज में किए सर्वे के डाटा जारी किया है। - इनमें महिलाओं की एसेट्स, सोशल स्टेट्स , हेल्थ और न्युट्रिशियन जैसे पैमानों पर वुमन...
    February 2, 02:12 PM
  • इस नदी के किनारे प्रैक्टिस कर नाथूराम गोडसे ने बापू को मारी थीं गोलियां
    ग्वालियर। महात्मा गांधी की हत्या के आरोपियों को ग्वालियर के कई लोगों ने मदद की थी। नाथूराम गोडसे ने यहां स्वर्ण रेखा नदी के किनारे पिस्टल से निशाना साधने की प्रैक्टिस की थी। गोडसे ग्वालियर इसीलिए आए, क्योंकि यह शहर हिंदू महासभा का गढ़ था। यहां की निशानेबाजी कीप्रैक्टिस... गोडसे को पिस्टल दिलाने से लेकर हर तरीके से मदद ग्वालियर के ही डॉ.दत्तात्रेय परचुरे ने की थी। पिस्टल से हमला कारगर होगा या नहीं, इसकी जांच के लिए शिंदे की छावनी स्वर्ण रेखा नदी के किनारे गोडसे सहित सभी आरोपियों ने मिलकर...
    February 1, 08:08 AM
  • ये है महात्मा गांधी का परिवार, जानें कितनी बड़ी है बापू की फैमिली
    सोशल मीडिया डेस्क. आज गांधी जी का परिवार कहां हैं, क्या करता है, इसमें कितने लोग हैं, इस बारे में बहुत कम लोग ही जानते हैं। dainikbhaskar.com बता रहा है गांधी जी के परिवार से जुड़ी कुछ खास बातें। कुछ ऐसा था गांधी जी का परिवार - बापू अपने परिवार में सबसे छोटे थे। उनकी एक बड़ी बहन रलियत और दो बड़े भाई लक्ष्मीदास और कृष्णदास थे। साथ ही दो भाभियां नंद कुंवरबेन, गंगा भी थीं। - गांधी जी के परिवार में 4 बेटे और 13 पोते-पोतियां हैं। - गांधीजी के परिवार की बात करें तो उनके पोते-पोतियां और उनके 154 वंशज आज 6 देशों में रह...
    January 31, 10:52 AM
  • गांधीजी ने ओशो से दान में मांगे थे तीन रुपए, रजनीश ने छीन ली थी दान पेटी
    नई दिल्ली। महात्मा गांधी और ओशो की दो बार मुलाक़ात हुई थी। ये प्रसंग दूसरी मुलाक़ात का है। खुद रजनीश ने इसका जिक्र किया है। यह ब्रिटिश इंडिया का वह दौर था जब पूरे देश में स्वतंत्रता संग्राम उफान पर था। दादी के दिए तीन रुपए लेकर स्टेशन आए थे ओशो, गांधीजी से मिले तो क्या हुआ... उस वक्त ओशो की उम्र करीब दस साल थी। उन्हें ट्रेन देखना था। वे स्टेशन पहुंच गए, उनकी जेब में दादी के दिए 3 रुपए थे। ट्रेन 30 घंटे लेट थी। स्टेशन से सारे लोग वापस जा चुके थे। पर ओशो वहीं बैठे रहे। स्टेशन मास्टर ने उन्हें टोका भी...
    January 29, 03:27 PM
  • DB SPECIAL: इस महिला को जब नहीं मिला लोन, तो 435 गांवों में खुलवा दिए बैंक
    बड़वानी/इंदौर. बिनापढ़ी लिखीरेवा बाई को जब बैंक ने लोन देने से मना कर दिया तो उसने अपनी जिद से बैंक शुरू कर दिया। यह बैंक करोड़ों रुपए के लोन बांट चुकी है। दिलचस्प यह कि इसमें कोई डिफॉल्टर नहीं है। इनका हिसाब पक्का रहता है। कैसे शुरू हुआ रेवा बाई की जिद का यह सफर... - रेवा, बड़वानी जिले (एमपी) के गंधावल गांव की रहने वाली हैं। पढ़ना-लिखना नहीं जानतीं, पर उनका शुरू किया काम आज 435 गांवों तक फैल चुका है। - 2010 में रेवा के पास बुआई के लिए पैसे नहीं थे। गांव की कुछ महिलाओं के साथ वह बैंक लोन लेने गईं, पर उन्हें...
    January 29, 12:15 PM
  • रिपब्लिक डे: आजादी के बाद ऐसे बदले गए राज्य और शहरों के नाम
    नई दिल्ली. देश आज 67वां गणतंत्र दिवस मना रहा है। 26 जनवरी, 1950 को भारत को अपना संविधान मिला।अंग्रेजों से आजादी मिलने के बाद कई राज्यों, शहरों और यूनियन टेरिटरी के नाम बदले गए। रिपब्लिक डे के मौके पर dainikbhaskar.com आपको बता रहा है समय के साथ कैसे बदले शहरों के नाम। यूनियन टेरिटरी - समुद्र के तीन आईलैंड को मिलाकर लक्ष्यद्वीप नाम दिया। - पांडीचेरी- पुड्डुचेरी आगे की स्लाइड्स में पढ़ें, किन शहरों को मिले चुके हैं नए नाम...
    January 26, 02:45 PM
  • 2016 में गणतंत्र दिवस की परेड पर क्या होगा नया, जानिए अभी...
    नई दिल्ली. इस बार की रिपब्लिक डे (गणतंत्र दिवस) परेड पहले से काफी अलग होगी। परेड के चीफ गेस्ट फ्रांस के राष्ट्रपति ओलांद होंगे, तो पहली बार ऐसा होगा जब हमारी सेनाओं के साथ फ्रांसीसी सेना की एक टुकड़ी भी राजपथ पर मार्च करेगी। ऐसी बहुत से बातें हैं, जो इस बार पहली बार होगी। dainikbhaskar.com आपको बता रहा है उनके बारे में, जो इस साल होने वाली परेड में पहली बार होगा। आगे की स्लाइड्स में- जानिए वे बातें, जो इस साल रिपब्लिक डे परेड में होंगी पहली बार
    January 26, 09:44 AM
  • नेशनल फ्लैग का भी होता है अंतिम संस्कार, पवित्र नदी में होता है विर्सजन
    शिमला। देशभर में गणतंत्र दिवस मनाया जा रहा है।इस मौके पर हम बता रहे हैं तिरंगे से जुड़ी ये अहम बातें,जिन्हें जानना आपके लिए बेहद जरूरी है। क्या होता है शहीदों के शवों पर लिपटे तिरंगे का... शहीदों व देश की महान शख्सियतों के शवों पर भी उन्हें सम्मान देने के लिए ध्वज को लपेटा जाता है। इस दौरान केसरिया पट्टी सिर की तरफ एवं हरी पट्टी पैरों की तरफ होती है। शहीद या विशिष्ट व्यक्ति के शव के साथ ध्वज को जलाया या दफनाया नहीं जाता,बल्कि मुखाग्नि क्रिया से पहले या कब्र में शरीर रखने से पहले ध्वज को हटा...
    January 26, 12:07 AM
  • आखिर क्यों बाल ठाकरे ने करोड़ों की प्रॉपर्टी से बेटे को कर दिया था बेदखल
    मुंबई। बाला साहेब ठाकरे की प्रॉपर्टी पर हक़ को लेकर उनके बेटों के बीच विवाद है। दरअसल, ठाकरे द्वारा की गई वसीयत को उनके तीन बेटों में से एक जयदेव ठाकरे ने मानने से इनकार कर दिया था। उद्धव द्वारा दायर प्रोबेट पिटीशन पर जयदेव ने आपत्ति की और बॉम्बे हाईकोर्ट में पिटीशन फ़ाइल कर दिया। हालांकि, कोर्ट ने जयदेव की आपत्तियों को खारिज कर दिया था। जयदेव को लेकर वसीयत में क्या लिखा ठाकरे ने... कहा जाता है कि जयदेव के पिता से रिश्ते खराब थे। जयदेव ने तीन शादियां की थी। उन्होंने पहली शादी जयश्री कालेकर,...
    January 22, 03:25 PM
  • इस मेजर ने दिया था चीनी फौज को चकमा, मार दिए थे सैकड़ों सैनिक
    शिमला। मेजर धनसिंह थापा परमवीर चक्र से सम्मानित नेपाली मूल के भारतीय नागरिक थे। उन्होंने चीन की सेना से भीषण युद्ध लड़ा था। उन्हें दुश्मन सेना ने तीन साथियों सहित युद्ध बंदी बना लिया था। बना लिए गए थे युद्धबंदी... शिमला के धनसिंह थापा ने लद्दाख में मोर्चा संभालते हुए सैकड़ों चीनी सैनिकों को मौत के घाट उतार दिया था। मेजर धन सिंह थापा अगस्त1949में भारतीय सेना के आठवीं गोरखा राइफल्स में कमीशन अधिकारी के रूप में शामिल हुए थे। थापा ने 1962के भारत-चीन युद्ध के दौरान लद्दाख में चीन की सेना का...
    January 22, 03:05 AM
  • शेरशाह बनकर भून दिया था PAK सैनिकों को, बोलते थे 'ये दिल मांगे मोर'
    शिमला.एक जून 1999 को कारगिल युद्ध में कैप्टन विक्रम बत्रा को उनकी यूनिट के साथ सामरिक दृष्टि से महत्वपूर्ण 17000 फीट की उंचाई पर प्वाइंट 5140 को जीतने के लिए भेजा गया था। हैरत में थे पाकिस्तानी सैनिक... कैप्टन विक्रम बत्रा को ऑपरेशन के तहत शेरशाह का नाम दिया गया था। बत्रा अपनी यूनिट के साथ पहाड़ पर चढ़ गए, लेकिन ऊपर बैठे दुश्मन ने उन पर फायरिंग शुरू कर दी, उस वक्त बत्रा बहादुरी से प्वाइंट 5140 तक पहुंच गए और नजदीकी लड़ाई में अकेले ही पाकिस्तान के घुसपैठियों को गोलियों से भून दिया। उनको अचानक सामने...
    January 22, 12:05 AM
  • इंदिरा गांधी की तारीफ करते थे ठाकरे, क्या डर गए थे बम विस्फोट के बाद
    मुंबई। 1975 में प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने आपातकाल की घोषणा की थी। उस समय बाल ठाकरे एक अकेले विपक्षी नेता थे जिन्होंने उनकी तारीफ की। कहते यह हैं कि इस बहाने उन्होंने शिवसेना और खुद को बैन होने से बचा लिया। मुसलामानों को लेकर क्या सोचते थे ठाकरे... - बाल ठाकरे को मुस्लिम विरोधी माना जाता है, पर उनकी मानें तो वे ऐसा नहीं सोचते थे। उन्होंने 1999 में एक इंटरव्यू में कहा था कि हम मुस्लिमों के विरोधी नहीं हैं। सिर्फ पाकिस्तान परस्त, जिहादी और देशद्रोही मुस्लिमों के ही विरोधी हैं। - कुछ लेखों...
    January 22, 12:04 AM
  • #PeshawarAttack: इनके नाम पर है यूनिवर्सिटी, बापू के साथ किया आंदोलन
    नई दिल्ली.भारत की आजादी में खान अब्दुल गफ्फार खान के रोल को भुलाया नहीं जा सकता है। उन्होंने महात्मा गांधी के साथ मिलकर अहिंसा आंदोलन की शुरुआत की। अपने जीवन के 42 साल ब्रिटिश राज और फिर पाकिस्तान की जेलों में गुजारे थे। आज उनकी 28वीं पुण्यतिथि मनाई जा रही थी, तभीपेशावर के पास खैबर पख्तूनवा रीजन मेंआतंकियों ने बाचा खान यूनिवर्सिटी में कत्लेआम मचा दिया। कौन थे बाचा खान उर्फ सीमांत गांधी... - 20 जनवरी, 1988 के दिन खान अब्दुल गफ्फार खान का निधन हो गया था। इसके एक साल पहले उन्हें भारत रत्न दिया गया।...
    January 20, 07:06 PM
  • 600 किताबें लिखी गई हैं इन पर, ये हैं इनके अनमोल वचन
    नई दिल्ली। 19 जनवरी को आचार्य रजनीश ओशो (चन्द्र मोहन जैन) की पुण्यतिथि है। उन्होंने हर धर्म के पांखड पर चोट की। संन्यास के नाम पर भगवा कपड़े पहनने वालों को वह जमकर खरीखोटी सुनाते थे। हमेशा रहे विवादों में... उनपर करीब 600 से अधिक किताबें लिखी गई हैं। ओशो द्वारा लिखी गई संभोग से समाधि की ओर इनकी सबसे चर्चित और विवादास्पद पुस्तक मानी जाती है। वह हमेशा विवादो में रहे इसके बावजूद भी उनको मानने वालों की संख्या में कोई कमी नहीं है। वह एक अलग तरह की दुनिया बसाना चाहते थे जिसे कम्यून कहा जाता था।...
    January 19, 03:14 PM
  • ओशो के विचारों से प्रभावित थे नेहरूजी, चाहते थे इंदिराजी भी उनसे मिलें
    नई दिल्ली। पंडित जवाहर लाल नेहरू आचार्य रजनीश से मिल चुके थे और उनके दर्शन से काफी प्रभावित थे। 19 जनवरी को आचार्य रजनीश की डेथ एनवरसरी है। इस मौके dainikbhaskar.com दोनों से जुड़े के प्रसंग के बारे में बता रहा है। इंदिराजी ने नहीं छोड़ी जिद... शादी के कुछ सालों बाद ही इंदिरा गांधी और फिरोज के बीच झगड़े की शुरूआत हो गई। कहते हैं कि नेहरूजी ने कई बार दोनों को समझाने की कोशिश की, पर बात नहीं बनी। आध्यात्मिक गुरू जे. कृष्णमूर्ति नेहरूजी और इंदिराजी से अकसर मिलते और दोनों से ही दार्शनिक और आध्यात्मिक विषयों...
    January 19, 03:36 AM