• देखिये ट्रेनडिंग न्यूज़ अलर्टस

आक्रोश (हिंदी फ़िल्म)

  • नोटबंदी पर फिर हुआ संसद में हंगामा: सरकार बोली- ये कालेधन की नाकेबंदी का विरोध
    Last Updated: November 29 2016, 11:03 AM

    नई दिल्ली. नोटबंदी पर संसद सोमवार को नहीं चल सकी। दोनों सदनों की कार्यवाही शुरू होते ही विपक्ष ने हंगामा किया। लंच के बाद दोनों सदनों को कल तक के लिए स्थगित कर दिया गया। बता दें कि शुक्रवार को भी दोनों सदनों को स्थगित किया गया था। लोकसभा में विपक्ष ने पीएम की मौजूदगी में वोटिंग के नियम के तहत चर्चा की मांग की। राज्यसभा में भी पीएम को बुलाने की मांग हुई। सरकार कह चुकी है कि मोदी सदन में बयान देंगे। लेकिन विपक्ष पीएम की मौजूदगी में ही चर्चा पर अड़ा है। संसद से लाइव अपडेट्स... 2.35 PM: दोनों सदनों की कार्रवाई कल तक के लिए स्थगित। 2:29 PM: राज्यसभा में आनंद शर्मा ने कहा, बैंकिंग एक्ट या संविधान पीएम या वित्त मंत्री को शक्ति नहीं देता कि वे लोगों को उनके ही पैसे निकालने से रोकें। 2:20 PM: दलाल शब्द को असंसदीय मानते हुए पीजे कुरियन ने शब्द को सदन की कार्यवाही से एक्सपंज करा दिया। 2:18 PM: राज्यसभा में सपा सांसद नरेश अग्रवाल ने बीजेपी सदस्यों को कहा- सरकार के दलाल। विवाद। हंगामा। बीजेपी सदस्यों ने उपसभापति से की शिकायत। 2:17 PM: लोकसभा की कार्यवाही दिन भर के लिए स्थगित। 2:02 PM: लोकसभा-राज्यसभा की कार्यवाही शुरू। 12:24 PM: लोकसभा 2 बजे तक के लिए स्थगित। 12:20 PM: सरकार की नीति पर सवाल नहीं उठाया जा सकता है। किसी को नोटबंदी पर शिकायत है तो हम पहले दिन से ही चर्चा के लिए तैयार हैं। हमारी सरकार का यह फैसला काले धन के खिलाफ एक जंग है। पूरे देश ने इसे स्वीकार किया है। अध्यक्ष महोदया तय करें कि पीएम सदन में आते हैं तो किस नियम के तहत चर्चा होगी। बहस होती है तो इसके लिए हम तैयार हैं। विपक्ष को भरोसा दिलाता हूं कि प्रधानमंत्री आएंगे, जहां पूरे बहस में शामिल होंगे। 12:08 PM: मल्लिकार्जुन खडगे ने कहा- देशभर में नोटबंदी की वजह से 70 लोगों की मौत हुई और 1000 से ज्यादा लोग घायल हुए। पीएम चर्चा में शामिल होंगे, तभी संसद का गतिरोध खत्म हो सकता है। 12:02 PM: लोकसभा की कार्रवाई शुरू। 12:02 PM: राज्यसभा की कार्रवाई 2 बजे तक के लिए स्थगित। 12:02 PM: राज्यसभा शुरू। 11.30 AM: नोटबंदी पर कांग्रेस, डीएमके, जेडीयू, सीपीएम ने संसद कैम्पस में गांधीजी की स्टेच्यू के सामने प्रदर्शन किया। 11.23AM: लोकसभा की कार्यवाही भी 30 मिनट तक के लिए स्थगित। 11.10AM: राज्यसभा की कार्यवाही 30 मिनट के लिए स्थगित। 11.08 AM: राज्यसभा में मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा- यह नोटबंदी का नहीं, कालेधन की नाकेबंदी का विरोध है। 11:05 AM: मायावती ने कहा,हम भारत बंद में शामिल नहीं हैं। लेकिन हम अपने तरीके से विरोध कर रहे हैं और अपनी बात रख रहे हैं। इस बात की जांच हो कि बीजेपी ने पूरे देश में कितना पैसा जमा किया है? 11.00AM: राज्यसभा-लोकसभा की कार्यवाही शुरू। हंगामा। 10.50AM: लोकसभा में रणनीति तय करने के लिए राहुल गांधी ने कांग्रेस सांसदों के साथ मीटिंग की। 10.40AM: संसदीय कार्यमंत्री अनंत कुमार ने कहा, सरकार दोनों सदनों में नोटबंदी पर चर्चा के लिए तैयार है। आखिर विपक्ष चर्चा से भाग क्यों रहा है? 10.30AM: मोदी ने सीनियर मिनिस्टर्स के साथ मीटिंग की। देश में आक्रोश दिवस मना रहा है विपक्ष - कांग्रेस, सपा, बसपा और टीएमसी ने सिर्फ नोटबंदी के खिलाफ प्रदर्शन की बात की थी। (<a href='http://www.bhaskar.com/news-ht/NAT-NAN-bharat-bandh-against-demonetisation-news-and-updates-news-hindi-5469289-PHO.html'>यहां पढ़ें पूरी खबर</a>)

  • नोटबंदी के खिलाफ भारत बंद का असर नहीं: ममता बोलीं- जिऊं या मरूं पर मोदी को इंडियन पॉलिटिक्स से हटाने की कसम खाती हूं
    Last Updated: November 28 2016, 18:07 PM

    नई दिल्ली. नोटबंदी के खिलाफ सोमवार को विपक्षी पार्टियों ने देशभर में विरोध-प्रदर्शन किया। लेफ्ट पार्टियों ने पश्चिम बंगाल, केरल और त्रिपुरा में 12 घंटे के बंद की अपील की थी। लेकिन केरल और त्रिपुरा को छोड़ बंद का असर नहीं दिखा। बिहार में सीपीआई (एमएल) वर्कर्स ने दरभंगा, भागलपुर और मुजफ्फरपुर में ट्रेन रोकीं। उधर, कांग्रेस ने आरोप लगाया कि भारत बंद का दुष्प्रचार बीजेपी ने किया है। कोलकाता में ममता बनर्जी ने 5 किमी लंबा मार्च निकाला। कहा, मैं कसम खाती हूं कि मैं जिंदा रहूं या मर जाऊं पर मोदी को इंडियन पॉलिटिक्स से हटा कर रहूंगी। लेफ्ट के प्रदर्शन का असर नहीं... अपडेट्स: 01:30 PM: ममता बनर्जी ने कहा- नोटबंदी के डिसीजन का सब पर असर हुआ है। सिनेमा, बाजार और आम लोग प्रभावित हुए हैं। लेकिन पीएम मोदी आम लोगों की परवाह नहीं है। वे भगवान की तरह इस फैसले के साथ अचानक प्रगट हुए। 01:03 PM: टीएमसी ने कोलकाता में नोटबंदी के खिलाफ मार्च निकाला। 12:54 PM: दिल्ली में नोटबंदी के खिलाफ आप ने प्रदर्शन किया। 12:30 PM: मुंबई में कांग्रेस वर्कर्स ने कलीना विद्यापीठ के पास प्रदर्शन किया। 11:24 AM: अखिलेश यादव ने कहा कि नोटबंदी से लोगों को तकलीफ हुई है। मैंने 8 नवंबर की रात को कहा था कि लोगों को परेशानी नहीं होनी चाहिए। पर ऐसा ही हुआ। इस फैसले को लेकर मोदी सरकार की कोई तैयारी नहीं थी। 11:08 AM: मायावती ने कहा कि हम भारत बंद में शामिल नहीं हैं। अपने तरीके से विरोध कर रहे हैं। इस बात की जांच हो कि बीजेपी ने पूरे देश में कितना पैसा जमा किया है? 10:45 AM: नागपुर में भारत बंद के बीच कुछ लोग जन आभार दिवस मनाया। उन दुकानदारों को मिठाई और स्वीट बांट रहे हैं जिन्होंने अपनी दुकानेंं खोल रखी हैं। 10:30 AM: पटना में कांग्रेस ने जन आक्रोश रैली निकाली। 10:10 AM: तिरुवनंतपुरम में लेफ्ट के बंद का असर दिखा है। यहां कई बाजार पूरी तरह बंद दिखे। डी राजा ने कहा मोदी सरकार को यह फैसला वापस लेना चाहिए। 10:00 AM: चेन्नई में डीएमके के वर्कर्स ने नोटबंदी के खिलाफ प्रदर्शन किया। 09:59 AM: पार्लियामेंट में विपक्ष के नेताओं ने मीटिंग की। इसमें आगे की रणनीति पर विचार किया गया। 09:30 AM: एसपी सांसद नरेश अग्रवाल ने कहा- बंद और आक्रोश दोनों है। यह पूरी तरह से सफल हुआ है। देश में जगह- जगह मार्केट बंद हैं। इस मसले पर पूरा विपक्ष एकजुट है। सिर्फ जेडीयू को छोड़कर, क्योंकि वह दोहरी बात कर रहे हैं। 8:00 AM: गुलाम नबी आजाद ने कहा- कांग्रेस ने भारत बंद की अपील नहीं की है। वह नोटबंदी के खिलाफ लोगों को हुई असुविधा के खिलाफ जन आक्रोश दिवस मना रही है। 7:50 AM: इलाहाबाद में एसपी वर्कर्स ने नोटबंदी के खिलाफ प्रदर्शन और नारेबाजी की और ट्रेनें रोकीं। 7:30 AM: पश्चिम बंगाल में लेफ्ट के भारत बंद की अपील का ज्यादा असर नहीं दिखा। # लेफ्ट के साथ ममता नहीं - लेफ्ट पार्टियों ने नोटबंदी के खिलाफ विरोध दर्ज कराने के लिए पश्चिम बंगाल में 12 घंटे के बंद की अपील की थी। तृणमूल कांग्रेस इस बंद में शामिल नहीं हुई। भारत बंद पर किस पार्टी का क्या रुख है? # कांग्रेस ने कहा- बंद में शामिल नहीं - कांग्रेस ने भी बंद से खुद को अलग कर लिया था। जयराम रमेश ने कहा कि कांग्रेस ने भारत बंद की अपील नहीं की। # जेडीयू ने नोटबंदी का स्वागत किया? - जेडीयू ने विपक्षी पार्टियों की ओर से किए जाने वाले विरोध प्रदर्शन और 30 नवंबर को पटना में ममता बनर्जी की ओर से दिए जाने वाले धरने में हिस्सा नहीं लेने का फैसला किया था। बता दें नीतीश कुमार ने नोटबंदी का स्वागत किया है । # भारत बंद से बीजेडी ने खुद को अलग किया - बीजू जनता दल तो विरोध प्रदर्शनों से भी दूर रहा। पार्टी प्रमुख और राज्य के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने नोटबंदी के फैसले का समर्थन कर चुके हैं। # दिल्ली में भी कोई बंद नहीं - दिल्ली में भी कोई बंद नहीं रहा। आम आदमी ने कुछ जगहों पर विरोध प्रदर्शन जरूर किए। # हरियाणा में मारपीट - नोटबंदी पर कांग्रेस के जन आक्रोश विरोध प्रदर्शन के दौरान फतेहाबाद में विवाद हो गया। कांग्रेस नेता कुछ युवकों से इसलिए उलझ गए क्योंकि उन्होंने मोदी के नोटबंदी के फैसले को सही बता दिया था। कांग्रेस नेताओं ने इन युवकों की पिटाई कर दी। <a href='http://www.bhaskar.com/news/c-85-1278901-pa0345-NOR.html'>(पूरी खबर पढ़ने के लिए क्लिक करें...)</a>

  • नोटबंदी के विरोध में कांग्रेसियों ने मोदी के पोस्टर पर किया ग्रीन स्प्रे, मारी लात
    Last Updated: November 28 2016, 17:24 PM

    वाराणसी. नोटबंदी के विरोध में कांग्रेस ने काशी में जन आक्रोश रैली निकाली। आक्रोशित कांग्रेसियों ने कई स्थानों पर पीएम नरेंद्र मोदी के लगे बड़े पोस्टरों को फाड़ डाला। रैली में शामिल कुछ लोगों ने पीएम के होर्डिंग पर ग्रीन स्प्रे कर दिया और फाड़ दिया। इस दौरान कार्यकर्ताओं के बीच मारपीट भी हुई। क्या कहते हैं कांग्रेसी नेता... - कांग्रेस विधायक अजय राय का कहना है कि नोटबंदी से लोगों को परेशानी हो रही है। देश में नए नोटों को जरुरत के हिसाब से जल्द पूरा किया जाए। - बीजेपी नेताओं और बिजनेसमैंन के फायदे को देखते पीएम ने निर्णय लिया है। - अगर जनता के हितैषी हैं तो 20 दिन बीतने के बाद भी एटीएम पर लोगों की लाइन क्यों दिख रही है। - पीएम पहले काले धन वालों की लिस्ट जारी करें। जिनके पास खाने को नहीं, पीएम उनको मोबाइल बैंक का सपना दिखा रहे हैं। - गांवों में कितनों के पास मोबाइल है और दुकानदारों के पास स्वाइप मशीन है। - बिना तैयारी के पीएम ने लोगों के आम दिनचर्या को बर्बाद कर दिया है। - करोड़ों रुपए का बिजनेस बेकार हुआ है। बिना होमवर्क के तानाशाही डिसीजन - चुनाव प्रचार समिति के सह प्रभारी रांणा गोस्वामी ने कहा, बिना होमवर्क के तानाशाही डिसीजन लिया गया है। - तैयारी होती तो हर रोज बदलाव की आवश्यकता नहीं होती। - गरीब, किसान, दुकानदार लाइनों में खड़ा है। पीएम केवल लोक-लुभावन भाषण दे रहे हैं। - उनको क्या समझ में नहीं आ रहा है, जो गरीब परिवार में किसी बीमार का इलाज करा रहा है उसको कितनी जलालत झेलनी पड़ रही है। - मोबाइल से पैसों का लेनदेन भारत में कितने फीसदी लोग करते हैं, ये पीएम आकड़ा देख लें। - 60 फीसदी जनता तो मोबाइल से सरोकार भी नहीं रखती, इंटरनेट से दूर है। आगे की स्लाइड्स में देखिए रैली की फोटोज...

  • नोटबंदी के खिलाफ विपक्ष के 'आक्रोश दिवस' में शामिल नहीं होगी नीतीश की पार्टी, बीजेपी प्रेसिडेंट ने किया स्वागत
    Last Updated: November 27 2016, 15:09 PM

    नई दिल्ली. नोटबंदी के खिलाफ विपक्ष एकजुट है। सोमवार को देशभर में आक्रोश दिवस मनाया जाएगा। हालांकि, नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू ने साफ कर दिया है कि वो उसका हिस्सा नहीं बनेंगे। इसे लेकर शनिवार को जेडीयू ने एक मीटिंग की। सीनियर लीडर्स की मौजूदगी में ये फैसला लिया गया। इस बारे में जेडीयू ने बिहार में अपनी साथी पार्टियों आरजेडी और कांग्रेस को जानकारी दे दी है। इस बीच, अमित शाह ने नीतीश के इस फैसले का स्वागत किया है। जेडीयू ने क्या कहा... - जेडीयू के जनरल सेक्रेटरी पवन वर्मा ने कहा, हमारी पार्टी ने साफ कर दिया है कि हम नोटबंदी के समर्थन में हैं, इसलिए हम किसी तरह के बंद का हिस्सा नहीं होंगे। - उन्होंने (नीतीश कुमार) ने इस बारे में लालूजी और कांग्रेस को बता दिया है। - इससे महा गठबंधन पर कोई असर नहीं पड़ेगा। - नीतीश कुमार ने साफ कर दिया है कि अपोजिशन में सभी पार्टियों को अपना पॉलिटिकल एजेंडा लेकर चलने का हक होना चाहिए। विरोध के लिए एकजुट हुआ विपक्ष - संसद परिसर में अपोजिशन पार्टियां नोटबंदी के मुद्दे पर एकजुट नजर आईं हैं। - पिछले हफ्ते बुधवार को 13 पार्टियों के 200 सांसद विरोध में उतरे। - टीएमसी, कांग्रेस, सपा के अलावा जेडीयू के सांसद भी गांधीजी की मूर्ति के सामने विरोध करने पहुंचे थे। शाह ने कहा- पहले कहते थे काले धन पर क्या किया और अब कर दिए तो पूछते हैं क्यों किया? - बीजेपी प्रेसिडेंट अमित शाह ने बेंगलुरु में एक रैली के दौरान नोटबंदी का विरोध कर रहे अपोजिशन पर निशाना साधा। - कहा, पूुरा विपक्ष, कांग्रेस, सपा, ममता जी और केजरीवाल पहले कहते थे कि मोदी ने काले धन पर क्या किया? - अब फैसला ले लिया गया तो पूछते हैं कि ऐसा क्यों किया?

  • गांधीनगर में कांग्रेसियों की जनाक्रोश रैली, एक विधायक बेहोश
    Last Updated: August 23 2016, 15:09 PM

    गांधीनगर। गुजरात कांग्रेस द्वारा महंगाई, अपराध, दलितों पर अत्याचार के मामले पर आयोजित रैली तब उग्र हो गई, जब पुलिस ने कार्यकर्त्ताओं को रोका। पुलिस द्वारा किए गए बल प्रयोग में कांग्रेसी विधायक प्रवीण राठौड़ बेहोश हो गए। कई नेताओं को आगे बढ़ने से रोक लिया गया। पुलिस और कांग्रेसियों में संघर्ष& सभा स्थल ने रैली के रूप में निकले इस जुलू स में भरत सिंह सोलंकी, अर्जुन मोढवाडिया, शंकर सिंह वाघेला, सिद्धार्थ पटेल समेत कई बड़े नेताओं को पुलिस ने रोक लिया। इसके बाद भी 4 विधायकों सहित करीब 250 कार्यकर्ता विधानसभा पहुंच गए। पुलिस ने उन्हें भी रोकने की कोशिश की। इस दौरान स्थिति उग्र हो गई। तब पुलिस ने बल प्रयोग किया, जिसमें पालिताणा के विधायक प्रवीण राठौड़ बेहोश हो गए। उन्हें तत्काल अस्पताल ले जाया गया। जनाक्रोश रैली में कांग्रेस का आक्रोश -विधानसभा के सामने ही कांग्रेस कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच संघर्ष, अनेक कार्यकर्ताओं को पड़ी मार। -शंकर सिंह वाघेला, अर्जुन मोढवाडिया, मधुसुदन मिस्त्री समेत अनेक कांग्रेसी नेताओं को रोका गया। -पुलिस ने विधानसभा के सामने बेरिकेट्स लगाकर कार्यकर्ताओं को रोकने का प्रयास किया। -पुलिस ने कार्यकर्ताओं को रोकने के लिए वॉटर केनन और टियर गैस का प्रयोग किया। -दो कंपनी एसआरपी के साथ कुल 2 हजार सुरक्षा जवानों की तैनाती। आगे की स्लाइड्स में देखें PHOTOS...

Flicker