• देखिये ट्रेनडिंग न्यूज़ अलर्टस

असदुद्दीन ओवैसी

बाबरी ढांचा गिराना गांधीजी की हत्या से भी ज्यादा संगीन केस: ओवैसी

बाबरी ढांचा गिराना गांधीजी की हत्या से भी ज्यादा संगीन केस: ओवैसी

Last Updated: April 19 2017, 22:31 PM

नई दिल्ली. अयोध्या विवाद के ट्रायल में देरी पर एआईएमआईएम चीफ अकबरुद्दीन ओवैसी ने कहा, बाबरी ढांचा गिराया जाना महात्मा गांधी के कत्ल से भी ज्यादा संगीन मामला है। 1992 में देश को शर्मसार करने वाली घटना के जिम्मेदार नेता आज सरकार चला रहे हैं। केस में केंद्रीय मंत्री और पद्म विभूषण पा चुके लोग शामिल हैं। इंसाफ में देरी तो होगी। बता दें कि बुधवार को सुप्रीम कोर्ट ने बीजेपी नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती समेत 13 लोगों पर आपराधिक साजिश के आरोप तय कर ट्रायल शुरू करने का ऑर्डर दिया। बाबरी केस देश के लिए शर्मनाक की बात... - हैदराबाद के सांसद ओवैसी ने बुधवार को ट्वीट किया, गांधीजी की हत्या केस का ट्रायल 2 साल में पूरा हो गया और बाबरी केस का क्या हुआ? ये उससे भी ज्यादा गंभीर है। गांधी के हत्यारों को दोषी ठहराकर फांसी दी गई। इस केस में क्या होगा? - 24-25 साल बीत चुके। अब जाकर कोर्ट ने आपराधिक साजिश के आरोप तय किए हैं। मुझे उम्मीद है कि कोर्ट इसके जिम्मेदारों को सजा जरूर देगा। बाबरी ढांचा गिराना देश की शर्म की बात थी और इसे कराने वाले आज देश की सरकार चला रहे हैं। अब कोर्ट ने उन पर आरोप तय कर दिए हैं तो क्या सरकार उनसे पद्म अवॉर्ड वापस लेगी। कल्याण सिंह गवर्नर की पोस्ट छोड़ेंगे? - ओवैसी ने आगे कहा, क्या अब कल्याण सिंह राजस्थान के गवर्नर का पद छोकर ट्रायल का सामना करेंगे या संवैधानिक पद की आड़ में छुपे रहेंगे। इंसाफ के लिए मोदी सरकार उन्हें हटाने का फैसला लेगी इस पर मुझे संदेह है। - मुझे लगता है कि कोर्ट ने बाबरी ढांचा गिराने के लिए कार सेवा की इजाजत नहीं दी थी। 28 नवंबर, 1992 को यूपी सरकार को सिम्बॉलिक कार सेवा की परमिशन दी गई, वो भी शांतिपूर्ण ढंग से। लेकिन 6 दिसंबर को 16वीं सदी की मस्जिद को कार सेवकों ने गिरा दिया। इसके लिए कोर्ट अवमानना के मामले की भी सुनवाई करे। सुप्रीम कोर्ट ने क्या फैसला सुनाया? - जस्टिस पीसी घोष और जस्टिस आरएफ नरीमन की बेंच ने बुधवार को कहा कि लालकृष्ण आडवाणी समेत बीजेपी के 13 नेताओं पर आपराधिक साजिश का केस चल सकता है। - साथ ही सामान्य हालात में केस की सुनवाई को टाली न जाए। जब तक सुनवाई पूरी न हो तब तक जज का ट्रांसफर नहीं हो सकेगा। केस जिस जगह पर थे, उसी जगह से शुरू होंगे। - बेंच ने सीबीआई को आदेश दिया कि वह इस बात को सुनिश्चित करे कि गवाह गवाही के लिए हर तारीख में हाजिर हों। इनके अलावा ट्रायल कोर्ट को आज की तारीख से चार हफ्तों के अंदर सुनवाई शुरू करनी चाहिए। - कोर्ट ने राजस्थान के गवर्नर कल्याण सिंह को संवैधानिक पद पर रहने का लाभ दिया। उनके खिलाफ केस नहीं चलेगा। इस मामले के वक्त सिंह 1992 में यूपी के सीएम थे। क्या है मामला? - दरअसल, दिसंबर, 1992 को दो एफआईआर दर्ज की गई थीं। पहली अज्ञात कारसेवकों के खिलाफ। इन पर मस्जिद को ढहाने का आरोप था। इसकी सुनवाई लखनऊ कोर्ट में हुई थी। वहीं दूसरी एफआईआर आडवाणी, जोशी और अन्य लोगों के खिलाफ थी। इन सभी पर मस्जिद ढहाने के लिए भड़काऊ स्पीच देने का आरोप था। यह केस राय बरेली के सेशन कोर्ट में चला था।

बीजेपी के लिए यूपी में गाय मम्मी, नॉर्थ ईस्ट में यम्मी: असदुद्दीन ओवैसी

बीजेपी के लिए यूपी में गाय मम्मी, नॉर्थ ईस्ट में यम्मी: असदुद्दीन ओवैसी

Last Updated: April 02 2017, 19:19 PM

लखनऊ. एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने यूपी में अवैध बूचड़खानों पर हो रही कार्रवाई को लेकर बीजेपी को घेरा है। उन्होंने कहा कि बीजेपी का ये पाखंड है कि यूपी में गाय मम्मी है, लेकिन नॉर्थ ईस्ट में यम्मी है। इससे पहले ओवैसी ने यूपी में बंद हो रही मीट की दुकानों का मुद्दा लोकसभा में भी उठाया था। बता दें कि बीजेपी ने नॉर्थ-ईस्ट के तीन राज्यों में अगले साल होने वाले असेंबली इलेक्शन को देखते हुए बीफ पर बैन नहीं लगाने का एलान किया है। ओवैसी ने कहा- लोगों के सामने रोजी-रोटी का संकट है... - असदुद्दीन ओवैसी ने कहा- यूपी में बूचड़खानों पर हो रही कार्रवाई से लाखों लोगों के सामने रोजगार का संकट खड़ा हो गया है। बीजेपी का पाखंड यह है कि उत्तर प्रदेश में उसके लिए गाय मम्मी है, लेकिन नॉर्थ-ईस्ट में वह यम्मी है। - नॉर्थ-ईस्ट के तीन राज्यों में चुनाव होने वाले हैं। इस वजह से ये लोग वहां बीफ को इजाजत दे रहे हैं। - बता दें, लोकसभा में ओवैसी ने सरकार की नीतियों पर सवाल उठाते हुए पूछा था कि क्या सरकार सच में भैंस के मीट के एक्सपोर्ट को प्रमोट करना चाहती या फिर इस पर बैन लगाना चाहती है? - यूपी में जो मौजूदा हालात हैं, उसमें भैंस के मीट की कई एक्सपोर्ट यूनिटों को बंद किया जा रहा है। इसका जवाब देते हुए केंद्रीय मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा था कि ये कार्रवाई सिर्फ अवैध बूचड़खानों पर हो रही है। ओवैसी समेत विपक्ष सवाल क्यों उठा रहा है? - नॉर्थ-ईस्ट में गोहत्या पर बैन नहीं है। असम, अरुणाचल प्रदेश और मणिपुर में सत्ता में होने के बावजूद बीजेपी ने वहां गोहत्या पर कोई बैन नहीं लगाया है। बूचड़खानों पर भी वहां कोई कार्रवाई नहीं की गई है। अब विपक्ष इसी को लेकर सवाल खड़े कर रहा है। - बीते दिनों नगालैंड में भाजपा के प्रमुख विसासोली लौंगु ने कहा था, अगर हमारी पार्टी नगालैंड में सरकार बनाती है तो उत्तर प्रदेश की तरह गोहत्या पर प्रतिबंध नहीं लगाया जाएगा। यहां की सच्चाई अलग है, जिसे केंद्रीय नेतृत्व अच्छी तरह जानता है। - नॉर्थ-ईस्ट के तीन राज्यों मेघालय, मिजोरम और नगालैंड में अगले साल चुनाव होने हैं। नॉर्थ-ईस्ट में रहने वाले ज्यादातर लोग ईसाई धर्म को मानते हैं और वहां बीफ ज्यादा खाया जाता है। क्या है मामला - बीजेपी ने यूपी विधानसभा चुनाव के वक्त बूचड़खानों को मुद्दा बनाया था। अमित शाह ने एलान किया था पार्टी को बहुमत मिलता है तो प्रदेश के सभी बूचड़खानों पर कार्रवाई की जाएगी। - सरकार बनते ही राज्य में इस पर कार्रवाई जारी है। सरकार की सख्ती के बाद प्रदेश में मीट व्यापारियों ने हड़ताल भी की थी। यूपी में 400 से ज्यादा स्लॉटर हाउस - सरकारी सूत्रों के मुताबिक, यूपी में 400 से ज्यादा अवैध स्लॉटर हाउस हैं। इनके बंद होने से यूपी में मीट से जुड़े 11 हजार करोड़ रुपए के कारोबार पर असर पड़ा है। - स्टेट पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड के मुताबिक, यूपी में 185 बूचड़खाने हैं। इनमें से 45 के पास लाइसेंस है। जबकि 140 बूचड़खाने बिना परमिशन के चल रहे हैं।

अयोध्या में मंदिर के लिए जितनी जमीन ली जाए, मुसलमानों को उतनी दी जाए: असदुद्दीन ओवैसी के जनरल सेक्रेटरी

अयोध्या में मंदिर के लिए जितनी जमीन ली जाए, मुसलमानों को उतनी दी जाए: असदुद्दीन ओवैसी के जनरल सेक्रेटरी

Last Updated: March 24 2017, 21:01 PM

लखनऊ. एआईएमआईएम के जनरल सेक्रेटरी सैय्यद रफत जुबैन रिजवी ने आयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट के फैसला का स्वागत किया है। साथ ही उन्होंने इस विवाद को सुलझाने के लिए प्लान भी तैयार किया है। जिसके तहत उन्होंने कहा- हिन्दू समाज अयोध्या में मंदिर बना ले, लेकिन उतनी ही जमीन कहीं और दी जाए। रफत ने इसके आलवा भी कई प्लान बताए हैं। जानिए क्या है प्लान... - सैय्यद रफत जुबैर रिजवी ने राजधानी में प्रेस कांफ्रेंस बुलाई। यहां उन्होंने अयोध्या मामले को लेकर त्री स्तरीय प्लान बताया। पहले पलान के तहत उन्होंने कहा- बाबरी विध्वंस की घटना पर देश के पीएम नरेंद्र मोदी या केंद्र की बीजेपी सरकार का कोई बड़ा नेता खेद प्रकट करते हुए मुस्लिम समाज से माफ़ी मांगे। - दूसरी मांग ये है कि देश के पीएम और बीजेपी की तरफ से मुस्लिम समाज को इस बात का भरोसा दिलाया जाये कि राम जन्म भूमि-बाबरी मस्जिद विवाद के शांतिपूर्ण समाधान के बाद किसी भी अन्य धार्मिक स्थलों के विरूद्ध कोई कार्रवाई नहीं की जायेगी। - सबसे अंतिम मांग के मुताबिक, मंदिर बनवाने के लिए जितनी जमीन मुसलमानों से ली जाए। ठीक उतनी ही जमीन अच्छी लोकेशन में दी जाये। - यदि ये तमाम मांगे सरकार मान लेती है तो मुस्लिम समाज अयोध्या में मंदिर बनवाने के लिए सहयोग करेगा। - एआईएमआईएम के जनरल सेक्रेटरी ने बताया कि ये उनकी व्यक्तिगत राय है। इसका पार्टी की तरफ से कोई लेना देना नहीं है। पार्टी से बाहर किए गए सैय्यद रफत - इस प्रेस कांफ्रेंस के बाद सैय्यद रफत को पार्टी से बाहर कर दिया गया है। - पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष शौकत अली ने कहा- हमारी पार्टी का जो स्टैंड था उससे बाहर जाकर उन्होंने बयान दिया। - पार्टी के कार्यकर्ता उनके बयान से आहत हैं। इसलिए उन्हें पार्टी से बाहर किया जाता है। - हमारी पार्टी मुस्लिम लॉ बोर्ड के नियमों के अनुसार चलती है। इस मामले में बाहर किसी तरह की बात नहीं की जाएगी।

बीजेपी की जीत उनके लिए सबक, जिन्होंने 70 साल मुस्लिमों को धोखा दिया: ओवैसी

बीजेपी की जीत उनके लिए सबक, जिन्होंने 70 साल मुस्लिमों को धोखा दिया: ओवैसी

Last Updated: March 19 2017, 20:23 PM

किशनगंज (बिहार). AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि यूपी में बीजेपी की जीत उन लोगों के लिए सबक है, जिन्होंने 70 साल मुस्लिमों को धोखा दिया। यहां रविवार को दौरे पर आए ओवैसी मीडिया के सवालों का जवाब दे रहे थे। ओवैसी ने उन लोगों पर सवाल उठाया, जिन्होंने AIMIM पर यूपी चुनावों में बीजेपी को मदद करने का आरोप लगाया था। वो बोले, मैं सेकुलरिज्म पर लेक्चर देने वालों से सवाल करना चाहता हूं कि उत्तराखंड और ओडिशा (लोकल बॉडी इलेक्शन) में सेकुलर फोर्सेस की हार क्यों हुई? यहां तो मेरी पार्टी ने कैंडिडेट नहीं उतारे थे? ओवैसी बोले- यूपी के सीएम को संविधान और कानून के दायरे में रहना चाहिए... - ओवैसी ने कहा, जो पार्टियां मुस्लिमों के लिए लड़ने का दावा करती हैं, उनके लिए सच्चर कमेटी की रिपोर्ट मुस्लिमों की बदहाली को उजागर कर चुकी है। - यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ पर बोले, जो भी सीएम बना है, उसे देश के संविधान और कानून के दायरे में रहना चाहिए। - बता दें कि यूपी इलेक्शन 2017 में AIMIM ने 11 कैंडिडेट्स उतारे थे, लेकिन पार्टी का कोई कैंडिडेट जीत नहीं पाया। बीजेपी-संघ के मुकाबले नहीं टिकता कांग्रेस का संगठनात्मक ढांचा- पी चिदंबरम - एक न्यूज एजेंसी के मुताबिक कांग्रेस के सीनियर लीडर पी चिदंबरम ने कहा, बीजेपी और संघ के मुकाबले कांग्रेस का संगठनात्मक ढांचा कहीं नहीं टिकता है। लेकिन बीजेपी-संघ का यही ढांचा प. बंगाल में टीएमसी और तमिलनाडु में AIADMK से हार जाएगा। - नोटबंदी और यूपी इलेक्शन पर बोले, देश में आम चुनाव 29 चुनावों (राज्यों) का मिलाकर होता है। राज्यों के हालात के बेस पर इलेक्शन का नतीजा तय होता है। लोग कहते हैं कि यूपी में लोगों ने डिमोनेटाइजेशन के चलते वोट दिया, उसी तरह पंजाब में लोगों ने इसके खिलाफ वोट दिया। - मैंने अपने नेताओं से कहा है कि आम चुनावों में लड़ने के लिए अब आप लोगों को बैठकर 29 स्ट्रैटेजी बनाने की जरूरत है। ये चुनौती अब 29 गुना ज्यादा मुश्किल हो गई है। आज के दौर में विपक्ष के लिए जगह घट रही है। दलित, अल्पसंख्यक सभ डर में जी रहे हैं। बीजेपी जो भारत बनाना चाहती है, वो मंजूर नहीं- पवार - अहमदाबाद में एनसीपी चीफ शरद पवार ने कहा कि बीजेपी भारत का जो नक्शा बनाना चाहती है,वो मंजूर नहीं है। उन्होंने कहा कि बीजेपी ने जो वायदे किए, उनमें से कोई पूरा नहीं किया। RSS ने एजेंडा के तहत क्षत्रिय को सीएम बनाया- मायावती - मायावती ने कहा, RSS ने अपने एजेंडा को पूरा करने के लिए छांटकर क्षत्रिय समाज के योगी आदित्यनाथ को सीएम बनाया। बीजेपी ने केशव प्रसाद मौर्य को सीएम बनने का वादा किया और रैलियों में उन्हें आगे करके पिछड़ों के वोट हासिल किए।

'अखि‍लेश से उनके घर बैठकर बहस करने को तैयार हूं, क्योंकि मैं उनके बाप से भी नहीं डरता'

'अखि‍लेश से उनके घर बैठकर बहस करने को तैयार हूं, क्योंकि मैं उनके बाप से भी नहीं डरता'

Last Updated: February 23 2017, 12:02 PM

बहराइच. एआईएमआईएम प्रेससिडेंट असदुद्दीन ओवैसी ने यहां रैली में कहा- अखिलेश लखनऊ के नए नवाब हैं। जो चमचों और राग दरबारियों से वाहवाही सुनकर खुश होते हैं। विकास की बात पर मैं अखिलेश से उनके घर बैठकर बहस करने को तैयार हूं, क्योंकि मैं उनके बाप से भी नहीं डरता। साथ ही उन्होंने पीएम मोदी और अखिलेश यादव को बड़े मियां-छोटे मियां की जोड़ी करार दिया। ओवैसी बोले- सपा सरकार में 400 दंगे हुए... - ओवैसी ने आगे कहा- गोधरा कांड के लिए मोदी को माफ नहीं कर सकते तो मुजफ्फरनगर दंगों के लिए अखिलेश को कैसे माफ कर सकते हैं। यादव परिवार ने पांच साल में यूपी को बर्बाद कर दिया। - सपा सरकार में 400 दंगे हुए, लेकिन अखिलेश चुप रहे। महिलाओं की अस्मत लूटी गई, युवाओं को नौकरी नहीं मिली। फिर भी कहते हैं कि विकास हुआ है, काम बोलता है। - विकास सिर्फ इनके विधायकों का हुआ है। काम नहीं, कारनामा बोलता है। - नेताजी के यादव परिवार में आज 22 लोग सियासत में है। सरकार बन गयी तो 150 लोग होंगे। - यादव परिवार ने यूपी का सत्यानाश कर दिया है। लोहिया आज जिंदा होते तो अखिलेश को धिक्कारते। इटावा में शेर मर गए तो लंदन से डॉक्टर बुलाए गए - ओवैसी ने कहा- इटावा में गुजरात के शेर मर गए तो लंदन से डॉक्टर और बिसलेरी का पानी मंगाया गया। लेकिन देहातों में इंसान मर रहे हैं तो अखिलेश चुप हैं। - लोकसभा चुनाव में मोदी की गोद में मुलायम, मायावती और अखिलेश बैठ गए। - ओवैसी ने कहा कि मोदी और अखिलेश रमजान, दिवाली, शमशान और कब्रस्तान की बात मत करो, हम इफ्तार पार्टियों से ऊब चुके हैं।

'मैं बाबरी मस्जिद का गिरा हुआ गुम्बद हूं, डरने की जरूरत नहीं'

'मैं बाबरी मस्जिद का गिरा हुआ गुम्बद हूं, डरने की जरूरत नहीं'

Last Updated: February 21 2017, 18:38 PM

सुल्तानपुर. जिले में अखिलेश यादव, मायावती और अमित शाह के सभा कर जाने के बाद मंगलवार को दूसरे दिन एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने पहुंचकर सियासी माहौल में उबाल पैदा कर दयिा। उन्होंने इसौली विधानसभा के पारा बाज़ार में एक जनसभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि अब मोदी, अखिलेश और बीएसपी से डरने की ज़रूरत नहीं है, बल्कि मैं इनसे मुकाबले पर खड़ा हूं। उन्होंने कहा कि सेक्युलिरिज्म की बात करने वाले याद रखें कि मैं बाबरी मस्जिद का गिरा हुआ गुम्बद हूं। लोकसभा में बीजेपी को कैसे मिली 70 सीटें उन्होंने कहा कि बाबरी मस्जिद का वो गिरा हुआ गुम्बद जो आज भी इंसाफ के लिए पुकार रहा है। लेकिन बरसों बीत जाने के बाद भी इंसाफ नहीं मिला और जिनकी कयादत में घटना हुई, उन्हें सज़ा नहीं मिली। असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि इसी मजबूरी का फायदा उठाते हुए कल तक सपा, बसपा और कांग्रेस डराकर वोट लेती रही की बीजेपी आ जाएगी। लेकिन लोकसभा के चुनाव में हमने बीजेपी को वोट नहीं दिया फिर कैसे यहां से बीजेपी का सांसद जीता। यूपी में 70 सीटें बीजेपी कैसे पा गई। अब डरने की जरूरत नहीं है, हम इनके सामने खड़े हैं या योद्धा बनेंगे या शहीद होंगे। 200% रेप और 30% किडनैपिंग की वारदातों में हुई बढ़ोत्तरी अखिलेश सरकार के विकास पर हमला बोलते हुए असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि 55 हजार करोड़ शिक्षा का बजट है। फिर शिक्षा का ग्राफ क्यों नहीं बढ़ा? 12 हजार करोड़ स्वास्थ का बजट है, लेकिन न सरकारी अस्पताल में डॉक्टर हैं न दवा। पुलिस का बजट 16 हजार करोड़ का है, लेकिन यूपी में 200% रेप के मामले में बढ़ोत्तरी हुई है और 30% किड्नैपिंग की वारदातों में। उन्होंने कहा कि महिलाओं की इज्जजत न बचा पाने वाले महिलाओं को प्रेशर कूकर देने का लालच दे रहे हैं। सबके साथ की बात करने वाले कब्रिस्तान और श्मशान की बात कर रहे पीएम नरेंद्र मोदी पर हमलावर होते हुए असदुद्दीन ओवैसी ने कहा की कल तक सबका साथ सबका विकास की बात करने वाले आज कब्रिस्तान और श्मशान की बात कर रहे हैं। दीपावली और रमजान की बात कर रहे हैं। मेरा बीजेपी से सवाल है कि उसके 400 उम्मीदवार यूपी में चुनाव लड़ रहे हैं इनमें एक भी मुसलमान नहीं हैं, क्या ये भेदभाव नहीं है? तलाक की बात करने वाले बताए कहां हैं मोहतर्मा वहीं असदुद्दीन ओवैसी ने तलाक के मुद्दे पर बीजेपी को जमकर कोसा। उन्होंने कहा कि बीजेपी कहती है कि अगर हम यूपी की सत्ता में आए तो तलाक के मसले को आगे बढ़ाएगे। ओवैसी ने कहा, इनको क्या काम है तलाक से? इन्हें ये नहीं पता के तलाक लिखते कैसे हैं? लेकिन इसके बाद चले हैं तलाक की बात करने। अपने गिरेबान में झांक कर देखें और बताएं, क्यों और हां हैं मोहतर्मा?

मोदी को ज‍िन्दों की नहीं, मुर्दों की ज्यादा फ‍िक्र है, अख‍िलेश सरकार ने कोई व‍िकास नहीं क‍िया: ओवैसी

मोदी को ज‍िन्दों की नहीं, मुर्दों की ज्यादा फ‍िक्र है, अख‍िलेश सरकार ने कोई व‍िकास नहीं क‍िया: ओवैसी

Last Updated: February 20 2017, 22:12 PM

इलाहाबाद. यूपी चुनाव में चौथे चरण के लिए सोमवार को एआईएमआईएम प्रेसिडेंट असदुद्दीन ओवैसी ने इलाहाबाद में रैली को संबोधित किया। उन्होंने मोदी पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि मोदी को जिन्दों की फिक्र नहीं है,मुर्दो की फिक्र ज्यादा है। ओवैसी मुस्लिम बाहुल्य सीट पर ओवैसी एआईएमआईएम पार्टी के प्रत्याशी अफजाल मुजीब के समर्थन में सभा कर रहे हैं। यह उनकी जिले में पहली राजनीतिक सभा है। ऐसे में उन्हें सुनने के लिए समर्थकों को भारी भीड़ जुटी हुई है। आगे पढ़िए ओवैसी की बड़ी बातें... -अखिलेश सरकार ने जो तमाम झूठे वादे किए कि हमारी सरकार विकास कर रही है, लेकिन एक भी विकास नहीं हुआ। -5 साल के कार्यकाल में 400 से ज्यादा दंगे हुए और उन दंगों में जो सबसे बड़ा दंगा हुआ, मुजफ्फरनगर का दंगा हुआ। - फिर भी सरकार ने इन दंगों को रोकने का काम नहीं किया। -मोदी को ज़िन्दों की फिक्र नहीं है, मुर्दो की फिक्र ज्यादा हैै। लेकिन जब तक जिंदा रहूंगा संघ और बीजेपी से लड़ता रहूंगा। -मैं आपके सामने यह भी गुजारिश करने आया हूं कि अपने वोटों का सही इस्तेमाल करिए। -मोदी और अखिलेश में कोई फर्क नहीं है। ये दोनों एक सिक्के के दो पहलू हैं। एक बड़े भाई तो दूसरे छोटे भाई हैं। -हिंदुस्तान के वजीरे आजम तकरीर करते हैं कि भेदभाव नहीं होना चाहिए। -वो हते हैं कि रमजान में बिजली आती है तो दिवाली पर भी बिजली आनी चाहिए। -कब्रिस्तान अगर अच्छा हुआ तो श्मशान भी अच्छा होना चाहिए। -ओवैसी ने कहा, अरे मोदी सुनो, तुमको आज जो जिंदगी गुजार रहे हैं उनकी फिक्र नहीं है, जो कब्रिस्तान में सीना तान कर सो रहे हैं तुम उनकी फिक्र मत करो। -आपने 500-1000 की नोट बंद करके इंसानों को कब्रिस्तान, श्मशान पहुंचाने का काम किया। -बताओ मिस्टर मोदी, क्या तुम्हारी नोट बंदी से डेढ़ सौ से ज्यादा लोगों की जान चली गई और आपको उनके मरने की फिक्र नहीं है। -तुम सियासत पर अपनी रोटी सेकने के आदी हो चुके हो। आगे की स्लाइड्स में देखिए रैली की फोटोज...

सपा-कांग्रेस का अलायंस दादरी-बाबरी के अलायंस जैसा है : ओवैसी

सपा-कांग्रेस का अलायंस दादरी-बाबरी के अलायंस जैसा है : ओवैसी

Last Updated: February 17 2017, 18:41 PM

लखनऊ. यूपी की राजधानी लखनऊ में शुक्रवार को एआईएमआईएम के राष्ट्रीय अध्यक्ष सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने कहा, चुनाव के बाद ही किसी पार्टी से समझौता के बारे मे सोचेंगे। सपा-कांग्रेस का ये अलायंस दादरी-बाबरी का अलायंस है। इस दौरान सपा के पूर्व प्रवक्ता आसिम वकार ने उनकी पार्टी ज्वाइन करने का फैसला लिया। विपक्षियों पर साधा निशाना... - सपा, कांग्रेस व भाजपा पर निशाना साधते हुए कहां इन पार्टियों ने मुसलमानोंं का बस इस्तेमाल किया है। - चुनाव में किये गये कोई भी वादा पूरा नहीं किया जाता। अब तो बाबरी-दादरी का गठबन्ध हो गया है। - कहा, कभी अगर पकड़ा गया आतंकवादी मुसलमान होता है भाजपा शोर मचाती है देश भक्ति की बातें करती है। - 8 फरवरी को मध्य प्रदेश एटीएस ने 11 लोगों को गिरफ्तार किया। लोगों पर आरोप है कि ये खुफिया जानकारी पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई को भेजते थे। - इनमें से कई ऐसे हैं जो बीजेपी में अच्छे पदों पर काम कर रहें है। - मगर सबसे बड़ा सवाल ये है कि हमेशा कांग्रेस और अन्य दलों पर आरोप लगाने वाली बीजेपी इस बार खामोश क्यों है? - जब उन्हीं कि पार्टी के नेता सीधे पाकिस्तान से मिले हुए हैं। सपा प्रवक्ता ने पार्टी छोड़ा - आल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लेमिन के राष्ट्रीय अध्यक्ष व सांसद जनाब असदउद्दीन ओवैसी ने शुक्रवार को प्रदेश केन्द्रीय चुनाव कार्यालय का उद्घाटन किया। - इस अवसर पर समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता आसिम वक़ार ने सपा को छोड़ने का एेलान करते हुए, आल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लेमिन (ए.आई.एम.आई.एम.) में शामिल होने की घोषणा भी की। अपने पार्टी के कार्यालय का किया उद्घाटन - प्रदेश महासचिव सैय्यद रफत ज़ुबैरी रिज़वी ने बताया कि प्रदेश केन्द्रीय चुनाव कार्यालय पिछले 2 महीनों से कार्य कर रहा था। - औपचारिक रुप से राष्ट्रीय अध्यक्ष असदउद्दीन ओवैसी के हाथो कार्यालय का उद्घाटन कराया गया है। - असदउद्दीन ओवैसी ने प्रदेश महासचिव सैय्यद रफत ज़ुबैरी द्वारा पार्टी के प्रति किए गये कार्यो की तारीफ की और सैय्यद रफत को पार्टी के लिए प्रदेश की शान बताया। - प्रेस वार्ता में असदउद्दीन ओवैसी ने कहां आसिम वक़ार को ए.आई.एम.आई.एम. पार्टी का राष्ट्रीय प्रवक्ता और उत्तर प्रदेश का कोआॅडीनेटर बनाया गया है। - आगे उन्होंने कहा कि पूरे उप्र में कुल 36 प्रतियाशी चुनाव लड़ रहे है। - कम प्रत्याशियों को चुनाव पर उतारने की वजह उन्होने अपना पहला कदम बताया कि अब धीरे-धीरे उप्र में कदम जमाएंगे। और इन्शाल्लाह हमारे सारे प्रत्याशी विजय होंगे।

ओवैसी अपनी पार्टी के लिए मांगेंगे वोट, लखनऊ-बाराबंकी में करेंगे रैली

ओवैसी अपनी पार्टी के लिए मांगेंगे वोट, लखनऊ-बाराबंकी में करेंगे रैली

Last Updated: February 16 2017, 12:35 PM

लखनऊ. एएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी गुरुवार को हरदोई, बाराबंकी और लखनऊ में जनसभाओं को एड्रेस करेंगे। ओवैसी यहां अपनी पार्टी के पत्याशियों के लिए वोट की अपील करेंगे। बता दें, ओवैसी यूपी इलेक्शन के मद्देनजर प्रदेश भर में रैलियां कर रहे हैं।

'अल्लाह ने मोदी को डाॅक्टर बनाया होता तो वह जिंदा लोगों का आॅपरेशन कर देते'

'अल्लाह ने मोदी को डाॅक्टर बनाया होता तो वह जिंदा लोगों का आॅपरेशन कर देते'

Last Updated: February 16 2017, 08:35 AM

लखनऊ. राजधानी में चुनाव प्रचार करने आए ओवैसी ने कहा, सैफई में शेर मरता है तो लंंदन से डाॅक्टर आते हैं। लेकिन प्रदेश में लोगों के लिए कोई इलाज नहीं है। सपा के शासन काल में कानून व्यवस्था लचर रही है। वहीं, पीएम पर निशाना साधते हुए कहा - अगर अल्लाह ने मोदी को डाॅक्टर बनाया होता तो वो जिंदा लोगों का ही आॅपरेशन कर देते है। पढ़ें ओवैसी की 10 बड़ी बातें... 1- अखिलेश और मोदी एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। दाेनों ड्रामेबाज कंपनी हैं एक बाप की नहीं सुनता है और दूसरा किसी की नहीं सुनता। 2- मुस्लिमों के पास न तो सरकारी नौकरी है और न ही शिक्षा। 3- सपा, बसपा और बीजेपी ने हमेशा मुसलमानों को नजरअंदाज किया है। 4- जो मुझ पर फिरका-परस्ति का आरोप लगा रहे हैं वो सब दलाल हैं। 5 - अखिलेश सरकार रेप पीड़िता गजाला को न्याय नहीं दिला सका। 6- बीजेपी की गोद में बैठी है सपा। 7- अखिलेश कहते है इंसाफ को भूलो, प्रेशर कूकर ले लो। 8- लंदन से कानून की डिग्री लेकर आया हूं मैं। कानून को अच्छे से जानता हूं। 9- ट्रिपल तलाक के सवाल पर कहा कि मुस्लिम समुदाय में दो शादी का हक है। 10- मैं मानता हूं कि बदनाम हूं लेकिन आपने क्या किया, जिस देश की आजादी के लिए हमारे बुजुर्गों ने जान गवां दी उन लोगों के लिए क्या किया।

ओवैसी का निशाना- नोटीस जारी कर मेरा अपमान क्यों किया जा रहा है

ओवैसी का निशाना- नोटीस जारी कर मेरा अपमान क्यों किया जा रहा है

Last Updated: February 15 2017, 11:21 AM

पुणे. एमआईएम अध्यक्ष एवं सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने मंगलवार को एक रैली को संबोधित करते कहा कि पुणे शहर किसी की जागीर नहीं है। पुणे में मुझ पर कोई मामला दर्ज नहीं फिर भी मेरी रैली को अनुमति नहीं दी जाती। नोटीस जारी कर मेरा अपमान क्यों किया जा रहा है। पुलिस मुख्यमंत्री फड़णवीस, उद्धव ठाकरे और शरद पवार को नोटीस जारी करने की हिम्मत दिखाए। और क्या कहा ओवैसी ने......... ओवेसी ने अपने भाषण में कहा कि, मैं कुछ गलत बोल रहा हूं तो मुझ पर मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार करें। -चाहे तो मुझ पर गोलियां बरसाएं, लेकिन गलत न बोलने पर भी नोटीस जारी कर मेरा अपमान क्यों कर रहे हैं। -ओवैसी ने आगे की कहा कि, संविधान से मुझे बोलने का अधिकार मिला है। मुझे अपने विचार प्रकट करने से कोई रोक नहीं सकता। -मैं जब तक जिंदा हूं तब तक गरीबों का आपसे (सरकार) करवा लूंगा। इससे मुझे कोई रोक नहीं सकता। - पिछली बार मेरी पुणे में रैली हुई थी, उस समय कुछ नहीं हुआ फिर भी आज मेरी रैली को अनुमति नहीं मिल रही थी। -मौं जो विचार करता हूं वह सही है या गलत इसका फैसला जनता करेगी, वह अधिकार किसी एक को नहीं है। -बता दें कि, कुछ दिन पहले ओवैसी को पुणे में रैली के लिए पुलिस से परमिशन नहीं मिली थी। -पार्टी ने दूसरी जगह पर रैली का निर्णय किया था, और इस बारे में बताने पर पुलिस ने परमिशन दी थी।

पुणे में रैली के लिए नहीं मिली असदुद्दीन ओवैसी को मंजूरी, आज हो सकता है प्रदर्शन

पुणे में रैली के लिए नहीं मिली असदुद्दीन ओवैसी को मंजूरी, आज हो सकता है प्रदर्शन

Last Updated: February 13 2017, 17:59 PM

पुणे: एआईएमआईएम प्रमुख और सांसद असदुद्दीन ओवैसी को पुणे के एक वार्ड में आम सभा करने की अनुमति नहीं दी गई है। जिसके विरोध में सोमवार को एमआईएम कार्यकर्ता प्रदर्शन कर सकते हैं। शहर में 21 फरवरी को स्थानीय निकाय चुनाव होने हैं। इस आधार पर नहीं दी गई अनुमति...   - खड़क पुलिस थाने ने यह कहते हुए ओवैसी की रैली की अनुमति नहीं दी कि जिस इलाके को एआईएमआईएम की रैली के लिए चुना गया है वह इलाका मिश्रित आबादी होने की वजह से संवेदनशील है और चूंकि ओवैसी के भाषणों की प्रकृति कथित तौर पर भड़काउ और सांप्रदायिक होती है। इसलिए उनकी जान को खतरा हो सकता है। - पुणे स्थानीय निकाय चुनावों के लिए एआईएमआईएम ने 25 उम्मीदवार उतारे हैं। एआईएमआईएम की शहर इकाई ने 14 फरवरी को सेवेन लोवेस चौक पर रैली की अनुमति मांगी थी। - पार्टी की शहर इकाई को लिखे पत्र में खड़क पुलिस ने कहा है, 'कानून व्यवस्था की स्थिति को ध्यान में रखते हुए रैली की अनुमति नहीं दी जा सकती।'  - पार्टी की पुणे इकाई के प्रमुख अंजुम इनामदार ने कहा, 'शनिवार को हमें खड़क पुलिस थाने से पत्र मिला जिसमें पुलिस ने हमें सूचित किया कि रैली की अनुमति नहीं दी जा रही है।' - उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस का रवैय पक्षपाती है और पार्टी इसकी निंदा करती है।

मोदी-ओवैसी के बयान पर इस सपा सांसद ने क‍िया पलटवार, बोलीं ये बातें

मोदी-ओवैसी के बयान पर इस सपा सांसद ने क‍िया पलटवार, बोलीं ये बातें

Last Updated: February 12 2017, 19:50 PM

बदायूं. शनिवार को बदायूं में रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने अखिलेश यादव पर जमकर निशाना साधा था। मोदी ने कहा था कि अखलेश के काम नहीं, कारनामे बोलते हैं और कोई विकास नहीं कराया। इस बयान पर बदायूं से सांसद और अखिलेश परिवार के भाई धर्मेन्द्र यादव ने पटलवार किया। उन्होंने कहा कि मोदी केवल सवाल करते हैं। उनके सरकार के 3 साल पूरे होने जा रहे हैं, वो बताएं उन्होंने कौन से वादे पूरे किए। सीएम अखिलेश का काम बोल रहा है, इसलिए यूपी की जनता सपा के साथ हैं। हमारी सरकार ने सरकार बनने से पहले जो भी वादे किए थे, उन्हें पूरा करके दिखाया है और देश में अलग पहचान बनाई है। इसलिए विरोधी यूपी को बदनाम करने का काम कर रहे हैं। ओवैसी पर भी साधा निशाना एआईएमआईएम नेता असदुद्दीन ओवैसी ने यूपी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा था यूपी सरकार गुंडाराज को बढ़ावा देती है और यूपी में लोगों को पानी और इलाज नहीं मिल रहा है। वहीं, सैफई में लायन के इलाज के लिए विदेशो से डॉक्टर आते हैं। इसके जवाब में सांसद धर्मेन्द्र यादव ने कहा कि ओवैसी को जानकारी नहीं है कि यूपी में 108 और 102 एम्बुलेंस चल रही है। यूपी सरकार में 6 मेडिकल कालेज चल रहे हैं और 10 मेडिकल कालेज बनकर तैयार हैं। विधायक आबिद राजा के बारे में कहा धर्मेन्द्र यादव पर शहर विधायक आबिद रज़ा द्वारा लगाए गंभीर आरोप पर जवाब देते हुए कहा कि यह जवाब तो उनसे ही पूछो। उन्होंने खुले मंच से माफ़ी मांगी है। अगर कोई आदमी खुले मंच से माफ़ी मांगे उससे बड़ी कोई बात नहीं हो सकती है। पार्टी ने अब उन्हें टिकट दिया है इसलिए हम चुनाव लड़ा रहे हैं।

ओवैसी का अखिलेश को चैलेंज, कहा- मेरी जुबान का मुकाबला तो मोदी नहीं कर सके, वो क्‍या करेंगे

ओवैसी का अखिलेश को चैलेंज, कहा- मेरी जुबान का मुकाबला तो मोदी नहीं कर सके, वो क्‍या करेंगे

Last Updated: February 07 2017, 18:00 PM

संभल. यहां मंगलवार को ओवैसी ने रैली में कहा, अखिलेश के परिवार के लिए लंदन से डॉक्टर आते हैं, लेकिन संभल के अस्पतालों में डॉक्टर नहीं हैं। अखिलेश और मोदी मुसलमानों को रिजर्वेशन नहीं देना चाहते हैं। 11 मार्च को भूकंप आएगा और यूपी में मोदी को झटका लगेगा। अखिलेश पर कमेंट करते हुए ओवैसी ने कहा, जो अपने बाप का दिल नहीं जीत सका, वो संभल के लोगों का दिल कैसे जीतेगा। अखिलेश और मोदी एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। मेरी जुबान का मुकाबला तो मोदी नहीं कर सके, अखिलेश क्या करेंगे? और क्या बोले ओवैसी? - ओवैसी अपनी पार्टी के संभल से कैंडिडेट पूर्व सांसद डॉ. शफीकुर्रहमान बर्क के पोते जियाउर्रहमान बर्क के समर्थन में जनसभा करने पहुंचे थे। - उन्होंने कहा, यादव परिवार के 5 लोग कामयाब हो गए, लेकिन मुस्लिम वर्ग के लोग नही हुए। - अखिलेश ने सिर्फ यादवों का भला किया है। बाकी सभी कौम (जाति) के लोग बेरोजगार हैं। - सीएम कहता है कि विकास बोलता है, काम बोलता है। सब बकवास है। मैं यहां आया तो रास्ते में गड्ढे ही गड्ढे मिले। सपा-बसपा ने मुस्लिमों का किया शोषण - जियाउर्रहमान ने रैली में कहा, 25 साल से सपा-बसपा मुस्लिमों का शोषण करती आई हैं। अब मुस्लिमों का वोट कब्जाने वाले मुलायम, मुल्ला मुलायम बनना चाहते हैं। - मेरे दादा शफीकुर्रहमान, मुलायम या मायावती के आगे नहीं झुके। हम सिर्फ अपने अल्लाह से डरते हैं। - बिना नाम लिया कैबिनेट मंत्री इमरान महमूद पर कमेंट करते हुए जियाउर्रहमान ने कहा, एक बड़े नेता ने 25 साल से संभल पर कब्जा कर रखा है। - वो मुस्लिमों को बीजेपी से डराकर जीतते रहे हैं, लेकिन अब तक खुद संभल के अस्पताल में वो डॉक्टर भी नहीं बैठा सके। शफीकुर्रहमान का कैबिनेट मंत्री पर कमेंट- वो लीडर नहीं, गीदड़ हैं - रैली में डॉ. शफीकुर्रहमान ने कहा, मैं चाहता हूं कि मेरी कौम के लोग इतने मजबूत हो जाएं कि कोई आपकी ओर आंख उठाकर न देखे। - मैं अपनी कौम की वफादारी करता आया हूं। मुसलमानों का मकसद जुल्म के खिलाफ लड़ना है। - कैबिनेट मंत्री इकबाल महमूद पर कमेंट करते हुए कहा कि वो लीडर नहीं, गीदड़ हैं।

हिंदुस्तान की जमीन पर सर्जिकल स्ट्राइक करते हैं PM: ओवैसी; ट्रिपल तलाक पर बोले- मोदी, अखिलेश और कांग्रेस को दिया तलाक

हिंदुस्तान की जमीन पर सर्जिकल स्ट्राइक करते हैं PM: ओवैसी; ट्रिपल तलाक पर बोले- मोदी, अखिलेश और कांग्रेस को दिया तलाक

Last Updated: February 06 2017, 20:10 PM

मुरादाबाद. असदुद्दीन ओवैसी ने मुरादाबाद की जनसभा में तीन तलाक पर कहा- एक तलाक मोदी को, एक तलाक अखिलेश को, एक तलाक कांग्रेस को बोल दिया है हमने। साथ ही उन्होंने पीएम पर हमला करते हुए कहा- मोदी जी प्रदेश में आकर एबीसीडी सिखा रहे हैं। हिंदुस्तान की जमीन पर सर्जिकल स्ट्राइक करते हैं मोदी... - ओवैसी ने आगे कहा- मोदी सर्जिकल स्ट्राइक कर बताते हैं कि पाकिस्तान की जमीन पर सर्जिकल स्ट्राइक किया। - मोदी को यह नहीं पता कि सर्जिकल स्ट्राइक पाकिस्तान में नहीं POK पर की थी और वो हिंदुस्तान की सरजमीं है। अखिलेश ने केवल अपने परिवार का विकास किया - ओवैसी ने अखिलेश पर हमला करते हुए कहा- अखिलेश ने केवल अपने परिवार का विकास किया है। - प्रदेश में बेरोजगारों को रोजगार नहीं मिला रोजगार मिला है तो केवल यादवों को रोजगार मिला है। - अखिलेश ने जो रोजगार देने का वादा किया वह पूरा नहीं किया। मोदी और अखिलेश ने केवल जनता को गुमराह किया है। शेरों के लिए लंदन से आते हैं डॉक्टर - अखिलेश के गढ़ में बने पार्कों में शेरों की तबियत खराब होती है तो डॉक्टर लंदन से आता है। लेकिन प्रदेश में गरीब लोगों के इलाज के लिए डॉक्टर नहीं है। - प्रदेश में ऐसा कानून का राज है कि 5 साल में महिलाओं से रेप के मामलों में 200 फीसदी, अपहरण के मामलों में 30 फीसदी का इजाफा हुआ है। जनता करेगी वोट बंदी - मोदी ने नोट बंदी की। जनता इस बार भाजपा के लिए वोट बंदी करेगी। - नोट बंदी से मुरादाबाद के पीतल का कारोबार पूरी तरह से ठप हो गया है।

Flicker