• देखिये ट्रेनडिंग न्यूज़ अलर्टस

अशोक चव्हाण

  • कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष चव्हाण पर भरी सभा में कार्यकर्ता ने फेंकी स्याही, जमकर हुई पिटाई
    Last Updated: February 12 2017, 13:24 PM

    नागपुर. महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष अशोक चव्हाण पर पार्टी के एक कार्यकर्ता ने भरी सभा मे स्याही फेंकी। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने यह हरकत करने वाले शख्स की जमकर पिटाई की। चव्हाण शनिवार रात हसन बाग इलाके में महापालिका चुनाव प्रचार की एक रैली को संबोधित कर रहे थे, इस दौरान एक कांग्रेस कार्यकर्ता ने ही यह हरकत की। क्या बोले चव्हाण...... -शहर के हसनबाग इलाके में शनिवार रात अशोक चव्हाण एक चुनावी रैली को संबोधित कर रहे थे। -इसी दौरान एक शख्स मंच पर आ गया और वहां पर कांग्रेस और अशोक चव्हाण मुर्दाबाद के नारे लगाने लगा। -उसे पकड़ने की कोशिश की तो उसने अपने जेब में बोतल निकाल कर चव्हाण पर स्याही फेंकी। -इससे चव्हाण के भाषण को बीच में रोकना पड़ा। तब तक कार्यकर्ताओं ने स्याही फेंकने वाले को पकड़ लिया। उन्होंने उसकी जमकर पिटाई की। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। मंच के पास बदले कपड़े - घटना के बाद चव्हाण मंच से नीचे उतरे और ने कपड़े बदलने के बाद फिर मंच पर पहुंचे और अपना अधूरा भाषण पूरा किया। -भाषण के बाद उन्होंने मीडिया से कहा कि, इस बारे में जानकारी लेकर आगे की कार्रवाई की जाएगी। -स्याही फेंकने वाला ललित बघेल कांग्रेस से रिलेटेड़ माथाड़ी संगठन का नेता है। -बताया जाता है कि चुनाव में टिकट के बंटवारे को लेकर नाराज था। -हालांकि इस स्याही हमले के असली कारण के बारे में पता नहीं चला है। पुलिस आरोपी कार्यकर्ता से पूछताछ कर रही है।

  • पानी पर जंग : कहीं धारा 144 लागू तो कहीं दिया हाथ काटने का ऑर्डर
    Last Updated: March 21 2016, 22:21 PM

    मुंबई. पानी को लेकर दुनिया में तीसरे वर्ल्ड वॉर की बात होती रहती है। पर महाराष्ट्र के मराठावाड़ा में एक ऐसा जिला भी है जहां पानी को लेकर खूनी झड़प होना आम बात हो गई है। हम बात कर रहे हैं लातूर की, जहां पानी की किल्लत को देखते हुए 31 मई तक धारा 144 लागू कर दी गई है। वहीं मुंबई में मनसे के राज ठाकरे ने नॉर्थ इंडियंस के हाथ तक काट देने का ऑर्डर दिया है। आखिर क्यों कही हाथ काटने की बात... (22 मार्च को वर्ल्ड वाटर डे है। इस मौके पर dainikbhaskar.com आपको उन इलाकों के बारे में बता रहा है जहां पानी को लेकर संघर्ष चल रहा है।) - होली में पानी की बर्बादी की बात कहते हुए राज ठाकरे ने नॉर्थ इंडियंस पर निशाना साधा है। - ठाकरे ने पार्टी के वर्कर्स से कहा- इन लोगों से पहले हाथ जोड़ो, रिक्वेस्ट करो, नहीं मानें तो फिर हाथ उठाओ और पीट दो। - लोगों से सूखी होली खेलने को कहें, इसके बावजूद अगर कोई पानी से होली खेलते मिलता है, तो उसे मनसे स्टाइल में सबक सिखाएं। लातूर में ये है स्थिति... - डीएम पोले के मुताबिक पानी की किल्लत के चलते टैंकरों से पानी पहुंचाया जा रहा है। इन टैंकरों के पास पांच से अधिक लोग इकट्ठा नहीं हो सकते। - हाल ही में कुछ असामाजिक तत्वों ने पानी भरने की जगह से ही टैंकरों को लूट लिया था। इसके अलावा कई बार कुओं के पास लगी भीड़ की वजह से टैंकरों में पानी भरने की दिक्कतें सामने आई। - राज्य में यह अपनी तरह का पहला मामला है जब पानी के लिए कलेक्टर ने सीआरपीसी की धारा 144 के तहत ये निर्देश जारी किया है। - यह जिला हर साल सूखे की मार झेलता है। महाराष्ट्र सरकार ने उठाए ये कदम - सरकार ने फैसला लिया है कि जुलाई तक शहर के किसी भी स्विमिंग पूल को पानी नहीं दिया जाएगा। - होली के दिन रेन डांस के लिए भी पानी नहीं दिया जाएगा। - सीएम देवेंद्र फड़णवीस ने सभी म्यूनिसिपल कॉर्पोरेशन को पानी की बर्बादी रोकने के ऑर्डर दिए हैं। - बता दें कि महाराष्ट्र के मराठवाड़ा क्षेत्र में सिर्फ 5% पानी बचा है। - राज्य के बाकी हिस्सों में भी हालात खराब हैं, कई रीजन में सिर्फ 40% पानी ही मौजूद है। - सरकार की तरफ से जारी आंकड़ों के मुताबिक सूखे की वजह से 2015 में 3228 किसानों ने सुसाइड किया था। आगे की स्लाइड्स में देखें लातूर में गर्मियों में पानी के लिए कैसी होती है स्थिति...

  • महाराष्ट्र : पानी की किल्लत के चलते सूखापीड़ित लातूर में धारा 144 लागू
    Last Updated: March 20 2016, 15:20 PM

    पुणे/ लातूर. महाराष्ट्र के लातूर जिले में 31 मई तक धारा 144 लगाई गई है। सूखा पीड़ित मराठवाड़ा विभाग के लातूर में पानी लेने के लिए हालत खूनी झड़प तक पहुंच गई है।। इस पर काबू पाने के लिए जिलाधिकारी पांडुरंग पोले ने यह धारा लागू की है। कांग्रेस ने इसका विरोध किया है... क्यों लिया निर्णय -कलेक्टर पोले के मुताबिक पानी की किल्लत के चलते टैंकरों से पानी पहुंचाया जा रहा है। इन टैंकरों के पास पांच से अधिक लोग इकट्ठा नहीं हो सकते। महाराष्ट्र के कई जिलों में सूखे के चलते पानी की समस्या गंभीर हुई है। -लातूर जैसे कई शहरों में महीने में एक बार पानी आता था। लेकिन वह भी अब बंद होने की संभावना है। -एेसे में नगर निगम में 20 बड़े टैंकरों से जलापूर्ति की जा रही है। -हाल ही में कुछ असामाजिक तत्वों ने पानी भरने की जगह से ही टैंकरों को लूट लिया था। इसके अलावा कई बार कुओं के पास लगी भीड़ की वजह से टैंकरों में पानी भरने की दिक्कतें सामने आई। - पानी की किल्लत को देखते हुए सरकारी टैंकों के पास संभावित हिंसा व विवाद की स्थिति को पैदा होने से रोकने के लिए यह कदम उठाया गया है। -राज्य में यह अपनी तरह का पहला मामला है जब पानी के लिए कलेक्टर ने सीआरपीसी की धारा 144 के तहत ये निर्देश जारी किया है। - जिले के सबसे अधिक सूखा पीड़ित क्षेत्रों को शामिल किया गया है। इसमें जिले के पानी टैंकर भरने वाले स्थान, सार्वजनिक कुएं, पानी टैंकर चलने वाले रूट और पानी टैंक शामिल हैं। पूर्व सीएम विलासराव का गृहनगर है लातूर -पूर्व सीएम विलासराव देशमुख के होम टाउन लातूर सिटी से अब उनके बेटे अमित राव देशमुख विधायक हैं। -यह जिला हर साल सूखे की मार झेलता है। पानी की बेहतर आपूर्ति के लिए मिली शिकायतों के बाद कलेक्टर ने यह कदम उठाया है। कांग्रेस ने किया विरोध - कांग्रेस के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण ने जिलाधिकारी के इस आदेश का विरोध किया है। -चव्हाण ने कहा कि इससे लोगों को डेढ़ माह तक पानी नहीं मिलेगा। -इस सूखे की समस्या के लिए चव्हाण ने सरकार को ही जिम्मेदार बताया।

Flicker