• देखिये ट्रेनडिंग न्यूज़ अलर्टस

आसिफ अली

कड़ी सुरक्षा में पुलिस ने कोर्ट में पेश किया ISI एजेंट, 2 साल पहले हुआ था अरेस्‍ट

कड़ी सुरक्षा में पुलिस ने कोर्ट में पेश किया ISI एजेंट, 2 साल पहले हुआ था अरेस्‍ट

Last Updated: September 30 2016, 19:17 PM

मेरठ. जेल में बंद ISI एजेंट आसिफ अली को पुलिस ने शुक्रवार दोपहर कड़ी सुरक्षा के बीच एंटी करप्शन कोर्ट में पेश किया। कोर्ट ने अब सुनवाई के लिए 5 अक्टूर की तारीख तय की है। पीओके में आतंकी कैंपों पर की गई भारतीय सेना की कार्रवाई के बाद भारतीय जेलों में बंद आईएसआई एजेंटों की सुरक्षा भी कड़ी की गई है। दो साल पहले मेरठ से हुआ था गिरफ्तार - पाकिस्तानी ISI को सेना की खुफिया जानकारी देने वाला एजेंट आसिफ अली एसटीएफ की मदद से दो साल पहले मेरठ में गिरफ्तार किया गया था। - अगस्त 2014 में गिरफ्तार हुए आसिफ अली से पूछताछ में बड़ी ही चौंकाने वाली जानकारी सामने आई थी। - गिरफ्तार किए गए एजेंट आसिफ के पास से पुलिस ने पासपोर्ट, कई बैंकों के एटीएम कार्ड, पाकिस्तानी बैंकों के क्रेडिट कार्ड समेत कई अन्य संदिग्ध सामान बरामद किए थे। - पूछताछ में यह भी पता चला था कि आसिफ न केवल भारतीय सेना की गोपनीय जानकारी पाकिस्तान भेजता था बल्कि यहां ISI के लिए काम कर रहे लोगों को पैसा उपलब्ध कराता था। - एसटीएफ ने आसिफ अली को मेरठ में सुभाष बाजार से गिरफ्तार किया था। - आसिफ अली (52) पुत्र कासिम अली थाना देहली गेट क्षेत्र की हीरालाल बिल्डिंग पूर्वा फैय्याज अली में रहता था। पाकिस्तान में रहता है आसिफ का परिवार - पुलिस के मुताबिक आसिफ अली का निकाह कराची शहर में रुखसाना नाम की महिला से हुआ है। - उसकी 20 वर्ष की एक बेटी और 19 वर्ष का एक बेटा बताया गया है। - आसिफ अपनी पत्नी से मिलने जाने के नाम पर ही पाकिस्तान जाने का वीजा तैयार कराता था। - इसीलिए उसके बार-बार पाकिस्तान जाने पर किसी को शक नहीं हो रहा था। - बताया गया था कि आर्मी इंटेलीजेंस को सूचना मिल रही थी कि वेस्ट यूपी के कुछ मुस्लिम युवक पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी के संपर्क में है। - ये युवक भारतीय सेना की गुप्त सूचनाएं, गोपनीय दस्तावेज और सेना की गतिविधियों की जानकारी पाकिस्तान ISI के अधिकारियों को विभिन्न माध्यमों से भेज रहे हैं। - इन्हीं सूचनाओं के बाद पुलिस महानिरीक्षक एसटीएफ लखनऊ ने टीम का गठन कर एजेंटों का पता लगाने का जिम्मा सौंपा था। कई सालों से कर रहा था आईएसआई के लिए काम - पुलिस के मुताबिक पकड़े गए आसिफ अली से पूछताछ में पता लगा था कि वह कई सालों से ISI के लिए काम कर रहा था। - आसिफ अली के पकड़े जाने से करीब 8 साल पहले उसकी मुलाकात पाकिस्तान में आईएसआई अधिकारी जाहिद से हुई थी। - तभी से वह भारतीय सेना की सूचनाएं और दस्तावेज उन तक पहुंचा रहा है। - उसकी गिरफ्तारी के दौरान भी उसके पास से कुछ नक्शे और महत्वपूर्ण दस्तावेज बरामद हुए थे। आगे की स्लाइड्स में देखिए खबर से संबंधित फोटोज...

Flicker