• देखिये ट्रेनडिंग न्यूज़ अलर्टस

Blackbuck Case

  • DB EXCLUSIVE: गवाह ने कहा-सलमान ने ही हिरण को मारा; उन्हें बचाना था, इसलिए मुझे कोर्ट नहीं बुलाया
    Last Updated: July 27 2016, 19:48 PM

    जोधपुर. राजस्थान हाईकोर्ट ने 1998 के हिरण शिकार से जुड़े दो मामलों में <a href='http://www.bhaskar.com/trending-topics/salman%20khan/'>सलमान खान</a> को बरी कर दिया। भास्कर ने शिकार के दौरान इस्तेमाल हुई जिप्सी के ड्राइवर हरीश दुलानी को ढूंढ निकाला। हरीश से क्रॉस एग्जामिनेशन का मौका नहीं मिल पाने काे सलमान के बरी होने की बड़ी वजहों में से एक माना जा रहा है। जब सीधे सवाल किए तो हरीश ने बताया, मैं अब भी इस बयान पर कायम हूं कि सलमान ने ही हिरण का शिकार किया था। मैं कहीं गायब नहीं हुआ था। सलमान को बचाना था, इसलिए जानबूझ कर मुझे बुलाया ही नहीं गया। तीन दिन सलमान के साथ था यह ड्राइवर... क्या था पूरा मामला - 1998 में एक दवा कारोबारी अरुण ने अपनी जिप्सी के साथ ड्राइवर हरीश को उम्मेद भवन भेजा था। उस वक्त हम साथ-साथ हैं की शूटिंग चल रही थी। - हरीश तीन दिन सलमान के साथ ही रहा। इसी दौरान हिरण का शिकार हुआ। हरीश ने 24 जनवरी, 2002 को सीजेएम कोर्ट में बयान दिए। अगली पेशी 24 फरवरी, 2002 को थी। - 2006 में लोअर कोर्ट में हरीश की गवाही के बिना ही सबूतों के आधार पर सलमान को सजा सुनाई। हालांकि, राजस्थान हाईकोर्ट ने हरीश के क्रॉस एग्जामिनेशन को सलमान के लिए जरूरी माना। - प्रॉसिक्यूशन की तरफ से गवाह को पेश न कर पाने के कारण हाईकोर्ट ने सलमान को बरी कर दिया। कहां था हरीश? - कहा जा रहा था कि 10 साल से दुलानी गायब है और वह दुबई में कहीं अच्छी जिंदगी जी रहा है। भास्कर ने इसी मामले पर दुलानी से कॉन्टैक्ट किया। फैसले की रात वह अहमदाबाद से टैक्सी लेकर जोधपुर निकला था। वह आज भी ड्राइवरी ही करता है। उसका कहना है कि वह कहीं गायब नहीं हुआ और अपने बयान पर कायम है। हिरण शिकार केस के सबसे अहम गवाह से सीधे सवाल Q- सबूतों-गवाहों के अभाव में सलमान बरी हो गए। आपको सबसे बड़ा कारण माना जा रहा है। आप मुख्य गवाह थे तो गायब क्यों हो गए? - मुझे भी समझ नहीं आ रहा कि वे बरी कैसे हो सकते हैं, अभी तो मेरी गवाही तक नहीं हुई है। कौन कहता है कि मैं गायब था, ज्यादातर कोर्ट हियरिंग में गया था। - 24 नंवबर 2015 और 17 मई 2016 को भी मैं कोर्ट हियरिंग में गया था, आप वहां मेरे साइन देख सकते हैं। - हां, पारिवारिक कारणों से कुछ कोर्ट हियरिंग में भले नहीं जा पाया। उनको सलमान को बचाना था, इसीलिए मुझे बुलाया ही नहीं गया। Q- कोर्ट में कहा गया- गायब होने से बचाव पक्ष को आपसे बहस का मौका नहीं मिला? - कहा न कि जब बुलाया जाता, तब कोर्ट जाता था। बचाव पक्ष जब चाहता तो मुझसे बात कर सकता था। - इसके लिए कभी कोई सूचना नहीं दी गई कि बचाव पक्ष की बहस के लिए कोर्ट में आना है। Q- काले हिरण शिकार मामले में भी आप गवाह हैं, उसके लिए कब कोर्ट जाना है? - अपने वकील से मेरी बात हुई थी, उसने अगली कोर्ट हियरिंग 10 अगस्त को होने की बात बताई है। मैं कोर्ट में जरूर जाऊंगा। वहां भी सच बोलूंगा। Q- साफ बताइए, क्या सलमान ने शिकार किया था? - पूरा मामला तो याद नहीं, लेकिन मैंने वन विभाग और मैजिस्ट्रेट के सामने अपना बयान रिकॉर्ड करवा दिया था और मैं आज भी उस बयान पर कायम हूं। हरीश ने बयान में कहा था कि सलमान खान और उनके साथियों ने 26 और 28 सितंबर 1998 को जोधपुर के घोड़ा फार्म और भवाद इलाके में शिकार किया। Q- क्या शिकार के समय आप जिप्सी चला रहे थे? - जब शिकार हुआ, तब जिप्सी सलमान खुद चला रहे थे, मैं तो पीछे बैठा था। - उन्हें जिप्सी चलाने का बहुत शौक था, इसलिए वह गाड़ी चला रहे थे। Q- सरकार सुप्रीम कोर्ट गई तो आप वहां गवाही देंगे? - सुप्रीम कोर्ट में बुलाया जाता है तो वहां भी जाऊंगा, लेकिन खर्च और सुरक्षा मेरी सबसे बड़ी चिंता है। - मैं तो ड्राइवर था, नौकरी कर रहा था, लेकिन बिना बात मामले में फंस गया तो नौकरी से भी निकाल दिया गया। तनख्वाह तक नहीं दी। Q- सलमान के खिलाफ न बोलने के लिए कोई लालच या धमकी मिली? - पैसा दिया होता तो मेरी यह स्थिति नहीं होती। मकान बिक गया, मोटरसाइकिल तक नहीं है। - कहने वाले कहते हैं कि मैं दुबई चला गया, लेकिन मेरे पास पासपोर्ट तक नहीं है। इस केस के चक्कर में मेरे माता-पिता नहीं रहे। - पिता को धमकियां मिली थीं, लेकिन पूछने पर भी कुछ नहीं बताया। इसी कारण उनकी जल्दी मौत हुई। फिर मेरी मां चिंता में चल बसी। अागे की स्लाइड्स में पढ़ें : वे 5 बातें जिनसे सलमान को इस केस में बरी होने में फायदा मिला... <a href='http://www.bhaskar.com/news/ABH-virag-gupta-column-news-hindi-5381134-NOR.html'>सलमान की रिहाई पर पढ़ें एक्सपर्ट का आर्टिकल... गवाह फिर गायब और सलमान खान रिहा</a>

  • खत्म नहीं हुईं सलमान की मुश्किलें, तीन तरीकों से री-ओपन हो सकता है केस
    Last Updated: July 28 2016, 10:54 AM

    जोधपुर. हिरण शिकार के आरोप से सलमान खान के बरी होने के मामले में तब नया मोड़ आ गया जब भास्कर से बातचीत में सबसे अहम गवाह हरीश दुलानी ने बताया, मैं गायब नहीं हुआ था। सलमान को बचाना था, इसलिए मुझे बुलाया नहीं गया। बता दें कि राजस्थान हाईकोर्ट ने सलमान को बरी करने के पीछे दुलानी के लापता होने को भी आधार माना था। शिकार के दौरान दुलानी सलमान के साथ जिप्सी में मौजूद था। हालांकि, अब सवाल ये उठता है कि इस केस में आगे क्या होगा? इसे लेकर dainikbhaskar.com ने सुप्रीम कोर्ट के सीनियर एडवोकेट विराग गुप्ता से बात की। उनके मुताबिक, मुख्य गवाह दुलानी के सामने आने पर अब तीन कानूनी हालात बनते हैं, जिनके आधार पर सलमान को बरी करने के फैसले पर फिर से विचार हो सकता है। इस तरह बढ़ सकती हैं सलमान की मुश्किलें... 1. 90 दिन के अंदर सुप्रीम कोर्ट में पिटीशन - घटना के दौरान इस्तेमाल हुई जिप्सी का ड्राइवर दुलानी या राजस्थान सरकार सुप्रीम कोर्ट में स्पेशल लीव पिटीशन (SLP) दायर करे। 25 जुलाई से 90 दिन के अंदर ऐसा करना होगा। - ऐसी कंडीशन में सुप्रीम कोर्ट वापस उन सारे फैक्ट्स को क्रॉस चेक करेगा जिनके बेस पर सलमान को इस केस से बरी किया गया। <a href='http://www.bhaskar.com/news-ht/RAJ-JOD-HMU-main-witness-in-salman-khan-black-buck-case-found-news-hindi-5381973-PHO.html'>ये भी पढ़ें.</a> <a href='http://www.bhaskar.com/news-ht/RAJ-JOD-HMU-main-witness-in-salman-khan-black-buck-case-found-news-hindi-5381973-PHO.html'>DB EXCLUSIVE: गवाह ने कहा-सलमान ने ही हिरण को मारा; उन्हें बचाना था, इसलिए मुझे कोर्ट नहीं बुलाया </a> 2. दुलानी साबित करे कि उसे धमकाया गया - जिप्सी ड्राइवर दुलानी ने कहा था कि उसे इस मामले में धमकी मिली थी। अब अगर वो लोकल पुलिस या लोकल कोर्ट में शिकायत कर ये साबित कर दे कि उसे गवाही देने से रोका गया है तो इस केस में एक नया आपराधिक मामला दर्ज हो सकता है। साथ ही इस आधार पर कोर्ट बरी करने के फैसले पर दोबारा विचार कर सकता है। - दुलानी को ये साबित करना होगा कि क्या वो धमकी मिलने या पुलिस से सुनवाई की ऑफिशियल सूचना ना मिलने के चलते गवाही देने नहीं आ पाया? - बता दें, दुलानी ने ही इस केस में कोर्ट में शिकायत की थी। वो शिकायतकर्ता और गवाह दोनों है। 3. हाईकोर्ट फैसले के बारे में दोबारा सोच सकता है - दैनिक भास्कर में छपे गवाह दुलानी का इंटरव्यू पढ़कर हाईकोर्ट स्वत: संज्ञान ले सकता है। वह फैसले पर दोबारा सोच सकता है। - इसके तहत कोर्ट दुलानी को गवाही के लिए बुलाएगी। गवाही और सबूतों के आधार पर फैसला करेक्ट कर सकती है। - बता दें, संविधान के अनुच्छेद 226, 227 और अन्य प्रावधानों के तहत कोर्ट को किसी भी फैसले पर दोबारा सोचने का अधिकार है। आगे की स्लाइड पर क्लिक कर पढ़ें... सलमान को बचाने के लिए केस कमजोर करने की कोशिश कर रहे थे ऑफिसर्स, जेल में लाकर देते थे सलमान को सिगरेट... <a href='http://www.bhaskar.com/news/c-20-920730-jd0317-NOR.html'>(हाईकोर्ट ने क्या दिया फैसला: पढ़ने के लिए क्लिक करें)</a>

  • मुझे पब्लिसिटी के लिए फंसाया: शिकार केस में कोर्ट से बोले सलमान; पूछे गए 65 सवाल
    Last Updated: January 27 2017, 20:11 PM

    जोधपुर. 18 साल पुराने काला हिरण शिकार मामले में शुक्रवार को सलमान खान, सैफ अली खान, नीलम कोठारी, सोनाली बेंद्रे और तब्बू जोधपुर कोर्ट में पेश हुए। इन्हें मुलजिम बयान यानी 28 गवाहों के आरोप सुनाए गए। पांचों ने कोर्ट में कहा कि उन्हें इस मामले में साजिश के तहत फंसाया गया है। सलमान ने कहा, मैं बैकसूर हूंं। मुझे पब्लिसिटी के लिए फॉरेस्ट डिपार्टमेंट ने इस केस में फंसाया। कथित शिकार के वक्त मैं होटल में था। इस मामले की अगली सुनवाई 15 फरवरी को होगी। चार सेलेब्स पर सलमान को उकसाने का आरोप... - जाेधपुर जिला अदालत में शुक्रवार को सलमान की तरफ से सबसे पहले उनकी बहन अलवीरा वकील के साथ पहुंचीं। - इसके बाद अलग कार से सलमान कोर्ट पहुंचे। उनकी कार को सुरक्षा कारणों से सीधे कोर्ट कैम्पस में एंट्री दी गई। - इसके बाद सैफ अली खान, नीलम, सोनाली बेंद्रे और तब्बू के साथ एक कार में कोर्ट पहुंचे। इनकी कार को मेन गेट पर रोक दिया गया। - मेन गेट से ये सभी कलाकार पैदल ही कोर्ट रूम में पहुंचे। गवाहों के आरोप सुनाए जाने के बाद सलमान सबसे पहले कोर्ट से रवाना हुए। - जोधपुर में फिल्म हम साथ-साथ हैं की शूटिंग के दौरान ये वाकया हुआ था। - आरोप है कि 1 अक्टूबर 1998 की रात सलमान ने कांकाणी में दो काले हिरणों का शिकार किया था। इस दौरान उनके साथ जिप्सी में सैफ, सोनाली, नीलम और तब्बू भी थे। जाति पूछी तो सलमान बोले, हिंदू-मुस्लिम - कोर्ट में सबसे पहले सलमान से उनका नाम और जाति पूछी गई। इस पर सलमान ने खुद को पहले हिन्दू-मुस्लिम बताया। फिर अंग्रेजी में बोले इंडियन और फिर कहा भारतीय। - इस मामले में गवाहों से जिरह के आधार पर सलमान से 28 मिनट में कुल 65 सवाल किए गए। - उन्होंने कहा, हम यहां हम साथ-साथ है फिल्म की शूटिंग करने आए थे। सिक्युरिटी की वजह से बाहर निकलना भी मुमकिन नहीं था। ऐसे में शिकार करने का सवाल ही नहीं उठता। - गांव वालों के कहने पर एक न्यूज पेपर ने खबर छाप दी, इसके बाद झूठी पब्लिसिटी हासिल करने के लिए फॉरेस्ट डिपार्टमेंट ने मेरे खिलाफ मामला दर्ज कर लिया। - मेरे पास यहां हथियार तक नहीं थे। मेरे हथियारों को बाद में पुलिस ने मुंबई से मंगाया था। सैफ ने कहा- मैं सलमान के साथ नहीं था - सैफ अली से कोर्ट में कुल 61 सवाल किए गए। सैफ ने अपनी जाति मुस्लिम बताई। - इसके बाद उन्होंने साफ कहा, मैं गाड़ी में सलमान के साथ था ही नहीं। ऐसे में शिकार के लिए उसे उकसाने का सवाल ही नहीं उठता। - सैफ ने कहा कि उन्होंने पुलिस को एक एयर राइफल सौंपी थी। इसकी तारीख उन्हें अब याद नहीं है। एक्ट्रेस कुछ सवालों पर घबरा गईं - सैफ की तर्ज पर नीलम, तब्बू और सोनाली से भी 61 सवाल किए गए। - जवाब देते वक्त तीनों कई बार घबरा गईं, लेकिन ज्यादातर सवालों के जवाब में उन्होंने खुद पर लगाए गए आरोपों को नकार दिया। आरोपों को नकार देते हैं आरोपी - मुलजिम बयान सुनाते वक्त अमूमन ज्यादातर आरोपी खुद पर लगे आरोपों को नकार देते हैं। - तब उनसे कहा जाता है कि क्या वे अपने बचाव में कोई सबूत या गवाह पेश कर सकते हैं। - इस पर आरोपी सबूत पेश करने का वक्त मांगते हैं। बाद में उनकी तरफ से पेश सबूत या गवाह से कोर्ट के ऑर्डर पर ही जिरह होती है। - इसके बाद कोर्ट अपना फैसला सुनाता है। इस मामले में भी माना जा रहा है कि अगले दो-तीन महीने में फैसला आ जाएगा। सलमान पर जोधपुर में शिकार से जुड़े कुल 4 मामले - सलमान पर जोधपुर में 1998 में हिरण शिकार से जुड़े चार मामले दर्ज हुए थे। - इनमें से दो मामलों में राज्य सरकार सुप्रीम कोर्ट जा चुकी है। जबकि आर्म्स एक्ट मामले में सलमान को निचली अदालत ने 18 जनवरी को बरी कर दिया था। - वहीं, काला हिरण शिकार मामले में सलमान के साथ सैफ, नीलम, तब्बू और सोनाली भी आरोपी हैं। 1# भवाद गांव केस - भवाद गांव में 27 सितंबर 1998 की रात एक हिरण के शिकार का आरोप सलमान पर लगा। सीजेएम कोर्ट ने 17 फरवरी 2006 को सलमान को दोषी करार देते हुए एक साल की सजा सुनाई। - पिछले साल हाईकोर्ट ने इस मामले में सलमान को बरी कर दिया। - हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ राज्य सरकार सुप्रीम कोर्ट गई है। इस मामले में कोर्ट ने सलमान को नोटिस जारी करके जवाब मांगा है। 2# फार्म हाउस मामला - घोड़ा फार्म हाउस (ओसिया क्षेत्र) में 28 सितम्बर 1998 की रात दो हिरणों का शिकार करने का आरोप सलमान पर लगा। - इस मामले में सीजेएम कोर्ट ने 10 अप्रैल 2006 को उन्हें दोषी करार देते हुए 5 साल की सजा सुनाई। - इस मामले में सजा के खिलाफ सलमान ने राजस्थान हाईकोर्ट में अपील की। पिछले साल हाईकोर्ट ने इस केस में भी उन्हें बरी कर दिया। - हाईकोर्ट के इस फैसले को राज्य सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी। सुप्रीम कोर्ट ने फिलहाल इस मामले में सलमान को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। 3# काला हिरण शिकार मामला - 1 अक्टूबर 1998 की रात सलमान पर कांकाणी में दो काले हिरण के शिकार का आरोप लगा। - गोली की आवाज सुन गांव वाले मौके पर पहुंच गए। इस कारण वहां से सलमान खान अपनी जिप्सी में सैफ अली खान, सोनाली बेंद्रे, नीलम और तब्बू को लेकर भाग निकले। - ग्रामीणों ने दो काले हिरण बरामद किए। दोनों हिरणों की गोली लगने के कारण मौत हो चुकी थी। - सलमान पर हिरणों को गोली मारने का और सैफ समेत तीनों एक्ट्रेस पर उन्हें उकसाने का आरोप है। - इसी मामले में शुक्रवार को पांचों आरोपियों को मुलजिम बयान सुनाए गए। 4# आर्म्स एक्ट केस - सलमान पर आरोप है कि शिकार के दौरान उनके पास जो हथियार था, उसका लाइसेंस एक्सपायर हो चुका था। - सलमान के खिलाफ 18 जनवरी को इसी आर्म्स एक्ट मामले में सलमान को कोर्ट ने बरी कर दिया था। - उन पर बिना वैलिड लाइसेंस के हथियार रखने और उनका गलत इस्तेमाल करने का आरोप था। सभी फोटो: एल देव जांगिड़

  • सलमान को जोधपुर कोर्ट में सुनाए गए आरोप, काला हिरण शिकार मामले में हुई पेशी
    Last Updated: January 27 2017, 13:11 PM

    जोधपुर.शुक्रवार को सलमान खान, सैफ अली खान, नीलम, सोनाली बेंद्रे और तब्बू जोधपुर कोर्ट में पेश हुए। काला हिरण शिकार मामले में सलमान और उनके साथियों को मुलजिम बयान यानी गवाहों के आरोप सुनाए गए। आरोपों को सुनने के बाद सलमान कोर्ट से रवाना हो गए। आरोप है कि 1 अक्टूबर 1998 की रात सलमान ने कांकाणी में दो काले हिरणों का शिकार किया था। इस दौरान उनके साथ जिप्सी में सैफ, सोनाली, नीलम और तब्बू भी थे। इन लोगों ने सलमान को शिकार के लिए उकसाया था। इसी मामले में आज आरोप तय होंगे। बता दें कि जोधपुर में हम साथ-साथ हैं की शूटिंग के दौरान ये वाकया हुआ था।सबसे पहले अलवीरा अपने वकील के साथ पहुंचीं... - सलमान की तरफ से सबसे पहले अलवीरा अपने वकील के साथ कोर्ट पहुंचीं। - इसके बाद अलग कार से सलमान खान कोर्ट पहुंचे। उनकी कार को सुरक्षा कारणों से सीधे कोर्ट परिसर में एंट्री दी गई। - इसके बाद सैफ अली खान, नीलम, सोनाली व तब्बू के साथ एक कार में कोर्ट पहुंचे। इनकी कार को मुख्य गेट पर रोक दिया गया। - मुख्य गेट से ये सभी कलाकार पैदल ही कोर्ट रूम में पहुंचे। - गवाहों के आरोप सुनाए जाने के बाद सलमान सबसे पहले कोर्ट से रवाना हुए। आरोपों को नकार देते हैं आरोपी - चीफ ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट (जोधपुर जिला) की अदालत में सलमान, सैफ सहित नीलम, सोनाली व तब्बू मौजूद रहे। - 18 साल तक चली सुनवाई के बाद कोर्ट की तरफ से इन पांचों पर तय किए गए आरोप बारी-बारी से सुनाए जाएंगे। - अमूमन इस तरह की परिस्थिति में ज्यादातर आरोपी अपने ऊपर लगे आरोपों को नकार देते हैं। - एक्टर्स के आरोप नकारने की स्थिति में कोर्ट उनसे पूछेगा कि क्या उनके पास अपने बचाव में पेश करने को कुछ सबूत हैं? - इस पर सभी आरोपी अपनी तरफ से सबूत पेश करने का वक्त मांगते है। बाद में उनकी तरफ से पेश साक्ष्य या गवाह से कोर्ट के आदेश पर ही जिरह होती है। - इसके बाद कोर्ट अपना फैसला सुनाता है। इस मामले में भी माना जा रहा है कि अगले दो-तीन महीने में फैसला आ जाएगा। सलमान पर जोधपुर में शिकार से जुड़े कुल चार मामले - सलमान पर जोधपुर में 1998 में हिरण शिकार से जुड़े चार मामले दर्ज हुए थे। - इनमें से दो मामलों में राज्य सरकार सुप्रीम कोर्ट जा चुकी है। जबकि आर्म्स एक्ट मामले में सलमान को निचली अदालत ने 18 जनवरी को बरी कर दिया था। - वहीं, काला हिरण शिकार मामले में सलमान के साथ सैफ, नीलम, तब्बू और सोनाली भी आरोपी हैं। 1# भवाद गांव केस - भवाद गांव में 27 सितंबर 1998 की रात एक हिरण के शिकार का आरोप सलमान पर लगा। सीजेएम कोर्ट ने 17 फरवरी 2006 को सलमान को दोषी करार देते हुए एक साल की सजा सुनाई। - पिछले साल हाईकोर्ट ने इस मामले में सलमान को बरी कर दिया। - हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ राज्य सरकार सुप्रीम कोर्ट गई है। इस मामले में कोर्ट ने सलमान को नोटिस जारी करके जवाब मांगा है। 2# फार्म हाउस मामला - घोड़ा फार्म हाउस (ओसिया क्षेत्र) में 28 सितम्बर 1998 की रात दो हिरणों का शिकार करने का आरोप सलमान पर लगा। - इस मामले में सीजेएम कोर्ट ने 10 अप्रैल 2006 को उन्हें दोषी करार देते हुए 5 साल की सजा सुनाई। - इस मामले में सजा के खिलाफ सलमान ने राजस्थान हाईकोर्ट में अपील की। पिछले साल हाईकोर्ट ने इस केस में भी उन्हें बरी कर दिया। - हाईकोर्ट के इस फैसले को राज्य सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी। सुप्रीम कोर्ट ने फिलहाल इस मामले में सलमान को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। 3# काला हिरण शिकार मामला - 1 अक्टूबर 1998 की रात सलमान पर कांकाणी में दो काले हिरण के शिकार का आरोप लगा। - गोली की आवाज सुन गांव वाले मौके पर पहुंच गए। इस कारण वहां से सलमान खान अपनी जिप्सी में सैफ अली खान, सोनाली बेंद्रे, नीलम और तब्बू को लेकर भाग निकले। - ग्रामीणों ने दो काले हिरण बरामद किए। दोनों हिरणों की गोली लगने के कारण मौत हो चुकी थी। - सलमान पर हिरणों को गोली मारने का और सैफ समेत तीनों एक्ट्रेस पर उन्हें उकसाने का आरोप है। 4# आर्म्स एक्ट केस - सलमान पर आरोप है कि शिकार के दौरान उनके पास जो हथियार था, उसका लाइसेंस एक्सपायर हो चुका था। - सलमान के खिलाफ 18 जनवरी को इसी आर्म्स एक्ट मामले में सलमान को कोर्ट ने बरी कर दिया था। - उन पर बिना वैलिड लाइसेंस के हथियार रखने और उनका गलत इस्तेमाल करने का आरोप था। यह है मामला - वर्ष 1998 में अपनी फिल्म हम साथ-साथ है कि जोधपुर में चल रही शूटिंग के दौरान सलमान खान पर तीन अलग-अलग स्थान पर हिरण का शिकार करने का आरोप लगा। - आरोप है कि जोधपुर से सटे कांकाणी गांव की सरहद में एक अक्टूबर 1998 की रात सलमान ने गोली चला दो काले हिरणों का शिकार किया। - उस दौरान सैफ अली, नीलम, सोनाली व तब्बू भी उसके साथ वाहन में सवार थे। इन लोगों पर सलमान को शिकार करने के लिए उकसाने का आरोप है। - गोली की आवाज सुन ग्रामीण वहां एकत्र हो गए। उनके आने पर सलमान खान वहां से गाड़ी लेकर भाग निकले। दोनों हिरण वहीं पड़े रह गए। सभी फोटो: एल देव जांगिड़

  • funny twitter reactions: जब मोदी बोले, यदि काले हिरण की जगह होती गाय..
    Last Updated: July 25 2016, 17:14 PM

    राजस्थान हाईकोर्ट ने 1998 के हिरण शिकार से जुड़े दो मामलों में आज सलमान खान को बरी कर दिया। इस फैसले को लेकर सोशल साइट्स पर जबरदस्त प्रतिक्रिया आ रही है। जहां सलमान के फैंस खुशियां मना रहे हैं तो वहीं खुराफातियों ने इस पर जमकर मजाक उड़ाया है। टि्वटर पर सलमान और इस फैसले को लेकर लोगों ने फनी शेयरिंग्स की हैं। बता दें लोअर कोर्ट ने सलमान को भवाद शिकार मामले में एक साल और घोड़ा फार्म हाउस शिकार मामले में 5 साल की सजा सुनाई थी। आगे की स्लाइड्स में क्लिक करें और देखें क्या है खुराफातियाें की नजर में सलमान पर आया ये फैसला...

  • 'सुल्तान' बरी: अभिजीत बोले- भाड़ में जाएं सलमान-शाहरुख, मुझे मतलब नहीं
    Last Updated: July 25 2016, 16:35 PM

    जोधपुर। 1998 में फिल्म हम साथ-साथ हैं की शूटिंग के दौरान हुए हिरण शिकार के दो मामलों में राजस्थान हाईकोर्ट ने आज सलमान खान को बरी कर दिया। इस मामलों में निचली अदालत ने सलमान खान को पांच साल और एक साल के जेल की सजा सुनाई थी। इस केस में कुल पांच मामले सलमान के खिलाफ चल रहे हैं। मुझे कोई मतलब नहीं, भाड़ में जाए सलमान खान... कोर्ट द्वारा सलमान खान को बरी किए जाने के बाद जब गायक अभिजीत का रिएक्शन लिया गया तो उन्होंने कहा - मुझे इस फैसले से न तो ख़ुशी हुई और न कोई गम, भाड़ में जाए सलमान खान। सलमान के बरी होने पर कौन क्या बोला... कमाल की अदालतें हैं, कमाल का मुल्क है हमारा। 15-15 साल लग जाते हैं। चलिए देर आए, दुरुस्त आए। - ओमपुरी, एक्टर सेलेब्रिटी के मामले ही बताते हैं कि हमारी ज्यूडिशियरी का काम कितना स्लो है। सलमान खान दोषी नहीं है, अदालत को ये फैसला सुनाने में 20 साल लग गए। - रामगोपाल वर्मा, डायरेक्टर सलमान का बरी किया जाना काफी सुकून भरा फैसला है और अब सलमान को जल्द से जल्द शादी कर लेनी चाहिए। कोर्ट का हर फैसला सबूतों के आधार पर होता है। वह दूध का दूध और पानी का पानी कर देती है। - रजा मुराद, एक्टर मैं सलमान की फैमिली को बधाई देता हूं। सलमान और उनकी फैमिली ने 18 साल का मेंटल टॉर्चर झेला है। मैं कोर्ट के इस फैसले से बहुत खुश हूं। - शक्ति कपूर, एक्टर सवाल ये है कि हिरण और चिंकारा को किसने मारा? क्या ड्राइवर ने मारा, अगर किसी ने नहीं मारा तो फिर क्या जजेस ने बकवर्थ-लुईस मैथड के आधार पर ये फैसला सुनाया है। - रेणुका शहाणे, एक्ट्रेस मैं इस मामले पर कुछ नहीं कहूंगा। मैं 15 साल से चुप हूं और अब भी कुछ नहीं कहूंगा। - सलीम खान (सलमान के पिता) सलमान का बरी किया जाना राहत देने वाली खबर है। फैसले के बाद मैंने सलीम खान से बात की है, परिवार खुश है। 18 साल बाद परिवार ने राहत की सांस ली है। - जफर सरेशवाला (सलमान के करीबी) सलमान की बहन पहुंचीं जोधपुर... - फैसला सुनने के लिए सलमान अभी जोधपुर नहीं पहुंचे, लेकिन उनकी बहन अलविरा यहां मौजूद थीं। - फैसला आने के बाद सलमान खान के पिता सलीम खान ने कोई भी प्रतिक्रिया देने से इंकार कर दिया। - सलीम खान ने कहा, इस मामले में मैं पिछले 15 साल से चुप हूं। आज भी चुप रहूंगा। 18 साल में 18 दिन जेल में काटे... - सलमान हिरण शिकार के तीन मामलों में पुलिस ज्यूडिशियल कस्टडी में 18 दिन जेल में रह चुके हैं। - पहली बार सलमान को वन विभाग ने 12 अक्टूबर, 1998 को हिरासत में लिया था। 17 अक्टूबर तक जेल में रहे। - घोड़ा फार्म मामले में 10 अप्रैल 2006 को पांच साल की सजा सुनाई गई। छह दिन जेल में रहे। - सेशन कोर्ट ने इस सजा की पुष्टि की। तब 26 से 31 अगस्त 2007 तक जेल में रहे। आगे की स्लाइड्स में पढ़ें, वो 5 बातें जिनसे सलमान को हुआ फायदा...

  • #Jodhpur: सलमान बोले- मैं बेगुनाह, कोर्ट में खुद की जाति फिर बताई इंडियन
    Last Updated: March 10 2016, 12:23 PM

    जोधपुर. अवैध शिकार से जुड़े एक मामले में सलमान खान गुरुवार को जोधपुर कोर्ट पहुंचे। बयान दर्ज कराते हुए खुद को बेगुनाह बताया। वहीं, पिछली बार की तरह इस बार भी कोर्ट में जाति पूछे जाने पर खुद को इंडियन बताया। सलमान पर 1998 में हम साथ-साथ हैं; की शूटिंग के दौरान काले हिरण का शिकार करने का केस चल रहा है। इसमें लोअर कोर्ट उन्हें दोषी ठहरा चुकी है। उस दौरान उन पर ऐसा हथियार रखने का आरोप लगा, जिसका लाइसेंस खत्म हो चुका था। कुल कितने केस चल रहे हैं सलमान पर ... - सलमान चार्टर्ड प्लेन से मुंबई से जोधपुर आए। एयरपोर्ट से सीधे वे अपने वकील के साथ होटल चले गए। - इसके कुछ देर बाद सलमान कोर्ट पहुंचे। - जोधपुर पुलिस ने विश्नोई कम्युनिटी की शिकायत पर सलमान और दो लोगों के खिलाफ दो अक्टूबर 1998 को हिरण के शिकार का केस दर्ज किया था। - सलमान के खिलाफ शिकार और गैर-लाइसेंसी हथियार रखने के कुल 3 केस दर्ज हुए थे। - उन्हें 12 अक्टूबर 1998 को अरेस्ट किया गया था। पांच दिन बाद वे बेल पर रिहा हुए थे। किसने सुनाई सजा? - जोधपुर के पास भवाद नाम की जगह में किए गए हिरण के शिकार के केस में 17 फरवरी 2006 को सीजेएम कोर्ट ने सलमान को दोषी करार देते हुए एक साल की सजा सुनाई थी। - घोड़ा फार्म हाउस इलाके में शिकार के मामले में 10 अप्रैल 2006 को सीजेएम कोर्ट ने सलमान को पांच साल की सजा सुनाई। - हालांकि, राजस्थान हाईकोर्ट ने फिलहाल सजा पर स्टे लगा रखा है। - सलमान पर इसी दौरान एक और शिकार करने का आरोप है। इसे कांकाणी शिकार केस कहते हैं। - इस मामले की और आर्म्स एक्ट मामले की सुनवाई अभी कोर्ट में चल रही है। - बयान के लिए कोर्ट ने अब सलमान को बुलाया है।

Flicker