• देखिये ट्रेनडिंग न्यूज़ अलर्टस

तारा (हिंदी फिल्म)

वैशाखी पर लगभग 2 लाख श्रद्धालुओं ने श्री दरबार साहिब में टेका माथा

वैशाखी पर लगभग 2 लाख श्रद्धालुओं ने श्री दरबार साहिब में टेका माथा

Last Updated: April 14 2017, 05:29 AM

अमृतसर. वैशाखी के शुभअवसर पर सुबह से ही दरबार साहिब में श्रद्धालुओं का तांता लगना शुरू हो गया। सुबह सूर्य की किरणें निकलने से पहले ही करीब 50 हजार श्रद्धालु स्नान कर चुके थे। पूरा दिन दरबार साहिब परिक्रमा में पैर रखने तक की जगह नहीं थी। दरबार साहिब में रात तक 2 लाख के करीब श्रद्धालुओं ने माथा टेका और लंगर छका। लंगर में खासतौर पर जलेबियों का प्रसाद बांटा गया। पूरा दिन चलह-पहल रही। रात के समय दरबार साहिब में आतिशबाजी हुई और रंगबिरंगी रोशनी से आसमान जगमगा उठा।

तारा गांधी ने कहा- बिहार में शराबबंदी, बापू को सच्चे अर्थों में याद करने के समान

तारा गांधी ने कहा- बिहार में शराबबंदी, बापू को सच्चे अर्थों में याद करने के समान

Last Updated: April 11 2017, 05:35 AM

पटना. महात्मा गांधी की पोती तारा गांधी भट्टाचार्य ने कहा कि बिहार में शराबबंदी, बापू को सच्चे अर्थों में याद करने के समान है। महात्मा गांधी हमेशा शराबबंदी के खिलाफ रहे। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उनकी चंपारण यात्रा से पहले राज्य में शराबबंदी कानून लागू कर जनता की भलाई का काम किया है। मैं बिहार के लोगों को बधाई देती हूं। बिना उनकी इच्छाशक्ति के ऐसे कार्यक्रम सफल नहीं हो सकते। उन्होंने कहा कि होटल के कमरों में बोतल या शराब जैसी चीज न लेकर आने के संदेश से साफ पता चलता है कि इस कार्यक्रम के प्रति सरकार कितनी सजग है। चंपारण सत्याग्रह शताब्दी समारोह के तकनीकी सत्र में महात्मा गांधी की शिक्षा दर्शन; विषय पर आयोजित विमर्श की अध्यक्षता करते हुए तारा गांधी ने बापू के साथ बिताए अपने पलों को याद किया। उन्होंने कहा कि बापू को मैंने हमेशा छात्र के रूप में देखा। उनमें एक प्रकार का उत्साह था। वह हमेशा कुछ सीखना चाहते थे। बुनियाद को मजबूत करने के लिए ही बुनियादी स्कूल का कांसेप्ट दिया। उनकी शिक्षा के प्रति यही सोच थी। कहा- आज के समय में लोग गांधी में सत्य की तलाश करते हैं। आप अपने सत्य की तलाश करो, गांधी मिल जाएंगे। आज सभी स्कूल-कॉलेजों में एक-दो घंटे की एक्टिविटी कक्षाओं का आयोजन होना चाहिए। इसे हॉबी की तरह बच्चे लें। इसमें महात्मा गांधी के सिद्धांतों के बारे में बात हो। बुनियादी शिक्षा का सही अर्थों में यही विस्तार होगा। बिहार इस दिशा में पहल कर सकता है। अहिंसक समाज ही शिक्षा का मुख्य उद्देश्य राजस्थान के साहित्यकार नंदकिशोर आचार्य ने कहा कि अहिंसक समाज की रचना ही शिक्षा का सही मकसद होना चाहिए। यह आज के समाज में बेहद जरूरी है। गांधी स्वराज की स्थापना करना चाहते थे। स्वराज के जरिए वे स्वदेशी की ओर जाना चाहते थे। विकास तो स्वदेशी से ही संभव है। सत्याग्रह को अपनाने के लिए भी स्वदेशी जरूरी है। गांधीजी ने भी बताया कि अपनी भाषा व अपनी संस्कृति पर हमें गर्व होना चाहिए। वर्तमान समय में हिंसा करने वाले दो व्यक्ति के बीच मुकाबला होता है तो जीत अधिक हिंसक की होती है। गांधीजी ने कहा कि अगर हम अहिंसक हो जाएं तो हिंसा करने वाला एक दिन ऊब जाएगा और अपने रास्ते को बदल देगा। एक रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि वर्ष 1950-10 तक देश की 220 भाषाएं लुप्त हो चुकी हैं। सिर्फ प्रमाणपत्र के लिए न करें पढ़ाई शिक्षाविद रवींद्र कुमार ने कहा कि आज बच्चे 18, 20, 22 व 24 साल की आयु में प्रमाणपत्र हासिल करने के लिए शिक्षा ग्रहण करते हैं। प्रमाणपत्र जरूरी है, लेकिन इसे शिक्षा का मूल नहीं माना जा सकता है। इसे शिक्षा का एक भाग माना जाना चाहिए। शिक्षा का मूल उद्देश्य मस्तिष्क व आत्मा का विकास होना चाहिए। जीवन के शुरुआत से अंतिम समय तक चलने वाली यह प्रक्रिया है। हम शिक्षा को आजीविका प्राप्त करने का साधन नहीं मान सकते। गांधीजी ने भी शिक्षा का उद्देश्य आत्मबल की पहचान बताया है। वक्ताओं ने उपस्थित लोगों के सवालों का जवाब भी दिया। रटंत से नहीं, सीख कर प्राप्त करें शिक्षा दिल्ली विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति डाॅ. दिनेश कुमार ने कहा कि वैसे शिक्षक सफल नहीं हो सकते, जो किताब से पढ़ाई कराते हैं। रटंत पढ़ाई से काम नहीं चलेगा। जरूरत हाथ के इस्तेमाल की है। लिखने से ही चीजें आपके मन-मस्तिष्क में पहुंच पाएंगी। गांधीजी का सूत्र वाक्य- शिक्षा जीवनपर्यंत चलती रहती है, को हमें मानना होगा। हम अपने अभिमान को छोड़कर ही शिक्षा को सही अर्थों में प्राप्त कर सकते हैं। गांधीजी ने स्कूल-कॉलेजों से अधिक शिक्षा रेल यात्राओं से ली। वे मौके पर जाते थे, चीजों को समझते थे। आज की शिक्षा प्रणाली में यह छूट रहा है। दिल्ली विश्वविद्यालय के कुलपति रहते हुए हमने ट्रेन के जरिए छात्रों को ग्रास रूट लेबल पर जाकर सीखने के लिए प्रेरित किया और असर दिखा। शिक्षा में बदलाव की पहल बिहार से ही हो। बच्चों को एटीएम कार्ड बनाने वाली शिक्षा प्रणाली में बदलाव जरूरी : डीएम दिवाकर एएन सिन्हा इंस्टीट्यूट के पूर्व निदेशक डाॅ. डीएम दिवाकर ने कहा कि वर्तमान समय में वह शिक्षण संस्थान सफल माना जाता है, जिसका प्लेसमेंट सबसे अधिक हो। हम बच्चों को नौकरी करने की शिक्षा दे रहे हैं। एक प्रकार से कहा जाए तो हम शिक्षा के नाम पर एक सोच विकसित करने वाली युवा पीढ़ी नहीं, एटीएम तैयार कर रहे हैं। हम पढ़ रहे हैं गांव छोड़ने के लिए। आज यह माना जाता है कि जो पढ़ लिया, वह गांव से शहर चला जाएगा। कुछ अधिक पढ़ लिया तो बड़े शहर चला जाएगा। सबसे बड़ा विद्वान तो देश छोड़कर विदेशों में नौकरी करने जाने वाले माने जाते हैं। ऐसी पलायनवादी शिक्षा प्रणाली से भला नहीं होने वाला। गांधी हमेशा अंग्रेजी सीखने की बात करते थे, लेकिन स्वदेशी की शर्त पर। बाजार ने शिक्षक को दुकानदार बना दिया है। गांधी शिक्षा शास्त्र को इस प्रकार का बनाना चाहते थे, जो समतामूलक समाज की परिकल्पना पर आधारित हो। मानवतावादी मार्ग पर चलना है तो गांधीवाद जरूरी : शारदा साठे समाज सेवी शारदा साठे केतकर ने कहा कि अगर हम मानवतावादी मार्ग पर चलना चाहते हैं तो गांधीवाद जरूरी है। गांधी को मानने व न मानने वाले लोग गांधीवाद से अलग नहीं हो सके। स्वतंत्रता आंदोलन के समय में भी जो लोग गांधी की विचारधारा से अलग हुए, उन्होंने गांधी के सिद्धांतों को नहीं छोड़ा। मैं मजदूरों के बीच काम करती हूं। वहां वाम विचारधारा का प्रभाव है, इसके बावजूद वहां गांधी माने जाते हैं। वर्तमान शिक्षण पद्धति आम लोगों को शिक्षा से दूर ले जा रही है। किंडरगार्डन में एडमिशन के लिए कैपिटेशन फीस मांगी जाती है। हम यहां गांधी पर बात करने के लिए बैठे हैं, लेकिन हमने क्या किया, जिसने गांधी को मारा उसके हाथों में सत्ता दे दी। गांधीजी ने अंतिम समय तक कहा कि मैं गर्व से कहता हूं कि हिंदु हूं, क्योंकि मैं सभी धर्मों को समान नजरिए से देखता हूं। आज के समय में धर्म की राजनीति किस प्रकार हो रही है। कुछ भी बोला जा रहा है। लड़ाई दुष्ट व दुष्ट विचारों के बीच है।

Drugs Addict Celebs: किसी का हुआ करियर बर्बाद, किसी के बच्चे हुए दूर

Drugs Addict Celebs: किसी का हुआ करियर बर्बाद, किसी के बच्चे हुए दूर

Last Updated: January 16 2017, 08:14 AM

डिफरेंट फील्ड में ऐसी कई सेलिब्रिटीज हैं, जिनकी जिंदगी ड्रग की वजह से बर्बाद हो गई। इसी लत की वजह से किसी का करियर खराब हो गया तो किसी के बच्चे छोड़कर चले गए। ऐसी ही एक मॉडल हैं केट मॉस। आज अपना 43वां (16 जनवरी) बर्थ सेलिब्रेट कर रही कैट का करियर भी ड्रग की वजह से बर्बाद हो गया। उनकी पर्सनल लाइफ भी बहुत अच्छी नहीं रही है। जानते हैं इनके बारे में... ड्रग की लत ने बिगाड़ा करियर कैट की लाइफ हमेशा मॉडलिंग और पार्टीज में बीती है। उनकी पार्टीज में हेरोइन, कोकीन जैसे ड्रग भी शामिल होते थे। ड्रग की लत की वजह से उनका करियर खराब हो गया। कई प्रोजेक्ट भी उनके हाथ से निकल गए। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो ड्रग की वजह से पुलिस उन्हें अरेस्ट भी कर चुकी है। इतना ही नहीं, कैट ने कभी भी अपनी बेटी की परवरिश सही तरीके से नहीं की। मां की इस लत की वजह से बेटी लीला ग्रेस को हमेशा डर लगा रहता था। आगे की स्लाइड्स में पढ़ें ऐसे ही सेलेब्स के बारे में...

इस नेशनल प्लेयर को कुत्तों से कटवाता था पति, जबरन करता था ऐसे काम

इस नेशनल प्लेयर को कुत्तों से कटवाता था पति, जबरन करता था ऐसे काम

Last Updated: January 08 2017, 20:03 PM

रांची। राजधानी में रहनेवाली नेशनल राइफल शूटर तारा शाहदेव ने जेल में बंद पति रंजीत सिंह कोहली उर्फ रकीबुल से तलाक के लिए शनिवार को सिविल कोर्ट स्थित कुटुंब न्यायालय के प्रधान न्यायाधीश सीपी अस्थाना की अदालत में अर्जी दाखिल की है। प्लेयर तारा ने कहा की उसका पति रकीबुल उसे कुत्तों से कटवाता था और देह व्यापार में धकेलने की धमकी देता था। जबरन करता था अननेचुरल सेक्स... - पति रंजीत सिंह कोहली द्वारा मारपीट कर जबरन धर्म परिवर्तन कराने, अमानवीय शारीरिक संबंध बनाने और क्रूरतापूर्ण बर्ताव को तलाक का आधार बनाया गया है। - आवेदन में पति रंजीत का पता होटवार जेल के साथ मेन रोड में ब्लेयर अपार्टमेंट के फ्लैट नंबर 4 बताया है। - अर्जी पर सुनवाई के बाद अदालत ने स्वीकार करते हुए मामले में विपक्षी रंजीत सिंह कोहली के पते पर नोटिस जारी करने का आदेश दिया। - मामले में सुनवाई के लिए कोर्ट द्वारा अगली तिथि निर्धारित कर दी गई है। हिंदू मैरेज एक्ट के तहत विवाह को अमान्य करने का अनुरोध - आवेदन में तारा शाहदेव ने कहा है कि हिंदू मैरेज एक्ट की धारा 2 और 5 के अनुसार, यह शादी अवैध है, क्योंकि हिंदू मैरिज एक्ट के तहत शादी में दोनों का हिंदू सदस्य होना जरूरी होता है। - इसके अलावा सुप्रीम कोर्ट द्वारा इसी तरह के एक मामले में वर्ष 2009 में सुनाए गए एक फैसले का भी हवाला दिया है। - तलाक की अर्जी हिंदू मैरिज एक्ट की धारा 12 (1) (सी) के तहत अवैध विवाह को शून्य घोषित करने और धारा 13 (1) (1-ए) तलाक (विवाह विच्छेद) का अनुरोध करते हुए दायर की गई है। मुश्ताक अहमद के कहने पर जबरन धर्म परिवर्तन कराया - आवेदन में तारा शाहदेव बताया है कि उसकी शादी 7 जुलाई 2014 को रंजीत सिंह कोहली के साथ होटल रेडिशन ब्लू में हिंदू रीति-रिवाज के अनुसार हुई थी। - शादी के बाद कोहली उसे ब्लेयर अपार्टमेंट के फ्लैट नंबर 4 में ले गया। वहां कोहली की मां कौशल रानी और एक कुत्ता भी रहते थे। - वहां सास और पति रंजीत सिंह कोहली ने प्रताड़ित करना शुरू कर दिया। आवेदन में तारा शाहदेव ने हाईकोर्ट के तत्कालीन रजिस्ट्रार विजिलेंस मुश्ताक अहमद का भी जिक्र किया है। - कहा है कि मुश्ताक अहमद ने ही होटवार के स्टेडियम में रंजीत से परिचय कराया था। उनके कहने पर रंजीत ने जबरन धर्म परिवर्तन कराया। - मुश्ताक अहमद बराबर धमकी देते थे कि रंजीत सिंह कोहली के साथ शारीरिक संबंध बनाओ। तलाक के आवेदन में तारा ने पूरे घटनाक्रम की विस्तार से चर्चा की है। आगे की स्लाइड्स में देखें इस नेशनल प्लेयर की चुनिंदा फोटोज...

जब श्रद्धा बोलीं 'हो सकती हूं प्रेग्नेंट', तो आदित्य ने दिया ये रिएक्शन

जब श्रद्धा बोलीं 'हो सकती हूं प्रेग्नेंट', तो आदित्य ने दिया ये रिएक्शन

Last Updated: January 06 2017, 15:14 PM

डीबी वीडियोज में हम आपको दुनियाभर के ट्रेंडिंग, न्यूज, फनी वीडियोज दिखाते हैं. हमारी कोशिश है कि वीडियो के मार्फत आपकी नॉलेज भी बढ़े और आपको एंटरटेन भी कर सकें. डीबी वीडियोज पर आप बॉलीवुड, स्पोर्ट्स, टिप्स, हेल्थ, गैजेट, इंटरनेशनल, नेशनल हैपनिंग के हर वीडियोज को देख सकते हैं.. देखते रहिए डीबी वीडियोज...

रति के बेटे से किरण की 'बेटी' तक, ऐसे Star Kids जिन्हें कम ही जानते हैं लोग

रति के बेटे से किरण की 'बेटी' तक, ऐसे Star Kids जिन्हें कम ही जानते हैं लोग

Last Updated: December 11 2016, 13:12 PM

एंटरटेनमेंट डेस्क। अमिताभ बच्चन के साथ फिल्म कुली में नजर आईं बॉलीवुड एक्ट्रेस रति अग्निहोत्री 56 साल की हो चुकी हैं। 10 दिसंबर, 1960 को बरेली में जन्मीं रति का बचपन चेन्नई में बीता। उन्होंने महज 10 साल की उम्र में मॉडलिंग शुरू कर दी थी। वैसे, ये बात बेहद कम लोग ही जानते हैं कि हाल ही में आई फिल्म वन नाइट स्टैंड के हीरो तनुज विरवानी गुजरे जमाने की सुपरस्टार रति अग्निहोत्री के बेटे हैं। रति के बेटे ने इस फिल्म से किया था डेब्यू... 9 फरवरी, 1985 को रति ने बिजनेसमैन अनिल विरवानी से शादी की थी। हालंकि, अब दोनों अलग हो चुके हैं। रति के बेटे तनुज ने 2013 में लव यू सोनियो फिल्म से बॉलीवुड में डेब्यू किया था। वे फिल्म पुरानी जीन्स में भी नजर आए। हालांकि अभी तक उनकी कोई भी फिल्म हिट नहीं हुई हैं। वैसे, तनुज के अलावा बॉलीवुड में ऐसे और भी कई स्टार किड्स हैं, जिन्हें कम ही लोग जानते हैं। इस पैकेज में हम बता रहे हैं बॉलीवुड के कुछ ऐसे ही स्टार किड्स के बारे में... <a href='http://www.bhaskar.com/news/CEL-TIVA-unknow-kids-of-bollywood-stars-are-also-acting-in-films-5319155-PHO.html?seq=2'>आगे की स्लाइड्स</a> में, बॉलीवुड के ऐसे स्टार किड्स जिन्हें कम ही जानते हैं लोग...

इस एक्ट्रेस ने कराया प्री-वेडिंग फोटोशूट, डायमंड मर्चेंट से करेंगी शादी

इस एक्ट्रेस ने कराया प्री-वेडिंग फोटोशूट, डायमंड मर्चेंट से करेंगी शादी

Last Updated: December 02 2016, 17:46 PM

मुंबई. शादी से पहले प्री-वेडिंग फोटोशूट शूट का चलन काफी पॉपुलर हो चुका है। बात जब सैलेब्स के फोटोशूट की आती है तो ये और भी पॉपुलर हो जाता है। हाल ही में टीवी एक्ट्रेस डिंपल झंगियानी ने अपने फियोन्से सनी असरानी के साथ प्री वेडिंग फोटोशूट कराया है। फोटोशूट में दोनों रोमांटिक पोज देते हुए काफी स्टाइलिश लुक में नजर आ रहे हैं। सनी असरानी डायमंड मर्चेंट हैं जिनसे डिंपल 9 दिसंबर 2016 को शादी कर रही हैं। दोनों की शादी का रिसेप्सन 10 दिसंबर को मुंबई में होगा। इस टीवी सीरियल से हुई डिंपल के करियर का शुरुआत.... डिंपल ने अपने टेलीविजन करियर की शुरूआत सीरियल कुछ इस तारा से की थी। इसके अलावा डिंपल ने अमृत मंथन, हम दोनों हैं अलग अलग, किस देश में है मेरा दिल काम कर चुकी हैं। आखिरी बार डिंपल को तुम्ही हो बंधु सखा तुम्ही सीरियल में देखा गया था। आगे की स्लाइड्स में देखिए प्री वेडिंग फोटोशूट की तस्वीरें...

Big B की पोती के बर्थडे में पहुंचे आमिर के बेटे, अक्षय की बेटी भी दिखीं

Big B की पोती के बर्थडे में पहुंचे आमिर के बेटे, अक्षय की बेटी भी दिखीं

Last Updated: November 21 2016, 13:23 PM

मुंबई: अमिताभ बच्चन की पोती और ऐश्वर्या-अभिषेक की बेटी आराध्या बच्चन 16 नवंबर को 5 साल की हो गई हैं। उनकी बर्थ डे पार्टी 4 दिनों बाद रविवार को जुहू स्थित प्रतीक्षा में रखी गई। आराध्या के बेस्टफ्रेंड और आमिर खान के बेटे आजाद पार्टी का हिस्सा बने। इसके अलावा अक्षय कुमार की बेटी नितारा मां ट्विंकल खन्ना के साथ पहुंचीं। सोनाली बेंद्रे, मान्यता दत्त, तारा शर्मा, फोटोग्राफर डब्बू रत्नानी, अनु दीवान अपने बच्चों के साथ वेन्यू के बाहर देखे गए। अमिताभ की भतीजी नैना बच्चन पति कुणाल कपूर के साथ देखी गईं। प्रिंसेस थीम पर रखी गई पार्टी... आराध्या की पार्टी प्रिंसेस थीम में रखी गई। पूरा डेकोरेशन पिंक कलर का था। आराध्या का केक भी खास था। डिज्नी प्रिंसेस उनकी फेवरेट है। इस वजह से 3 अलग तरह के केक उनके बर्थडे पर आए, जिसमें प्रिंसेस बनी हुई थी। (5th स्लाइड पर देखें आराध्या का केक) बता दें, यह केक मुंबई के Cocoatease बेकरी ने तैयार किया। आगे की स्लाइड्स पर देखें, आराध्या बच्चन की बर्थडे पार्टी में शामिल हुए स्टार्स की Photos...

PHOTOS: काइली, तारा, एलेस्सेंड्रा सहित 20 सेलेब्स का Halloween Look

PHOTOS: काइली, तारा, एलेस्सेंड्रा सहित 20 सेलेब्स का Halloween Look

Last Updated: November 02 2016, 11:29 AM

हैलोविन डे (31 अक्टूबर) को हॉलीवुड सेलिब्रिटीज, फैशन मॉडल्स, रियलिटी स्टार्स ने जमकर सेलिब्रेट किया। कई जगह पार्टीज, हैलोविन बैश का आयोजन किया गया। सेलेब्स इन पार्टीज में हैलोविन लुक में नजर आए। कई सेलेब्स ने हैलोविन लुक की फोटोज भी इंस्टाग्राम अकाउंट पर शेयर की। आज आपको सेलेब्स की हैलोविन लुक वाली कुछ फोटोज दिखाने जा रहे हैं। सेलेब्स के इस लुक की फोटोज सोशल साइट्स पर खूब वायरल हो रही हैं। कुछ ऐसा है सेलेब्स की हैलोविन लुक... आगे की स्लाइड्स पर क्लिक करके देखें हैलोविन लुक की फोटोज...

Halloween Party: मारिया, तारा रीड और इन CELEBS का दिखा ऐसा लुक

Halloween Party: मारिया, तारा रीड और इन CELEBS का दिखा ऐसा लुक

Last Updated: October 24 2016, 13:10 PM

यूं तो हैलोविन डे 31 अक्टूबर को सेलिब्रेट किया जाएगा, लेकिन कई सेलेब्स ने अभी से हैलोविन लुक की फोटोज शेयर करना शुरू कर दी है। वहीं, अलग-अलग जगहों पर हैलोविन पार्टीज का आयोजन भी किया जा रहा है। पार्टीज में सभी सेलेब्स हैलोविन लुक में नजर आए। सेलेब्स की इस लुक की फोटोज सोशल साइट्स पर खूब वायरल हो रही हैं। कुछ ऐसा है सेलेब्स की हैलोविन लुक... आगे की स्लाइड्स पर क्लिक करके देखें हैलोविन लुक की फोटोज...

सैफ की बेटी नहीं, ये होंगी ‘स्टूडेंट ऑफ द ईयर-2’ की हीरोइन

सैफ की बेटी नहीं, ये होंगी ‘स्टूडेंट ऑफ द ईयर-2’ की हीरोइन

Last Updated: September 20 2016, 11:22 AM

पिछले महीने जब स्टूडेंट ऑफ द ईयर-2 के लीड एक्टर के लिए टाइगर श्रॉफ के नाम की घोषणा हुई, तो इसी के साथ ये कयास भी लगाए जाने लगे थे कि फिल्म की लीड एक्ट्रेस कौन होंगी। इसके लिए कई नाम सामने आए। सैफ अली खान की बेटी सारा खान से लेकर आलिया भट्ट तक। अब खबर है फिल्म की लीड एक्ट्रेस फाइनल कर ली गई है। यह हैं 21 साल की तारा सुतारिया। टीवी शो और छोटे रोल्स कर चुकी हैं तारा... उन्होंने 2011 में एक टीवी रियलिटी सीरीज से डेब्यू किया था। इसके बाद वे डिज्नी के शोज में नजर आईं। तारा ने गुजारिश (2010), ओए जस्सी (2013) जैसी फिल्मों में भी छोटे-मोटे रोल किए हैं। अब उन्हें स्टूडेंट ऑफ द ईयर-2 की लीड एक्ट्रेस के तौर पर बड़ा ब्रेक मिला है। गौरतलब है कि करण जौहर की स्टूडेंट ऑफ द ईयर से तीन एक्टर्स ने डेब्यू किया था। ये हैं वरुण धवन, आलिया भट्ट और सिद्धार्थ मल्होत्रा। अब ये तीनों एक्टर्स बॉलीवुड में स्थापित हो चुके हैं। आगे स्लाइड्स में देखिए, तारा सुतारिया की कुछ photos...

कभी देखते थे देश के लिए मेडल जीतने का सपना, अब चाय बेचने को हुए मजबूर

कभी देखते थे देश के लिए मेडल जीतने का सपना, अब चाय बेचने को हुए मजबूर

Last Updated: August 30 2016, 04:30 AM

अंबाला. जिन खिलाड़ियों के हाथों में कभी हॉकी स्टिक हुआ करती थी और जो ध्यानचंद और धनराज पिल्लई जैसा खिलाड़ी बन देश के लिए मेडल जीतने का सपना देखते थे। आज उनके हाथें में चाय की केतली है तो कोई रेलवे स्टेशन पर कुली का काम कर रहा है। हॉकी छोड़ चाय बेचने पर क्यों मजबूर हुए ये प्लेयर्स... - हरियाणा के अंबाला के रहने वाले सिद्धांत शर्मा नेशनल लेवल पर अंडर-19 खेल चुके हैं, लेकिन अब चाय की दुकान चलाते हैं। - सिद्धांत शर्मा को सरकार से कोई मदद नहीं मिली तो आखिरकार परिवार का पेट भरने के लिए उन्होंने चाय बेचने का फैसला किया। - देश के लिए खेलने का सिद्धांत का सपना भले टूट गया हो, लेकिन अभी भी वो सुबह-शाम प्रैक्टिस करते हैं और दूसरे बच्चों को भी हॉकी सिखाते हैं। - सिद्धांत का कहना है कि खेलों के लिए उन्हें अब भी किसी प्रकार की मदद नहीं मिलती है। - उन्होंने बताया कि अंबाला कैंट के खालसा स्कूल में हॉकी खिलाड़ियों के लिए इकलौता मैदान है, लेकिन इसकी भी हालत खराब है। - इस ग्राउंड में प्रैक्टिस करने वाले खिलाड़ियों का कहना है कि इन्हें कभी भी ये मैदान अच्छी हालात में नहीं मिला और ना ही नियमित कोच मिला। (29 अगस्त को मेजर ध्यानचंद का जन्मदिन था, जिसे राष्ट्रीय खेल दिवस के तौर पर मनाया जाता है। इस मौके पर dainikbhaskar.com बता रहा है ऐसे खिलाड़ियों के बारे में, जिनका खराब सिस्टम के कारण करियर खत्म हो गया।) आगे की स्लाइड्स में पढ़ें, अन्य प्लेयर्स की स्टोरी और देखें फोटोज...

गरीबी में जी रही है ये मशहूर डांसर, ट्विटर पर मदद को आगे आई सुषमा स्वराज

गरीबी में जी रही है ये मशहूर डांसर, ट्विटर पर मदद को आगे आई सुषमा स्वराज

Last Updated: August 29 2016, 05:14 AM

नई दिल्ली. विदेश मंत्री सुषमा स्वराज अपने ट्वीट के चलते एक बार फिर चर्चा में हैं। हालांकि इस बार वह अपने मंत्रालय से जुड़े मामले पर नहीं, बल्कि 81 साल की डांसर तारा बालगोपाल की मदद करने के लिए सुर्खियों में हैं। बता दें कि तारा कभी कथक, भरतनाट्यम और कथकली के लिए मशहूर थीं, लेकिन आज वह गरीबी में अपना गुजारा कर रही हैं। वेबसाइट में छपी खबर, सुषमा ने किया रीट्वीट... - दरअसल, सचिन श्रीवास्तव नाम के शख्स ने एक वेबसाइट में छपी खबर को ट्वीट करते हुए सुषमा स्वराज से मदद की मांग की थी। - सचिन ने लिखा था- मैम, मुझे नहीं पता कि इससे आपको कितना फर्क पड़ेगा, लेकिन मैं कहना चाहूंगा कि तारा गोपाल को आपके मदद और सहयोग की जरूरत है। - इस पर सुषमा ने रीट्वीट किया और लिखा- मैं तारा बालगोपाल से जल्द से जल्द संपर्क करूंगी और उनकी मदद करूंगी। बीजेपी लीडर सुभाष आर्या करेंगे मदद - सुषमा स्वराज ने इस मुद्दे को उनकी जानकारी में लाने के लिए सचिन श्रीवास्तव को थैंक्स कहा। - कुछ ही समय बाद सुषमा स्वराज ने फिर से ट्वीट किया और कहा कि उन्होंने तारा बालगोपाल से संपर्क किया था और उनकी परेशानी को समझ लिया है। - वे बोलीं कि वह जल्द ही तारा बालगोपाल की मदद करेंगी। इसके बाद फिर ट्वीट करते हुए कहा कि बीजेपी लीडर और साउथ दिल्ली के मेयर सुभाष आर्या उनसे संपर्क करेंगे। रिटायरमेंट के बाद नहीं मिली पेंशन, न मिला बकाया भुगतान - तारा बालगोपाल दिल्ली के जर्जर हो चुके मकान में अकेले ही बदहाल जीवन जी रही हैं। उन्होंने 1960 में संसद में डांस का हुनर दिखाया था। - भारत सरकार ने 1962 में उनके नाम पर एक रुपए का डाक टिकट भी जारी किया था। इसके अलावा वह दिल्ली यूनिवर्सिटी के राजधानी कॉलेज में अंग्रेजी में रीडर थी। - रिटायरमेंट के बाद विश्वविद्यालय ने उनके बकाया भुगतान नहीं किया। 2010 में पति की मौत के बाद वह अकेली रह रही हैं। - इसके अलावा उनका कोई रिश्तेदार भी नही है और उन्हें पेंशन भी नही मिली रही। आगे की स्लाइड्स में देखें सुषमा स्वाराज के टवीट्स और संबंधित फोटोज ...

कभी देश के लिए खेलते थे हॉकी, अब स्टेशन पर लोगों का सामान उठाने को हुए मजबूर

कभी देश के लिए खेलते थे हॉकी, अब स्टेशन पर लोगों का सामान उठाने को हुए मजबूर

Last Updated: August 29 2016, 00:01 AM

अंबाला. रियो ओलिंपिक में भारत के खराब परफॉर्मेंस को देखते हुए सरकार ने अगले तीन ओलिंपिक्स के लिए प्लान बनाना शुरू कर दिया है। देश में कई ऐसे खिलाड़ी हैं, जो देश के लिए मेडल ला सकते थे, लेकिन सुविधाओं की कमी के कारण सक्सेस नहीं हो सके। हरियाणा के अंबाला के तारा सिंह ने नेशनल लेवल पर हॉकी खेलते हुए कई मेडल जीते, लेकिन सरकारी सिस्टम में फंसकर उनका पूरा जीवन आर्थिक तंगी में फंस गया और हॉकी को छोड़ वो कुली बन गए। तारा सिंह हॉकी छोड़ क्यों बन गए कुली... - तारा सिंह को सरकार से कोई मदद नहीं मिली तो आखिरकार परिवार का पेट भरने के लिए अंबाला के कैंट रेलवे स्टेशन पर कुली का काम करने लगे, इतना सब कुछ सहने के बाद भी तारा की हॉकी से मोह भंग नहीं हुआ है। - तारा का कहना है कि अपने बच्चों को हॉकी खेलने के लिए रोज शाम बच्चों के स्टेडियम ले जाता हूं और उनसे हॉकी सीखने को कहता हूं तो बच्चे पूछते हैं, हॉकी खेलकर क्या होगा आपकी तरह मजदूरी करनी होगी, तब तारा सिंह और उनके भाइयों की आंखें से निकलने लगते हैं। खिलाड़ी होने की बात पर हंसते हैं लोग - नेशनल खिलाड़ी से कुली बन चुके तारा सिंह किसी को अपने खिलाड़ी होने की बात बताते हैं तो लोग हंसते हैं। - किसी को विश्वास तक नहीं होता, लेकिन सच यह है कि 1999 की नेशनल हॉकी प्रतियोगिता में हरियाणा के लिए खेलते हुए तारा ने अपने खेल का शानदार प्रदर्शन किया था। - अपने जबर्दस्त खेल की बदौलत तारा सिंह ने अपनी टीम को कई मैच जिताए थे। विपक्षी हॉकी टीम के खिलाफ गोल पर गोल कर खूब वाह-वाही बटोरी, लेकिन आज स्टेशन पर लोगों का सामान ढो रहे हैं। आगे की स्लाइड्स में देखें, तारा सिंह की अन्य फोटोज...

19 CELEBRITIES के ऐसे Funny Photos, शायद नहीं देखे होंगे आपने

19 CELEBRITIES के ऐसे Funny Photos, शायद नहीं देखे होंगे आपने

Last Updated: August 23 2016, 21:39 PM

वैसे तो आपने सेलिब्रिटीज को स्टाइलिश, ग्लैमरस, हॉट एंड बोल्ड लुक में देखा है, लेकिन क्या आपने इन सेलेब्स की ऐसी फोटोज देखी हैं, जिनमें वे बौने नजर आ रहे हों। यदि नहीं, तो आज आपको कुछ ऐसी ही फोटोज दिखाते हैं। इन सेलेब्स को फोटोशॉप के जरिए बौना बनाया गया है। इन फोटोज को देखकर आप अपनी हंसी नहीं रोक पाएंगे। बता दें कि इन सेलेब्स की फोटोशॉप्ड फोटोज सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं। कुछ ऐसा होगा लुक... अजीबोगरीब स्टाइलिश पहली फोटो में आप एंजेलिना जोली और किम कार्दशियन की फोटो देख रहे हैं। ये दोनों ही फोटो फोटोशॉप्ड हैं। इस फोटो में दोनों बौने नजर आ रहे हैं। आगे की स्लाइड्स पर क्लिक करके देखें अन्य सेलेब्स की ऐसी ही फोटोज...

Flicker