• देखिये ट्रेनडिंग न्यूज़ अलर्टस

UP Election 2017

उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव 2017 चुनाव के नतीजों में BJP को मिला भारी बहुमत और सीएम बने योगी आदित्यानाथ: अब जानिए योगी कैसे ले रहे हैं एक-एक एक्शन: हर ख़बर दैनिक भास्कर के इस पेज पर |

Bulletin @ 29 मार्च: योगी का गृहप्रवेश-कराया फलाहार, ऐसा रहा पूरा शेड्यूल

Bulletin @ 29 मार्च: योगी का गृहप्रवेश-कराया फलाहार, ऐसा रहा पूरा शेड्यूल

Last Updated: March 30 2017, 12:02 PM

लखनऊ. यूपी के सीएम आदित्यनाथ योगी ने बुधवार को सुबह से शाम तक कई कार्यक्रमों में व्यस्त रहे। मुख्य सचिव राहुल भटनागर से मिलने के बाद लोहिया अस्पताल में इलाज के लिए एडमिट यूपी के पूर्व सीएम एनडी तिवारी से मिले। विधानसभा गए। आज दोपहर में VVIP गेस्ट हाउस से लखनऊ के 5केडी स्थित मुख्यमंत्री आवास में शिफ्ट हो गए। इसके बाद योगगुरु बाबा रामदेव से मिले। वहां योग महोत्सव के कार्यक्रम में योग की विशेषता बताई। शाम 6 बजे से 8 बजे तक संगठन पदाधिकारी, विधायक और मंत्रियों से मिले। इसके बाद फलाहार किया। ऊपर वीडियो में देखें 29 मार्च को सीएम आदित्यनाथ योगी ने क्या किया...किससे मिले...क्या लिया एक्शन...

पहली बार किसी CM ने नवरात्र में कराया 'फलाहार', गेस्ट बने बाबा, जानें मेन्यू

पहली बार किसी CM ने नवरात्र में कराया 'फलाहार', गेस्ट बने बाबा, जानें मेन्यू

Last Updated: March 31 2017, 09:59 AM

लखनऊ. नवरात्र के दूसरे दिन यानी बुधवार को योगी आदित्यनाथ ने 5 कालिदास मार्ग पर अपने सरकारी आवास में गृह प्रवेश किया। इसके बाद उन्होंने मंत्रियों विधायकों के लिए फलाहार पार्टी ऑर्गनाइज की। ये पहली बार है जब किसी सीएम ने नवरात्र में फलाहार पार्टी आयोजित की है। बता दें, सीएम योगी नवरात्र के दिनों में खुद 9 दिनों का व्रत रखते हैं। बाबा रामदेव बनें पहले गेस्ट... - इससे पहले गृह प्रवेश के बाद बाबा रामदेव सीएम हाउस में योगी के पहले गेस्ट बने। - बाबा यहां 3 दिन चलने वाले योग महोत्सव के उद्धाटन कार्यक्रम में पहुंचे थे। ये रहा फलाहार पार्टी का मेन्यू - कुट्टू के आटे की पूड़ियां -कश्मीरी सेब -केला -अनार के दाने -मौसम्मी का जूस -अनानास का जूस -शुद्ध दूध की बर्फी -फ्राइड मेवा -मिक्स फ्रूट -ड्राई फ्रूट की बर्फी -कालू दम - अंगूर -नारंगी -पपीता -मखाना -दही -खीरा -टमाटर 20 मार्च को हुआ था सीएम आवास का शुद्धिकरण - 20 मार्च को सीएम आवास पर साधु, संन्यासी और पुजारी नजर आए थे। ऐसा कहा गया कि सीएम आवास का शुद्धिकरण कराया गया था। गेट पर हल्दी से स्वस्तिक और ऊँ बनाया गया। पूजन के अलावा वास्तु का भी ध्यान रखा गया। - सीएम आवास पर पूजा-अर्चना करने के लिए गोरखपुर और इलाहाबाद के 5 पुरोहित आए थे। आगे की स्लाइड्स में देखें सीएम योगी ने बुधवार को दिन में फलाहार करते समय की फोटो...

जेल से विधायक बने DON मुख्तार अंसारी, राजा भैया को यूं लगाया गले

जेल से विधायक बने DON मुख्तार अंसारी, राजा भैया को यूं लगाया गले

Last Updated: March 30 2017, 09:34 AM

लखनऊ. यूपी असेंबली में नवनिर्वाचित विधायकों के शपथ ग्रहण समारोह के दूसरे दिन बुधवार को दो बाहुबलियों की दोस्ती देखने को मिली। जेल से इलेक्शन लड़े मऊ सीट से विधायक मुख्तार अंसारी कुंडा के MLA राजा भैया से गले मिले। शिवपाल से भी हुई गुफ्तगू... - ओथ सेरेमनी के दौरान मुख्तार और रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया एकसाथ नजर आए। दोनों खुशमिजाजी के साथ मिले। मुख्तार ने राजा भैया को गले से भी लगाया। - राजा भैया लाइट ब्लू कलर के कुर्ते में दिखे, वहीं मुख्तार ने सफेद रंग का कुर्ता-पायजामा पहना। - मुख्तार सपा के शिवपाल यादव से भी मिले। दोनों शपथ पत्र हाथ में लेकर बातें करते नजर आए। - इनके साथ रामपुर खास से कांग्रेस विधायिका अराधना मिश्रा उर्फ मोना भी नजर आईं। उन्होंने दोनों बाहुबलियों के साथ फोटो भी खिंचवाई। साथ ही, सीएम योगी का हाथ जोड़कर अभिवादन भी किया। - बता दें कि राजा भैया लगातार छठवीं बार कुंडा से विधायक चुने गए हैं। वहीं, जेल से इलेक्शन लड़े मुख्तार अंसारी 5वीं बार मऊ से MLA बने हैं। शपथ लेते ही मिला ये फरमान - ओथ लेने पहुंचे मुख्तार को योगी सरकार लखनऊ से बांदा जेल में ट्रांसफर करने का फरमान मिल गया। - सपा सरकार के दौरान वो पिछले 10 महीनों से लखनऊ जेल में हैं। - बता दें कि मुख्तार अंसारी जून 2016 में आगरा से लखनऊ जेल ट्रांसफर किए गए थे। यह कदम समाजवादी पार्टी के कौमी एकता दल पार्टी से विलय की खबरों के बाद उठाया गया था। - विलय कैंसिल होने के बाद उन्होंने बसपा टिकट से जेल में रहते हुए चुनाव लड़ा। आगे की स्लाइड्स में देखिए ओथ सेरेमनी की 2nd डे की 8 Photos...

9 दिन तक भवन से नीचे नहीं आते थे योगी, पहनते थे ये ड्रेस-ऐसा था रूटीन

9 दिन तक भवन से नीचे नहीं आते थे योगी, पहनते थे ये ड्रेस-ऐसा था रूटीन

Last Updated: March 31 2017, 17:32 PM

गोरखपुर. सीएम गोरक्षपीठाधीश्वर महंत योगी आदित्यनाथ जब गोरक्षपीठ में रहते थे, तो अपने निवास भवन से साल में नौ दिन तक नीचे नहीं आते। वो दिन होता है शारदीय नवरात्र का नौ दिन। दसवें दिन योगी आदित्यनाथ भवन से नीचे आते हैं और गुरु गोरक्षनाथ की विशेष पोशाक में विशेष पूजा-अर्चना करते थे। मंदिर के मुख्य पुजारी कमलनाथ बाबा ने dainikbhaskar.com से शारदीय और चैत्र के नवरात्र का योगी आदित्यनाथ का शेड्यूल शेयर किया। शारदीय नवरात्र में नौ दिन तक भवन से नहीं आते नीचे - योगी आदित्यनाथ शारदीय और चैत्र दोनों ही नवरात्र में नौ दिन तक व्रत रहते हैं। शारदीय नवरात्र (अक्टूूूबर में पड़ने वाला) उनके लिए विशेष होता है। इसमें वे नौ दिन तक अपने निवास भवन गोरक्षपीठ से नीचे नहीं आते थे। - वे नौ दिन तक व्रत रहकर पूजा-पाठ करते हैं। इस दौरान आचार्यों द्वारा मां शक्ति (दुर्गा) की विशेष पूजा सुबह-शाम होती है। - दोनों समय की विशेष आरती वो खुद योगी करते थे। मां का मंदिर भवन के ऊपरी तल पर है। अष्टमी में होता है शस्त्र पूजन - कमलनाथ बाबा ने बताया कि योगी अष्टमी के दिन शस्त्र पूजन करते हैं। इसमें मंदिर से जुड़े कुछ खास लोग ही शामिल हो सकते हैं जो योगी के सेवक होते हैं। - नवमी के दिन योगी हवन-पूजन के बाद नौ कुवांरी कन्याओं और एक भैरव का पांव धोकर पूजन करते थे, फिर उन्हें प्रेम से भोजन कराकर दक्षिणा देकर विदा करते थे। आगे की स्लाइड्स में पढ़ें योगी कैसी ड्रेस में करते हैं पूजा...

देश के 29 CM: IIT इंजीनियर से 10वीं पास तक, जानें कौन है कितना एजुकेटेड

देश के 29 CM: IIT इंजीनियर से 10वीं पास तक, जानें कौन है कितना एजुकेटेड

Last Updated: April 18 2017, 15:14 PM

लखनऊ. यूपी का सीएम बनते ही हर तरफ सिर्फ योगी आदित्यनाथ की चर्चा हो रही है। सभी उनकी तेज तर्रार वर्किंग स्टाइल की तारीफ कर रहे हैं। योगी बनने से पहले आदित्यनाथ ने गढ़वाल यूनिवर्सिटी से ग्रैजुएशन पूरा किया था। उन्होंने 1992 में मैथ सब्जेक्ट के साथ बीएससी की डिग्री हासिल की थी। dainikbhaskar.com अपने रीडर्स को देश के सबसे क्वालिफाइड से लेकर 10वीं पास CM के बारे में बता रहा है। आगे की स्लाइड्स में पढ़ें दिल्ली से यूपी, पंजाब से मणिपुर तक, किस स्टेट का सीएम है कितना पढ़ा-लिखा...

योगी ने शॉल-घड़ी देकर BJP वर्कर्स को क‍िया सम्मान‍ित, फलाहर में थीं ये चीजें

योगी ने शॉल-घड़ी देकर BJP वर्कर्स को क‍िया सम्मान‍ित, फलाहर में थीं ये चीजें

Last Updated: March 29 2017, 22:58 PM

लखनऊ. नवरात्र के दूसरे दिन यानी बुधवार को योगी आदित्यनाथ ने 5 कालिदास मार्ग पर अपने सरकारी आवास में गृह प्रवेश किया। इसके बाद उन्होंने मंत्रियों विधायकों के लिए फलाहार पार्टी ऑर्गनाइज की। कार्यक्रम में शामिल बीजेपी के प्रवक्ता राकेश त्रिपाठी ने बताया कि सभी कार्यकर्ताओं को, जो पार्टी के प्रचार-प्रसार से जुड़े हैं, सभी को उन्होंने एक शॉल साथ घड़ी भी गिफ्ट की। ये हमारे लोकप्रिय सीएम योगी आदित्यनाथ का कार्यकर्ताओं से स्नेह है, जो हम लोगों से मिलकर बात की और हमें स्नेह दिया। सीएम एम योगी नवरात्र के दिनों में खुद 9 दिनों का व्रत रखते हैं। बुधवार को योग गुरु बाबा रामदेव मुख्य गेस्ट थे। आगे पढ़िए फलाहार पार्टी में था कौन-कौन खाद्य पदार्थ... -मंत्री महेंद्र सिंह ने बताया कि सीएम योगी की फलाहार पार्टी में दर्जनभर से अधिक खाद्य पदार्थ शामिल थे। -कुट्टू के आटे की पुड़िया -कश्मीरी सेब -केला -अनार के दाने -मौसम्मी का जूस -अनानास का जूस -शुद्ध दूध की बर्फी -फ्राइड मेवा -मिक्स फ्रूट -ड्राई फ्रूट की बर्फी -कालू दम - अंगूर -नारंगी -पपीता -मखाना -दही -खीरा -टमाटर आगे की स्लाइड्स में देखिए फलाहार करते योगी की फोटोज...

UP असेंबली में कोई शपथ लेने में अटका, कोई अपना नाम लेना भूला

UP असेंबली में कोई शपथ लेने में अटका, कोई अपना नाम लेना भूला

Last Updated: April 01 2017, 18:20 PM

लखनऊ. यूपी असेंबली में मंगलवार और बुधवार को नए विधायकों का शपथ ग्रहण हुआ। पहली बार विधायक बनने के बाद शपथ लेने वालों में 29 साल की अदिति सिंह शामिल थीं। वे यूएस से मैनेजमेंट की पढ़ाई करके लौटी हैं। उन्होंने रायबरेली सदर सीट से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ा था। अदिति बार-बार शपथ की कॉपी पढ़ती नजर आईं क्योंकि उनसे पहले कल्याण सिंह के पोते संदीप कुमार हिंदी में लिखी शपथ ठीक से नहीं पढ़ सके थे। इस वजह से कुमार को दो बार शपथ लेनी पड़ी थी। संदीप यूके की लीड्स बैकेट यूनिवर्सिटी से एमए हैं। पढ़ें शपथ ग्रहण के हाईलाइट्स... 1) कहां बैठी थीं अदिति सिंह? - अदिति योगी आदित्यनाथ के ठीक बाईं ओर बैठी थीं। उनके हाथ में शपथ का पर्चा था, जिसे वे बार-बार देख रही थीं। वे कांग्रेस विधायक आराधना मिश्रा मोना; से भी शपथ लेने की प्रक्रिया के बारे में बात करते नजर आईं। - बता दें कि अदिति बाहुबली इमेज वाले अखिलेश सिंह की बेटी हैं। वहीं, आराधना मिश्रा कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी की बेटी हैं। आराधना रामपुर खास सीट से जीती हैं। 2) अपना ही नाम लेना भूल गए विधायक - बीजेपी विधायक और योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री सूर्य प्रताप शाही को दो बार शपथ लेनी पड़ी। पहली बार जब स्पीकर ने उन्हें बुलाया तो वे शपथ के दौरान अपना नाम लेना ही भूल गए। विधायकों के याद दिलाने पर उन्होंने दूसरी बार शपथ ली। - कल्याण सिंह के पोते और मंत्री संदीप चौधरी शपथ लेने के दौरान अटक गए। उन्हें दो बार शपथ लेनी पड़ी। 3) ऐसा रहा महिला विधायकों का अंदाज - कांग्रेस की अाराधना मिश्रा मोना; मजेंटा पिंक कलर की साड़ी में सबसे अलग नजर आ रही थीं। - राठ से बीजेपी विधायक मनीषा अनुरागी ने पिंक कलर का स्टाइलिश फ्रेम वाला चश्मा पहना। - कई महिला विधायक एक-दूसरे की फोटो लेती और आपस में बात करती नजर आईं। 4) योगी ने चुनिंदा लोगों से ही बात की - सीएम योगी मंगलवार सुबह 11 बजे विधानसभा पहुंच गए थे। उनके पहुंचते ही शपथ ग्रहण का प्रोग्राम शुरू हो गया। - करीब डेढ़ घंटे सदन में बैठे सीएम योगी ने सिर्फ चुनिंदा लोगों से ही बातचीत की। कई विधायकों ने उनके पैर छुए। - स्वामी प्रसाद मौर्य समेत कुछ नेताओं ने योगी के बगल में ही बैठने की कोशिश तो की, लेकिन बाद में चले गए। दरअसल, योगी ज्यादातर वक्त अपने में ही मगन रहे। - बाद में उनके पास सतीश महाना और सूर्य प्रताप शाही बैठे दिखे। आगे की स्लाइड्स में देखें, Oath सेरेमनी के दौरान नए MLAs के अंदाज की 11 फोटोज...

CM योगी पर लालू यादव ने किया कमेंट, लोगों के ऐसे आए र‍िएक्शन

CM योगी पर लालू यादव ने किया कमेंट, लोगों के ऐसे आए र‍िएक्शन

Last Updated: March 31 2017, 09:59 AM

लखनऊ. योगी द्वारा सीएम आवास में कराई गई पूजा को लालू यादव ने शुद्धिकरण का नाम दिया है। उन्होंने सोमवार को ट्वीट किया - योगी ने सीएम आवास का शुद्धिकरण इसलिए कराया क्योंकि पिछले 10 साल से ज्यादा वहां दलित-पिछड़ा और बहुजन वर्गों के मुख्यमंत्री रहते थे। दूसरे ट्वीट में उन्होंने कहा- यूपी में यदि मायावती और मुलायम एक हो जाएं तो बीजेपी को खत्म किया जा सकता है। गौरतलब है कि योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ स्थित सीएम आवास 5 कालीदास मार्ग में प्रवेश से पहले विशेष पूजा-अर्चना करवाई थी। आगे की स्लाइड्स में पढ़ें लालू के ट्वीट पर क्या आए लोगों के रिएक्शन​...

राजा भैया के पिता को लगा 1.25 करोड़ का चूना, जानें खुद हैं कितने अमीर

राजा भैया के पिता को लगा 1.25 करोड़ का चूना, जानें खुद हैं कितने अमीर

Last Updated: April 26 2017, 22:00 PM

प्रतापगढ़. हाल ही में कुंडा से विधायक रघुराज प्रताप सिंह के पिता उदयराज प्रताप सिंह ने एक करोड़ से ज्यादा की ठगी का केस दर्ज करवाया। एक मुंबई बेस्ड कंपनी ने मॉडिफाइड हाईटेक वैन देने के नाम पर उनसे 1.25 करोड़ रुपए ले लिए, लेकिन अब तक प्रॉडक्ट की डिलिवरी नहीं हो सकी। 2017 के यूपी असेंबली इलेक्शन में रघुराज प्रताप उर्फ राजा भैया ने अपनी संपत्ति की डीटेल्स शो की थी। dainikbhaskar.com अपने रीडर्स को वही डीटेल्स बता रहा है। 5 साल में दोगुना बढ़ी राजा भैया की संपत्ति, पत्नी के नाम है आधी प्रॉपर्टी... - राजा भैया 1993 से लगातार कुंडा से विधायक हैं। - अपने इलाके में तूफान सिंह के नाम से पॉपुलर रघुराज प्रताप की संपत्ति उनके पॉलिटिकल करियर के साथ आगे बढ़ी है। - 2007 में जहां राजा भैया 2.73 करोड़ रुपए के मालिक थे, वहीं 2012 में उनकी संपत्ति 7.11 करोड़ रुपए की हो गई। - खुद को किसान बताने वाले राजा भैया ने 2017 में अपनी संपत्ति 14 करोड़ रुपए के लगभग घोषित की है। - इस संपत्ति में उनकी पत्नी भानवी और चारों बच्चों की भी हिस्सेदारी है। आधी प्रॉपर्टी की मालकिन हैं बिजनेसवुमन भानवी - राजा भैया ने अपने एफिडेविट में खुद से ज्यादा संपत्ति पत्नी के नाम दिखाई है। - उनके खाते में जहां कुल 6 करोड़ की संपत्ति है, वहीं पत्नी भानवी 7.2 करोड़ रुपए की मालकिन हैं। - भानवी के पास 1.2 करोड़ रुपए की ज्वैलरी है। - यही नहीं, उनके नाम पर 2 लाख की 3 पिस्टल-राइफल भी हैं। - भानवी की सारंग इंटरप्राइजेज में 85% पार्टनरशिप है। - एक अन्य कंपनी श्रीदा प्रॉपर्टीज में उनकी 90 परसेंट की शेयरहोल्डिंग है। - ये दोनों कंपनियां लखनऊ बेस्ड हैं। आगे की स्लाइड्स में देखें राजा भैया की संपत्ति की डीटेल्स और साथ ही उनकी 10 रेयर PHOTOS...

राजा भैया के पिता खरीदना चाहते थे हाईटेक वैन, मिला सवा करोड़ का धोखा

राजा भैया के पिता खरीदना चाहते थे हाईटेक वैन, मिला सवा करोड़ का धोखा

Last Updated: April 24 2017, 17:31 PM

प्रतापगढ़. कुंडा के MLA रघुराज प्रताप सिंह के पिता उदय प्रताप सिंह से 1 करोड़ से ज्यादा की ठगी हुई है। मुंबई की एक कंपनी ने पूरी कीमत लेने के बावजूद उन्हें वैन की डिलिवरी नहीं दी। जानिए क्या है पूरा मामला... - साल 2015 में उदयराज ने इंटरनेट पर मुंबई की कंपनी डीसी मोटर्स डिजायनिंग प्राइवेट लिमिटेड की हाईटेक वैन का एड देखा था। उन्होंने कंपनी की वेबसाइट से नंबर लेकर वैन ऑर्डर करने की मंशा से कॉल लगाया। - फोन कॉल के बाद कंपनी का रिप्रेजेंटेटिव स्पंदन सिंह भदरी कुंडा आया और उदयराज से मुलाकात कर उसने उन्हें वैन के पार्ट्स, कीमत और सुविधाओं के बारे में समझाया। उसने दावा किया कि वैन की डिलिवरी 3 महीने के अंदर हो जाती है। - राजा भैया के पिता को वैन पसंद आई और उन्होंने उसे खरीदने का मन बना लिया। उन्होंने रिप्रेजेंटेटिव को 22.5 लाख रुपए एडवांस देकर वैन बुक कर ली। - उदयराज किश्तों में वैन की कीमत देते रहे। सेकंड इंस्टॉलमेंट में 30 लाख और थर्ड में 7 लाख रुपए दिए। इसके बाद कंपनी के नेशनल प्रभारी त्वरंग वशिष्ठ को 41 लाख 75 हजार रुपए दिए। - MLA के पिता का आरोप है कि वैन की पूरी कीमत 1.25 करोड़ रुपए लेने के बावजूद अब तक कंपनी ने उन्हें वैन की डिलिवरी नहीं दी है। कंपनी के प्रतिनिधि फोन भी बात करने को तैयार नहीं हैं। - उदयराज ने कंपनी और उसके मालिक दिलीप छवरिया, सहयोगी स्पंदन सिंह, तरुण वशिष्ठ और निहाल बजाज पर धोखाधड़ी का केस दर्ज करवाया है। रविवार शाम दी तहरीर में उन्होंने शिकायत दर्ज करवाई। क्या कहती है पुलिस - एएसपी कुंडा वेस्ट नीरज पांडे ने बताया- केस दर्ज हुआ है। राजा भैया के पिता ने ईस्ट मुंबई की कंपनी डीसी मोटर्स के खिलाफ केस किया है। उनके मुताबिक कंपनी ने ऑनलाइन विज्ञापन दिया था, जिसे देखकर ही इन्होंने कंपनी से बात की थी। कंपनी के प्रतिनिधि इनसे मिले और प्लान समझाया। ये कंपनी को 1.25 करोड़ रुपए का भुगतान कर चुके हैं। वादी का कहना है कि डेढ़ साल के बाद भी उन्हें वैन नहीं मिली है।

DM को देख महिला ने बताई परेशानी, जवाब मिला- नाम बताओ उस डॉक्टर का

DM को देख महिला ने बताई परेशानी, जवाब मिला- नाम बताओ उस डॉक्टर का

Last Updated: April 24 2017, 09:48 AM

लखनऊ. शहर के हजरतगंज स्थित सिविल हॉस्पिटल में डीएम जीएस प्रियदर्शी शुक्रवार को इंस्पेक्शन के लिए पहुंचे। इस दौरान हॉस्पिटल में फैली गंदगी देख जमकर फटकार लगते हुए कहा, साफ सफाई पर ध्यान दिया जाए, जो लोग ठीक से काम नहीं कर रहे है उनके खिलाफ एक्शन लिया जाए। वहीं, एक महिला को परेशानी में देख डीएम ने पूछा क्या दिक्कत है? महिला ने बताया कि स्किन डॉक्टर को दिखाया है, लेकिन उन्होंने बाहर की दवा लिखी है, जो मिल नहीं रही इसलिए दुबारा आई हूं। आगे पढ़िए इसपर क्या बोले डीएम... - डीएम ने महिला से कहा- नाम बताओ उस डॉक्टर का? - महिला - साहब मुझे नाम नहीं पता - डीएम - मुझे उस डॉक्टर का नाम पता करके बताए। अधिकारियों ने ओपीडी में देखा तो पाया कि डॉ. अम्बरीश गुप्ता पेशेंटस को देख रहे थे। - इसके बाद डीएम ने डॉ. अम्बरीश गुप्ता के खिलाफ जांच के आदेश जारी कर दिए। ओपीडी के बाहर लंबी लाइन देख डीएम ने पूछ लिया ये सवाल - ओपीडी के बाद डीएम ने इमरजेंसी बिल्डिंग का इंस्पेक्शन किया। इस दौरान कार्डियोलॉजी के बाहर लंबी लाइन देख उन्होंने डॉक्टर्स आशुतोष दुबे से पूछा कि यहां इतनी भीड़ क्यों है? - डॉ. आशुतोष दुबे- गर्मी का मौसम चल रहा है, इसलिए पेशेंट्स पहले से कुछ ज्यादा ही आ रहे है। - इसी बीच डीएम ने कुछ पेशेंट्स से इलाज और अन्य चीजों की जानकारी ली। इसपर पेशेंट्स ने बताया, ज्यादतर मेडिसिन्स हमें हॉस्पिटल्स के अंदर से ही मिल जाती है। - जब डीएम मर्चरी हाउस का जायजा लेने पहुंचे, तो डीप फ्रीजर मशीन एक कोने में रखा देख जमकर फटकार लगाई। आगे की स्लाइड्स की 4 फोटोज में देखिए DM ने किया इंस्पेक्शन...

केजरीवाल ने BJP को बताया डेंगू वाली पार्टी, ट्विटर पर मिले कुछ ऐसे कमेंट्स

केजरीवाल ने BJP को बताया डेंगू वाली पार्टी, ट्विटर पर मिले कुछ ऐसे कमेंट्स

Last Updated: April 22 2017, 08:32 AM

नई दिल्ली. दिल्ली के सीएम ने ट्वीट किया है कि बीजेपी को वोट दिया तो अगले साल कूड़ा, मच्छर ऐसे ही रहेंगे। कल अगर आपके घर डेंगू हो जाए तो आप खुद उसके जिम्मेदार होंगे, क्योंकि आपने बीजेपी को वोट दिया है। एमसीडी चुनाव में वोटिंग के ठीक पहले किए गए ट्वीट में केजरीवाल ने बीजेपी को डेंगू और चिकनगुनिया वाली पार्टी बताया है। उनके इस ट्वीट पर यूजर्स तीखे और फनी रिप्लाई दे रहे हैं। - एक के बाद एक किए गए ट्वीट में सीएम केजरीवाल ने कहा, बीजेपी और कांग्रेस जगह-जगह पानी काट रहे हैं। - केजरीवाल ने लिखा कि, मेरी उनसे हाथ जोड़कर अपील है- तुम मेरा बिजली पानी काट लो, मेरे दिल्ली वालों को परेशान मत करो। - उन्होंने एक ट्वीट में लिखा है कि बीजेपी को वोट दिया तो अगले 3 साल कूड़ा, मच्छर ऐसे ही रहेंगे। मिले ऐसे रिप्लाई - @pramila2710 ट्विटर हैंडल से लिखा गया है कि सर, झाडू का बटन दबाने से वोट बीजेपी को जा रहा है, इसलिए आप अपने वोटरों को बोलो कमल का बटन दबाएं तो वोट AAP को जाएगा। - @I_Atheist ने लिखा है- वैसे असली डेंगू का मच्छर तो आप हो साहेब। - इसके रिप्लाई में @rutambhtrivedi ने ट्वीट किया कि, दरअसल मादा मच्छर के काटने से डेंगू होता है। इसलिए केजरीवाल मच्छर कम्यूनिटी के लिए उपयोगी नहीं हैं। आगे की स्लाइड्स में देखिए, Twitter यूजर्स के फनी रिएक्शन...

2 साल में खत्म कर देंगे बुंदेलखंड की पानी की समस्या: योगी आदित्यनाथ

2 साल में खत्म कर देंगे बुंदेलखंड की पानी की समस्या: योगी आदित्यनाथ

Last Updated: April 21 2017, 07:56 AM

झांसी. सीएम बनने के बाद योगी आदित्यनाथ राज्य के पहले दौरे में गुरुवार को झांसी पहुंचे। यहां उन्होंने एक सभा में कहा- अगले 2 सालों में बुंदेलखंड से पानी की समस्या को खत्म कर देंगे। साथ ही उन्होंने बुंदेलखंड को दिल्ली से जोड़ने के लिए 6 लेन का एक्सप्रेस-वे बनाने की भी बात कही। योगी बोले- हमारा एक-एक मंत्री 18-18 घंटे काम कर रहा... -सीएम ने आगे कहा- हमारा एक-एक मंत्री 18-18 घंटे काम कर रहा है। इससे पहले के लोग एक घंटे भी काम नहीं करते थे। - गाय को लेकर कोई भी व्यक्ति काननू हाथ में न ले। आप बताइये कि कहां गलत हो रहा है। अपने जनप्रतिनिधि को सूचित कीजिए। पुलिस को बताईए, पुलिस उसपर कार्रवाई करेगी। - मैं कहता हूं 3 दिन के अंदर शिकायतों का निस्तारण करें अफसर। - हमरी सरकार में बहन-बेटियों की सुरक्षा की जाएगी। कार्यकर्ता आम लोगों तक योजनाएं पहुंचाएं। अस्पताल में पेशेंट्स से की बातचीत - अस्पताल से वे गल्ला मंडी विक्रय केंद्र पर गेहूं का नमूना देखा। वहां किसानों और कर्मचारियों से बात की। - मंडी में उन्होंने किसानों से गेहूं की खरीद और समस्याओं के बारे में पूछा। किसानों ने कहा कि गेहूं बेचने में उन्हें देरी होती है। विकास कार्यों की समीक्षा - सीएम को किसी प्राइमरी स्कूल का दौरा करना था, लेकिन यह पहले नहीं बताया गया कि उन्हें किस स्कूल में जाना है। झांसी के टाकोरी गांव के पूर्व माध्यमिक स्कूल में जाने का फैसला भी उन्होंने ऑन स्पॉट लिया। - इस दौरान उन्होंने मिड-डे मील में गड़बड़ी पर अपनी नाराजगी जताई। - टाकोरी में ही उन्होंने एक तालाब का निरीक्षण किया। यहां किसानों ने उन्हें बताया कि उनके यहां दौरे की खबर के बाद तालाब रातोंरात भर दिया गया। इस पर सीएम योगी ने मौके पर मौजूद अधिकारियों को फटकार लगाई। - यहां निरीक्षण के बाद सीएम योगी विकास भवन पहुंचे। वहां झांसी-चित्रकूट मंडल के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। आगे की स्लाइड्स में देखें फोटो...

योगी के मंत्री ने किया दिव्यांग का अपमान, कहा- ‘लूले लंगड़े क्या सफाई करेंगे'

योगी के मंत्री ने किया दिव्यांग का अपमान, कहा- ‘लूले लंगड़े क्या सफाई करेंगे'

Last Updated: April 20 2017, 17:42 PM

लखनऊ. शहर के डालीबाग स्थित खादी बोर्ड के ऑफिस पर कैबिनेट मंत्री सत्यदेव पचौरी बुधवार को इंस्पेक्शन के लिए पहुंचे। इस दौरान ऑफिस में गंदगी देख मंत्री भड़क उठे। वहीं, एक दिव्यांग सफाई कर्मचारी को देख मंत्री ने कहा, लूले लंगड़ों; को संविदा पर रख रखा है, ऐसा आदमी क्या सफाई कर पाएगा। साथ ही कई कर्मचारियों की गैरहाजिरी पर फटकार लगते हुए कहा, अब लेट-लतीफी का ढर्रा नहीं चलेगा। हमें पूरे प्रदेश को गंदगी मुक्त बनाना है, इसकी शुरूआत हमें अपने घर और ऑफिस से ही करनी होगी। गेट बंद देख लौटी वित्त नियंत्रक ... - मंत्री ने ऑफिस के मेन गेट पर ताला लगवाकर इंस्पेक्शन शुरू किया। वहीं, वित्त नियंत्रक सिंह ताला देख बाहर से ही वापस लौट गई। इसपर मंत्री ने कहा, अब लेट-लतीफी का ढर्रा नहीं चलेगा। गैरहाजिर अफसरों पर कार्यवाही की जाएगी। - इंस्पेक्शन के दौरान ऑफिस में गंदगी देख अफसरों को फटकार लगाई। वहीं, एक दिव्यांग सफाई कर्मचारी को देख उन्होंने कहा, इस लूले लंगड़ों; को संविदा पर रख रखा है, ऐसा आदमी क्या सफाई कर पाएगा। वहीं, जब उसकी सैलरी पूछी तो अफसरों ने 4 हजार रुपए बताया। - इसके बाद मंत्री ने एक-एक केबिन में जाकर जायजा लिया। उन्होंने अफसरों को फटकार लगते हुए कहा, हमें पूरे प्रदेश को गंदगी मुक्त बनाना है, इसकी शुरूआत अपने घर और ऑफिस से ही करनी होगी। जब तक हम खुद नहीं ध्यान देंगे, तब तक दूसरों को कुछ भी कहने का कोई औचित्य नहीं है। गंदगी और भ्रष्टाचार बर्दाश्त नहीं होगी। सबको साथ मिलकर सफाई अभियान पर ध्यान देना होगा। - इसी दौरान एक तरफ जहां मंत्री जी फटकार लगा रहे थे वहीं, दूसरी तरफ बाथरूम में अचानक ही सफाई शुरू हो गई। आगे की तीसरी स्लाइड्स में देखिए इंस्पेक्शन की VIDEO...

योगी के मंत्री ने खुदवा दी अखि‍लेश की बनवाई सड़क, बोले- फर्जी काम हुआ है

योगी के मंत्री ने खुदवा दी अखि‍लेश की बनवाई सड़क, बोले- फर्जी काम हुआ है

Last Updated: April 19 2017, 09:43 AM

लखनऊ. योगी सरकार में एलडीए मंत्री सुरेश पासी ने वर्ल्ड हेरिटेज डे पर मंगलवार को लखनऊ के हेरिटेज जोन हुसैनाबाद का इंस्पेक्शन के लिए पहुंचे। इस दौरान उन्होंने अखिलेश सरकार में बनी सड़क में लगे मार्बल्स की जांच के लिए उसे खुदवा दिया। स्थानीय लोगों को बताते हुए मंत्री ने कहा, पहले अच्छा डामर की सड़क बनी थी, लेकिन फिर भी कर्नाटक से 35 करोड़ की लागत के पत्थरों को मंगवाकर लगवाया गया है। सब फर्जी काम हुआ है। धरोहरों पर किया गया है ऐसा काम। इन सबकी जांचकर कार्रवाई की जाएगी। दो दिन पहले से चालू है इंस्पेक्शन का दौर... - बता दें, दो दिन पहले 16 अप्रैल को एलडीए मंत्री सुरेश पासी ने गोमतीनगर स्थित जय प्रकाश नारायण इंटरनेशनल सेंटर पर इंस्पेक्शन किया था। - लिफ्ट न बनी होने पर मंत्री ने एलडीए वीसी सतेंद्र सिंह से उन्होंने पूछा था कि यहां अब तक लिफ्ट क्यों नहीं लगी? अगर लिफ्ट नहीं लगी है तो क्या मैं यहां का इंस्पेक्शन नहीं कर पाऊंगा। - इसके बाद वे बिल्डिंग के 18वीं फ्लोर पर सीढ़ियों से पहुंचे। उन्होंने कहा, मुझे सूचना दी गई थी कि यहां 50 प्रतिशत काम हो चुका है जबकि यहां कुछ नहीं हुआ। 35 लोगों के काफिले के साथ मंत्री जी ने की थी चढ़ाई, रह गए 5 लोग - इंस्पेक्शन के लिए जब मंत्री सुरेश पासी ने बिल्डिंग में सीढ़ियों से चढ़ना शुरू किया तो उनके साथ एलडीए वीसी, 22 इंजीनियर और निजी स्टाफ सहित करीब 35 लोगों का काफिला था। -18वीं फ्लोर तक पहुंचते-पहुंचते मंत्री जी के साथ केवल उनके निजी स्टाफ के 5 लोग ही रह गए बाकी सभी नीचे के फ्लोर पर ही रुक गए। इस दौरान सभी पसीने से नहा गए। - मंत्री जी ने हेलीपैड पर खड़े होकर कर्मचारियों को काम करने का निर्देश दिए। हालत ऐसी थी कि एलडीए वीसी सतेंद्र सिंह तो 5वीं फ्लोर पर ही थककर रुक गए। आगे की स्लाइड्स में देखिए इंस्पेक्शन की 7 फोटोज...

Flicker