• देखिये ट्रेनडिंग न्यूज़ अलर्टस

Utility News

  • रिलीज से पहले ऑनलाइन LEAK हुई 'उड़ता पंजाब', साइबर क्राइम पुलिस करेगी जांच
    Last Updated: June 16 2016, 12:38 PM

    मुंबई. सेंसर बोर्ड से लंबे विवाद के बाद फिल्म उड़ता पंजाब रिलीज से दो दिन पहले यानी गुरुवार को ऑनलाइन लीक हो गई। लीक्ड वर्जन में शाहिद कपूर का पब्लिक के सामने यूरिनेशन वाला सीन भी है। इस सीन को बॉम्बे हाईकोर्ट ने फाइनल वर्जन से हटाने को कहा है। इस बीच, फिल्म के प्रोड्यूसर्स और डायरेक्टर ने एफआईआर दर्ज कराई है। अब मुंबई की साइबर क्राइम पुलिस इसकी जांच करेगी कि सेंसर बोर्ड को सौंपी गई कॉपी लीक कैसे हुई। 17 जून को होनी है रिलीज... - फैंटम फिल्म्स ने गुरुवार रात मुंबई की साइबर क्राइम सेल में शिकायत दर्ज कराई। इसमें कहा गया कि सेंसर बोर्ड को मूवी की कॉपी सौंपे जाने के बाद वह लीक होकर कई टोरेंट साइट्स तक पहुंच गई। वहां से इसे अवैध तरीके से डाउनलोड भी किया जा रहा था। - कुछ वेबसाइट्स पर बाद में यह मैसेज आया कि कॉपीराइट से जुड़ी शिकायत के बाद डाउनलोड करने वाली लिंक्स को हटा लिया गया है। - फिल्म के दो वर्जन लीक हुए हैं। पहला वर्जन फुल लेंथ यानी 2 घंटे 20 मिनट का है। - दूसरा वर्जन 40 मिनट का बताया जा रहा है, जिसमें वे सारे कॉन्ट्रोवर्शियल फुटेज हैं, जिन्हें सेंसर बोर्ड फिल्म से हटाना चाहता था। - बता दें कि डायरेक्टर अभिषेक चौबे की इस फिल्म में शाहिद कपूर, आलिया भट्ट, करीना कपूर और दिलजीत दोसांझ मुख्य भूमिका में हैं। फिल्म 17 जून को रिलीज होनी है। - उड़ता पंजाब के सीन काटने के खिलाफ प्रोड्यूसर्स की पिटीशन पर बॉम्बे हाईकोर्ट ने सोमवार को फैसला सुनाया था। - हाईकोर्ट ने प्रोड्यूसर्स से मूवी में एक सीन कट करने और तीन डिस्क्लेमर दिखाने को कहा है। - इससे पहले, सेंसर बोर्ड ने मूवी में 13 कट्स लगाने को कहा था। प्रोड्यूसर्स इसी के खिलाफ थे। इस सीन पर लगेगा कट फिल्म में पब्लिक के सामने टॉमी सिंह (शाहिद कपूर) के यूरिन करने के सीन को हटाने को कहा गया है। यह कट नंबर 9 था। 3 डिस्क्लेमर लगेंगे - पहला- हम ड्रग्स का यूज प्रमोट नहीं करते। - दूसरा- खराब शब्द सिर्फ हकीकत बयां करने के लिए हैं, प्रमोट करने के लिए नहीं। - तीसरा- यह मूवी किसी राज्य की छवि खराब करने के लिए नहीं है। WHAT NEXT: अभी थमा नहीं है विवाद - 17 जून को फिल्म सर्टिफिकेशन एंड अपीलिएट ट्रिब्यूनल में इस मामले में सुनवाई है। - इसी दिन पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट में फिल्म के खिलाफ दायर पिटीशन पर सुनवाई करेगा। हाईकोर्ट के ऑर्डर पर मूवी की स्पेशल स्क्रीनिंग हो चुकी है। इस पर रिपोर्ट बेंच को सौंपी जाएगी। एनजीओ ने सुप्रीम कोर्ट में लगाई पिटीशन - पंजाब बेस्ड एक एनजीओ ने फिल्म उड़ता पंजाब; पर बाॅम्बे हाईकोर्ट के फैसले पर स्टे लगाने के लिए सुप्रीम कोर्ट का रुख किया है। - 13 जून को बॉम्बे हाईकोर्ट फ़िल्म को ग्रीन सिग्नल दे चुका है। फिल्म 17 जून को रिलीज होने जा रही है। एनजीओ ने की SC से जल्दी सुनवाई की मांग। - जालंधर के ह्यूमन राइट्स अवेयरनेस नाम के एनजीओ ने कहा है कि हाईकोर्ट फिल्म में हटाने वाले सीन या डॉयलॉग पर फैसला नहीं कर सकता। - एनजीओ का कहना है कि फिल्म में पंजाब को गलत तरीके से पेश किया गया है। - एनजीओ के वकील ने सुप्रीम कोर्ट से कहा कि उनकी दलीलों को जल्द सुना जाए, क्योंकि फिल्म इसी शुक्रवार को रिलीज़ होने जा रही है। - सुप्रीम कोर्ट ने पिटीशनर को कागज़ी कार्यवाही पूरा करने के लिए कहा है, जिसके बाद वह फैसला करेगा कि मामला सुनवाई के लिए लेना है या नहीं। आगे की स्लाइड्स में देखें : लीक हुए फुटेज की PHOTOS...

  • GROUND REPORT: क्या इस पंजाब को जानते हैं आप?
    Last Updated: June 13 2016, 19:44 PM

    चंडीगढ़/अमृतसर. उस दिन चंडीगढ़ में रहने वाले तरनजीत (बदला हुआ नाम) के पांव तले जमीन खिसक गई जब उसे पता चला कि उसकी पत्नी और बेटी ने भी ड्रग्स लेना शुरू कर दिया है। दरअसल, तरनजीत लंबे समय से ड्रग्स के धंधे में शामिल था। घर पर ड्रग्स छिपा कर रखता था। उसे पता भी नहीं चला कि कब उसकी पत्नी और बच्ची ने उसे चखा और वे उसकी चपेट में आ गईं। वे छिप-छिप कर इसे लेने लगीं। ये कहानी पंजाब में ड्रग्स के कारोबार की एक बानगी है। पंजाब का नाम लेते ही जहां खुशहाली, खेत और खिलखिलाहट याद आती है, वहां अब क्या हो रहा है... - पंजाब पिछले कुछ सालों में नशीले पदार्थों का हब बनकर रह गया है। अफीम, भुक्की से शुरू हुआ सिलसिला हेरोइन, स्मैक, कोकीन, सिंथेटिक ड्रग, आईस ड्रग जैसे महंगे नशे में तब्दील हो चुका है। हालात ये हैं कि नशे की वजह से कई घर उजड़ गए, कई बुजुर्गों ने अपने जवान बेटों को अर्थियां दीं, नपुंसकता की वजह से कई घर टूट गए। नशा तस्करी बढ़ने का प्रमुख कारण पाकिस्तान है। - पाकिस्तान से सटे इलाके तरनतारन, अमृतसर, फिरोजपुर, फाजिल्का से सबसे ज्यादा नशे के मामले आ रहे हैं। इसके अलावा बठिंडा, मानसा, संगरूर, और मुक्तसर भी नशे से प्रभावित हैं। अफगानिस्तान से पाकिस्तान और फिर पंजाब से कनाडा, अमेरिका तक तस्करी में कई राजनीतिक दलों के नेताओं के नाम भी सामने आए हैं। इनमें सबसे ज्यादा चर्चित नाम उप मुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल के साले व कैबिनेट मंत्री बिक्रम मजीठिया का रहा। - 2013 में ड्रग रैकेट का पर्दाफाश होने के बाद गिरफ्तार किए गए पूर्व एशियाड खिलाड़ी और अर्जुन अवार्डी जगदीश भोला ने कैबिनेट मंत्री मजीठिया पर गंभीर आरोप लगाए। पूर्व अकाली जेल मंत्री सरवण सिंह फिल्लौर को तो इस्तीफा तक देना पड़ा था। क्योंकि उनके बेटे यूथ अकाली नेता दमनवीर सिंह पर तस्करों के साथ संबंधों का आरोप लगा था। भाजपा नेता अविनाश चंद्र और कांग्रेस नेता राजा वड़िंग पर भी आरोप लगे। - पंजाब पुलिस के आईजी परमराज सिंह उमरानंगल पर भी जांच चल रही है। कई मंत्री, विधायकों से ईडी भी पूछताछ कर चुकी है। दो साल से ईडी जांच चल रही है लेकिन अभी तक रिजल्ट जीरो है। ईडी के एक असिस्टेंट डायरेक्टर निरंजन सिंह ने जब निष्पक्ष जांच शुरू की तो उनका ट्रांसफर कर दिया गया। बाद में हाईकोर्ट में मामला जाने के बाद सरकार ने रोक लगा दी। 2013 से अब तक डेढ़ लाख युवा नशे का इलाज कराने ड्रग एडिक्शन सेंटर आ चुके हैं। इसमें दो फीसदी लड़कियां शामिल हैं जो 15 से 26 साल के बीच की हैं। - पंजाब के डीजीपी सुरेश अरोड़ा ने भास्कर से कहा कि यहां पर नशे की तस्करी और खपत का मामला बेहद गंभीर है। हम नशे के खिलाफ कैंपेन चला रहे हैं। इसके लिए नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो बनाया गया है। नशीले पदार्थों के बड़े तस्करों के साथ-साथ नशा खरीदने वालों पर भी एक्शन लिया जा रहा है। तस्करों की प्राॅपर्टी जब्त की जा रही है। वे बताते हैं कि जिला लेवल पर भी टीमें बनाई गई हैं, जो तस्करों के खिलाफ काम कर रही हैं। पंजाब में इतना नशा फैला है कि पुलिस की भर्ती में डोप टेस्ट रखना पड़ गया है। पंजाब में ड्रग्स के FACTS - पंजाब में 8.6 लाख लोग ड्रग्स लेते हैं। - 2.3 लाख लोगों को इसकी लत है। - 89% पढ़े-लिखे यंगस्टर्स नशे की गिरफ्त में हैं। - 6000 करोड़ से ज्यादा की ड्रग्स पिछले पांच साल में यहां से पकड़ी गई है। - 17 हजार लोगों को 2013-14 में भारी दबाव के बाद गिरफ्तार किया गया था। - 338 तस्करों की 80 करोड़ रुपए की प्रॉपर्टी 2014 में जब्त की गई थी। 2 केस स्टडी से समझें घरों और सोसाइटी में किस तरह घुल रहा है नशे का जहर... #1. बेटा नशे से मरा, बेटी ने आत्महत्या की, अब दो नाती भी नशे के आदी - नसीब कौर (बदला हुआ नाम)। उम्र 70 साल है। झुकी हुई कमर, चेहरे पर गरीबी और बेबसी की मार साफ छलकती है। - चला तो नहीं जाता, मगर इस उम्र में लोगों के घरों में बर्तन मांजना मजबूरी है। - वह अपने बेटे हरदेव के तीन और बेटी भोली के दो बच्चों को पाल रही हैं। हरदेव तथा भोली दोनों ही नशे के चलते मौत के मुंह में समा गए। - बेटी के दोनों बेटे भी इसके चंगुल में फंस चुके हैं। नसीब के सामने कोई नशे का जिक्र करता है तो वह रो पड़ती हैं और बददुआ देने लगती हैं- ए नशे वालों तुम्हारा बेड़ा गर्क हो। - अमृतसर के हरगोबिंदपुरा में रहने वाली नसीब कौर का हंसता-खेलता परिवार था। तीन बेटे और एक बेटी। - वह उस दिन को कोसती हैं, जिस दिन भोली के पति को नशे की लत पड़ी। उस वक्त भोली के दो बेटों मनप्रीत और संदीप की उम्र 6-8 साल थी। वे इस वक्त 20-22 साल के हैं। - नशे के चलते भोली ने आत्महत्या कर ली। इसके बाद उसका पति भी मर गया और दोनों बच्चे उसके पास आ गए। - नसीब बताती हैं कि बुरी संगत के कारण उसके दोनों नाती भी नशा करते हैं। नशे ने इसके बाद भी उनका पीछा नहीं छोड़ा। - इसी दौरान उनके बेटे हरदेव को भी नशे की लत पड़ गई। पहले कैप्सूल, इंजेक्शन, अफीम और फिर हेरोइन। - एक दिन ऐसा भी आया जब नशे ने उसे निगल लिया। उसकी पत्नी ने बच्चों को छोड़ अपनी अलग दुनिया बसा ली। - इसी गम में पति भी चल बसे और अब पांचों बच्चे उनकी जिम्मेदारी बन गए हैं। #2. मेरे पास पैसे नहीं होते थे, ना चाहते हुए भी दूसरे लड़कों को नशा कराया - जालंधर के मनोचिकित्सक गुलहार सिद्धू के क्लीनिक पर इलाज करान आए संदीप (बदला हुआ नाम) ने भास्कर को बताया कि किस तरह नशे को बढ़ावा दिया जाता है और कैसे इससे दूसरे युवा जुड़ते जाते हैं। - संदीप ने बताया कि वो उस समय इलेक्ट्रिकल में डिप्लोमा कर रहा था। वहां दोस्तों के बीच एक लड़का ऐसा था जो ड्रग्स का नशा करता था। - एक दिन उसने कहा - ऐहनूं लै के तां देख... सत्ता घोड़ेआं दी ताकत आ जावेगी। रिलैक्स हो जावेंगे..सारी टेंशन खत्म। - मैंने डरते-डरते एक डोज लिया। फिर कुछ दिन का गैप। दूसरा डोज लेते ही रूटीन बन गई और मुझे ड्रग्स की आदत हो गई। - जितने पैसे थे मैंने दो हफ्ते मे खर्च दिए। संदीप बताता है कि मुझे सच्चाई पता चल चुकी थी कि मैं किस नर्क में घिर गया हूं। - लेकिन नशा न करने पर लगता था कि सांस अटक जाएगी। - इसलिए मैंने एक दूसरे लड़के को ड्रग्स् लेने के लिए उकसाया, ताकि वह खुद के लिए इसके पैसे दे और मैं उसमें से नशा कर सकूं। - पंजाब में ऐसी कई कहानियां हैं, जिसमें एक-दूसरे को दोस्त ही बर्बाद कर रहे हैं। कंटेंट : सुखबीर सिंह बाजवा, शिवराज द्रुपद, सतपाल, सतीश कपूर, नरिंद्र शर्मा और हरपाल रंधावा आगे की स्लाइड्स पर पढ़ें, पंजाब के 3 कद्दावर नेताओं के गांवों की हकीकत और चीन से आकर सिंथेटिक ड्रग्स बनाने की कहानियां...

  • 8 CARTOONS में देखें उड़ता पंजाब, लहराते नेता और बढ़ती महंगाई
    Last Updated: June 13 2016, 17:54 PM

    भोपाल. फिल्म उड़ता पंजाब पर सेंसर बोर्ड के फरमान के खिलाफ प्रोड्यूसर्स की अपील पर सोमवार को बॉम्बे हाईकोर्ट ने अहम फैसला सुनाया। कोर्ट ने सिर्फ एक कट और 3 डिस्क्लेमर के साथ फिल्म को मंजूरी दे दी। इससे पहले बोर्ड के चीफ पहलाज निहलानी ने 13 कट और कुछ आपत्तिजनक शब्दों को हटाकर ए सर्टिफिकेट के साथ मूवी रिलीज करने की इजाजत दी थी। बहरहाल, यह ऐसी फिल्म है जिसके रिलीज होने से पहले बॉलीवुड और सेंसर बोर्ड आमने-सामने हो गए। फर्ज कीजिए कि अगर उड़ता पंजाब जैसी कॉन्ट्रोवर्सी महंगाई और नेताओं की मौजूदा हालत के बीच होते हुए कार्टूनिस्ट की नजरों से टकराएगी तो क्या होगा। देखें dainikbhaskar.com के कार्टूनिस्ट हरिओम तिवारी की नजर में यह कॉन्ट्रोवर्सी... इस मूवी को लेकर क्यों है कॉन्ट्रोवर्सी... पहले 89 कट, फिर 94, अब 13 - इस मूवी को लेकर पहले सेंसर बोर्ड ने 89 कट लगाए थे। फिर खबरें आईं कि कट 94 कर दिए गए हैं। - इसके बाद सेंसर बोर्ड के चीफ निहलानी ने कहा कि 13 कट के साथ फिल्म पास कर दी गई है। आमने-सामने हैं प्रोड्यूसर्स, नेता और सेंसर बोर्ड - इस मूवी के प्रोड्यूसर अनुराग कश्यप ने सेंसर बोर्ड में फिल्म के अटकने के बाद कहा था कि उन्हें लगता है कि वे नॉर्थ कोरिया में हैं। उन्होंने कहा था कि फिल्म ऑनेस्ट अप्रोच के साथ बनाई गई है। - इस पर केंद्रीय मंत्री राज्यवर्धन राठौड़ ने कहा था कि अगर प्रोड्यूसर को लगता है कि वे नॉर्थ कोरिया में हैं तो वे वोट करा लें। यहां पूरी तरह डेमोक्रेसी है। - वहीं, फिल्म को बेहतर बताने के कश्यप के बयान का दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने सपोर्ट कर दिया था। - इस पर ट्विटर यूजर्स ने उन्हें आड़े हाथ लेते हुए कहा था कि बिना मूवी देखे वे कैसे कह सकते हैं कि वह बेहतर है। - खुद पर लगे आरोपों के बीच पहलाज निहलानी ने यह तक कह दिया कि हां, वे मोदी के चमचे हैं। अगर वे नाकाबिल हैं तो उन्हें सेंसर बोर्ड चीफ की पोस्ट से हटा दिया जाए। - इस बीच, इन्फॉर्मेशन एंड ब्रॉडकास्टिंग मिनिस्टर अरुण जेटली का बयान आया कि सरकार सेंसर बोर्ड से जुड़ी प्रॉसेस में जल्द ही बड़े बदलाव करेगी, क्योंकि सरकार मानती है कि बोर्ड का काम सेंसर करना नहीं, सर्टिफिकेशन करना है। आगे की स्लाइड्स में देखें #Udtapunjab पर CARTOONS...

  • 'क्वीन' में ब्रा को करवाया था ब्लर, जब सेंसर बोर्ड ने फिल्मों में किए ऐसे बदलाव
    Last Updated: July 19 2016, 18:06 PM

    मुंबई. डायरेक्टर अभिषेक कपूर की फिल्म उड़ता पंजाब इन दिनों विवादों में है। फिल्म पर पंजाब को बदनाम करने के आरोप लग रहे हैं। इसके चलते सेंसर बोर्ड ने फिल्म से कई सीन्स हटाने की बात कही है। यह पहला मामला नहीं है, जब जब किसी फिल्म को विवाद का हर्जाना भुगतना पड़ रहा है। इससे पहले भी कई फिल्मों के साथ ऐसा हो चुका है। किसी से सेंसर बोर्ड ने कोई सीन हटवाया तो किसी को कई जगह बैन का सामना करना पड़ा। इस पैकेज में डालते हैं ऐसी ही फिल्मों पर एक नजर। क्वीन के एक सीन में ब्रा को करवा दिया ब्लर... डायरेक्टर विकास बहल की फिल्म क्वीन में एक जगह कंगना रनोट अपने हाथ में ब्रा पकड़े नजर आती हैं। लेकिन सेंसर बोर्ड ने इस सीन में ब्रा को ब्लर करवा दिया। इसके अलावा, अंडरगारमेंट्स वाले कुछ और सीन्स भी ब्लर किए गए थे। आगे की स्लाइड्स में जानिए ऐसी ही फिल्मों के कुछ और सीन्स के बारे...

  • 89 कट्स के फैसले के बाद भी अटकी 'उड़ता पंजाब': मेकर्स सेंसर बोर्ड के खिलाफ HC में
    Last Updated: June 08 2016, 21:39 PM

    मुंबई/दिल्ली. शाहिद कपूर की अपकमिंग फिल्म उड़ता पंजाब को लेकर विवाद जारी है। फिल्म के टाइटल और सब्जेक्ट से पंजाब नाम हटाने और 89 कट्स के फैसले को सेंसर बोर्ड चीफ पहलाज निहलानी ने वाजिब बताया है। उन्होंने कहा, हमारे ऊपर कोई पॉलिटिकल प्रेशर नहीं। जब कोई पूरी फिल्म देखेगा तो उसे कारण का पता चल जाएगा। फिल्म से पंजाब, पॉलिटिक्स और इलेक्शन हटाना ही होगा। उधर, फिल्ममेकर्स ने बॉम्बे हाईकोर्ट में अपील की है। क्या कहा निहलानी ने... - उड़ता पंजाब के फिल्ममेकर्स ने बुधवार को बॉम्बे हाईकोर्ट में अपील की। कोर्ट अब गुरुवार को इस मामले में सुनवाई करेगा। - वहीं, सेंसर बोर्ड चीफ ने कहा- मूवी से पंजाब की इमेज को नुकसान हो सकता है। - मूवी को लेकर जो भी आपत्तियां थींं, वो लिखित में फिल्ममेकर को दे दी गई हैं। - बोर्ड में 9 लोग होते हैं। उनकी सहमति से यह फैसला लिया गया। - अगर उन्हें बोर्ड के फैसले से प्रॉब्लम है तो वे कोर्ट में जा सकते हैं। - मैं कोई भी पॉलिटिकल बात नहीं करूंगा। मुझ पर कोई दबाव नहीं है। - हमने अपने रूल और गाइडलाइन्स के हिसाब से फैसला लिया है। - बता दें कि सेंट्रल बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन की रिवाइजिंग कमेटी ने इस मूवी से 89 सीन हटाने को कहा है। फिल्म 17 जून को रिलीज होनी है। फिल्म पर विवाद क्यों? - आशंका जताई जा रही है कि इस फिल्म का असर 2017 के पंजाब असेंबली इलेक्शन पर हो सकता है। - कई पार्टियां ड्रग्स को चुनावी मुद्दा बनाने की तैयारी में हैं। दरअसल, फिल्म के क्लाइमेक्स में एक लोकल नेता चुनाव जीतने के लिए अपने मेनिफेस्टो के साथ ड्रग्स के पैकेट बांटता है। - ड्रग्स को किस तरह दो-तीन प्रोडक्ट्स के साथ मिलाकर बनाते हैं और फैक्ट्री में यह कैसे बनती है, इसकी पूरी डिटेल फिल्म में है। यह भी बताया गया है कि किस तरह से फैक्ट्री ऑपरेट हो रही है। - फिल्म में शाहिद कपूर ड्रग एडिक्ट पॉप सिंगर बने हैं और अपने गानों में ड्रग्स के बारे में बताते हैं। - वे कहते हैं कि सभी को ड्रग्स लेनी चाहिए। फिल्म में आलिया भट्ट भी ड्रग एडिक्ट के कैरेक्टर में हैं। पंजाब में ड्रग्स के आंकड़े - इस साल जनवरी से अब तक 134 किलो हेरोइन पकड़ी गई। - इंटरनेशनल मार्केट में इसकी कीमत एक करोड़ रुपए/किलो है। - पिछले पांच साल में 8400 किलो अफीम पकड़ी गई है। कीमत 60 हजार से लेकर 1.20 लाख रुपए/किलो । - 1500 किलो अफीम डोडा चूरा (पोस्त) पकड़ा गया है। इस साल उड़ता पंजाब समेत पांच मूवी पर विवाद 1. वीरप्पन - मूवी में राजीव गांधी की हत्या को लेकर एक लाइन थी। सेंसर बोर्ड का कहना था कि इस पर तमिल ग्रुप्स ऑब्जेक्शन कर सकते हैं। क्या किया: फिल्म को A सर्टिफिकेट दिया। 2. अलीगढ़: - मूवी अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर रामचंद्र सिरस के जीवन पर बेस्ड है। पुरुषों के साथ समलैंगिक रिलेशन को लेकर डायलॉग पर सेंसर बोर्ड को आपत्ति थी। क्या किया: कुछ कट के साथ A सर्टिफिकेट दिया। 3. द जंगल बुक - सेंसर बोर्ड को मूवी के स्पेशल इफेक्ट पर आपत्ति थी। कहा डरावनी मूवी है। क्या किया: UA सर्टिफिकेट दिया। 4. द एंग्री बर्डस - मूवी को पेरेंट्स की मौजूदगी में देखने की एडवाइस दी। क्या किया: मूवी को UA सर्टिफिकेट दिया। फिल्ममेकर अनुराग के ट्वीट पर मोदी के मंत्री का जवाब - राठौड़ ने कहा- आपको लगता है कि आप नॉर्थ कोरिया में हैं? यहां वोट ले लेते हैं, डेमोक्रेसी है। बता दें कि यह जवाब उन्होंने फिल्ममेकर अनुराग कश्यप के नॉर्थ कोरिया में रहने वाले बयान पर दिया था। - जो भी फिल्ममेकर बोर्ड के फैसले से सहमत नहीं है, वह रिवाइजिंग कमेटी या ट्रिब्यूनल के पास जा सकता है। - पिछले पांच महीनों में कई फिल्ममेकर्स सीबीएफसी के फैसले से सहमत नहीं दिखे। उन्होंने ट्रिब्यूनल में अपील की और बाद में सैटिसफाई भी हुए। - अगर कुछ ऐसा है तो आप भी अपील कर सकते हैं। अभी तक क्या हुआ? - पंजाब में आगामी इलेक्शन को देखते हुए मंगलवार को अरविंद केजरीवाल से लेकर राहुल गांधी तक ने बयान दिए। - बता दें कि सेंसर बोर्ड इस फिल्म से पंजाब शब्द हटाना चाहता है। इस मुद्दे पर राजनीतिक बयानबाजी के बाद #UdtaPolitics ट्रेन्ड करने लगा है। - अनुराग कश्यप के नॉर्थ कोरिया वाले बयान का केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा- मैं आपसे सहमत हूं। - वहीं राहुल गांधी ने कहा- पंजाब में ड्रग की प्रॉब्लम है। मूवी को सेंसर करने से खत्म नहीं होगी। इसके लिए हमेंं हल खोजना होगा। - बाद में कश्यप ने ट्वीट कर कहा, मैं कांग्रेस, AAP और दूसरी पॉलिटिकल पार्टियों से कहना चाहता हूं कि वे इस लड़ाई से दूर रहें। - ये मेरे अधिकारों और सेंसरशिप के बीच का मामला है। मेरी लड़ाई सेंसर बोर्ड में बैठे एक तानाशाह आदमी से है। ये मेरा नॉर्थ कोरिया है। - बाकी लोग अपनी-अपनी लड़ाई लड़ें, मैं अपनी लड़ाई लड़ लूंगा। सेंसर बोर्ड को क्या आपत्ति है? - सेंसर बोर्ड को मूवी के डायलॉग्स पर आपत्ति है, जिसमें गालियों का इस्तेमाल किया गया है। - वहीं, कुछ दिन पहले ट्रिब्यूनल ने फिल्म को सर्टिफिकेट दिए बिना वापस रिवाइजिंग कमेटी के पास भेजा था और अब खबर है कि फिल्म से पंजाब शब्द हटाने की सलाह निर्माताओं को दी गई है। - बोर्ड का मानना है कि यह फिल्म युवाओं को गलत दिशा दिखाएगी। केंद्र सरकार का क्या कहना है? - उधर, केंद्रीय सूचना प्रसारण राज्य मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने कहा कि सेंसर बोर्ड का काम सार्टिफिकेट देने का है, उस पर प्रतिबंध लगाने का नहीं। - केंद्र सरकार कहना है कि इस विवाद से उसका कोई लेना-देना नहीं है। - सेंसर बोर्ड के एक अधिकारी ने बताया कि उड़ता पंजाब के 6-7 दर्जन दृश्यों या डायलॉग को लेकर रिव्यू कमेटी ने फिल्म के निर्माता को अवगत कराया है। हालांकि, अभी तक नोटिस जारी नहीं किया गया है। - पंजाब के डिप्टी सीएम और होम मिनिस्टर सुखबीर बादल के मुताबिक, पंजाब बॉर्डर स्टेट है, जहां पाकिस्तान और अफगानिस्तान से भारी मात्रा में ड्रग्स आती है। पंजाब से होकर ये पूरे देश में पहुंचती है। पंजाब पुलिस और बीएसएफ के सतर्क होने के कारण ये ड्रग्स यहां से पकड़ी जाती है। बदनामी पंजाब की होती है। आगे की स्लाइड में पढ़ें, सेंसर बोर्ड से नाराज है बॉलीवुड...

  • #UDTAPUNJAB: शाहिद-करीना इस एक शर्त पर आधे रेट में भी काम करने को थे तैयार
    Last Updated: June 14 2016, 14:15 PM

    मुंबई. बॉम्बे हाईकोर्ट ने सोमवार को एक कट और तीन डिस्क्लेमर के साथ उड़ता पंजाब को मंजूरी दे दी है। कोर्ट ने सेंसर बोर्ड से 48 घंटे के अंदर मूवी को ए सर्टिफिकेट देने को कहा है। फिल्म मेकर्स का कहना है कि मूवी 17 जून को ही रिलीज होगी। इस मूवी के लिए शाहिद, करीना और आलिया भट्ट अपनी नॉर्मल फीस से आधे रेट पर भी काम करने को तैयार थे। हालांकि, इसके लिए उन्होंने डायरेक्टर के सामने एक शर्त भी रखी थी। तीनों फिल्म स्टार्स ने ये रखी थी शर्त... - शाहिद, करीना और आलिया ए ग्रेड स्टार कैटेगरी में आते हैं। ऐसे में इनकी मूवी फीस ज्यादा है। - मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, डायरेक्टर चौबे के ऑफर पर एक शर्त के साथ तीनों स्टार अपने मार्केट रेट से आधी फीस पर मूवी में काम करने को तैयार हो गए थे। हालांकि, तीनों ने मूवी के लिए कितने पैसे लिए हैं, इसका अभी खुलासा नहीं हुआ है। - तीनों ने आधी फीस पर काम करने की बात इंडस्ट्री में लीक नहीं करने की शर्त भी रखी थी। - शाहिद, करीना और आलिया ने डायरेक्टर से कहा था - अगर फीस कटिंग की खबर लीक हुई तो हमारी बाकी फिल्मों के प्रोजेक्ट पर इसका असर पड़ सकता है। इससे हमें नुकसान होगा। <a href='http://bollywood.bhaskar.com/news-ht/ENT-BNE-udta-punjab-controversy-and-high-court-hearing-updates-5347820-PHO.html'>उड़ता पंजाब की पूरी कॉन्ट्रोवर्सी पढ़ने के लिए क्लिक करें...</a> आगे की स्लाइड्स पर पढ़ेंः कैसे एकता कपूर बनी इस बंद होती फिल्म की लकी चार्म, एकता कपूर ने मूवी के लिए किसे किया था राजी

  • 'उड़ता पंजाब' पर भड़के अनुराग- 'लगता है हम इंडिया नहीं नार्थ कोरिया में हैं'
    Last Updated: June 07 2016, 14:29 PM

    मुंबई। फिल्म उड़ता पंजाब; को लेकर चल रही कंट्रोवर्सी बढ़ती जा रही है। सेंसर बोर्ड द्वारा फिल्म के टाइटल में बदलाव किए जाने के मामले में प्रोड्यूसर अनुराग कश्यप ने इंडिया की तुलना तानाशाही शासन वाले देश नॉर्थ कोरिया से की है। अनुराग ने ट्वीट करते हुए कहा- मुझे हैरानी होती थी कि नार्थ कोरिया में रहने पर कैसा महसूस होगा। अब तो प्लेन पकड़ने की भी जरूरत नहीं है।; अनुराग ने अपने ट्वीट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी टैग किया है। बता दें कि सेंसर बोर्ड ने इस फिल्म में पंजाब शब्द को लेकर आपत्ति जताई है, जिसके बाद फिल्म में बदलाव हो सकता है। आखिर क्या है विवाद... - कश्यप के मुताबिक उड़ता पंजाब से ज्यादा ईमानदार और कोई फिल्म नहीं है और इसका विरोध करने वाला शख्स या पार्टी वास्तव में ड्रग्स को बढ़ावा देने के दोषी हैं।; - डायरेक्टर अभिषेक चौबे की फिल्म उड़ता पंजाब से फिल्म सर्टिफिकेशन ट्रिब्यूनल (एफसीएटी) ने पंजाब शब्द हटाने की सलाह दी है। - कुछ दिन पहले ट्रिब्यूनल ने फिल्म को सर्टिफिकेट दिए बिना वापस रेवीसिंग कमिटी के पास भेजा था और अब खबर है की फिल्म से पंजाब शब्द हटाने की सलाह फिल्म मेकर्स को दी गई है। - यही नहीं फिल्म से पंजाब में ड्रग्स रैकेट के रेफरेंस को फिल्म से हटाने की मांग की जा रही है। - एफसीएटी के मुताबिक़ फिल्म में कुछ ऐसे हिस्से हैं, जिससे पंजाब की इमेज पर गलत असर हो सकता है। - फ़िल्म में पंजाब में युवाओं के ड्रग्स की लत के मुद्दे को उठाया गया है। - उड़ता पंजाब; में शाहिद कपूर, करीना कपूर खान, आलिया भट्ट और दिलजीत दोसांझ मेन रोल में हैं। फिल्म 17 जून को रिलीज होगी। फिल्म को लेकर राजनीति क्यों... - पंजाब में अगले साल असेंबली इलेक्शन होना हैं। पंजाब में बीजेपी-अकाली दल की सरकार है। - कांग्रेस और आम आदमी पार्टी मिलकर सीएम प्रकाश सिंह बादल पर राज्य में बढ़ रहे ड्रग कारोबार को लेकर निशाना साधते रहे हैं। - ऐसे में सेंसर बोर्ड को डर है कि उड़ता पंजाब मूवी के जरिए राजनीतिक पार्टियां इलेक्शन कैम्पेन में फायदा उठा सकती हैं। - बोर्ड चीफ बीजेपी के करीबी बताए जाते हैं और मोदी सरकार की कामयाबी वाली शॉर्ट फिल्म बनाकर विवादों में आ चुके हैं। आगे की स्लाइड में, अनुराग व अशोक पंडित के ट्वीट और उड़ता पंजाब के फोटोज...

  • उड़ता पंजाब: बोर्ड के 13 सुझावों से लगेंगे 94 कट, मूवी में नहीं चाहता 8 शहरों के नाम
    Last Updated: June 09 2016, 16:15 PM

    मुंबई/दिल्ली. शाहिद-करीना-आलिया की अपकमिंग मूवी उड़ता पंजाब को लेकर बॉम्बे हाईकोर्ट में गुरुवार को सुनवाई होगी। सेंट्रल बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन ने बुधवार को कोर्ट को बताया कि उसने फिल्ममेकर्स को 13 सुझाव के साथ A सर्टिफिकेट देने का प्रपोजल दिया है। टॉमी और चिट्टा वे जैसे शब्द, 14 गालियां और पंजाब के आठ शहरों के नाम हटाने की बात कही गई है। अगर फिल्ममेकर्स इन सुझावों को मांनते हैं तो फिल्म में 94 कट्स लगेंगे। इससे पहले सेंसर बोर्ड चीफ पहलाज निहलानी ने मूवी के टाइटल और सब्जेक्ट से पंजाब का नाम हटाने और 94 कट्स के फैसले को वाजिब बताया था। क्या हुआ बुधवार को कोर्ट में... - फिल्ममेकर अनुराग कश्यप ने बॉम्बे हाईकोर्ट में सेंसर बोर्ड के खिलाफ अपील की है। इसी पर सुनवाई होनी है। - बुधवार को कोर्ट ने सुनवाई के दौरान बोर्ड को अपना पक्ष रखने को कहा। 13 सुझावों के साथ A सर्टिफिकेट के प्रपोजल पर फिल्ममेकर्स गुरुवार को जवाब देंगे। - इस बीच फिल्म की रिलीज डेट भी 17 जून से जुलाई शिफ्ट कर दी गई है। - इससे पहले, सेंसर बोर्ड के चेयरमैन पहलाज निहलानी और प्रोड्यूसर अनुराग कश्यप के बीच दिनभर आरोप-प्रत्यारोप का दौर चला। - अनुराग ने निहलानी पर आरोप लगाए और कहा- फिल्ममेकर्स को ही क्यों बार-बार ईमानदारी साबित करनी पड़ती है? - जवाब में निहलानी ने कहा- फिल्म में पंजाब के 70% लोगों को ड्रग्स लेते दिखाया गया है। फिल्म बनाने के लिए आम आदमी पार्टी ने पैसे दिए हैं। सीन काटने का फैसला पूरे पैनल का है। सिर्फ मेरा नहीं। सेंसर बोर्ड ने ये 13 सुझाव दिए... 1. मूवी की शुरुआत से पंजाब का साइन बोर्ड हटाएं। 2. पंजाब, जालंधर, चंडीगढ़, अमृतसर, तरनतारन, जशनपुरा, अंबेसर, लुधियाना और मोगा के बोर्ड और डायलॉग फिल्म में जहां भी हैं उन्हे हटाया जाए। 3. गाना नंबर 1 से चिट्टावे और ह## शब्द हटाया जाए। 4. गाना नंबर 2 से टॉ दी कॉक जेव्हे चिट्टी चिट्टी और कोक वर्ड हटाए जाएं। 5. गाना नंबर 3 से सरदार के खुजली करने वाला एक सीन आपत्तिजनक है। 6. 14 गालियों को हटाने का सजेशन दिया गया है। 7. इलेक्शन, एमपी, पार्टी, एमएलए, पंजाब ,पार्लियामेंट शब्द हटाए जाएं। 8. ड्रग्स के लिए इंजेक्शन लेते हुए क्लोजअप शॉट हटाने को कहा गया है। 9. भीड़ के सामने टॉमी सिंह के किरदार के यूरिन करने वाले सीन हटाने का सजेशन है। 10. जमीन बंजर ते औलाद कंजर, इस लाइन को हटाया जाए। 11. कुत्ते का नाम जैकी चैन नहीं होना चाहिए, इस डायलॉग को बदला जाए। 12. पहला डिस्क्लेमर ऑडियो/वीडियो में होना चाहिए और वह कुछ इस तरह से हो, मूवी ड्रग्स के बढ़ते असर और इसके खिलाफ चल रही लड़ाई को दिखाती है। हम मानते हैं कि इसके लिए सरकार और पुलिस कोशिशें कर रही हैं। मगर ये लड़ाई लोगों के सहयोग के बिना नहीं जीती जा सकती। 13. ऑडियो/वीडियो में दूसरा डिस्क्लेमर मूवी फिक्शन के बारे में होना चाहिए। निहलानी ने कहा, हां बिल्कुल, हूं मैं मोदी का चमचा - अकाली-भाजपा के दबाव में फिल्म में काट-छांट के आरोप के बाद देर शाम निहलानी से एक टीवी चैनल पर सवाल किया गया कि लोग आपको पीएम मोदी का चमचा कहने लगे हैं, क्या ये बात सही है। - निहलानी बोले- हां बिल्कुल, हूं मैं मोदी का चमचा। मुझे कोई आपत्ति नहीं है, क्योंकि एक आदमी काम अच्छा कर रहा है और मैं उसके लिए अच्छा कर रहा हूं। अपने पीएम का चमचा नहीं होऊंगा तो क्या इटली के पीएम का चमचा होऊंगा। - इससे पहले, सुबह उन्होंने अनुराग को जवाब देते हुए कहा था कि फिल्म में जितने कट्स लगाने को कहे गए हैं, उन्हें लगाकर आएं, सर्टिफिकेट मिल जाएगा। आप का आरोप, मोदी-बादल के कहने पर अटकाई फिल्म - आम आदमी पार्टी ने पहलाज निहलानी के इस आरोप को सिरे से खारिज कर दिया है कि फिल्म के प्रोड्यूसर अनुराग कश्यप के आप से रिश्ते हैं और इस फिल्म के लिए उन्हें पार्टी की तरफ से पैसे मिले हैं। - आप नेता आशीष खेतान ने बुधवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में आरोप लगाया- इस पूरे विवाद के पीछे मोदी और प्रकाश सिंह बादल हैं। - पहलाज निहलानी को मोदी और बादल ने कहा है कि इस फिल्म को रिलीज मत होने दो, क्योंकि ऐसा होने से ड्रग्स का मुद्दा सबके सामने जाएगा। जाहिर है, पंजाब चुनाव पर भी इसका असर पड़ेगा। ऐसे में, बादल हर हाल में फिल्म रुकवाना चाहते हैं। अमिताभ ने किया मूवी का बचाव - कॉन्ट्रोवर्सी पर अमिताभ ने भी अनुराग का बचाव किया। कहा- किसी भी फिल्म में कांट-छांट करने के बजाए फिल्म का प्रमाणन करना चाहिए। कलाकारों को रचनात्मकता की छूट होनी चाहिए। - इससे पहले, इंडियन फिल्म एंड टीवी डायरेक्टर्स एसोसिएशन ने फिल्म का सपोर्ट किया। प्रेस कॉन्फ्रेंस में महेश भट्ट, अनुराग कश्यप, सतीश कौशिक और जोया अख्तर के अलावा कई प्रमुख फिल्ममेकर्स मौजूद थे। - महेश भट्ट ने कहा, हमारा देश सऊदी अरब में तब्दील नहीं हो सकता, जहां समृद्धि तो बहुत ज्यादा है, लेकिन अभिव्यक्ति की आजादी नहीं है। आगे की स्लाइड्स में पढ़ें, मूवी पर क्यों उठाए सेंसर बोर्ड ने सवाल और इस साल उड़ता पंजाब समेत पांच मूवी पर विवाद...

  • उड़ता पंजाब कॉन्ट्रोवर्सी: कोर्ट ने कहा- सेंसर बोर्ड का काम सर्टिफिकेट देना है, सेंसर करना नहीं
    Last Updated: June 11 2016, 11:58 AM

    मुंबई । अनुराग कश्यप की फिल्म उड़ता पंजाब; मामले में चल रहे विवाद पर लगातार सुनवाई करते हुए बॉम्बे हाईकोर्ट ने शुक्रवार को केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड को जमकर फटकार लगाई। कोर्ट ने कहा कि बोर्ड का अधिकार सिर्फ फिल्मों को प्रदर्शन के लिए प्रमाणित करना है, उन्हें सेंसर करना नहीं। यह दर्शकों को तय करने दीजिए कि उन्हें क्या देखना है और क्या नहीं। मसले में हाईकोर्ट अपना फैसला सोमवार 13 जून को सुनाएगा। न्यायमूर्ति एससी धर्माधिकारी और न्यायमूर्ति शालिनी फणसालकर जोशी की खंडपीठ के समक्ष बुधवार से जारी विवाद की सुनवाई शुक्रवार को पूरी हुई। हाईकोर्ट ने कहा कि दर्शकों को तय करने दीजिए कि उन्हें क्या देखना है और क्या नहीं। हर व्यक्ति की अपनी पसंद होती है। पंजाब में बढ़ती नशाखोरी पर बनी इस फिल्म के करीब 89 सीन कट करने का निर्देश सेंसर बोर्ड ने फिल्म निर्माता को दिया था। इस वजह से बोर्ड अध्यक्ष पहलाज निहलानी और र्माता अनुराग कश्यप में ठन गई। मल्टीप्लेक्स के दर्शक काफी समझदार होते हैं सेंसर बोर्ड द्वारा कुछ अश्लील दृश्यों को आपत्तिजनक बताने पर कोर्ट ने कहा, आप क्यों परेशान हैं। मल्टीप्लेक्स के दर्शक वैसे भी काफी समझदार होते हैं। फिल्में सिर्फ ऐसे कंटेंट से नहीं चलतीं, उनमें कहानी होनी चाहिए। टीवी हो या सिनेमा, लोगों को इसे देखने दीजिए। सबकी अपनी पसंद है। सेंसर बोर्ड का काम सिर्फ सर्टिफिकेट देना है।; मनमाने तरीके से लगाए कट निर्माता के वकील ने कोर्ट से कहा, बोर्ड ने मनमाने ढंग से फिल्म में कट लगाए हैं। एक जगह चिट्टा; शब्द पर आपत्ति जताई, जबकि इसी शब्द से ट्रेलर को मंजूरी दे दी। कई शब्दों पर आपत्ति जताई, जबकि ऐसे ही शब्दों का इस्तेमाल देल्ही-बेल्ही, बैंडिट क्वीन, गैंग ऑफ वासेपुर में था। ये रिलीज हुईं।; ये है सेंसर बोर्ड की आपत्ति फिल्म के नाम से पंजाब शब्द हटाएं। जालंधर, चंडीगढ़, अमृतसर शहरों के नाम भी हटाएं। पहले व दूसरे गाने से गाली हटाएं। मां-बहन की गालियां हटाएं। चुनाव, एमपी, एमएलए, संसद शब्द हटाएं। तीसरे गाने से आपत्तिजनक सीन हटाएं। ड्रग्स लेने के क्लोजअप शॉट हटाएं। भीड़ के सामने हीरो के पेशाब करने का सीन हटाएं। बंजर जमीन; डायलॉग हटाएं। जैकी चेन के नाम पर कुत्ते का नाम हटाएं। ड्रग्स के खिलाफ सरकार की कोशिश को बताएं। कोर्ट ने भी दिया हवाला कोर्ट ने गो गोवा गॉन फिल्म का हवाला देते हुए सेंसर बोर्ड से कहा कि उस फिल्म में गोवा को ऐसी जगह के रूप में दिखाया गया है जहां लोग ड्रग्स लेने जाते हैं। फिर उड़ता पंजाब में पंजाब शब्द से दिक्कत क्या है? फिल्म ऐसी बनाएं कि लोग दो घंटे देख सकें। 1952 से अब तक क्या बोर्ड ने सभी को संतुष्ट किया है? सभी की नजरें फैसले पर सेंसर बोर्ड फिल्म के 89 सीन पर कट लगाने पर अड़ा है। इसका बॉलीवुड विरोध कर रहा है। निर्माता-निर्देशकों की संस्था उड़ता पंजाब; के समर्थन में है। अब सबकी नजरें हाईकोर्ट के फैसले पर टिकी हैं।

  • विवाद के बीच 1st स्क्रीनिंग: आलिया ने देखी 'उड़ता...', शाहिद-बेबो नहीं दिखे
    Last Updated: June 07 2016, 11:44 AM

    मुंबई.विवाद के बीच सोमवार को मुंबई में फिल्म उड़ता पंजाब की पहली स्पेशल स्क्रीनिंग रखी गई। इस दौरान फिल्म की एक्ट्रेस आलिया भट्ट, डायरेक्टर अभिषेक कपूर, प्रोड्यूसर अनुराग कश्यप, विक्रमादित्य मोटवाने, मधु मंतेना और उनकी पत्नी मसाबा गुप्ता स्पॉट हुए खास बात यह है कि फिल्म की बाकी कास्ट यानी शाहिद कपूर, करीना कपूर और दिलजीत दोसांझ इस दौरान नजर नहीं आए। थिएटर के अंदर आलिया ने की मस्ती, बाहर मीडिया से बात भी नहीं की... - स्क्रीनिंग की कुछ फोटोज सामने आई हैं, जिनमें आलिया को थिएटर के अंदर मस्ती के मूड में देखा जा सकता है। - दिलचस्प बात यह है कि जब वे बाहर निकलीं तो उन्होंने मीडिया के सवालों के जवाब भी नहीं दिए और कार में बैठकर रवाना हो गईं। -सिर्फ आलिया ही नहीं, फिल्म के डायरेक्टर अभिषेक कपूर भी इस दौरान कुछ नहीं बोले। अनुराग ने बैन कराने वालों को बताया करप्ट - प्रोड्यूसर अनुराग कश्यप ने जरूर मीडिया से बातचीत के दौरान फिल्म की जमकर तारीफ की। - उनके मुताबिक, उन्होंने कभी इतनी ईमानदार फिल्म नहीं देखी। उन्होंने इसे बैक फ्राइडे से भी ईमानदार फिल्म बताया। - अनुराग ने यह बात भी स्वीकार की कि इससे पहले उन्होंने खुद भी ऐसी फिल्म नहीं बनाई है। - इतना ही नहीं, इस दौरान वे फिल्म को बैन कराने की मांग करने वालों पर भड़के नजर भी आए। - उन्होंने कहा, जो लोग इस फिल्म के बैन की बात कर रहे हैं, वे पूरी तरह करप्ट लोग हैं। - बता दें कि फिल्म के नाम को लेकर विवाद चल रहा है। कहा जा रहा है कि इससे पंजाब को बदनाम किया जा रहा है। - फिल्म 17 जून को रिलीज होनी है। लेकिन अभी तक इसे लेकर सेंसर बोर्ड से उन्हें स्वीकृति नहीं मिली है। आगे की स्लाइड्स में देख सकते हैं स्क्रीनिंग में मौजूद सेलेब्स की फोटोज...

  • क्यों बैन नहीं होनी चाहिए #UdtaPunjab
    Last Updated: June 10 2016, 16:04 PM

    जब Udta Punjab का ट्रेलर रिलीज़ हुआ तो उसने लगभग सभी डिजिटल प्लैटफॉर्म्स पर लोगों को खूब ध्यान खींचा और बढ़ी हुई एक्साइटमेंट के साथ लोग बेसब्री से फिल्म का इंतज़ार करने लगे. जहां एक तरफ लोगों ने कैलेंडर पर फिल्म की रिलीज़ डेट को मार्क कर लिया, वहीं दूसरी तरफ संस्कारी सेंसर बोर्ड के चीफ Pahlaj Nihalani ने ठीक फिल्म की रिलीज़ से पहले अपनी संस्कारी कैंची चलाते हुए इसमें लगभग 90 बेतुके कट लगा दिए. जहां Nihalani अपने फैसले पर डटे हुए हैं, वहीं फिल्म इंडस्ट्री ने भी एक साथ आते हुए मामले को कोर्ट में ले गए हैं. जहां फिल्म की रिलीज़ को लेकर बहस और विवाद अभी भी जारी है, हम आपको बताते हैं 5 ऐसी बातें जिनपर किसी का ध्यान नहीं गया और जो इस फिल्म को बनाती हैं और भी ज़्यादा पर्फेक्ट. 1. Shahid का हेयरस्टाइल - Haider; में अपने हटके लुक और हटके ऐक्टिंग से लोगों को हिला देने वाले, Shahid Kapoor इस फिल्म में अपने ड्रग ऐडिक्ट रॉकस्टार के किरदार में धमाकेदार लग रहे हैं. इनके लंबे बालों और सेक्सी बॉडी को देखते हुए हम कह सकते हैं कि ये अब तक का इनका सबसे बेहतरीन लुक है और ये अपने स लुक के साथ कई ट्रेंड बनाने वाले हैं. जहां शूट के दौरान वो मैनबन में दिखे थे, वहीं फिल्म के विज़ुअल्स में ये नज़र आ रहे हैं लंबे खुले बालों में. और हमें लग रहा है कि ये जल्द ही क बड़ा ट्रेंड बन जाएगा. आगे स्वाइप कर के देखिए क्या है जो बनाता है इस फिल्म को पर्फेक्ट...

  • जब इन 4 फिल्मों से Mr. Kashyap ने किए ऑडियंस पर अत्याचार !
    Last Updated: June 09 2016, 11:53 AM

    मुंबई: फिल्म उड़ता पंजाब को लेकर चल रही कॉन्ट्रोवर्सी बढ़ती जा रही है। सेंसर बोर्ड द्वारा फिल्म के टाइटल में बदलाव किए जाने के मामले में प्रोड्यूसर <a href='http://m.bhaskar.com/news/ENT-BNE-udta-punjab-controversy-anurag-compares-india-with-north-korea-5343253-PHO.html'>अनुराग कश्यप</a> ने इंडिया की तुलना तानाशाही शासन वाले देश नॉर्थ कोरिया से कर दी थी। सेंसर बोर्ड के खिलाफ अनुराग कश्यप की लड़ाई काफी पुरानी है। लगभग उनकी सभी फिल्मों पर सेंसर की केंची चलाई गई। वैसे, उड़ता पंजाब को लेकर हो रहे विरोध में उनका सभी सपोर्ट कर रहे हैं। लेकिन गैंग्स ऑफ वासेपुर, ब्लैक फ्राइडे जैसे फिल्मों को छोड़, यदि उनकी कुछ पिछली फिल्मों पर नजर डालें तो कहना गलत नहीं होगा कि इनके जरिए मिस्टर कश्यप आपने ऑडियंस पर खूब अत्याचार किए हैं। पहला अत्याचार: बॉम्बे वेलवेट अनुराग के फिल्मी अत्याचारों की शुरूआत उनकी सबसे मंहगी फिल्म बॉम्बे वेलवेट के साथ। फिल्म में रणबीर कपूर और अनुष्का शर्मा लीड रोल में थे। 60 के दशक के स्ट्रीट फाइटल बलराज साहनी की कहानी पर बेस्ड इस फिल्म में देखने लायक कुछ भी नहीं था। लोकेशन्स, ड्रेस, म्यूजिक और बैकग्राउंड को परफेक्ट बनाने में अनुराग ने इतनी मेहनत कर दी कि वे फिल्म की कहानी पर काम करना भूल गए। नतीजा यह रहा कि बॉम्बे वेलवेट 2015 की घाटे में रहने वाले नंबर वन फिल्म बनी। आगे की स्लाइड्स पर पढ़ें, अनुराग कश्यप की कुछ ऐसी ही फिल्मों के बारे में...

  • Bollywood Bulletin: रणबीर के हाथ से निकला ऐड, वरुण ने किया रिप्लेस
    Last Updated: June 15 2016, 13:57 PM

    नई दिल्ली/भोपाल। dainikbhaskar.com पर लॉगऑन कर आप हर दिन दो मिनट का वीडियो बॉलीवुड बुलेटिन देख सकते हैं। दिनभर के ताजा अपडेट्स आप इस वीडियो में देख पाएंगे। यह बॉलीवुड वीडियो बुलेटिन फिल्म इंडस्ट्री की हर बड़ी हैपनिंग, मूवी प्रीमियर, मूवी रिलीज, मूवी रिव्यू, बॉक्स ऑफिस से जुड़ी ट्रेड एनालिस्ट्स की रिपोर्ट्स, स्टार इंटरव्यू और बॉलीवुड पार्टीज़ के बारे में आपको अपडेट देगा। 2 मिनट का यह बुलेटिन आपको बी-टाउन से जुड़े टॉप गॉसिप्स और कॉन्ट्रोवर्सीज के बारे में भी बताएगा। दिन में 3 बार जानिए अभी; न्यूज बुलेटिन बड़ी खबरों के वीडियो भी आप dainikbhaskar.com पर जानिए अभी न्यूज बुलेटिन के जरिए देख सकते हैं। भास्कर समूह ने अपनी हिंदी न्यूज वेबसाइट पर 17 जुलाई से यह वीडियो न्यूज बुलेटिन शुरू किया था। इसे लोगों का अच्छा रिस्पॉन्स मिला है। सुबह 10 बजे, दोपहर 4 बजे और रात 8 बजे के लिए शुरू किए गए इस न्यूज बुलेटिन को लगभग 3 लाख लोग रोजाना देख रहे हैं।

  • अब करनाल में बन सकेंगे पासपोर्ट, CM ने किया पासपोर्ट अॉफिस का उद्घाटन
    Last Updated: March 26 2017, 11:49 AM

    करनाल। अब करनाल में भी पासपोर्ट बनवाए जा सकेंगे। करनाल को रीजनल ऑफिस के लिए चुना गया है और डाक विभाग में ही रीजनल पासपोर्ट ऑफिस तैयार कर दिया है। इस अॉफिस का उद्घाटन शनिवार को सीएम मनोहर लाल खट्टर ने किया। यहां करनाल, पानीपत और जींद जिले के निवासी पासपोर्ट बनवा सकेंगे। पहले जाना पड़ता था अम्बाला... - इससे पहले अम्बाला रीजनल ऑफिस में युवाओं को चक्कर लगाने पड़ते थे। वहां जिले से भी पासपोर्ट बनवाने वालों की लंबी लाइन लगती थी। करनाल में होगी पूरी वेरिफिकेशन - करनाल डाकघर के प्रवर अधीक्षक प्रवीन कुमार सारस्वत ने बताया कि करनाल ऑफिस में दस्तावेजों की चेकिंग होने के साथ पूरी कागजी प्रक्रिया होने पर चंडीगढ़ भेजे जाएंगे। पासपोर्ट की पूरी वेरिफिकेशन करनाल में होगी और गारंटेड अथॉरिटी चंडीगढ़ ही रहेगी। - चंडीगढ़ से पासपोर्ट बनाकर आवेदक के पास भेज दिया जाएगा। कुछ दिनों के बाद करनाल में ही पासपोर्ट बनाए जाने की उम्मीद है। पहले दिन 25 लोगों के आवेदन हुए स्वीकार - पहले दिन पासपोर्ट बनवाने के लिए 25 लोगों के आवेदन स्वीकार किए गए। यहां प्रतिदिन 50 पासपोर्ट बनाए जाएंगे। - इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि संचार क्रांति की वजह से दुनिया एक गांव का रूप ले चुकी है और लोगों का विदेशों में आवागमन भी दिन-प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। ऐसे में पासपोर्ट बनवाना लोगों के लिए पहली आवश्यकता है। इसे ही ध्यान में रखते हुए भारत सरकार द्वारा देश के 450 जिलों में डाकघर पासपोर्ट सेवा केन्द्र खुलवाए जा रहे हैं। ये होगी पासपोर्ट प्रक्रिया - पासपोर्ट बनवाने के लिए सबसे पहले आप वेबसाइट पर अपनी डिटेल देकर पासपोर्ट बनवा सकते हैं। इसके लिए सबसे पहले www.passportindia.gov.in पर लॉग इन करके अपना फार्म भरें। - इसके बाद आपको पासपोर्ट कार्यालय से आगे की कार्रवाई के लिए समय लेना होगा। इसके लिए आप वेबसाइट पर अपना अप्वाइंटमेंट फिक्स कर लें। - पासपोर्ट बनवाने के लिए आने से पहले आवश्यक दस्तावेजों को जरूर देख लें। इसके बाद अपने जरूरी दस्तावेज के साथ तय समय पर पासपोर्ट कार्यालय में संपर्क करें। - यहां आपको अपने दस्तावेजों की फोटोकॉपी और मूल प्रति ले जानी होगी। इनमें आपका जन्म प्रमाण-पत्र, एड्रेस प्रूफ, फोटो आईडी और मार्कशीट शामिल हैं। पासपोर्ट ऑफिस में आपको ये दस्तावेज जमा कराने होंगे। - इसके बाद आपको पासपोर्ट कार्यालय में अप्वाइंटमेंट लेना होगा। फिर दस्तावेज जमा कराने होंगे। इसके बाद सीमित समय में आपका स्थानीय पुलिस थाना आपकी डिटेल की वेरिफिकेशन करेगा और अपनी रिपोर्ट आगे भेजेगा। - वेरिफिकेशन के बाद 10 से 20 दिनों में आपका पासपोर्ट स्पीड सेवा के द्वारा घर जाएगा। करनाल:अगर आप भी पासपोर्ट बनवाना चाहते हैं तो आपको इसके लिए ज्यादा दूर नहीं जाना पड़ेगा और न ही भागदौड़ करनी पड़ेगी। जी हां, ये सुविधा अब करनाल शहर के मुख्य डाकघर में ही उपलब्ध होगी। हरियाणा सरकार ने बजट में की गई घोषणा को अमलीजामा पहनाते हुए शनिवार को शहर के प्रधान डाकघर से पासपोर्ट बनाने की सुविधा का शुभारंभ कर दिया। हिसार और फरीदाबाद में भी इस सुविधा का आगाज होने वाला है। आगे की स्लाइड्स में देखें अन्य फोटो...

  • शादी करने से पहले लड़के-लड़कियां जान लें ये 10 सबसे जरूरी बातें
    Last Updated: February 18 2017, 18:11 PM

    यूटिलिटी डेस्क। जब भी लड़कियों की शादी की बात आती है तो हर पेरेंट्स को एक ही सवाल परेशान करता है कि उनका जीवनसाथी उन्हें खुश रख पाएगा या नहीं। भोपाल के एडवोकेट खालिद हफीज कहते हैं कि इसी डर काे दूर करने के लिए हिंदू मैरिज एक्ट है। इसमें लड़कियों के पक्ष में कई महत्वपूर्ण प्रावधान दिए गए हैं, ताकि उनका पक्ष बुरे हालातों में भी सुरक्षित रह सके। <a href='http://dainikbhaskar.com/'>dainikbhaskar.com</a> आपको बताने जा रहा है कुछ ऐसी ही इम्पॉर्टेंट बातें। शादी से पहले मैरिज लॉ की जानकारी हेल्पफुल हो सकती है। जानने के लिए पढ़ें अगली स्लाइड्स... Must Read <a href='http://www.bhaskar.com/news/NAT-NAB-mukesh-ambani-money-mantra-news-hindi-5361167-NOR.html'>अमीर बनना चाहते हैं तो फॉलो करें मुकेश अंबानी के 10 Money Mantra</a> <a href='http://www.bhaskar.com/news/NAT-UTI-why-cabin-crew-keep-their-arms-behind-back-news-hindi-5441014-PHO.html'>DO YOU KNOW: फ्लाइट अटेंडेंट अपने हाथ पीछे क्यों रखते हैं?</a> <a href='http://www.bhaskar.com/news/NAT-UTI-how-to-identify-adulterated-milk-at-home-news-hindi-5438558-PHO.html'>आपके घर में आने वाला दूध कहीं नकली तो नहीं? खुद करें चेक</a>

Flicker