Home »Madhya Pradesh »Indore »News » Anubha Sharma Writer Poetry Indore Ashish Sharma

रोमांस को दिए नए आयाम और इसी रच दिया लिम्का बुक में इतिहास

bhaskar news | Sep 13, 2013, 00:05 AM IST

इंदौर।'कौन देता है नैपथ्य से शब्द भावनाओं को/ मुझे नहीं मालूम कौन?/ कौन, शब्दों को जामा पहनाता है- कौन? / हां मैं केवल इतना जानती हूं कि, दिन हो या रात, कुछ लम्हे मेरी लेखनी के नाम हैं/ और कुछ... मेरी आंखों के।'

ये पंक्तियां शहर की रचनाकार अनुभा शर्मा की हैं जो 25 साल से रोज एक कविता रच रही हैं। उनका नाम लिम्का बुक ऑफ रिकॉड्र्स में तीन बार दर्ज हो चुका है। हाल ही में रिलीज़ हुई लिम्का-2013 में तीसरी बार नाम दर्ज करा चुकीं अनुभा टैरो कार्ड रीडर और योगविद् भी हैं। 1989 से उन्होंने हर दिन एक कविता लिखने की शुरुआत की थी। अब तक वे हिंदी और अंग्रेज़ी में नौ हजार से भी ज्यादा कविताएं लिख चुकी हैं।

आगे की स्लाइड पर क्लिक कर पढ़ें कैसे दर्ज किया तीन बार लिम्का बुक में नाम-

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: anubha sharma writer poetry indore ashish sharma
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

    Trending Now

    Top