Home »Abhivyakti »Best Speech » How To Live Life

जेल ने सिखाया जीवन जीने का तरीका

Bhaskar News | Dec 11, 2012, 23:18 PM IST

स्पीकर- जेफ स्मिथ
प्रोफाइल : प्रोफेसर, लेखक, राजनीतिक टिप्पणीकार और वकील।
TED पर अब तक 124,664 लोग सुन चुके हैं।
मैं चुनाव संबंधी कानून तोड़ने के लिए एक साल जेल में रहा। मेरे साथ बीजे भी जेल में था। उसकी भविष्य को लेकर एक योजना थी। जब वह जेल से बाहर आया, उसने महिलाओं की एक वेबसाइट लॉन्च की। आज वह वेबसाइट हिट है।
मैंने संघीय जेल में पहले हफ्ते में सीखा कि जो आप टीवी पर देखते हैं। असल में जेल वैसी नहीं होती।
वहां कुछ ऐसे कैदियों को देखा जिनकी सोच किसी कंपनी के सीईओ से कम नहीं थी। मेरे साथ जेल में बंद 95 फीसदी कैदी जघन्य मामलों में लिप्त थे। पर वे व्यवसाय संबंधी जो कॉन्सेप्ट बताते थे, जैसे कि वॉर्टन यूनिवर्सिटी मेंएमबीए करने वाले प्रथम वर्ष के स्टूडेंट करते हैं।
जेल के अंदर वे अपने अच्छे दिनों की बात भी नहीं कर पाते। ज्यादातर समय वे अपने अस्तित्व को बचाने में लगे रहते हैं। इसके लिए उन्हें ढेर सारे पैसे खर्च करने पड़ते हैं। वे छोटी-छोटी वस्तुओं के लिए पैसे देते हैं। इसके लिए उन्हें काम करना पड़ता है। मुझे ट्रक खाली करने का काम मिला था। इस काम के लिए मुझे 275 रुपए प्रतिमाह मिलते थे। इतने रुपयों में जेल में जीना बेहद कठिन है, जहां सारी सुविधाओं के लिए पैसे खर्चने पड़ते हैं। इतने कम पैसों में जीवन जीने के लिए वे जेल में व्यवसाय चलाते। कोई अपने साथी पर टैटू बनाता तो उन पर नई हेयर स्टाइल आजमाता। इसके बदले उन्हें मिलते स्टैंप्स। यह स्टैंप्स ही जेल की करेंसी होती है।
जेल के अंदर लोग कम संसाधनों में अच्छा जीवन जीने का तरीका सीख जाते हैं। मेरे लिए एक बड़ी सीख रही कि वे इस दौरान कैसे अपनी व्यावसायिक योजनाओं को अमल में लाते हैं। हालांकि बाहर आने के बाद उन्हें कोई अच्छी नौकरी या व्यवसाय करने का मौका नहीं मिल पाता। ज्यादातर कानून ऐसे हैं कि उन्हें दिक्कत आती है।
मैंने अपनी जिदंगी का एक साल जेल में खराब कर दिया। पर जब मैं बाहर आया तो सोचा कि जिन लोगों के साथ मैं जेल में समय बिता चुका हूं, उनका समय दोबारा इस तरह से खराब न हो। इसलिए लोगों को जेल से बाहर आए कैदियों के साथ अच्छा व्यवहार करना चाहिए। उन्हें समाज में आगे बढ़ने का मौका देना चाहिए। तभी वे नई व्यावसायिक योजनाओं को असल जिंदगी में क्रियान्वित कर सकेंगे।
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: how to live life
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Best Speech

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top