Home »Abhivyakti »Jeene Ki Rah» Jeene Ki Rah By Pandit Vijayshankar Mehta

देवस्थान में नि:स्वार्थ भाव की गूंज सुनें

पं. विजयशंकर मेहता | Mar 16, 2017, 07:05 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
देवस्थान में नि:स्वार्थ भाव की गूंज सुनें
आजकल तो लोग बिना हिसाब-किताब के कोई काम करते ही नहीं। मैं इतना करूंगा तो मुझे कितना मिलेगा, यह मनुष्य की सोच बन गई है। हिसाब-किताब और लेन-देन की इस मानसिकता के साथ जब जीवन जीना मजबूरी हो गया है तो क्यों न इसका एक प्रयोग मंदिर में भी कर लें। मंदिरों में जो भीड़ देखी जाती है उसमें ज्यादातर तो सौदागरों की ही होती है।
श्रद्धा और भरोसा लेन-देन की वस्तुएं हो गइ हैं। हमने यह दिया है और इतना मिल जाए ऐसी बात भगवान से करने में सभी माहिर हैं। भले ही मामला स्वार्थ का हो पर भगवान से बातचीत तो की जा रही है और यह कला इंसान सीख चुका है। तो क्यों न एक प्रयोग किया जाए। देवस्थानों की विशेषता होती है वहां एक अनुगूंज सदैव चलती रहती है। वहां से गुजरने वाले हजारों-लाखों लोगों में से कुछ अपनी श्रद्धा छोड़कर जाते हैं, जिसकी गूंज वहां टिक जाती है।
सौदेबाजों के लाख शोर के बाद भी वह शून्य बना रहता है। किसी दिन शांति से बैठकर वह गूंज सुनिए। न उसके कोई शब्द हैं, न अर्थ। लेकिन महसूस होगा कि वह गूंज कह रही है- अच्छा हुआ तुम आ गए। पहली बार ऐसा लग रहा है कि यहां कोई सौदा करने नहीं आया है। नि:स्वार्थ भाव से बैठे हो। धीरे-धीरे यह गूंज महसूस कराने लगेगी कि आप वे नहीं हैं, जो रोज यहां आकर कुछ मांगते हैं, सौदेबाजी करते हैं। बल्कि आप कुछ और हैं। जैसे ही यह अहसास होगा, पहली निकटता परमात्मा की मिल जाएगी। मंदिर आने का कारण भी यही होता है। पर चूंकि दुनिया हमारे ऊपर हावी है इसलिए हम मूल कारण को भूल, दुनिया के दंद-फंद के साथ खड़े हो जाते हैं वहां। जब भी शांति से बैठकर यह प्रयोग करेंगे, पता लगेगा आज सचमुच वह मकसद पूरा हुआ जिसके लिए देवस्थान बनाए गए हैं।
पं. विजयशंकर मेहता
humarehanuman@gmail.com
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: jeene ki rah by pandit vijayshankar mehta
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From Jeene Ki Rah

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top