Home »Bihar »Bihar Rajya Vishesh » Police And Army Personnel In Every House Of Bhagalpur

चर्चा में है बिहार का ये गांव, कभी यहां आने की हिम्मत नहीं जुटा पाती थी पुलिस

मदन | Jan 09, 2017, 06:42 IST

भागलपुर के कोइली और खुटहा गांव की चर्चा कभी गैंगवार व आपराधिक घटनाओं को लेकर ही होती थी।

कोइली-खुटहा (भागलपुर).भागलपुर के कोइली और खुटहा गांव की चर्चा कभी गैंगवार व आपराधिक घटनाओं को लेकर ही होती थी। इन दोनों गांवों की दहशत पूरे इलाके में थी। स्टॉपेज नहीं होने के बावजूद ट्रेन तब तक रुकी रहती थी, जब तक यहां के लोग इत्मीनान से ट्रेन में सवार नहीं हो जाते थे। पुलिस भी गांव में घुसने का साहस नहीं जुटा पाती थी। अब बदल चुकी है यहां की तस्वीर...
- नई पीढ़ी के बच्चे अच्छे स्कूलों में पढ़ रहे हैं। पुरानी बातों को गांव वाले याद भी नहीं करना चाहते।
- तमाम असुविधाओं और जद्दोजहद के बीच सकारात्मक ऊर्जा से ये गांव बदल रहे हैं।
- इन गांवों में बहुत कुछ ऐसा है, जो अब सीखने और सिखाने की मिसाल है।
पेड़ और बांस-बल्ले से ही युवाओं ने व्यायामशाला बना ली, गाड़ रहे सफलता के झंडे
- भागलपुर शहर से महज आठ किलोमीटर दूर है कोइली-खुटाहा गांव। करीब ढाई दशक पहले गांव में केवल बम, बारूद और राइफल की चर्चा हर जुबान पर होती थी।
- लेकिन आज कोई उन दिनों को याद भी नहीं करना चाहता है। अब वहां विकास की बात हो रही है। आज हर घर में सेना और पुलिस के जवान हैं।
- बच्चों को अच्छे स्कूलों में पढ़ा रहे हैं। गांव के युवा इंजीनियर-डॉक्टर तो बन ही रहे हैं साथ ही बैंक पीओ से लेकर आईएएस तक की तैयारी करने में जुट गए हैं।

10000 है इन गांवों की आबादी, 1000 से ज्यादा सेना व पुलिस में

- इन दोनों गांवों की आबादी करीब 10 हजार है। यहां के 1000 से ज्यादा निवासी सेना व पुलिस में तैनात है। दोनों गांव अपराध के लिए तो शुरू से कुख्यात था।
- पर 1991 में एक ऐसी घटना घटी जिसकी चर्चा पूरे प्रदेश में हुई थी। उस वक्त कोइली गांव में बिजली लगनी थी। गांव में पोल गिराए गए थे।
- लेकिन खुटाहा के कुछ लोगों ने रातोंरात इसे अपने गांव में गड़वा लिए। इसके बाद दोनों गांवों में खूनी संघर्ष हुआ था।
आगे की स्लाइड्स में पढ़ें गैंगवार के कारण 1991 में सुर्खियों में आए थे ये दोनों गांव...
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: Police and army personnel in every house of Bhagalpur
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From Bihar Rajya Vishesh

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top