Home »Bihar »Patna» Indian Classical Literature Sex Education Or Kama Sutra Vatsyayana Facts

कामसूत्र: निकट संबंधियों से न करें सेक्स, कैसे वेश्याएं करती थीं ग्राहकों को खुश, जानें!

Manoj Kumar Jha | Mar 10, 2013, 11:41 IST

  • kamasutra
    वात्स्यायन के विश्वप्रसिद्ध ग्रंथ 'कामसूत्र' में सेक्स के साथ ही साथ तत्कालीन समाज और संस्कृति पर भी प्रकाश डाला गया है। उन्होंने उस समय सेक्स संबंधी प्रचलित नैतिकता और सौन्दर्यबोध के संबंध में भी बताया है। इस भाग में हम आपको इस ग्रंथ में उल्लेखित कुछ खास बातें संक्षेप में प्रस्तुत कर रहे हैं।
    इससे पहले हमने कामसूत्र से जुड़ी कुछ बेहद दिलचस्प और जानकारीपरक बातें बताई थी। अब हम आपको बताएंगे कि सेक्स के संबंध में वात्स्यायन की नैतिक अवधारणा क्या थी। साथ ही, इससे यह भी पता चलता है कि तत्कालीन समाज में किस तरह के सेक्स व्यवहार प्रचलित थे।
    आगे की स्लाइड्स में जानें और तस्वीरों में देखें, कैसे वेश्याएं करती हैं अपने ग्राहकों को खुश, साथ में क्यों अपने निकट संबंधियों की महिलाओं के साथ क्यों सेक्स संबंध नहीं बनाना चाहिए।
    ये भी पढ़ें,

    PICS: 'भिखारी' के आंगन में ताकत का अहसास कराती है ये महिला डीआईजी!

    बिहार में नक्सलियों से कुछ यूं लोहा लेती हैं पंजाब की ये महिला एसपी, देखें तस्वीरें!

    हैदराबाद की इस पुलिस अधिकारी से थर्राते हैं अपराधी, जानिए इनसे जुड़ी खास बातें!

  • kamasutra
    वेश्याओं पर एक अलग ही अध्याय है, जिसमें विस्तार से बताया गया है कि किस तरह ग्राहक को संतुष्ट करना चाहिए और कैसे अधिक से अधिक रकम ऐंठने की कोशिश करनी चाहिए। वात्स्यायन कहते हैं कि वेश्या बाजार में बिक्री के लिए रखे हुए सौदे के समान है।
  • kamasutra
    वात्स्यायन विस्तार से बताते हैं कि राजाओं के अंत:पुरों में रहने वाली रानियों के किस तरह गोपनीय तरीके से अपने प्रेमियों को बुलाना चाहिए अथवा कृत्रिम साधनों से अपनी काम वासना शांत करनी चाहिए। पर नारियों के हासिल करने के कई तरीके बताए गए हैं, पर यह भी कहा गया है पर नारियों विशेषत: विवाहिता स्त्रियों से संभोग की चेष्टा नहीं करनी चाहिए। ऐसा करने से पुरुष चाहे जितने भी अधिकार संपन्न एवं वैभवशाली हों, पथभ्रष्ट हो विनाश के मार्ग पर चल पड़ते हैं।
  • kamasutra
    वात्स्यायन ने कहा है कि दूसरों की पत्नियों साथ संभोग करना धर्म विरुद्ध आचरण है। उन बालिकाओं के साथ संभोग करना कुलीन पुरुषों का अभीष्ट होता है जिनका कौमार्य अभी भंग नहीं हुआ हो। अपने प्रभाव से ऐसे पुरुष अक्षत योनि बालिकाओं को प्राप्त करने में सफल हो जाते हैं।
  • kamasutra
    वात्स्यायन ने लिखा है कि मित्र, अनुज एवं निकट संबंधियों की पत्नियों से संभोग की इच्छा नहीं करनी चाहिए। पत्नी की छोटी बहनों से पुरुष प्राय: संभोग करने की चेष्टा करते हैं और इसमें सफल भी होते हैं, पर पत्नी की बड़ी बहनों पर कामुक दृष्टि रखना धर्मविरुद्ध माना गया है।
  • kamasutra
    कामसूत्र में कौटंबिक व्यभिचार (incest) का भी उल्लेख है। लिखा गया है कि विदर्भ प्रांत के राजपरिवार की नारियां अपने सौतेले पुत्रों से संभोग करती हैं। स्त्रीपुरी नामक राज्य की स्त्रियों के बारे में उल्लेख है कि वे पीहर यानी मायके के लोगों से शारीरिक संबंध रखती हैं। ग्रंथ में पत्नियों की रक्षा के उपायों पर भी प्रकाश डाला गया है।
  • kamasutra
    ग्रंथ के सातवें भाग में सौंदर्य बढ़ाने, वशीकरण, मैथुन शक्ति बढ़ाने वाले नुस्खे, नष्ट काम शक्ति को पुन: प्राप्त के उपाय एवं तरह-तरह के कृत्रिम लिंग और उन्हें बनाने के तरीके बताए गए हैं। लिंग बड़ा करने के विचित्र उपायों और अनोखी औषधियों का वर्णन भी मिलता है।
  • kamasutra
    महर्षि वात्स्यायन के कुछ विशिष्ट कथन
    'वासना पर किसी का अधिकार नहीं होता।'
    'रति संभोग आरंभ होने पर राग ही सब क्रियाओं के आरंभ का कारण होता है।'
    'नारियां फूल के समान कोमल होती हैं।'
    'यंत्रयोग अर्थात शिश्न और योनि का संयोग।'
    'जो पुरुष अत्यंत लज्जावती जान कर कन्या की उपेक्षा करता है, वह कन्या की इच्छा नहीं समझ सकता। कन्याएं ऐसे लोगों को पशु समझ कर उनका तिरस्कार करती हैं।'
    'संसार में अर्थ की ही प्रधानता है।'
  • kamasutra

    इस अद्भुत ग्रंथ का अनुवाद पहले फारसी और फिर अरबी में हुआ। सन् 1845-46 में सर रिचर्ड बर्टन ने मूल संस्कृत से अनुवाद किया जो आज भी सबसे प्रामाणिक माना जाता है। भारतीय विद्वान एस.सी.उपाध्याय ने भी कामसूत्र का अंग्रेजी में अनुवाद किया जो तारापुरवाला संस एंड कंपनी, बंबई से छपा। अब तो दुनिया की कई भाषाओं में यह ग्रंथ उपलब्ध है। इसे विडंबना ही कहेंगे कि हिंदी में इस ग्रंथ का संपूर्ण प्रामाणिक अनुवाद उपलब्ध नहीं है, न ही इस पर विशेष शोध कार्य हुए। इस ग्रंथ के बारे में जितना भी लिखा जाए, कम ही होगा।

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: Indian classical literature sex education or kama sutra vatsyayana facts
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Patna

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top