Home »Bihar »Patna» Facts About Lalu Prasad Yadav S Parivartan Rally

आखिर क्यों इकट्ठी होती है लालू की सभा में इतनी भयानक भीड़, जानें सच!

अजय कुमार | Dec 05, 2012, 00:02 IST

  • पटना। लालू प्रसाद के कैंप में खुशी है। इसकी वजह यह नहीं है कि उन्हें बिहार में फिर से राज करने की कोई तारीख मुकर्रर हुई है। यह खुशी लालू प्रसाद की सभाओं में हो रही भीड़ लेकर आयी है। राजद कैंप को लग रहा है कि भीड़ का जुटना नीतीश सरकार के खिलाफ गुस्से का इजहार है।

    राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद की यात्रा इस साल 12 जून से बेतिया से शुरू हुई थी। अब तक उनकी 27 जिलों में सभाएं हो चुकी हैं। पार्टी का कहना है कि यात्रा का कोई नाम नहीं दिया गया था। लेकिन जनता ने नाम दे दिया: परिवर्तन यात्रा। इसका मतलब यह है कि आम लोग नीतीश राज ये परेशान हैं। उसकी अभिव्यक्ति लालू प्रसाद की सभाओं में दिख रही है। आईए देखते हैं इस भीड़ को लेकर राजनैतिक दलों का क्या कहना है:

  • बदलाव की चाहत: राजद

    राजद के प्रवक्ता रंधीर यादव का कहना है कि राज्य के लोग इस सरकार से निराश हैं। भ्रष्टाचार नीचे तक स्थापित हो गया है। हर आदमी इससे परेशान है। पुलिस जुल्म काफी बढ़ गया है। नियोजित शिक्षक हों या आशा कार्यकर्ता, सभी तबका निराश है और गुस्से में है। लालू प्रसाद की सभाओं में हो रही भीड़ का मतलब यही है कि लोगों में उनके प्रति भरोसा पैदा हुआ है। लोगों को लग रहा है कि लालू प्रसाद में ही बिहार को चलाने का दम है।

  • नौटंकी देखने आते हैं लोग: जदयू

    जदयू नेता निहोरा प्रसाद यादव का कहना है कि ग्रामीण इलाकों में लोग नौटंकी देखना खूब पसंद करते हैं। लालू प्रसाद की सभाओं में हो रही भीड़ नौटंकी वाली है। इसका आशय यह नहीं है कि यह सरकार के खिलाफ है। लालू प्रसाद को बिहार भुगत चुका है। अब और नहीं वाली मानसिकता लोगों में बनी हुई है। वह तो अपने परिवार तक सोचते हैं जबकि नीतीश कुमार बिहार को छोड़कर किसी चीज के बारे में नहीं सोचते। दोनों में बुनियादी अंतर यही है।

  • भ्रम में रहें लालू प्रसाद: भाजपा

    भाजपा प्रवक्ता संजय मयूख का कहना है कि लोग लालू प्रसाद को सुनने इसलिए आ रहे हैं कि वे हंसना चाहते हैं। लोगों को हंसाने की कला राजद अध्यक्ष को आती है। यह कतई नहीं स्वीकारा जा सकता है कि सरकार के विरोध में लोग लालू प्रसाद को सुनने के लिए पहुंच रहे हैं। अगर ऐसा ही होता तो पिछले लोकसभा या विधानसभा चुनावों के नतीजे ऐसे नहीं होते। उन चुनावों में लोग आते थे। पर सीटें कहां मिली? ( अपने रथयात्रा के दौरान आडवाणी )

  • लालू का आधार घटा है: माले

    भाकपा माले के नेता संतोष सहर कहते हैं कि लालू प्रसाद के जनाधार में बढ़ोतरी नहीं हुई है। सच तो यह है कि उनके आधार में क्षरण ही हुआ है। गरीब और वंचित लोग माले समेत अन्य वाम दलों के साथ हैं। हमारे आंदोलनों से नीतीश कुमार के खिलाफ जो माहौल बना है, लालू प्रसाद उसे हाईजैक करना चाहते हैं। लेकिन इसमें भी वह कामयाब नहीं होने वाले। वह कांग्रेस के साथ हैं और कांग्रेस के खिलाफ ऐसे ही लोगों में विक्षोभ बना हुआ है।

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: Facts about Lalu prasad yadav s Parivartan rally
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Patna

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top