Home »Bihar »Patna» Twenty One People Dead With Poisoning Wine In Ara Bihar

तस्वीरों में देखें कैसे 21 लोगों की जान गई, और अब तक सोई है पुलिस!

Brij Kishore Dubey | Dec 09, 2012, 00:01 IST

  • आरा। किसी ने सोचा भी नहीं होगा कि हर दिन जिस शराब को वे लोग पीते थे, वहीं शराब उनके लिए मौत का सामान बन जाएगी। बिहार के आरा जिले में जहरीली शराब से दूसरे दिन यानी शनिवार को दस लोगों ने दम तोड़ दिया। इस प्रकार जहरीली शराब से मरने वालों की कुल संख्या 21 हो चुकी है।


    आगे की दर्दनाक तस्वीरों के जरिए जानें किन लोगों की हुई मौत, क्या कहते हैं परिजन और अधिकारी...

    तस्वीरें- संजय श्रीवास्तव

  • सुबह-सुबह शहर के विभिन्न मुहल्लों से लोगों की जहरीली शराब से मरने की सूचना आग की तरह शहर में फैल गई। देखते ही देखते आलाधिकारियों की गाड़ी शहर में दौड़ने लगी। पकड़ी गांव निवासी मंजय कुमार 45, अनाईठ बाजार मुहल्ला निवासी वृजराज सिंह 50, अनाईठ मठिया निवासी महेन्द्र चौधरी, अनाईठ छोटी लाईन निवासी सुरेश पासवान 45, महाजन टोली नं. एक निवासी रमेश राम रजक 46, बाघीपाकड़ निवासी रिक्शाचालक रविकुमार 35, अनाईठ कोठी निवासी छठ्ठु शाह 40, एमपी बाग निवासी अशोक राम 40 व रंजन कुमार 50 की मौत हो गई। हालांकि, जिलाधिकारी प्रतीमा एस वर्मा ने छह लोगों के मरने की पुष्टी की है।

  • मौत का कौन है दोषी के सवाल पर शाहाबाद डीआईजी अजिताभ कुमार ने दैनिक भास्कर को बताया कि लोकल थाना की भूमिका संदेह के घेरे में है। पूरी रात एसपी एमआर नायक के नेतृत्व में चली छापेमारी के दौराने 25 हजार पाउच शराब एवं पांच बोरा देशी शराब के साथ एक दर्जन लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने जिले में चल रहे शराब भठ्ठियों को ध्वस्त किया है तथा एक देशी पिस्टल एवं दो जिंदा कारतूस भी बरामद किया है। गौरतलब है कि शुक्रवार को जहरीली शराब से 11 लोगों की मौत हुई है। इसमें आठ की ही जिला प्रशासन ने पुष्टी की थी।

  • जहरीली शराब से पांच लोगों ने खोई आंख की रौशनी

    जहरीली शराब पीने से अबतक पांच लोगों ने अपनी आंख की रौशनी खो दी है, जिन्हें सदर अस्पताल आरा में भर्ती कराया गया है। सदर अस्पताल के डॉक्टर बीके शुक्ला, डॉ. नरेश, डॉ.अशोक कुमार पांडे व सिविल सर्जन विरेन्द्र वर्मा की टीम ने अंधेपन के शिकार लोगों की जांच करने के बाद बताया कि मिथाईल अलकोहल के कारण किडनी एवं हार्ट डैमेज होता है, आंख की रौशनी चली जाती है और अंत में आदमी की मृत्यु हो जाती है।

  • माले ने रोकी रेल


    खुलेआम जहरीली शराब बेचे जाने व 21 महादलित लोगों की हुई मृत्यु के विरोध में भाकपा माले ने आरा बंद कराया। बंद समर्थकों ने जूलुस निकाल को शहर के व्यापारिक प्रतिष्ठानों को बंद कराने के साथ आरा-पटना मुख्यमार्ग घंटो जाम कर दिया, जिससे आवागम पूरी तरह बाधित रहा। वहीं, बंद समर्थकों ने उग्र प्रदर्शन करते हुए डाउन में जाने वाली संघमित्रा एक्सप्रेस, लोकमान्य तिलक एक्सप्रेस को करीब एक घंटे तक आरा रेलवे स्टेशन पर रोक कर नारेबाजी की। इस दौरान माले छात्र संगठन आईसा ने शहर के स्कूल कॉलेजों को बंद करवाया।

  • नीतीश पइसा दिहन त करब सराध - परिजन


    आरा। जहरीली शराब पीकर मरने वाले लोगों के परिजनों की आंखों के आंसू सुखने का नाम नहीं ले रहें है। अनाईठ बाजार मुहल्ले के महादलित मृतक परिवार चांद देव मुहसहर की पत्नी रोते-रोते वेहोश हो जाती है। होश आने पर गोद में अपनी दो साल की बेटी कृषा को लिए भोजपुरी में कहती है कि सबकुछ हमार लूट गईल। तीन बच्च बाड़न जा। अब के पोशी। वहीं श्राद्ध करने के बारे में पूछे जाने पर कहा कि हमनी के गरीब आदमी लगे पईसा कहां बा। नीतीश पइसा दिहे त करब सराध। इसी तरह विकास मित्र रहे मृतक हरेन्द्र मुसहर की पत्नी पचरत्नी देवी और विधवा मां मंजोसिया देवी ने विलखते हुए भोजपुरी में कहा कि पुलिसवे लाश जरवा देहलस। हमनी के मुंहओं देखे के ना मिलल। पत्नी कंचन देवी ने कहा कि हमार चार गो बेटी अउर एगों बेटा बाड़न। का जाने मुअलका वाला रुपयों मिली की उहे लोग ले लिहन जा। चालिस घंटे से अधिक समय बीत जाने के बाद मृतकों के परिजनों को पारिवारिक लाभ और कबीर अत्येष्ठी के तहत मिलने वाली राशि नहीं मिलने से आक्रोश है।

  • कई मृतकों के परिवार को बीपीएल लाभ भी नहीं

    अनाईठ मुहल्ले निवासी मृतक धनजी शाह के पिता बिहारी साव रोते-रोते घर में ही गिर पड़े । कहा बेटा ने शराब का सेवन किया था। लेकिन उसकी करतूत की सजा उसकी पत्नी कंचन देवी व तीन बच्चों को मिल रही है। 65 वर्ष उम्र होने के बावजूद अभी तक हमको सरकार से वृद्धा पेंशन नहीं मिला है। नहीं बेटे का ही बीपीएल में नाम है। हम अब किसके भरोसे रहेंगे जिंदा। भगवान अब हमरो के उठा लेतन त बढ़िया होईत। इसी तरह विहारी सिंह की पत्नी रेखा देवी को चार बेटी और एक बेटा है। सास व ससुर की पहले ही मौत हो चुकी है। रेखा पर जैसे ईश्वर ने तो दु:खों का पहाड़ ही तोड़ दिया है। समय की मार से वेबस रेखा को रोने के अलावा कुछ नहीं सुझ रहा है।

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: twenty one people dead with poisoning wine in Ara Bihar
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Patna

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top