Home »Celebs »Photo Feature» मिस यूनिवर्स प्रतियोगिता की कई अनसुनी बातें

तस्वीरों में जानिए तक मिस यूनिवर्स प्रतियोगिता की कई अनसुनी बातें

dainikbhaskar.com | Dec 21, 2012, 10:31 IST

  • वर्ष 2012 की मिस यूनिवर्स प्रतियोगिता अपने आखिरी चरण में है और गुरुवार को इसके विजेता का फैसला हो जाएगा। इस प्रतियोगिता का आयोजन हर साल मिस यूनिवर्स ऑर्गेनाइजेशन द्वारा किया जाता है। इसकी शुरुआत वर्ष 1952 में कैलिफोर्निया की एक क्लोदिंग कंपनी पैसिफिक मिल्स ने की थी। आम तौर पर हर देश की नेशनल ब्यूटी पेजेंट की विजेता युवतियां इसमें हिस्सा लेती हैं। प्रीलीमिनरी राउंड के बाद सेमीफाइनल में प्रतिभागियों की संख्या कम हो जाती है और अंतिम विजेता का चुनाव ज्यूरी के वोट के आधार पर किया जाता रहा है।

    देखिए तस्वीरें और जानिए ऐसी ही कई दिलचस्प बातें।

  • 1952: में पहली बार मिस यूनिवर्स प्रतियोगिता का आयोजन हुआ था। इसमें फिनलैंड की अर्मी कुसेला विजयी रही थीं, लेकिन साल पूरा होने से पहले ही उन्होंने अपना खिताब त्याग दिया था।

  • 1988: में मिस यूनिवर्स प्रतियोगिता का लोगो द वूमन विद स्टार्स अस्तित्व में आया। आयोजकों के मुताबिक यह दुनिया भर की महिलाओं की खूबसूरती और उनकी जिम्मेदारी का सूचक है।

  • 2011: में प्रक्रिया में बदलाव कर पहली बार ऑनलाइन वोटिंग की व्यवस्था की गई। इसके तहत सेमीफाइनल राउंड के एक प्रतिभागी का फैसला ऑनलाइन वोटिंग के आधार पर किया जाता है। भर की महिलाओं की खूबसूरती और उनकी जम्मेदारी का सूचक है।

  • 2012: मिस यूनिवर्स 2012 का ताज इस बार मिस यूनिवर्स मिस यूएसए की ओलीविया कल्पो के खाते में गया है। भारत की शिल्‍पा सिंह टॉप टेन में भी स्‍थान नहीं बना पाईं।

  • खूबसूरती से बढ़कर है मिस यूनिवर्स पेजेंट प्रतियोगिता के आयोजकों के मुताबिक मिस यूनिवर्स बनने के लिए खूबसूरती अकेली शर्त नहीं है। इसमें प्रतिभागी के मानसिक विकास, उसके मैनर्स और संस्कृति की समझ की भी अहम भूमिका होती है। विजेता का मिस यूनिवर्स ऑर्गेनाइजेशन के साथ एक साल का करार होता है, जिसके तहत उसे पूरी दुनिया में शांति, बीमारियों आदि के बारे मे जागरुकता लाने का काम करना होता है। भर की महिलाओं की खूबसूरती और उनकी जम्मेदारी का सूचक है।

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: मिस यूनिवर्स प्रतियोगिता की कई अनसुनी बातें
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Photo Feature

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top