Home »Celebs »Lifestyle» Super Women

PHOTOS: महिलाएं जिन्होंने दुनियाभर में गाड़े कामियाबी के झंडे

dainikbhaskar.com | Dec 28, 2012, 00:00 IST

  • PHOTOS: महिलाएं जिन्होंने दुनियाभर में गाड़े कामियाबी के झंडे

    गुजरते साल ने ढेरों ऐसे लम्हे दिए, जो सालोसाल याद रखे जाएंगे और कुछ दंश भी जो सालेंगे। अलविदा कहते इस वर्ष की यादों में सुख हैं, कुछ दंश भी जो सालेंगे। अलविदा कहते इस वर्ष की यादों में सुख हैं, दुख हैं, बेहतरी के फूल हैं और कमियों के कांटे भी। दुख हैं, बेहतरी के फूल हैं और कमियों के कांटे भी। बीतते बरस में गर्व और उपब्लधियों से दमकते चेहरे हैं और कुछ ऐसे चेहरे भी हैं, जो मुरझाए, पर देश में एक बहस छेड गए। आधी दुनिया के नजरिया से देखिए बदलते, पर कुछ हद तक अब भी रूढियों में बंधे अपने देश की तस्वीर..

  • PHOTOS: महिलाएं जिन्होंने दुनियाभर में गाड़े कामियाबी के झंडे


    बडी बाइक वाली लडकी


    नाम : अम्बिका शर्मा

    क्यों है पहचान :
    देश में हार्लि डेविडसन रोड किंग बाइक की पहली महिला मालिक। जिस देश में मोटरसाइकिल चलाती लड़कियां अजूबा लगती हैं, वहां स्वाभाविक है कि किसी युवती को 400 किलोग्राम वजनी हार्लि डेविडसन रोड किंग पर फर्राटा भरता देखने वाली आंखें हैरानी से फटी रह जाती होंगी। बक़ौल अम्बिका जमीन पर पैर रखने से पहले वे बाइक पर बैठी थीं। उनके परिवार में पिता, भाई, बहन समेत लगभग सभी लोग बाइकर्स हैं।


    एक का दम : 33 वर्षीया अम्बिका ‘ग्रुप ऑफ देल्ही सुपरबाइकर्स’ उर्फ़ गॉड्स नामक क्लब की सदस्य हैं, जिसके बाक़ी तमाम सदस्य पुरुष हैं। अब वे अपनी हार्लि डेविडसन पर अन्य बाइकर्स के साथ पुष्कर जाने वाली हैं।


    यह भी जानें : अम्बिका पल्प स्ट्रैटजी कम्युनिकेशन की एमडी और सीईओ हैं। उनकी इस मार्केटिंग एजेंसी ने इस वर्ष 17 अवॉर्ड जीते हैं।

  • PHOTOS: महिलाएं जिन्होंने दुनियाभर में गाड़े कामियाबी के झंडे



    फर्राटे की पहली ‘प्रिंसिपल’


    नाम : मोनिशा कल्टेनबोन

    क्यों मिला नाम
    : भारत में जन्मीं मोनिशा इस साल अक्टूबर में फामरूला वन टीम की टीम प्रिंसिपल बनने वाली दुनिया की पहली महिला बनीं। वे स्विटजरलैंड की सॉबेर फामरूला वन टीम की टीम प्रिसिंपल हैं और उनके पास इस टीम की 33.3 फ़ीसदी हिस्सेदारी भी है। 10 मई, 1971 को देहरादून में जन्मीं मोनिशा नारंग के पिता विएना में बस गए थे। तब वे आठ वर्ष की थीं। मोनिशा जनवरी 2010 से सॉबेर एफ1 टीम की सीईओ के तौर पर भी काम कर रही हैं। उनके पास इंटरनेशनल बिजनेस लॉ में मास्टर्स डिग्री भी है।


    जय जन्मभूमि : उन्हें अपनी भारतीय जड़ों से कितना लगाव है, इसकी मिसाल है कि वे जेन कल्टेनबोर्न से स्टुटगार्ट में मिलीं, पर विवाह उन्होंने देहरादून आकर रचाया। स्विटजरलैंड में सॉबेर फैक्टरी के समीप रहने वाले इस दम्पति के दो बच्चे हैं।

  • PHOTOS: महिलाएं जिन्होंने दुनियाभर में गाड़े कामियाबी के झंडे


    इससे सस्ता क्या?
    नाम : अक्कु और लीला शेरीगर

    चर्चा की वजह :
    59 साल की इन दक्षिण भारतीय बहनों ने गिनीज बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्डस के सामने दावा पेश किया है कि उन्हें दुनिया में सबसे कम वेतन पाने वाली कर्मचारी घोषित किया जाए। दोनों 18 वर्ष की उम्र से शासकीय महिला शिक्षक प्रशिक्षण संस्थान में टॉयलेट साफ़ करने का काम कर रही हैं। 21 टॉयलेट। सप्ताह में सातों दिन, दिन में तीन बार बिना नागा। 41 बरस पहले वेतन तय हुआ था, 15 रुपए महीना। आज भी वही है और हद तो यह कि पिछले 11 सालों से उन्हें यह वेतन भी नहीं मिला है। क़सूर : 2001 में उन्होंने वेतन बढ़ाने की मांग कर दी थी। कर्मचारी ट्रियूनल, हाईकोर्ट, सबने उनके पक्ष में फ़ैसला दिया, पर उन्हें फूटी कौड़ी भी नहीं मिली। आस बाक़ी है : शेरीगर बहनों को उमीद है कि इस साल रिटायर होने से पहले उन्हें उनका हक़ मिल जाएगा। आप भी दुआ कीजिए।

  • PHOTOS: महिलाएं जिन्होंने दुनियाभर में गाड़े कामियाबी के झंडे

    अंतरिक्ष बना दूसरा घर


    नाम : सुनीता विलियंस


    आसमानी बुलंदी :भारतीय मूल की सुनीता पंड्या कृष्णा, जिन्हें दुनिया सुनीता विलियंस के नाम से जानती है, इस साल पांच सितम्बर को अंतरिक्ष स्टेशन से निकलकर छठी बार गहन अंतरिक्ष में चलीं, तो उन्होंने सबसे ज्यादा बार अंतरिक्ष में चलने वाली महिला होने का नया रिकॉर्ड बनाया। अब वे कुल सात बार अंतरिक्ष में चल चुकी हैं और 50 घंटे 40 मिनट बाह्य अंतरिक्ष में (यानी स्पेस स्टेशन से बाहर) बिता चुकी हैं, जो महिलाओं की श्रेणी में एक रिकॉर्ड है। गुजरात में जन्मे न्यूरोएनाटॉमिस्ट दीपक पंड्या की पुत्री सुनीता के नाम महिला द्वारा
    अंतरिक्ष में सबसे ज्यादा 195 दिन बिताने का रिकॉर्ड भी है।

    ऊंचे सपने : अमेरिकी नौसेना की अफ़सर विलियंस अब चांद छूने और मंगल पर जाने की तमन्ना रखती हैं।

    दिल में भारत : 200607 के अंतरिक्ष सफ़र के दौरान सुनीता अपने साथ भगवद्गीता और गणोशजी की मूर्ति ले गई थीं और 2012 की यात्रा में उपनषिद का अंग्रेजी अनुवाद।

  • PHOTOS: महिलाएं जिन्होंने दुनियाभर में गाड़े कामियाबी के झंडे

    एमसी मैरीकोम


    लंदन ओलिम्पिक में महिलाओं की 51 किलोग्राम बॉक्सिंग स्पर्धा में कांस्य पदक जीता। उन पर फिल्म बन रही है।

  • PHOTOS: महिलाएं जिन्होंने दुनियाभर में गाड़े कामियाबी के झंडे

    नाम : अनु वैद्यनाथन


    सबसे मजबूत हिंदुस्तानी


    मिली तारीफ़ : अनु को इस साल बजाज आलियांज मोस्ट इंस्पिरेशनल वर्किग वुमन का ख़िताब दिया गया। वे अल्ट्रामैन नाम मुश्किल स्पर्धा में हिस्सा लेने और उसे पूरा करने वाली पहली एशियाई एथलीट हैं। तीन दिन की इस स्पर्धा में प्रतिभागी को 10 किलोमीटर तैराकी और 420 किलोमीटर साइकिल चालन करने के साथ ही 84.4 किलोमीटर दौड़ना भी होता है। वे भारत की पहली आयरनमैन एथलीट हैं, जिसमें एक दिन में 3.8 किमी तैराकी, 180 किमी साइकिल चालन और 42.2 किमी दौड़ का लक्ष्य होता है।

    बहुआयामी व्यक्तित्व: अनु ट्राइएथलीट भर नहीं हैं। वे बौद्धिक संपदा से जुड़े मामलों में सलाह देने वाली कंपनी ‘पेटएनमार्क्‍स’ चलाती हैं। कम्प्यूटर इंजीनियरिंग में मास्टर्स डिग्री रखने वाली अनु आईआईटी रोपड़ और आईआईएम अहमदाबाद की फैकल्टी मेम्बर भी हैं। यह भी रिकॉर्ड : उन्होंने रिकॉर्ड 26 महीने में केंटरबरी यूनिवर्सिटी से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में अपनी पीएचडी पूरी की थी।

  • PHOTOS: महिलाएं जिन्होंने दुनियाभर में गाड़े कामियाबी के झंडे


    साइना नेहवाल

    लंदन ओलिम्पिक में महिला एकल बैडमिंटन में कांस्य जीता और इंडोनेशिया व डेनमार्क ओपन ख़िताब अपने नाम किए।






  • PHOTOS: महिलाएं जिन्होंने दुनियाभर में गाड़े कामियाबी के झंडे

    दीपिका पल्लीकल
    21 वर्षीया दीपिका स्क्वैश की टॉप10 रैंकिंग में स्थान बनाने वाली पहली भारतीय बनीं। उन्हें इस साल अजरुन अवॉर्ड मिला।

  • PHOTOS: महिलाएं जिन्होंने दुनियाभर में गाड़े कामियाबी के झंडे

    नैना लाल किदवई फिक्की (ficci ) की पहली महिला अध्यक्ष बनीं। एचएसबीसी की भारत प्रमुख
    के रूप में कार्यरत हैं।

  • PHOTOS: महिलाएं जिन्होंने दुनियाभर में गाड़े कामियाबी के झंडे

    इंदिरा नूयी


    सीएनएन मनी ने अर्थक्षेत्र में ताक़तवर महिलाओं की वैश्विक सूची में दूसरा स्थान दिया। पेप्सीको की चेयरपर्सन हैं।

    आगे की तस्वीरों में यह भी देखिए कि वो 5 महिला सेलेब्स कौन हैं जो इस साल भारत आईं थीं।

  • PHOTOS: महिलाएं जिन्होंने दुनियाभर में गाड़े कामियाबी के झंडे

    ओपरा विन्फ्रे


    टीवी जगत की सबसे मशहूर हस्ती ओपरा विन्फ्रे साल के शुरुआती महीने में भारत आईं। यह उनकी पहली भारत यात्रा थी। उन्होंने ताजमहल की ख़ूबसूरती निहारी और जयपुर साहित्य उत्सव में शामिल हुईं, पर उनके बॉडीगार्ड द्वारा फोटोग्राफरों के साथ की गई बदतमीजी और भारतीय जीवनशैली को लेकर ओपरा की नकारात्मक टिप्पणी ने विवाद पैदा किए।

  • PHOTOS: महिलाएं जिन्होंने दुनियाभर में गाड़े कामियाबी के झंडे

    पेरिस हिल्टन हॉलीवुड हस्ती और होटल चेन की मालिक पेरिस हिल्टन नवम्बर
    में भारत आईं। इस दौरान उन्होंने सिद्धि
    विनायक मंदिर में दर्शन किए और गोवा के एक फ़ैशन शो में डीजे के तौर पर परफॉर्म भी किया। अपने प्रेमी के साथ भारत आईं पेरिस ने अगले साल फिर यहां आने की इच्छा जताई।

  • PHOTOS: महिलाएं जिन्होंने दुनियाभर में गाड़े कामियाबी के झंडे

    यिंगलुक शिनवात्रा


    थाईलैंड की प्रधानमंत्री 63वें गणतंत्र वस समारोह की मुय अतिथि थीं। प्रधानमंत्री बनने के बाद यह उनकी पहली भारत यात्रा थी, जिस दौरान दोनों
    देशों के बीच छह समझौतों पर हस्ताक्षर किए गए।

  • PHOTOS: महिलाएं जिन्होंने दुनियाभर में गाड़े कामियाबी के झंडे

    आंग सान सू की
    बर्मा की मुय विपक्षी नेता आंग सान सू की 40 साल के बाद भारत आईं। वे लेडी श्रीराम कॉलेज भी गईं, जहां से क़रीब 50 बरस पहले उन्होंने राजनीति विज्ञान में स्नातक किया था। सू की ने गांधी और नेहरू को अपना प्रेरणास्रोत बताया।

  • PHOTOS: महिलाएं जिन्होंने दुनियाभर में गाड़े कामियाबी के झंडे

    कैथरीन बिगेलो

    ऑस्कर विजेता अमेरिकी फिल्मकार कैथरीन ने ओसामा बिन लादेन पर आधारित अपनी फिल्म के कुछ हिस्से चंडीगढ़ में लाहौर की प्रतिकृति बनाकर शूट किए। उन्होंने भारतीय धरती पर रावलपिंडी और कुछ अन्य पाकिस्तानी शहरों के सेट भी लगाए, जिसके कारण उन्हें छिटपुट विरोध का सामना करना पड़ा।

  • PHOTOS: महिलाएं जिन्होंने दुनियाभर में गाड़े कामियाबी के झंडे
  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: super women
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Lifestyle

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top