Home »Chhatisgarh »Bilaspur» Central Kitchen

शहर के 116 स्कूलों में सेंट्रल किचन से पहुंचेगा खाना

Bhaskar news | Sep 04, 2012, 05:07 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
शहर के 116 स्कूलों में सेंट्रल किचन से पहुंचेगा खाना

kitchenबिलासपुर।रायपुर की तर्ज पर शहर में नगर निगम सीमा के प्राइमरी व मिडिल स्कूल के बच्चों को जल्द ही सेंट्रल किचन में तैयार किया गया गर्म भोजन दिया जाएगा। नई व्यवस्था से स्कूलों में मध्यान्ह भोजन समय पर मिलेगा, साथ ही गड़बड़ियों पर भी रोक लगेगी। यह योजना इसी वर्ष दिसंबर तक लागू कर दी जाएगी।



सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर स्कूलों में मिड डेल मील लागू तो कर दिया गया है, लेकिन खाना बनाने की व्यवस्था से टीचर व विद्यार्थियों का पढ़ाई का समय बरबाद हो रहा है। यही वजह है कि प्राचार्य लगातार नगर निगम प्रशासन पर सेंट्रल किचन के लिए दबाव बनाए हुए थे। प्राचार्यो के आवेदन पर सेंट्रल किचन की योजना का काम रायपुर क्षेत्र में संचालित कर रहे एनजीओ ‘पहल’ को देने के लिए टेंडर की प्रक्रिया पूरी कराई गई। यह प्रक्रिया तत्कालीन कमिश्नर मुकेश बंसल के कार्यकाल में पूरी हुई थी, लेकिन एमआईसी में लगातार गतिरोध के चलते प्रस्ताव पारित नहीं हो सका। एमआईसी के निर्णय नहीं लेने के कारण निगम प्रशासन ने इसे सामान्य सभा को भेजा, जिसे 30 अगस्त को भाजपा पार्षद दल ने बहुमत से पारित कर दिया।



शुद्धता, पौष्टिकता की शर्तो पर होगा अनुबंध मिड डे मील की सप्लाई के लिए नगर निगम पहल से अनुबंध करेगा। इसमें भोजन की स्वच्छता, शुद्धता और पौष्टिकता का विशेष ध्यान रखना होगा। समय-समय पर स्वास्थ्यवर्धक भोजन का सैंपल लिया जाएगा। बच्चों को फूड पाइजनिंग या बीमारी होने पर पहल का दायित्व होगा। इसी प्रकार भोजन में आयोडीनयुक्त नमक व अच्छी क्वालिटी के गरम मसाले का उपयोग किया जाएगा। भोजन की मात्रा व गुणवत्ता में कमी होने पर बिल में कटौती की जाएगी और गड़बड़ी मिलने पर अनुबंध निरस्त किया जा सकता है। अनुबंध के मुताबिक संस्था को समय से पहले संबंधित स्कूलों में तय मीनू के अनुसार गरम भोजन खुद की व्यवस्था से पहुंचाना होगा। नई व्यवस्था से एक ही स्थान पर बेहतर भोजन तैयार होगा।



पहले किचन देखेंगे अधिकारी: नगर निगम कमिश्नर अवनीश कुमार शरण ने बताया कि पहल संस्था से मील की सप्लाई का अनुबंध करने से पहले उसकी व्यवस्थाओं का जायजा लिया जाएगा। इसके लिए शिक्षा विभाग की प्रभारी डा. रेणुका पिंगले वहां जाएंगी। अनुबंध रायपुर नगर निगम की तर्ज पर होगा। उन्होंने संकेत दिया कि अनुबंध के तीन महीने के अंदर संस्था को सेंट्रल किचन की स्थापना करनी होगी। इस हिसाब से सेंट्रल किचन की योजना शहर में दिसंबर में लागू होने की उम्मीद है।



16000 विद्यार्थी लाभान्वित होंगे: सेंट्रल किचन की योजना का लाभ नगर निगम सीमा के 116 प्राइमरी व मिडिल स्कूल के 16000 से अधिक विद्यार्थियों को मिलेगा। मीनू के मुताबिक बच्चों को भोजन के साथ शनिवार व मंगलवार को मीठा, गुरुवार व शुक्रवार को फलाहार दिया जाएगा, साथ ही पापड़, अचार भी देना होगा। प्राइमरी स्कूल के बच्चों 100 ग्राम चावल व माध्यमिक स्कूल के बच्चों को 150 ग्राम पका हुआ चावल, 50 ग्राम सब्जी और 20 ग्राम दाल देनी होगी।



स्टील के बर्तनों में होगी सप्लाई: पहल के संचालक सुनील बालानी ने बताया कि सेंट्रल किचन की योजना लागू करने के लिए नगर निगम से वर्क आर्डर मिलने पर 3 से 4 हजार वर्गफुट वाली बिल्डिंग में हाई एफिशिएंसी वाले कुकर के जरिए खाना पकाया जाएगा। इसकी सप्लाई के लिए हाईक्वालिटी स्टील (304) के बर्तनों का इस्तेमाल किया जाएगा।



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
DBPL T20
Web Title: Central kitchen
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From Bilaspur

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top