Home »Chhatisgarh »Raipur »News» Dr Gives Bone Strengthening Medicine For 11 Month Old Baby

डॉक्टर ने 11 माह की बच्ची को दी ऐसी खतरनाक दवा, फिर हुआ ये दर्दनाक हादसा

bhaskar news | Mar 26, 2017, 03:26 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
महासमुंद/ रायपुर. तुमगांव के जोबा में बुखार के कारण एक दुधमुंही की मौत हो गई। BMO डॉ विपिन राय ने इस बच्ची का इलाज किया था। बुखार की दवाइयों के साथ, लिवोमैक, मोंटीकोप, प्रोनिट और हड्डी मजबूत करने की टॉनिक आस्टोकैल्शियम दी थी। डाॅक्टर के बताए अनुसार दवा दी गई जिसे पीने के बाद बच्ची को उल्टियां हुईं और उसकी मौत हो गई। शिशु रोग विशेषज्ञ के अनुसार मौत का कारण दवाओं के ओवरडोज को बता रहे हैं। झोलाछाप के पास गिड़गिड़ाती मां का वीडियो वायरल...
- सरकारी अस्पताल और डाक्टर के पास इलाज नहीं होने के बाद उसके मां-बाप बच्ची को लेकर गांव के प्रेक्टिशनर रमेश और शंकर साहू के पास गए थे।
- बच्ची को बचा लेने की गुहार लगाते गिड़गिड़ाते रहे। दोनों ने स्पष्ट कह दिया कि उनके उपचार पर BMO ने ही रोक लगाई है।
- न्यायपालिका के खिलाफ वे नहीं जाएंगे। पूरे घटनाक्रम के वायरल हुए वीडियो में बच्ची की मां झामिन साहू गांव के प्रेक्टिशनर्स के पास गिड़गिड़ाती रही कि चाहे जो पैसा लग जाए बच्ची को बचा लो।
- दोनों प्रेक्टिशनर्स ने स्थिति देख बताया कि संजीवनी 108 से अस्पताल ले जाएं, लेकिन इस बीच बच्ची ने दम तोड़ दिया।

शिशु रोगों के विशेषज्ञ कहते हैं-

उपचार में शिशु का वजन जरूरी...
डॉ मीनाक्षी झा कहती हैं, सालभर से कम आयु के बच्चों को दवा और उसके डोज तय करने के लिए वजन किया जाना जरूरी है। इसके बिना उपचार घातक है।
पहले चाहिए था बुखार का इलाज...
डॉ एमवाय मेमन कहते हैं, बाकी दवाइयां बुखार ठीक होने के बाद चलाई जा सकती थी, पहले बुखार दूर करना था, एक साथ पांच दवा समझ से परे है।
ज्यादा दवा नहीं देना चाहिए...
सिविल सर्जन डॉ आरके परदल कहते हैं, स्थिति से अनभिज्ञ हूं, कुछ सिमटम को देख दवा दी गई होगी, दूधमुंही को इतनी दवा, कुछ नहीं कह सकता।
आगे की स्लाइड्स में जानिएकैसे हुई बच्ची की मौत...
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: Dr gives bone strengthening medicine for 11 month old baby
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top