Home »Chhatisgarh »Raipur »News » Knowledge Is Of Ayurveda And Treatment Is Done By Allopathy

एक साल में बने डॉक्टर, नॉलेज आयुर्वेद का, इलाज एलोपैथी से कर रहे

bhaskar news | Mar 21, 2017, 08:32 IST

एक साल में बने डॉक्टर, नॉलेज आयुर्वेद का, इलाज एलोपैथी से कर रहे
राजनांदगांव.ग्रामीण इलाकों के बाद सोमवार को जिला प्रशासन ने शहर के झोलाछाप डॉक्टरों पर कार्रवाई की। इसमें दो डॉक्टरों के क्लीनिक और एक डायग्नोस्टिक सेंटर को सील किया गया। करीब 10 डॉक्टरों को नोटिस जारी किया गया। जिन डॉक्टरों पर कार्रवाई की गई उनके पास एक साल की पैरामेडिकल ताे किसी के पास आयुर्वेद की डिग्री मिली, लेकिन वे सालों से मरीजों का इलाज एलोपैथिक पद्धति से कर रहे हैं।
कवर्धा में तीन दिनों में 62 क्लीनिक और पैथोलॉजी लैब सील किए गए। महासमुंद में अब तक 53 क्लीनिकों पर कार्रवाई की गई है। बलौदाबाजार और कांकेर में भी कई क्लीनिकों पर टीम ने कार्रवाई की। सिमगा और दामाखेड़ा में भी कार्रवाई की गई है। तीन दिनों से चल रही कार्रवाई के डर से कई जगहों से झोलाछाप डॉक्टर फरार हैं। वहीं क्लीनिकों पर ताला लगा हुआ है।
अवैध पैथोलैब सील
कोरिया जिले में स्वास्थ्य विभाग ने बैकुंठपुर, मनेंद्रगढ़, पटना व सोनहत में कार्रवाई की। बैकुंठपुर में दो क्लीनिक, मनेंद्रगढ़ में चार क्लीनिक व एक एक्सरे सेंटर पर कार्रवाई की गई। इसके अलावा पटना में तीन क्लीनिक व एक पैथोलैब सील किया गया।
कोरबा में 3 दिन में 177 सेंटर पर कार्रवाई की गई है। जिला स्वास्थ्य विभाग की 16 टीम लगातार सभी क्षेत्रों में निरीक्षण करते हुए अवैध डिग्री से चल रहे क्लीनिक व पैथोलॉजी लैब पर कार्रवाई कर रही है। 3 दिनों की कार्रवाई को मिलाकर कुल 177 सेंटर को सील किया जा चुका है। इसमें 29 लैब हैं। ऐसे अन्य सेंटर पर आगे लगातार कार्रवाई करते हुए उन्हें भी सील किया जाएगा। अंबिकापुर में दर्जनों पैथोलॉजी सेंटर व क्लीनिक पर ताला लगा दिया गया है। इसके बाद भी अभी जांच जारी है। सरगुजा जिले में स्वास्थ्य विभाग की टीम लगातार कार्रवाई कर रही है।
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: Knowledge is of Ayurveda and treatment is done by allopathy
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top