Home »Chhatisgarh »Raipur »News » Woman Died Falling From Train In Raigarh

मासूम को चलती ट्रेन से फेंका और फिर खुद लगा दी छलांग, ये हुई हालत

लोकेंद्र सिंह ठाकुर | Jan 13, 2017, 00:29 IST

ट्रेन से छलांग लगाने पर महिला की मौत।

रायगढ़/रायगढ़.कामाख्या से पुणे जा रही ट्रेन जब रायगढ़ में नहीं रुकी तो बृजराजनगर से सवार हुई महिला ने पहले अपनी बच्ची को फेंका और फिर खुद उतरने के लिए कूद गई। साथ ही एक बच्चे को गेट पर खड़ा करा दिया ताकि उसे खींच कर उतार ले, लेकिन तभी एक दर्दनाक हादसा हो गया।क्या है मामला...
इस हादसे में फेंकी गई डेढ़ साल की बच्ची तो बच गई लेकिन महिला की गंभीर चोट लगने के कारण मौत हो गई।
-महिला छेरछेरा पर शहर से लगे गांव कोसमपाली में अपने मायके आ रही थी।
-महिला के साथ उसका तीन साल का बेटा भी था जो ट्रेन में ही रह गया।
-घटना के बाद यात्रियों ने चेन पुलिंग कर बच्चे को भी उतारा।
सिर रेलवे ट्रैक के किनारे रखे पटरी से टकराया
-ट्रेन में सवार यात्रियों ने बताया कि कॉशन आर्डर के तहत कामाख्या-पुणे सुविधा एक्सप्रेस कुछ देर के लिए बृजराजनगर रुकी थी।
-रुकमणी मेहर त्योहार पर अपने मायके आने के लिए बृजराजनगर में रायगढ़ जाने वाली ट्रेन का इंतजार कर रही थी।
-कामाख्या एक्सप्रेस का रायगढ़ स्टापेज नहीं होने की जानकारी उसे नहीं थी। वह अपने बेटे और बेटी के साथ ट्रेन में सवार हो गई।
-रायगढ़ स्टेशन के नजदीक आने पर उतरने के लिए वह गेट के पास पहुंची, लेकिन ट्रेन नहीं रुकी।
-ट्रेन प्लेटफार्म से आगे निकलने के बाद महिला ने आनन-फानन में पहले डेढ़ साल की बच्ची और बैग नीचे फेंका और खुद कूद गई।
-महिला का सिर रेलवे ट्रैक के किनारे रखे पटरी से टकराई। महिला की चीख सुन सफाई कर्मचारी और केंटीन वेंडर वहां पहुंचे, लेकिन तब-तक महिला की मौत हो चुकी थी।
-महिला से 50 मीटर दूर करीब बच्ची रोती बिलखती मिली।
-इस हादसे में बच्ची के दाएं पैर में चोट आई है। जिसे उपचार के लिए फौरन मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया। चंद मिनटों में मौके पर लोगों की भीड़ लग गई।
-जीआरपी ने शव पंचनामा के बाद मृतका की पहचान बृजराजनगर निवासी रुकमणी मेहर के रुप में की।
-जीआरपी ने घटना की सूचना मृतका के पति भवानी मेहर और कोसमपाली में रहने वाले बड़े भाई हरेराम मेहर को दी। पति और भाई के पहुंचने के बाद शव पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भिजवाया गया।
चेन पुलिंग की तो दो किमी बाद रुकी ट्रेन
-घटना के बाद पॉल विक्रम ने फौरन चेन खींचना चाहा, लेकिन स्पीड अधिक होने कारण ट्रेन दो किलोमीटर दूर जाकर रुकी।
-रंजीत और वह दोनों रुकमणी के बेटे को लेकर पैदल स्टेशन पहुंचे। तब-तक जीआरपी मौके से शव उठाकर परिजन को सूचना दे चुकी थी। हमने बच्चे को जीआरपी के सुपुर्द किया।
त्योहार पर बहन के आने का इंतजार था, मौत की खबर आई
-बड़े भाई हरेराम ने बताया कि छेरछेरा मनाने के लिए बहन रुकमणी अपने दोनों बच्चों के साथ रायगढ़ आ रही थी।
-इसकी सूचना सुबह ही जीजा ने फोन पर उन्हें दी थी। घर पर सभी उनका इंतजार कर ही रहे थे कि उन्हें बहन की मौत की खबर मिली।
-मौके पर पहुंचे भाई के साथ ही बच्चों को अस्पताल भेजा गया।
प्रत्क्षदर्शी ने बताया- बृजराज नगर से एक साथ सवार हुए
-यात्री रंजीत सिंह ने बताया कि महिला के साथ वह और उसका एक साथी एक साथ ट्रेन में सवार हुए।
-ट्रेन की बोगी पर बाहर पटि्टका नहीं लगी थी जिसके कारण सभी उसे अहमदाबाद समझा।
-इतना ही नहीं प्लेटफार्म पर ट्रेन के लिए किसी प्रकार की कोई अनाउंसमेंट भी नहीं की गई। जिसकी वजह से सभी गलत ट्रेन में सवार हुए।
आगे की स्लाइड्स में देखें, फोटो...
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: Woman died falling from train in Raigarh
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top