Home »Chhatisgarh »Raipur »News» There Was No Investigation Of Bus

नौनिहालों की जान भगवान भरोसे: बगैर जांच के चल रही थी खटारा बस

भास्कर न्यूज | Jan 19, 2013, 06:26 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
नौनिहालों की जान भगवान भरोसे: बगैर जांच के चल रही थी खटारा बस
रायपुर।समता कॉलोनी में गुरुवार को जिस बस का फ्लोर टूटा था, वह बगैर जांच के चल रही थी। सिर्फ यही बस नहीं, राजकुमार कॉलेज की एक भी बस तीन महीने पहले हुए ट्रैफिक पुलिस के जांच शिविर में नहीं पहुंची थी।
बार-बार नोटिस भेजने के बाद भी प्रबंधन ने एक भी बस की जांच नहीं करवायी। अंतत: इस खटारा बस ने इस लापरवाही को उजागर कर दिया। अगर आरटीओ या फिर ट्रैफिक पुलिस इस बस की जांच करती तो शायद इसे आउटडेटेड घोषित कर देती। आरकेसी की इस खटारा बस के फ्लोर में स्टील था ही नहीं। इसमें सीधे प्लाईवुड लगाया गया था, जो टूट गया।
मामले की लीपापोती शुरू
इस मामले में अब जमकर लीपापोती शुरू हो गई है। गुरुवार को आधी रात रिंग रोड के एक गैराज में बस चालक ने टूटे हुए हिस्से की मरम्मत कराकर सुबूत मिटाने की कोशिश की। हालांकि, पुलिस ने बाद में बस जब्त कर ली। गुरुवार को समता कालोनी से गुजरते समय आरकेसी की इस बस के फ्लोर लगी चादर फटने से ४ साल की स्निग्धा नीचे गिर गई थी।
जांच नहीं कराई तो कार्रवाई क्यों नहीं की?
ट्रैफिक पुलिस की भूमिका पर भी यहां सवाल खड़ा हो रहा है। उन्हें जब यह पता था कि शिविर में आरकेसी की बसों ने चेकिंग नहीं करवाई तो उनके खिलाफ बाद में कार्रवाई क्यों नहीं की गई? अब जब घटना के बाद पुलिस कार्रवाई की बारी आई तो अफसर कह रहे हैं कि उन्होंने स्कूल प्रबंधन से बात करने की कोशिश की, लेकिन वह हो नहीं पायी। आरटीओ डोमन सिंह नहीं बता पाए कि उक्त बस की फिटनेस जांच कब हुई थी? उन्होंने कहा कि फाइल देखकर ही कुछ कहा जा सकता है। वैसे उनके विभाग की ओर से बसों और दूसरे वाहनों की फिटनेस जांच समय-समय पर की जाती है।
स्कूल प्रबंधन को पुलिस का नोटिस
स्कूल प्रबंधन से बस की जानकारी लेने के लिए पुलिस की ओर से नोटिस भेजा गया है। इसमें प्रबंधन से बस की पूरी हिस्ट्री मांगी गई है। इसकी मरम्मत, मॉडल नंबर, फिटनेस रिकॉर्ड आदि सारी जानकारी लेने के बाद आगे की कार्रवाई होगी। राजकुमार कॉलेज के प्राचार्य जेबी सिंह ने मीडिया को बताया कि हादसे के बाद वे बच्ची से मिलने अस्पताल गए थे। बच्ची बिल्कुल ठीक है। यह घटना कैसे हुई? इसे वह नहीं बता पाए। बस का फ्लोर जंग लगने के कारण टूटा होगा। इस मामले में अभी किसी के खिलाफ कार्रवाई नहीं की गई है। सभी बसों की एक बार फिर से जांच करायी जाएगी।
ड्राइवर-कंडक्टर के खिलाफ मामला
सरस्वतीनगर पुलिस ने इस मामले में चालक और परिचालक के खिलाफ लापरवाहीपूर्वक गाड़ी चलाने का मामला दर्ज किया है। बस के चालक राजा राव रेड्डी व परिचालक तारक दास मानिकपुरी को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस का कहना है कि इस मामले में राजकुमार कॉलेज प्रबंधन से बारीकी से पूछताछ की जाएगी।
गंभीरता से कार्रवाई करें
घायल बच्ची स्निग्धा दूसरे दिन भी सदमे से उबर नहीं पाई। वह नींद में चीखती-चिल्लाती रही। उसके मां-बाप उसे लेकर बेहद चिंतित हैं। फाफाडीह ओम कॉम्पलेक्स में रहने वाली स्निग्धा के पिता कुणाल वर्मा ने बताया कि इस मामले में उनकी बेटी की जान पर बन आई थी। यह और किसी के भी साथ हो सकता है। इस मामले में स्कूल और पुलिस दोनों को गंभीरता से कार्रवाई करनी पड़ेगी। स्निग्धा गुरुवार को दोपहर स्कूल से घर लौटते समय बस की पिछली सीट पर बैठी थी। अचानक ब्रेकर आया और बस के उछलते ही बच्ची फ्लोर टूटने से नीचे गिर गई। पीछे से एक तेज रफ्तार में कार आ रही थी, जिसके ब्रेक मारने के कारण उसकी जान बच गई। स्निग्धा को मामूली चोटें आई थीं। अब वह घर पर है। दहशत के मारे वह आज स्कूल नहीं गई।
कड़ी कार्रवाई करेंगे
॥पुलिस इस मामले को काफी गंभीरता से ले रही है। घटना के संबंध में स्कूल प्रबंधन को नोटिस जारी किया गया है। इस मामले में जिसकी भी गलती पाई जाएगी, उसके खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई होगी।
-दिपांशु काबरा, एसएसपी, रायपुर
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: There was no investigation of bus
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top