» This Is Rarest Of The Rare Case, 5 Out Of Six Could Be Hanged

यह रेयरेस्ट ऑफ द रेयर मामला है : 5 को मिलेगी फांसी, छठा बच सकता है!

Bhaskar News | Dec 30, 2012, 02:08 AM IST

यह रेयरेस्ट ऑफ द रेयर मामला है : 5 को मिलेगी फांसी, छठा बच सकता है!

नई दिल्ली.पैरामेडिकल छात्रा के साथ सामूहिक दुष्कर्म के आरोपियों को फांसी की सजा देने के लिए सरकार को कानून बदलने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

दअरसल, सिंगापुर के माउंट एलिजाबेथ अस्पताल में इलाज के दौरान पीड़िता की मौत के बाद दिल्ली पुलिस ने सभी आरोपियों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 302 के तहत मामला दर्ज कर लिया है, जिसके तहत अधिकतम फांसी की सजा का प्रावधान है।

दिल्ली पुलिस के स्पेशल कमिश्नर (कानून-व्यवस्था) धर्मेंद्र कुमार ने इसकी पुष्टि की है। अभी तक इन आरोपियों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 307 (हत्या का प्रयास), 201 (सबूत मिटाने का प्रयास), 365 (अपहरण), 376-2-जी (सामूहिक दुष्कर्म), 377 अप्राकृतिक अपराध, 394 (लूटपाट के दौरान मारपीट) और 34 (समान उद्देश्य) का मामला दर्ज किया गया था।

स्पेशल कमिश्नर धर्मेंद्र कुमार ने बताया कि पीड़िता की अटॉप्सी सिंगापुर अस्पताल में की गई है। इसकी रिपोर्ट जल्द से जल्द हासिल हो जाएगी। दिल्ली पुलिस की कोशिश है कि 3 जनवरी 2013 तक सभी आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल कर दी जाए।
फास्ट ट्रैक कोर्ट में दिन-प्रतिदिन होने वाली सुनवाई के दौरान सरकारी पक्ष रखने के लिए दिल्ली हाईकोर्ट के वरिष्ठ वकील ध्यानकृष्णनन इस केस में विशेष लोक अभियोजक होंगे। ध्यानकृष्णनन ने स्वेच्छा से नि:शुल्क इस केस में पैरवी करने की इच्छा जताई थी। उन्हें उनके दो कनिष्ठ सहयोगी इस केस में मदद करेंगे।
दिल्ली पुलिस की कोशिश होगी कि सभी आरोपियों को कड़ी से कड़ी सजा मिले। उल्लेखनीय है कि सभी छह आरोपियों राम सिंह, उसके भाई मुकेश, अक्षय सिंह, पवन, विनय सहित एक नाबालिग को दिल्ली पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है। नाबालिग के अतिरिक्त सभी आरोपी इस समय तिहाड़ जेल में न्यायिक हिरासत में हैं।

पूरा देश विचलित है :

शनिवार सुबह से ही युवा, महिलाएं, बुजुर्ग सभी सड़कों पर निकल आए। कहीं मुंह पर काली पट्टी बांधकर, मोमबत्ती जलाकर संवेदना जताई जा रही थी, तो कहीं तीखी आवाजों, तख्तियों पर लिखे शब्दों से आक्रोश सामने आ रहा था।

हर कोई इस दरिंदगी के खिलाफ कड़े कानून बनाने और दोषियों को फांसी की सजा देने की मांग कर रहा था। लोगों के दर्द में सहभागी बनने पहुंचीं दिल्ली की मुख्यमंत्री तक को सुनने-देखने को कोई तैयार नहीं था। जंतर-मंतर पर मौजूद युवाओं ने उन्हें तत्काल वापस जाने पर मजबूर कर दिया।

छात्रा को राजकीय सम्मान के साथ अंतिम विदाई देने की मांग तेज हुई है। वहीं मानवाधिकारों के लिए काम करने वाले संगठनों ने 29 दिसंबर को महिलाओं पर अत्याचार के खिलाफ राष्ट्रीय दिवस के रूप में मनाने की मांग की है। एशियन सेंटर फॉर ह्यूमन राइट्स के निदेशक सुहास चकमा ने कहा कि इस घटना से बड़ी कोई बात नहीं हो सकती।

छात्रा के साथ गए डॉक्टर ने कहा :

दिल्ली में ही उसके सारे अंगों ने काम करना बंद कर दिया था, सिंगापुर में सिर्फ जांच ही हुई। पीडि़त युवती के साथ सिंगापुर गए मेदांता अस्पताल के डॉ. यतीन मेहता ने कहा कि छात्रा के खून में प्लेटलेट्स नहीं बन रहे थे।

लंग्स भी काम नहीं कर रहे थे। फेफड़ों के साथ-साथ पूरे शरीर में संक्रमण फैल गया था। इससे उसके कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था।

डॉ. मेहता ने कहा कि सिंगापुर में मरीज की जो स्थिति थी, उस स्थिति में ज्यादा इलाज संभव नहीं हो पाया था। वहां के डॉक्टरों ने पहुंचते ही उसके शरीर के सभी अंगों तथा खून की जांच की थी। लेकिन उनके पास इतना समय नहीं था कि कोई अतिरिक्त इलाज किया जा सके।

भारत का युवा इंडिया गेट से लेकर राष्ट्रपति भवन तक प्रदर्शन कर रहा है। कानून जब बनेगा, तब बनेगा। महिलाओं के खिलाफ अपराध तब रूकेंगे जब हम उनकी दिल से इज्जत करेंगे। इस बार इसी संकल्प को करने का मौका है, हमारे महाअभियान से जुड़कर। हमारे इस महाअभियान से जुड़िए और संकल्प लीजिए कि मैं महिलाओँ का सम्मान करूंगा।
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: This is rarest of the rare case, 5 out of six could be hanged
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top