» Why Gangrape Victim Decide To Send Singapore, It Was A Cause

क्यों किया सिंगापुर भेजने का फैसला, यह थी असल वजह

dainibhaskar.com | Dec 29, 2012, 06:19 IST

  • नई दिल्ली. गैंगरेप की शिकार हुई पैरामेडिकल छात्रा को मंगलवार रात आए हार्ट अटैक के बाद उसका इलाज कर रहे डॉक्टरों की टीम घबरा गई थी।
    इस वजह से तुरंत राजधानी के शीर्ष डॉक्टरों को बुलाया गया। इनमें मेदांता अस्पताल के डॉ. नरेश त्रेहन भी शामिल थे। लेकिन सभी डॉक्टरों ने पीडि़ता की हालत देखने के बाद मशविरा दिया कि उसके सर्वाइवल के लिए जरूरी है कि उसे तुरंत मल्टी ऑर्गन ट्रांसप्लांट की सुविधा देने वाले अस्पताल में शिफ्ट किया जाए।
    देश में किसी भी अस्पताल में ऐसी सुविधा उपलब्ध नहीं होने के चलते यह फैसला किया गया कि उसे सिंगापुर शिफ्ट किया जाए, जो सबसे नजदीक है और कम से कम समय में पहुंचा जा सकता है। पीडि़ता को लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखकर सिंगापुर शिफ्ट किया गया।
  • सफदरजंग अस्पताल में पीडि़ता का इलाज कर रहे डॉक्टरों का कहना है कि उसे सेप्सिस हो गया था। संक्रमण पूरे शरीर में फैल चुका था, प्लेटलेट्स नहीं बन रहे थे और डब्ल्यूबीसी लगातार घट-बढ़ रहे थे।

  • इसके बाद दिल का दौरा पडऩे पर डॉक्टरों को यह समझ में नहीं आ रहा था कि इस स्थिति से कैसे निपटा जाए। उधर, सिंगापुर से अस्पताल के प्रवक्ता ने कहा था कि पीडि़ता की हालत क्रिटिकल थी।

     

  • एयर एम्बुलेंस में लड़की की हालत पर निगाह रखने के लिए मेदांता के डॉक्टर नरेश त्रेहन और डॉक्टर जतिन मौजूद थे। पीड़िता की ब गंभीर हालत  को देखते हुए उसके मां-बाप और भाई को भी साथ में सिंगापुर भेज गया। लगभग छह घंटे की उड़ान के बाद यह विमान गुरूवार सुबह 7 बजे के करीब सिंगापुर पहुंचा। 

  • बुधवार को गैंगरेप की शिकार लड़की का नियमित मेडिकल बुलेटिन जारी नहीं होने के बाद से ही उसकी हालत को लेकर अफवाहों का बाजार गर्म था। हर दिन की तरह बुधवार को भी शाम साढ़े चार बजे लड़की का मेडिकल बुलेटिन जारी होना था, लेकिन तय समय से ऐन पहले सफदरजंग अस्‍पताल की तरफ से जारी बयान में कहा गया कि आज मरीज का मेडिकल बुलेटिन जारी नहीं किया जाएगा। 

  • ऐसे में सोशल वेबसाइटों पर इस तरह की अफवाहें उड़नी शुरू हो गई कि लड़की अब इस दुनिया में नहीं रही। ऐसी भी खबर आई कि लड़की की हालत नाजुक देखते हुए उसे गुड़गांव के मेदांता अस्‍पताल शिफ्ट किया जा सकता है। हालांकि,  इस बारे में कोई आधिकारिक बयान नहीं आया। बुधवार को अस्‍पताल में भारी सुरक्षाबल तैनात कर दिया गया और मीडिया को भी अस्‍पताल परिसर से बाहर कर दिया गया था। 

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: Why gangrape victim decide to send Singapore, it was a cause
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top