Home »Khabre Zara Hat Ke »Weird World» 5 More Addiction Which Are More Dangerous Than Drugs And Alcohal

PICS: शराब और ड्रग्स ही नहीं, ये 5 आदतें भी बन चुकीं हैं बुरी लत!

dainikbhaskar.com | Jan 04, 2013, 09:39 IST

  • जब बात लत या आदी होने की आती है, तो ज्यादातर लोग इसे शराब, तंबाकू और ड्रग्स से जोड़कर देखते हैं। लेकिन पिछले कुछ सालों में वैज्ञानिकों ने लोगों की कुछ आदतों का अध्ययन किया और पाया कि वे कुछ व्यवहारजन्य लत का शिकार हैं।
    उन्हें परेशानी है, लेकिन वे उसे गंभीर नहीं मान रहे। वेबसाइट 'डिस्कवरी हेल्थ' ने जानकारी दी ऐसी कुछ आदतों के बारे में, जो लत का रूप ले चुकी हैं।
    आगे की स्लाइडों में जानिए कौनकौन से हैं ये 5 बुरे लत...
  • काम (वर्कोहलिज्म): आमतौर पर ऐसे लोगों के लिए 'वर्कोहलिक' शब्द का इस्तेमाल होता है। लेकिन जरूरी नहीं कि बहुत ज्यादा काम करने वाले लोग वर्कोहलिक हों। विशेषज्ञों के मुताबिक यह ऐसी अवस्था है, जिसमें काम न होते हुए भी व्यक्ति उसी के बारे में सोचता रहता है। यह एक डिसऑर्डर है। असर: चूंकि यह अवस्था व्यवहार से उत्पन्न होती है, इसलिए इसका असर सबसे पहले परिवार और दोस्तों के साथ रिश्तों पर पड़ता है। फिर शरीर पर भी इसके दुष्प्रभाव दिखाई देने लगते हैं।
  • कैफीन (कॉफी एडिक्ट): यदि कोई व्यक्ति सिर के भारीपन को सिर्फ कॉफी से दूर करता हो, तो समझ लीजिए वह कॉफी की लत का शिकार है। मस्तिष्क के नर्वस सिस्टम को धीमा करने वाले एडीनोसाइन कंपाउंड के असर को कैफीन दूर करता है। ऐसे में सक्रिय बने रहने के लिए शुरुआत में तो कॉफी मदद करती है, लेकिन बाद में व्यक्ति इस पर जरूरत से ज्यादा निर्भर हो जाता है। असर: कैफीन के आदी लोगों में बेचैनी, सीने में दर्द, थकान और सिरदर्द देखा जा सकता है।

  • इंटरनेट (गेमिंग): युवा इंटरनेट यूजर की संख्या बढऩे के साथ ही इसके आदी होने वाले लोगों की संख्या भी बढ़ रही है। खासतौर पर इंटरनेट गेम्स में बढ़ती दिलचस्पी ने नए चलन को जन्म दिया है। कई ऑनलाइन गेम्स में यूजर को कुछ भूमिका दी जाती है और फिर वह उसमें डूबता चला जाता है। सेंटर फॉर इंटरनेट एडिक्शन के मुताबिक पांच से दस फीसदी लोग इंटरनेट एडिक्शन के शिकार हैं। हालांकि कुछ स्टडीज इसे 15 फीसदी तक मानती हैं। असर: इंटरनेट एडिक्शन के शिकार लोग कई बार सिर्फ बेहतर महसूस करने के लिए ऑनलाइन हो जाते हैं। इंटरनेट से दूर होने पर वे चिड़चिड़ा व्यवहार करते हैं।
  • टेलीविजन: क्या किसी पसंदीदा टीवी सीरियल को देखने से चूक जाने पर आप बेचैन हो जाते हैं? किसी दिन केबिल सेवा बाधित होने से आप आग-बबूला हो जाते हैं? ये लक्षण है टीवी एडिक्शन के। करीब 12.5 फीसदी लोगों ने बताया है कि उन्हें टीवी देखने की भयंकर लत है। कई लोग इसे टाइम-पास का बहाना मानते हैं। लेकिन धीरे-धीरे वे इसकी गिरफ्त में आते जाते हैं। असर: व्यवहार में फर्क आने लगता है। टीवी के सामने से हटते ही अनमनापन दिखाई देने लगता है।
  • शॉपिंग: मॉल कल्चर आने के साथ कई लोगों में यह आदत देखी गई है कि वे हर वस्तु और उसके ऑफर के बारे में जानकारी रखना चाहते हैं। हर मुमकिन कोशिश की जाती हैं कि वे अधिक से अधिक चीजें खरीद लें। चाहे वह उनकी प्राथमिकता में शामिल हो या नहीं। ऐसा इसलिए क्योंकि वे मॉल की आबोहवा के आदी हो जाते हैं। हर 20 में से एक व्यक्ति इस लत का शिकार है। असर: शॉपिंग के आदी लोगों को मॉल में जाकर ही चैन मिलता है। इसका सबसे ज्यादा असर तो उनकी जेब पर पड़ता है।
  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: 5 more addiction which are more dangerous than drugs and alcohal
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Weird World

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top