Home »Khabre Zara Hat Ke »Weird World» Largest Dams In The World

PIX: ये हैं दुनिया के नामचीन डेम, अदभुत टेक्नोलॉजी के मिसाल

Agency | Feb 17, 2013, 15:02 IST

  • धरती पर लाखों नदियां प्रवाहित होती हैं। ये नदियां हमारी जीवन दायनी कहीं जाती हैं। पीने के लिए स्वच्छ पानी से लेकर खेती-किसानी, जीवन यापन और आज की सबसे बड़ी जरूरत बिजली भी नदियों के पानी से तैयार की जाती है। कहा भी जाता है कि ‘जल है तो जीवन है ’। तकनीक के विकास के साथ में आज आदमी कहीं आगे जा चुका है।

    पानी की बढ़ती मांग और बिजली की जरूरत के चलते आज हर छोटी-बड़ी नदियों में छोटे-बड़े बांध पहले से स्थापित हैं और आगे और भी बांध तेजी के साथ स्थापित किए जा रहे हैं। विशाल नदियों के पानी को रोककर बांध बनाने में भारी-भरकम खर्च होने के साथ-साथ इसे बनाने में काफी वक्त भी लगता है, तब जाकर यह बांध जीवन रेखा के रूप में सभी के काम आता है।

    विशाल नदियों में स्थित इन बांध की लंबाई-चौड़ाई और ऊंचाई को देख सब हैरान हो जाते हैं और सोचते हैं कि इतना अदभुत निर्माण कैसे हुआ होगा। बांध में लगे बड़े-बड़े गेट से गिरता पानी सभी को आकर्षित करता है। आसपास के विस्तृत क्षेत्रों में सिंचाई के लिए नहरें पीने के लिए पाईप-लाइन और सबसे जरूरी बिजली पैदा करने के लिए नींचे बड़ी टरबाईन लगी हुई होती है।

    ऐसे ही दुनिया के कुछ ऐसे नामचीन डेम हैं, जिनकी चर्चा हमेशा होती रहती है। आखिर इन बांध की क्या-क्या खासियत है जानने के लिए आगे की स्लाइड्स देखिए...

  • बांध: थ्री गोर्जेस, चाइना (2008)

    नदी: थ्री गोर्जेस

    ऊंचाई : 181 मीटर

    एरिया: 4,100,000 क्यूबिक फीट पानी की क्षमता

    खास पहचान: नई डिजाइन और खूबसूरती के लिए खास पहचान

    लाभ :सिंचाई और बिजली परियोजना

  • बांध: सिंकरूड ताईलिंग्स, कनाडा (1978)

    नदी: मिल्ड्रेड लेक

    ऊंचाई : 133 मीटर

    एरिया: 540,000,000 क्यूबिक मीटर पानी की क्षमता

    खास पहचान: फिलहाल इस बांध को अभी मेंटेन किया जा रहा है।

    लाभ :सिंचाई और बिजली परियोजना

  • बांध: अस्वान बांध, अरब (1970) ।

    नदी : नील

    ऊंचाई : 111 मीटर

    एरिया: 390,000 क्यूबिक फीट पानी की क्षमता

    खास पहचान: इस बांध के साथ और भी कई छोटे बांध इसमें शामिल है।

    लाभ :सिंचाई और बिजली परियोजना

  • बांध: फोर्ट पीक, अमेरिका (1933)

    नदी : फोर्ट पीक

    ऊंचाई : 250 मीटर

    एरिया: 250,000 क्यूबिक फीट पानी की क्षमता

    खास पहचान: इस बांध को बनाने में उस समय के तत्कालीन राष्ट्रपति फ्रैंकलिन रूसवेल्ट के निर्देशन में लगभग 11,000 मजूदरों की मेहनत से इसे तैयार किया गया था।

    लाभ :सिंचाई और बिजली परियोजना

  • बांध : तारबेला, पाकिस्तान (1974)

    नदी : इंडस

    ऊंचाई : 143 मीटर

    एरिया: 13.69 क्यूबिक किलोमीटर पानी की क्षमता

    खास पहचान: नेचुरल हिस्से में सीढ़ी दार बांध की दीवार इसकी खासियत है।

    लाभ :सिंचाई और बिजली परियोजना

  • बांध: मंगला, पाकिस्तान (1967)

    नदी : मंगला

    ऊंचाई : 138 मीटर

    एरिया: 5,88,000 एकड़ फीट पानी की क्षमता

    खास पहचान: वर्ल्ड बैंक ने इसे बनाने के लिए आर्खिक मदद की थी।

    लाभ :सिंचाई और बिजली परियोजना

  • बांध: अतातुर्क, तुर्की (1992)

    नदी : यूफ्रेटस

    ऊंचाई : 169 मीटर

    एरिया: 11,600 क्यूबिक फीट पानी की क्षमता

    खास पहचान: तुर्किश शैली से निर्मीण हुआ।

    लाभ :सिंचाई और बिजली परियोजना

  • बांध: वर्जास्का, स्विटजरलैंड (1965)

    नदी : वर्जास्का

    ऊंचाई : 220 मीटर

    एरिया: 23,000,000 क्यूबिक फीट पानी की क्षमता

    खास पहचान: अगल-बगल बड़े पहाड़ और जंगल के साथ आकर्षक दिखने वाला बांध

    लाभ :सिंचाई और बिजली परियोजना

  • बांध: नागार्जुन सागर- आंध्रप्रदेश, भारत (1960)

    नदी : नागार्जुन सागर रिजर्व एरिया

    ऊंचाई : 124 मीटर

    एरिया: 5,440,000,000 मीटर पानी की क्षमता

    खास पहचान: 26 बड़े गेट के साथ, यह बांध दुनिया के सबसे बड़े बांधों में से एक है।

    लाभ :सिंचाई और बिजली परियोजना

  • बांध: श्रीशैलम-आंध्रप्रदेश, भारत (1981)

    नदी : कृष्णा

    ऊंचाई : 145 मीटर

    एरिया: 79,550 स्कवायर मीटर पानी की क्षमता

    खास पहचान: दुनिया के 12 सबसे बड़े हाइड्रो पावर में श्री शैलम का नाम भी शामिल है।

    एक इस बांध का हाइड्रो पावर का स्थान है।

    लाभ :सिंचाई और बिजली परियोजना

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: Largest Dams in the World
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Weird World

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top