Home »Khabre Zara Hat Ke »Weird World» Top Most Controversial And Strange Fatwas In World

PHOTOS: दुनिया के कंट्रोवर्सियल फतवे, जिनपर मचा काफी बवाल!

Dainikbhaskar.com | Dec 18, 2012, 00:02 IST

  • इस्लामिक धर्मगुरूओं द्वारा समय-समय पर फतवे जारी किए जाते रहे हैं। धर्म को मानने वाले कुछ लोग इनका स्वागत करते हैं तो कुछ प्रगतिशील विचारधारा वाले लोग इनका विरोध करते हैं।
    बीते कुछ सालों में धार्मिक पुस्तकों और धर्मगुरूओं की विचारधारा के आधार पर सैकड़ों फतवे जारी किए जा चुके हैं।
    dainikbhaskar.com विभिन्न अंग्रेजी वेबसाइट्स पर उपलब्ध जानकारी के आधार पर पाठकों को कुछ बेहद अजीबो-गरीब फतवों से रूबरू करवा रहा है।
    आगे की स्लाइडों में जानिए दुनिया भर में जारी हुए अजीबोगरीब व बेतुके फतवे...
  • सूरज, पृथ्वी के चारो ओर चक्कर लगाता है (मुफ्ती शेख इब्न बाज़ द्वारा दिया गया) -
    वर्ष 2000 में मुफ्ती शेख द्वारा यह दावा किया गया कि पृथ्वी चकती के आकार की है और अपनी जगह स्थिर है। उन्होंने यह भी कहा कि सूर्य पृथ्वी के चारो ओर चक्कर लगाता है।
    (स्रोत - अल अहराम के वीकली इश्यू के 13-19 अप्रैल 2000 अंक में प्रकाशित)
  • एक ऐसी किताब के लिए कत्लेआम, जिसे कई लोगों ने पढ़ा भी नहीं (अयातुल्लाह खोमेनी द्वारा किताब के विरोध में फतवा जारी किया गया) -
    सन् 1988 में प्रकाशित सलमान रूश्दी के उपन्यास 'द सटैनिक वर्सेज' के खिलाफ ईरानी क्रांतिकारी नेता अयातुल्लाह खोमेनी द्वारा फतवा जारी किया गया, जिसमें सलमान की हत्या पर मोटी रकम देने का वादा किया गया था। इस फतवे के कारण उपन्यास के ट्रांसलेटर, प्रकाशक और विक्रेताओं पर कई हमले हुए। एक जापानी अनुवादक हितोशी इगाराशी की हत्या भी कर दी गई। दुनियाभर में रह रहे लाखों मुस्लिमों ने इस किताब की एक भी पंक्ति नहीं पढ़ी थी, फिर भी वे आक्रोशित थे। कई लोग ऐसे भी थे जो कभी भी सलमान रूश्दी से मिले तक नहीं थे, फिर भी वे उनकी हत्या करना चाहते थे। दिलचस्प बात यह है कि 24 प्रतिशत ईरानी लोगों को उस समय पढ़ना भी नहीं आता था।
    (स्रोत - “The West Is Choked by Fear”, Der Speigel Jan 4, 2010, Henryk Broder)
  • मिकी माउस को मारने का फतवा (मोहम्मद अल-मुनाजिद द्वारा जारी किया गया) -
    आप सही समझ रहे हैं...शेख मोहम्मद अल-मुनाजिद ने यह फतवा जारी किया था कि किसी भी हालत में मिकी माउस का सिर काटकर लाया जाए। बकौल डेली टेलीग्राफ अल-मुनाजिद का कहना था कि कार्टून कैरेक्टर मिकी माउस, शैतान का सैनिक है। मुनाजिद द्वारा ऐसा ही एक और फतवा टॉम एंड जेरी कार्टून कैरेक्टर्स के लिए भी जारी किया गया था।
  • इमोशन स्माइली के विरोध में फतवा ( मुल्तका अहल अल हदीथ द्वारा जारी) -
    मुस्लिम इंटरनेट फोरम मुल्तका अहल अल हदीथ द्वारा इंटरनेट की दुनिया में इस्तेमाल किए जाने वाले इमोशन्स स्माइली के खिलाफ फतवा जारी किया गया था। इस फतवे का आधार यह था कि जब ख़ुदा ने भावनाएं जाहिर करने के लिए जीता-जागता इंसान बनाया है तो स्माइली की क्या ज़रूरत। हदीथ द्वारा कहा गया था कि ये इमोशनल स्माइली इस्लाम में हराम हैं। खासतौर पर महिलाओं के लिए इन स्माइली के इस्तेमाल पर कड़ा विरोध जाहिर किया गया था।
    (स्रोत - जिहादवॉच)
  • फुटबॉल फतवा -
    जी हां, यह खूबसूरत खेल भी फतवाओं की चपेट में आने से बच नहीं पाया है। सउदी अरब के अखबार अल वतन में यह फतवा प्रकाशित किया गया था, जिसमें मुसलमानों के लिए फुटबॉल से जुड़े दिशा-निर्देश जारी किए गए थे। इसमें कहा गया था कि अगर मुस्लिम 11 लोगों के साथ फुटबॉल खेल रहे हैं तो उनमें ज्यूस, क्रश्चियन और अन्य धर्म के लोग शामिल नहीं होने चाहिए। इसमें यह भी कहा गया था कि रंगीन टीशर्ट और शॉट्स के बजाय पायजामा और कुर्ता पहनना चाहिए। साथ ही यह भी कहा गया था नंबर वाली टीशर्ट नहीं पहननी चाहिए क्योंकि ये इस्लाम के खिलाफ है।
    (स्रोत - 'एक फतवा ऑन फुटबॉल', द गार्जियन, 31 अक्टूबर 2005 को प्रकाशित)
  • पोलियो वैक्सीन इस्लाम के खिलाफ है -
    पोलियो भारत, नाइजीरिया, अफगानिस्तान और पाकिस्तान में काफी पांव पसार रहा है। इन क्षेत्रों में पोलियो को लेकर बड़े अभियान भी चलाए जा रहे हैं, लेकिन धार्मिक अंधविश्वास इस काम में आड़े आ रहे हैं। पाकिस्तान में पोलियो वैक्सीन को इस्लाम विरोधी मानते हुए इसके खिलाफ फतवा भी जारी हो चुका है।
    (स्रोत - “POLIO ERADICATION: Looking for a Little Luck”, Roberts Science 6 February 2009)
  • सेक्स के दौरान नग्न होना अपराध है (रशद हसन खलील द्वारा जारी) -
    यह अजीबो गरीब फतवा कीरो की अल अजहर यूनिवर्सिटी के इस्लामिक लॉ डिपार्टमेंट के पूर्व डीन रशद हसन खलील द्वारा सन् 2007 में जारी किया गया था। इसमें कहा गया था कि अगर कोई शादी-शुदा जोड़ा सेक्स के दौरान नग्न होता है तो उनकी शादी उसी समय टूटी हुई मानी जाएगी। उन्होंने यह भी कहा था कि इस्लाम में सेक्स के दौरान गुदा मैथुन को छोड़कर कुछ भी वर्जित नहीं है। अल अजहर फतवा कमेटी के चेयरमैन अब्दुल्लाह द्वारा इस में नरमी बरतते हुए कहा गया था कि पति-पत्नी एक दूसरे को नग्न देख तो सकते हैं, लेकिन सेक्स के दौरान उनकी शरीर कंबल या चादर में ढंका होना चाहिए।
    (स्रोत- सिंपली डंब)
  • स्तनपान फतवा -
    मई 2007 में इज्जत अटिया से यह पूछा गया कि गैरशादीशुदा मर्द और औरत किस तरह एक साथ एक ही ऑफिस में काम कर सकते हैं, जबकि इस्लाम द्वारा गैरशादीशुदा मर्दों और औरतों का एक साथ रहना गुनाह है। तो उनका जवाब था कि महिलाएं अगर गैरशादीशुदा पुरूष को पांच बार स्तनपान करवाएं तो फिर एक साथ दफ्तर में काम करना गुनाह नहीं रह जाता। अटिया द्वारा यह तर्क दिया गया था कि पांच बार स्तनपान करवाने से महिला, उस मर्द की मां बन जाती है और फिर वो उसके साथ कहीं भी अकेले समय बिता सकती है।
    (स्रोत -A Fatwa Free-for-All In the Islamic World”, New York Times, Michael Slackman, Monday, June 11, 2007)
  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: Top Most Controversial and Strange Fatwas In World
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Weird World

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top