Home »Gujarat »Politicians» Congress Minister Narhari Ameen Resign To All Post

गुजरात कांग्रेस के लिए कहीं मुसीबत न बन जाए इस विकेट का गिरना

Nitesh Shrivastava | Dec 05, 2012, 00:03 IST

  • अहमदाबाद। कई असंतुष्ट उम्मीदवारों के इस्तीफे के बाद गुजरात कांग्रेस को अब तक का सबसे बड़ा झटका लगा है। कांग्रेस इकाई के वरिष्ठ नेता और उप-मुख्यमंत्री नरहरि अमीन ने कांग्रेस के सभी पदों से इस्तीफा दे दिया है। कांग्रेस आलाकमान ने उन्हें मनाने के काफी प्रयास किए।

    केंद्रीय नेता और आईपीएल के चेयरमैन राजीव शुक्ला उन्हें मनाने के लिए अहमदाबाद आए थे, लेकिन कोई बात नहीं बन सकी। अंतत: नरहरि ने मंगलवार को पार्टी से पूरी तरह नाता तोड़ लिया।



    अमीन के इस कदम के बाद अब यह चर्चा जोरों पर उठ रही है कि क्या वे भाजपा से जुड़ जाएंगे। आगे पढि़ए क्या कहा अमीन ने....

  • अमीन ने अपने इस्तीफे के बारे में बताया कि मैं पिछले तीन दिनों में कांग्रेस के अपने कई पुराने दोस्तों से मिला, उनसे चर्चा की और इसी के बाद मैंने यह फैसला लिया। भाजपा से जुडऩे की अटकलों को खारिज करते हुए उन्होंने कहा कि अब तक मेरी किसी भी बीजेपी के नेता से मुलाकात नहीं हुई है। हां, मुझे पुरुषोत्तम रूपाला की ओर से भाजपा से जुडऩे का निमंत्रण मिला है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी में मेरी लगातार उपेक्षा हो रही है। इस बीच मेरी बीजेपी के कई नेताओं से भी मुलाकात हुई और उन्होंने मुझसे यही कहा कि आप हमारी पार्टी से जुड़ जाईए, हमें आप जैसे लोगों की जरूरत है।

  • इसके साथ ही उन्होंने यह भी उल्लेख किया कि मैंने अपने किसी समर्थक से इस्तीफा देने के लिए नहीं कहा है। मैं तो सबसे यही कह रहा हूं कि जहां आपको अपना भविष्य दिखाई देता है, वहां चले जाओ और ईमानदारी से काम करो। शहर की 16 सीटों के परिणामों से पता चल जाएगा कि मैंने कार्यकर्ताओं से निष्क्रिय रहने के लिए कहा या नहीं। आज कांग्रेस के अनेकों नेता वे हैं, जिनका 21 वर्ष पहले (अमीन के उप-मुख्यमंत्री के दौर में) अस्तित्व ही नहीं था, लेकिन मैंने कभी कार्यकर्ताओं से कोई मतभेद नहीं रखा।

  • उल्लेखनीय है कि अमीन विधानसभा चुनाव की पसंदीदा सीट न मिलने से नाराज हैं। उन्होंने प्रदेश अध्यक्ष अर्जुन मोढवाडिया को बता दिया था कि वे गांधीनगर-उत्तर से चुनाव लडऩे के इच्छुक नहीं है। जब आलाकमान ने उनकी बात को गंभीरता से नहीं लिया तो उन्होंने पार्टी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। लेकिन बात यहीं रुकने वाली नहीं थी क्योंंकि उनके मोर्चा खोलने की बात फैलते ही अमीन के करीबी चार नेताओं ने विस.चुनाव न लडऩे की चेतावनी दे दी है। इनमें नारणपुरा से डॉ. जीतू पटेल, घाटलोडिया से रमेश दूधवाला, पालडी से कमलेश शाह एवं साबरमती से खड़े हुए भरत पटेल शामिल हैं। इन नेताओं ने चुनाव न लडऩे और पार्टी से त्याग पत्र देने का प्रस्ताव देकर पार्टी आलाकमान से मामले में पुनर्विचार की अपील की है। इससे पहले ही अमीन में 300 समर्थक इस्तीफा दे चुके हैं। अहमदाबाद से टिकट पाने वाले डॉ. जीतू पटेल ने नामांकन के बावजूद निष्क्रिय होने की चेतावनी दी है।

  • बताया जाता है कि भाजपा ने उन्हें गुजरात क्रिकेट एसोसिएशन (जीसीए) में अहम पद देने का ऑफर भी दिया है। अमीन के समक्ष गांधीनगर- दक्षिण सहित 3-4 सीटों का प्रस्ताव भी रखा गया ताकि वे भाजपाई हो जाएं। इतना ही नहीं, मोदी के साथ अमीन की गुप्त बैठक की भी अटकलें की खबरें हैं।

  • मामले को संभालने के लिए सोनिया गांधी के राजनीतिक सलाहकार अहमद पटेल को लगाया गया है। उनके गुजरात पहुंचने की संभावना जताई जा रही है। हालांकि फिलहाल इस बात की पुष्टि नहीं हो सकी है। इससे पहले प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अर्जुन मोढवाडिया और प्रदेश प्रभारी मोहन प्रकाश अमीन से बात कर चुके हैं। इनकी बात से अमीन संतुष्ट नहीं हुए हैं। गुजरात के प्रभारी रहे बी.के. हरिप्रसाद को अमीन को मनाने के लिए कहा गया है।

  • सोमवार को अमीन ने अहमदाबाद में शक्ति प्रदर्शन भी किया था, जिसमें भारी संख्या में कांग्रेसी समर्थकों ने हिस्सा लिया। हालांकि अमीन अब तक यही कह रहे थे कि वे कांग्रेस के खिलाफ चुनाव प्रचार नहीं करेंगे, लेकिन अब हालात बदल सकते हैं।

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: Congress minister Narhari Ameen resign to all post
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Politicians

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top