Home »Haryana »Ambala » Confidence Motion

तिवारी को उपाध्यक्ष पद से हटाने को लगी मुहर, नए की घोषणा इसी सप्ताह

Bhaskar news | Apr 21, 2017, 07:33 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
तिवारी को उपाध्यक्ष पद से हटाने को लगी मुहर, नए की घोषणा इसी सप्ताह
अम्बाला.कैंटोनमेंट बोर्ड के पार्षद अजय बवेजा पर हमला करवाने वाले सुरेंद्र तिवारी को पद से हटा दिया गया। कैंटोनमेंट बोर्ड में अध्यक्ष ब्रिगेडियर विजय सहगल, सीईओ वरुण कालिया व सेना के मनोनीत बोर्ड सदस्यों की मौजूदगी में पार्षदों लक्ष्मी देवी, आशिमा, राजू बाली, वीरेंद्र गांधी और नीलम रानी ने सुरेंद्र तिवारी को उपाध्यक्ष पद से हटाए जाने के लिए अविश्वास प्रस्ताव पर लिखित में अपनी सहमति प्रदान की। अविश्वास प्रस्ताव पर कांग्रेसी पार्षद वीरेंद्र गांधी ने भी सहमति दी।

अविश्वास प्रस्ताव पर बोर्ड की मुहर: कैंटोनमेंट बोर्ड के प्रेसीडेंट ब्रिगेडियर विजय सहगल ने बताया कि पार्षदों द्वारा दिए गए अविश्वास प्रस्ताव के बाद सुरेंद्र तिवारी को उपाध्यक्ष पद से हटा दिया गया है।

पार्षद ही अगले उपाध्यक्ष का नाम तय करके बोर्ड को बताएंगे। फिलहाल सुरेंद्र तिवारी वार्ड नंबर 5 के पार्षद बने रहेंगे। ब्रिगेडियर सहगल ने बताया कि तिवारी पार्षद बने रहेंगे या नहीं, यह पार्षदों और उनकी पार्टी का मामला है जैसे-जैसे प्रस्ताव आएंगे, नियमानुसार बोर्ड विचार करेगा। जैसे ही पार्टी के संज्ञान में यह मामला आया पार्टी ने तत्काल तिवारी से भाजपा से निष्कासित कर दिया था।
175 वर्षों में पहली बार उपाध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास
अम्बाला कैंटोनमेंट के 175 सालों के कार्यकाल में शायद यह है पहला मौका होगा कि जब भाजपा बहुल बोर्ड पार्षदों में भाजपा के ही पार्षद के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पारित हुआ हो। इसके साथ ही यह भी पहला मौका होगा जब निजी खंुदक के कारण किसी पार्षद ने दूसरे पर हमला करवाया हो। इससे कहीं न कहीं पार्टी भी आहत हुई है। भाजपा ने मामले के संज्ञान में आते ही सुरेंद्र तिवारी से किनारा कर लिया था। गुरुवार को अविश्वास प्रस्ताव के बाद तिवारी को दरकिनार करते हुए नए उपाध्यक्ष की तैयारियां भी शुरू हो गई हैं। वहीं भाजपा पार्षदों के साथ कांग्रेस के इकलौते पार्षद ने भी तिवारी के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव में सहयोग किया।
नए उपाध्यक्ष का अगले हफ्ते हो सकता है ऐलान
सीईओ वरुण कालिया ने बताया कि सुरेंद्र तिवारी को उनके पद से हटा दिया गया है। सदन में मौजूद पांचों पार्षदों ने हस्ताक्षर करके अविश्वास प्रस्ताव पेश किया है। प्रक्रिया के मुताबिक अब उपाध्यक्ष पद पर दावा करने वाले पार्षदों को फॉर्म दिए जाएंगे। उसके बाद कैंटोनमेंट बोर्ड कम से कम 4 दिन का समय लेगा। इसके बाद दोबारा से बैठक बुलाकर पार्षदों द्वारा मनोनीत किए गए उपाध्यक्ष के नाम से अवगत करवा देगा। चंद दिनों में ही दोबारा सदन की बैठक बुलाकर नए उपाध्यक्ष का चुनाव करा दिया जाएगा।
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
DBPL T20
Web Title: Confidence motion
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From Ambala

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top