Home »Haryana »Ambala » Library Foundation Ceremony Gurukulam

मेरे पास तो पीली बत्ती,मंत्री जी आपकी लालबत्ती, आप ही डालें आहुति

Bhaskar News | Mar 05, 2017, 07:07 IST

मेरे पास तो पीली बत्ती,मंत्री जी आपकी लालबत्ती, आप ही डालें आहुति
कुरुक्षेत्र। अंतरराष्ट्रीय स्तर का गीता ज्ञानम संस्थान बनाने की घोषणा सरकार पहले ही कर चुकी थी। इसका बीड़ा गीता मनीषी स्वामी ज्ञानानंद महाराज के मार्गदर्शन में श्रीकृष्ण कृपा सेवा समिति और जीओ गीता संस्थान को सौंपा था।
पिछले साल चार मार्च को सीएम मनोहरलाल, आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत आदि समेत कई हस्तियों ने छह एकड़ में प्रस्तावित उक्त संस्थान की नींव रखी थी। करोड़ों रुपए के इस बजट को तीन वर्षों के भीतर आकार लेने के दावे हो रहे हैं। हालांकि यह दीगर बात है कि उक्त संस्थान की अभी तक एक साल में बाउंड्री वाल ही तैयार हो पाई थी। अब संस्थान के तहत विभिन्न क्रियाकलापों के लिए भवनों के निर्माण के लिए कवायद शुरू हुई है।
शनिवार को गीता ज्ञानम संस्थानम के गुरुकुलम और लाइब्रेरी का शिलान्यास समारोह हुआ। जिसमें कैबीनेट मंत्री विपुल गोयल, राज्यमंत्री नायब सिंह सैनी, विधायक सुभाष सुधा, डॉ. पवन सैनी, जिप चेयरमैन गुरदयाल सुनहेड़ी, जिलाध्यक्ष धर्मबीर मिर्जापुर समेत कई हस्तियों ने शिरकत की।
....मेरे पास तो पीली बत्ती : इनदिनों भाजपा के असंतुष्ट खेमे में गिने जा रहे डॉ. पवन सैनी ने इशारों-इशारों में अपने मन की बात भी कह डाली। मंच से पहले तो गीता ज्ञान संस्थान और सरकार द्वारा गीता, धर्मनगरी के विकास को लेकर किए जा रहे कार्यों की तारीफ की। फिर सामने बैठे कैबिनेट मंत्री विपुल गोयल का नाम लेकर कहा कि विपुल जी मेरे पास तो पीली, संतरी बत्ती वाली गाड़ी है। जबकि आपके पास तो लाल रंग की बत्ती है। इसलिए मेरी प्रार्थना है कि आप मेरी तरफ से भी इस महायज्ञ में आहुति अवश्य डाल देना। कहने का मतलब यह था कि उक्त संस्थान को अनुदान उनकी तरफ से बतौर मंत्री वे दें। हालांकि यह कहते हैं वहां मौजूद सभी लोगों की हंसी छूट गई।
इस दौरान विधायक सुभाष सुधा, गुरदयाल सुनहेडी, मदनमोहन, विजय नरूला, सुशील राणा आदि समेत कई लोग मौजूद रहे।
नायब का जवाब, सैनी तो सीएम के लाडले हैं
इसकेबाद राज्यमंत्री नायब सैनी मंच पर बोलने पहुंचे। हंसी हंसी में उन्होंने डॉ. पवन सैनी का नाम लेकर कह डाला कि पवन सैनी तो मुख्यमंत्री के सबसे लाडले विधायक हैं। इस पर वहां मौजूद लोगों में खुसर पुसर होने लगी। लोग कहते सुने कि सत्तापक्ष के विधायक बातों-बातों से एक दूसरे पर निशाना लगा रहे हैं। विपुल गोयल ने संस्थानम को 11 लाख रुपए ग्रांट से देने की घोषणा। साथ ही पवन सैनी की ओर इशारा करते हुए कह डाला कि वे उनकी तरफ से भी संस्थान को कुछ देंगे। फिर मंच पर मौजूद डॉ. पवन सैनी, विधायक रोहिता रेवड़ी एवं सुभाष सुधा की ओर से भी 11-11 लाख रुपए संस्थान को देने की घोषणा कर डाली।
सर्जिकलस्ट्राइक रही देरी का कारण : स्वामीज्ञानानंद ने कहा कि विधायकों को जनता ने चुना है। लिहाजा विधायकों को अपने सामाजिक दायित्व का निर्वहन करते हुए जनसेवा करनी चाहिए। कहा संस्थानम के निर्माण में हो रही देरी का कारण सर्जिकल स्ट्राइक भी रहा है। सर्जिकल स्ट्राइक से उनका इशारा नोटबंदी की ओर था।
महाभारत नहीं-गीता से हो पहचान
शिलान्याससमारोह के बाद गीता पर गोष्ठी भी हुई। वक्ताओं ने कहा कि सरकार गीता के संदेशों को दुनिया भर में पहुंचाने का प्रयास कर रही है। गीता ज्ञान संस्थानम इसमें अपनी महत्ती भूमिका निभाएगा। डा.पवन सैनी ने कहा कि कुरुक्षेत्र के प्रवेश पर गीता द्वार है। यहां आने वाले हर पर्यटक को चारों तरफ गीता का अहसास होना चाहिए। जिसके लिए यहां स्थित विभिन्न चौक चौराहों, सड़कों और सार्वजनिक भवनों के नाम गीता के पात्रों के आधार पर होने चाहिए। वहीं डीसी सुमेधा कटारिया ने कहा कि कुरुक्षेत्र ऐतिहासिक प्राचीन नगरी है। महाभारत से भी पुराना इसका इतिहास है। कुरुक्षेत्र को महाभारत की नगरी के नाम से ज्यादा जाना जाता है। जबकि इसकी पहचान गीता नगरी के तौर पर होनी चाहिए।
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: library foundation ceremony Gurukulam
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From Ambala

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top