Home »Haryana »Ambala » Anuradha Sharma, Gopal Kanda Suicide Case, On Aruna And FIR

गोपाल कांडा, अरुणा पर एक और एफआईआर, जानिए क्या था अनुराधा के सुसाइड नोट में

bhaskar news | Feb 17, 2013, 02:27 AM IST

एक गीतिका ही नहीं, 20 महिलाओं पर बरसी थी कांडा की कृपा
पुलिस की जांच में कांडा के कई छिपे सच, उसकी रंगीनमिजाजी और सरकार को चूना लगाने की प्लानिंग भी सामने आ गई थी। गोपाल कांडा ने अपनी 39 कंपनियों में 20 महिलाओं को डायरेक्टर के पद तक पहुंचाया। ये महिलाएं भले ही उनकी रिश्तेदार, जानकार या दोस्त रही हों, लेकिन कांडा ने 38 कंपनियों में 17 महिलाओं को प्रतिनिधित्व दिया। बताया जाता है कि एकेजी इंफ्राबिल्ड तो गोपाल कांडा ने केवल अरुणा चड्ढा और गीतिका शर्मा के लिए ही खड़ी की है।
और इसके कई कारण भी बताए जाते हैं। क्या ज्यादा से ज्यादा महिलाओं को नजदीक लाने के लिए कांडा ने उनको इतने महत्वपूर्ण पद दिए थे? क्या कांडा को ये भय रहता है कि उसकी कंपनी के डायरेक्टर वफादार नहीं हैं? क्या गोपाल कांडा अपनों से ज्यादा बेगानों पर यकीन करता था, क्योंकि ज्यादातर डायरेक्टर उसके रिश्तेदार नहीं, बल्कि दोस्त या जानकार हैं?
क्या कांडा ने सरकार को रेवेन्यू का चूना लगाने के लिए ही इतनी कंपनियां खड़ी की थीं? इन सवालों के जवाब दिल्ली पुलिस भी जानने की कोशिश कर रही है। जिन महिलाओं को कांडा ने महत्वपूर्ण जिम्मेदारियां दी थीं उनमें सरोज अलंकार, सुधा पवार, प्रेरणा, कंचन भल्ला, सरिता देवी, सुशीला गोयल, गरिमा चावला, सरस्वती गोयल, सरिता अग्रवाल अरुणा चड्ढा और खुशबू शर्मा का नाम सबसे आगे है।
अगली तस्वीर: गीतिका को अबॉर्शन के लिए ले गई थी अरुणा, कांडा ने 45 दिन में किए थे 400 फोन
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: Anuradha Sharma, Gopal Kanda suicide case, on Aruna and FIR
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

    Comment Now

    Most Commented

        More From Ambala

          Trending Now

          Top