Home »Haryana »Ambala» PIX: These Girls Have Made Life Hell Kanda, Know The Whole Story

PIX: इन्हीं लड़कियों ने कांडा की जिंदगी को बना दिया नर्क, जानिए इनकी पूरी कहानी

bhaskar news | Feb 18, 2013, 00:04 IST

  • 80 के दशक में किताबों की दुकान से अपना करियर शुरू करने वाला गोपाल गोयल कांडा जिंदगी में लगातार असफल होता रहा। किताब की दुकान बंद हुई तो इलेक्ट्रानिक्स शॉप खुली और फिर जूतों का कारोबार। लेकिन सबके सब फ्लॉप।
    शायद, असफलता के धक्कों ने सफल होने के उसके सपनों को सनक में तब्दील कर दिया। अब उसने सफल होने का वह तरीका ढूंढा जिसकी बदौलत चंद सालों में ही कारोबार से लेकर राजनीति तक के हर फन में उसने सफलता के ऐसे झंडे गाड़े कि लोग उसे भगवान मानने लगे।
    लेकिन, एक इंसानी कमजोरी ने उसे एक ही झटके में मंत्री की कुर्सी से खींच कर सलाखों के पीछे पंहुचा दिया। आज हम आपको बताएंगे कि कौन-कौन थीं वो लड़कियां जो बनीं कांडा की कमजोरी और उसकी जिंदगी को नर्क में बदल दिया।
    आगे स्लाइड के जरिए जानिए, गोपाल गोयल कांडा के जीवन में आई लडकियों की कहानी जिनमें से एक के सुसाइड नोट की वजह से आज वह जेल में है...
  • नुपुर मेहता: मॉडलिंग से करियर शुरू करने वाली नुपुर को सन्नी देओल की फिल्म 'जो बोले सो निहाल' से फिल्मों में ब्रेक मिला। लेकिन, पहली बार नुपुर के सुर्ख़ियों में आने की वजह उनका फिल्मी करियर नहीं, बल्कि एक विवाद बना। 2011 क्रिकेट वर्ल्ड कप सेमीफाइनल में भारत-पाक मैच पर फिक्सिंग का आरोप लगा और नुपुर मेहता पर पाकिस्तानी खिलाडियों को लालच देते हुए तस्वीरें 'द सन्डे टाइम्स' नामक अखबार में छपीं।
  • इस मामले से अभी उनका पीछा छूटा भी नहीं था कि एक बार फिर एक हाई प्रोफाइल सुसाइड केस (गीतिका शर्मा आत्महत्या मामले) में नुपुर का नाम सामने आया। दरअसल गीतिक ने गोवा पुलिस में नुपुर के खिलाफ बैग चोरी करने की एफआईआर लिखवाई थी। पुलिस जांच में नुपुर ने बताया कि गोपाल कांडा एक प्लेबॉय था और उसे खूबसूरत लड़कियों से घिरे रहना पसंद था।
  • अंकिता सिंह:गोपाल कांडा के एमडीएलआर ग्रुप ने जब गोवा में कैसिनो कारोबार में कदम रखा तो उन्हें संभालने की जिम्मेदारी उसने अंकिता और नुपुर को सौंपी थी। अंकिता पर यहां के 'मिंट कैसिनो' के देखभाल की जिम्मेदारी थी। गीतिका ने अपने सुसाइड नोट में अंकिता के नाम का उल्लेख करते हुए लिखा था कि उसके कांडा से शरीरिक सम्बन्ध हैं और वह कांडा से पैदा हुए बच्चे की मां है।
  • ऐसी भी चर्चा है कि अंकिता की मां रेणू सिंह ने गोपाल कांडा के राजनितिक रिश्तों को मजबूत करने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की थी। यहां तक कि कांडा के चुनाव प्रबंधन में भी रेणू की भूमिका बेहद ख़ास होती थी।
  • अरुणा चड्ढा:गीतिका शर्मा ने अपने सुसाइड नोट में जिन दो लोगों पर आरोप लगाये थे उनमें गोपाल कांडा के अलावा दूसरा नाम था अरुणा चड्ढा। अरुणा, गोपाल कांडा के एमडीएलआर ग्रुप की वरिष्ठ प्रबंधक थी और ऐसा माना जाता है कि कांडा से खूबसूरत लड़कियों के सम्बन्ध बनवाने में उसकी सबसे मत्वपूर्ण भूमिका होती थी।
  • कम्पनी की एचआर प्रमुख होने के नाते लड़कियों के काम करने की शर्तों को निर्धारित करने की जिम्मेदारी उस पर ही थी। गीतिका के ऑफर लेटर में भी ऐसा ही एक विवादास्पद कॉलम पाया गया था।
  • गीतिका शर्मा: 17 साल की उम्र में नौकरी की तलाश करते हुए गीतिका गुडगांव के एमडीएलआर ग्रुप के ऑफिस पहुंची। उसका इंटरव्यू लेने वाली नुपुर मेहता ने कम उम्र होने की वजह से उसे रिजेक्ट कर दिया, लेकिन सीसी टीवी कैमरे से इंटरव्यू को देख रहे गोपाल कांडा ने तुरंत नुपुर को बुलाया और गीतिका को कंपनी में रखने का आदेश दिया।
  • कंपनी ज्वाइन करने के महज तीन साल के छोटे से कैरियर में गीतिका कंपनी के डायरेक्टर्स में शामिल हो गई और छठवें साल में उसके जीवन में घटा कुछ ऐसा कि उसने आत्महत्या कर ली।
  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: PIX: These girls have made life hell Kanda, Know The Whole Story
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Ambala

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top